facebook-pixel

बेहतर लाइफस्टाइल की मदद से हार्मोनल इंबैलेंस होगा दूर

Share Us

36478
बेहतर लाइफस्टाइल की मदद से हार्मोनल इंबैलेंस होगा दूर
27 Sep 2022
5 min read
TWN In-Focus

Post Highlight

मॉडर्न साइंस के अनुसार हमारे शरीर में 50 से भी ज्यादा हार्मोन्स मौजूद हैं और इन सभी हार्मोन्स का अपना-अपना कार्य है लेकिन जब इन्हीं हार्मोन्स का स्तर घटता या बढ़ जाता है तो आपको अपने शरीर में कई बदलाव महसूस होते हैं, और इसी को हम हार्मोनल इंबैलेंस Hormonal Imbalance कहते हैं। अंतःस्रावी ग्रंथियों endocrine glands, में निर्मित, ये शक्तिशाली रसायन आपके रक्तप्रवाह के चारों ओर घूमते हैं, ऊतकों और अंगों को बताते हैं कि क्या करना है। वे चयापचय metabolism और प्रजनन सहित आपके शरीर की कई प्रमुख प्रक्रियाओं को नियंत्रित करने में मदद करते हैं।अचानक से वजन का घटना या बढ़ना weight loss or weight gain, मुंहासे pimples and acne, हाइपोथायरायडिज्म, मूड स्विंग्स mood swings आदि हार्मोनल इंबैलेंस के कुछ लक्षण हैं। आज हम आपको कुछ ऐसे टिप्स और ट्रिक्स बताएंगे जिनकी मदद से आप एक हेल्थी लाइफस्टाइल जी सकते हैं और ऐसा करने से आपकी हार्मोनल इंबैलेंस की समस्या भी दूर हो जाएगी। 

#HormonalImbalances 
#HealthyLifestyle
#EatHealthy

Podcast

Continue Reading..

शरीर के ठीक तरह से काम करने में सबसे बड़ी भूमिका हार्मोन्स Hormones की होती है। आपकी लाइफस्टाइल lifestyle को बेहतर बनाने में हार्मोन्स का अहम योगदान है लेकिन आज कई फिजिकल और मेंटल हेल्थ Physical And Mental Health इश्यूज के चलते ज्यादातर लोगों में हार्मोनल इंबैलेंस Hormonal Imbalance की समस्या देखने को मिलती है। हार्मोनल इंबैलेंस होने पर आपको आपके शरीर में कई बदलाव दिखेंगे। 

मॉडर्न साइंस के अनुसार हमारे शरीर में 50 से भी ज्यादा हार्मोन्स मौजूद हैं और इन सभी हार्मोन्स का अपना-अपना कार्य है लेकिन जब इन्हीं हार्मोन्स का स्तर घटता या बढ़ जाता है तो आपको अपने शरीर में कई बदलाव महसूस होते हैं, और इसी को हम हार्मोनल इंबैलेंस hormonal imbalance कहते हैं। 

अचानक से वजन का घटना या बढ़ना weight loss or weight gain, मुंहासे pimples and acne, हाइपोथायरायडिज्म, मूड स्विंग्स mood swings आदि हार्मोनल इंबैलेंस के कुछ लक्षण हैं।

आज की व्यस्त जीवनशैली busy lifestyle में हम सब नूडल्स, पिज्जा, फ्राइज और ना जाने कितने ऐसे फास्ट फूड fast food का सेवन करते हैं, जो हमारी सेहत के लिए बिलकुल भी अच्छे नहीं हैं। सच बात तो ये है कि हम सब इस बात से अच्छी तरह से वाक़िफ हैं कि ये सब हमारी सेहत और हमारे हार्मोन्स के लिए ठीक नहीं है लेकिन फिर भी हम कई एक्सक्यूसेस देते हैं और बेहतर लाइफस्टाइल नहीं अपनाते हैं। 

पार्टीज और अपने पसंदीदा नेटफ्लिक्स शो के लिए हम रात में अच्छी नींद नहीं लेते हैं और ये कहते हैं कि आई एम लिविंग माय बेस्ट लाइफ। 

हम सब ये जानते हैं कि कम नींद लेने से हमें हार्मोनल इंबैलेंस, डार्क सर्कल्स और स्लीप डिसऑर्डर जैसी कई समस्याएं हो सकती हैं लेकिन फिर भी हम खुद को रोक नहीं पाते हैं। शायद इसका कारण ये है कि हमें लगता है कि अगर हमें लाइफ को एंजॉय करना है तो हेल्थ का ध्यान देना ज़रूरी नहीं है, पर क्या आपको पता है कि एक हेल्थी और एंजॉयबल लाइफ जीना इतना भी मुश्किल नहीं है जितना आप सोचते हैं। आज हम आपको कुछ ऐसे टिप्स और ट्रिक्स बताएंगे जिनकी मदद से आप एक हेल्थी लाइफस्टाइल जी सकते हैं और ऐसा करने से आपकी हार्मोनल इंबैलेंस की समस्या भी दूर हो जाएगी। 

Six Pieces Of Advice On Hormonal Imbalances For Food And Lifestyle

1. एक टू डू लिस्ट बनाएं Make A To-Do List Daily

 हां हां, हमें पता है कि आपको रोज़ टू-डू लिस्ट बनाना बहुत बोरिंग लगता है और शायद इससे पहले कई लोग आपको ये एडवाइस दे चुके हैं लेकिन क्या आपने इसे ट्राई किया है?

हमारी बात मानिए और बस एक हफ्ते के लिए रोज़ टू-डू लिस्ट बनाकर देखिए और आपको फ़र्क खुद नजर आएगा। 

टू-डू लिस्ट में क्या लिखें ?

एक वीक में आप ब्रेकफास्ट से लेकर लंच और डिनर तक जो भी खाने वाले हैं, उसकी लिस्ट पहले से ही बना लें। आपको इस बात का ध्यान रखना है कि जो भी आप इस लिस्ट में मेंशन करेंगे वो हेल्थी होना चाहिए। पूरी कोशिश करें कि आप चिप्स, फ्राइज, बर्गर, पिज्जा, कोल्ड-कॉफी और कोल्ड ड्रिंक्स को लिस्ट में शामिल ना करें। अगर आपके किचन में कोई सामान नहीं है तो आप ग्रॉसरी स्टोर से उसे लेकर आएं। 

2. खुद से प्रॉमिस करें कि आप सिर्फ हेल्थी फूड्स ही खाएंगे

Eat healthy.

Move daily.

Hydrate often.

Sleep well.

Love your body.

हम अक्सर खुद से कई प्रॉमिसेस करते हैं कि कल से एक्सरसाइज करूंगा, कल से हेल्थी खाना खाऊंगा, कल से अच्छी नींद लेना है, लेकिन आज से क्यों नहीं? 

हम सब जब जानते हैं कि हार्मोनल इंबैलेंस का इलाज स्वस्थ खान-पान और हेल्दी लाइफस्टाइल को अपनाकर किया जा सकता है, तो फिर भी हेल्थी लाइफस्टाइल healthy lifestyle को अपनाने में हमें इतनी देर क्यों हो रही है। 

3. फैटी एसिड की मदद लें।

हार्मोनल संतुलन को बनाए रखने में फैटी एसिड fatty acids बहुत मदद करते हैं इसीलिए ऐसे खाद्य पदार्थ को अपने दैनिक आहार में शामिल करें, जिनमें अच्छी खासी मात्रा में फैटी एसिड हों। नट्स, ऑलिव ऑयल, फ्लैक्सीड, वॉल्नट्स, सी फूड और फिश में भरपूर मात्रा में फैटी एसिड्स पाए जाते हैं इसीलिए इन खाद्य पदार्थ को अपने दैनिक आहार में शामिल करने से जल्द ही आपकी हार्मोनल इंबैलेंस की समस्या दूर हो जाएगी। 

4. पेय पदार्थों का सेवन सावधानी से करें

ज्यादातर लोगों को कॉफी, कोल्ड ड्रिंक्स, सोडा और चीनी युक्त कई पेय पदार्थ काफी पसंद होते हैं लेकिन हम आपको बता दें हार्मोन संतुलन बिगाड़ने में चीनी युक्त पेय पदार्थों का अहम रोल है क्योंकि इनके सेवन से कॉर्टिसोल हार्मोन Cortisol, the primary stress hormone का उत्पादन बढ़ता है। 

प्यास लगने पर कोल्ड ड्रिंक्स, सोडा और कॉफी का सेवन करने के बजाय इनफ्यूज्ड वाटर, सादा पानी या कोकोनट वाटर का सेवन करें। अगर आप चाहें तो ग्रीन टी भी ले सकते हैं क्योंकि ग्रीन टी में कैफीन की सही मात्रा होती है। 

इनफ्यूज्ड वाटर को बनाने के लिए सामान्य पानी का इस्तेमाल किया जाता है। सामान्य पानी में कई तरह के हेल्थी फल, सब्जियां और हर्ब्स healthy fruits, vegetables and herbs को मिलाया जाता है और जब यही फल, सब्जियां और हर्ब्स सामान्य पानी में मिक्स हो जाते हैं, तो पानी का स्वाद बदल जाता है और पानी पहले से ज्यादा टेस्टी और हेल्थी tasty and healthy water हो जाता है। सामान्य पानी की तुलना में इनफ्यूज्ड वाटर ज्यादा रिफ्रेशिंग refreshing होता है। इनफ्यूज़्ड वाटर के बारे में जानने के लिए यहां क्लिक करें- इनफ्यूज्ड वाटर के फायदे

5. नींद पूरी लें।

कई स्टडीज में ऐसा पाया गया है कि आज कल लोग व्यस्त शेड्यूल की वजह से अपनी नींद के साथ कॉम्प्रोमाइज करते हैं और 7 से 8 घंटे की नींद लेने के बजाय 3 से 4 घंटे की नींद लेते हैं। 

आपको बता दें कि आपके शरीर को डिटॉक्सिफाई करने के लिए 7 से 8 घंटे की नींद लेना बेहद ज़रूरी है क्योंकि जब हम अच्छी नींद लेते हैं तो शरीर में मेलाटोनिन Melatonin Hormone, सोमाट्रोपिन Growth hormone (GH), also known as somatotropin और कोर्टिसोल जैसे हार्मोन संतुलित रहते हैं। 

Also Read: नींद नहीं आ रही है तो करें ये 4 काम

6. फाइबर युक्त आहार से हार्मोन संतुलित होगा 

फाइबर युक्त आहार जैसे- ओट्स, फल, रेशेदार सब्जियां का सेवन करने से हार्मोन को संतुलित रखने में मदद मिलती है। इससे आपके शरीर को भरपूर पोषक तत्व मिलता है और साथ ही साथ ब्लड शुगर भी नियंत्रित रहता है। 

हम सब को कोला, फ्राइज और जंक फूड खाने की क्रेविंग होती है लेकिन जब भी आपको फास्ट फूड खाने का मन हो तो आप फ्रूट्स या ड्राई फ्रूट्स का सेवन करें। ऐसा करने से आपको लंबे समय तक भूख नहीं लगेगी, आपका वजन नियंत्रित रहेगा और हार्मोनल इंबैलेंस की समस्या भी दूर होगी। 

निष्कर्ष

अच्छे स्वास्थ्य के लिए सही डाइट बेहद ज़रूरी है। अगर आप अच्छी जीवनशैली के साथ उचित व स्वस्थ भोजन की आदत बना लेते हैं तो जीवन आसान और बेहतर बनता है। 

हम क्या खाते हैं इसका हमारे शरीर के साथ-साथ हमारे दिमाग पर भी गहरा असर पड़ता है। हम क्या खा रहे हैं, कितनी मात्रा में खा रहे हैं और कैसे खा रहे हैं, ये निर्धारित करता है हम कितने स्वस्थ हैं इसीलिए खाने की गुणवत्ता पर ध्यान देना जरूरी है। स्वस्थ जीवन जीने के लिए हम सभी को संतुलित डाइट लेना चाहिए।

Your diet is a bank account. Good food choices are good investments. - Bethenny Frankel