facebook-pixel

प्लांट बेस्ड डाइट क्या है और ये क्यों हेल्थी है?

Share Us

288
प्लांट बेस्ड डाइट क्या है और ये क्यों हेल्थी है?
26 Oct 2022
7 min read
TWN In-Focus

Post Highlight

वेजेटेरियन vegetarian या वीगन vegan होना अब एक ट्रैडिशन नहीं है बल्कि लाइफस्टाइल lifestyle का एक बहुत ही फायदेमंद रूप है क्योंकि इसके बहुत सारे हेल्थ बेनेफिट्स health benefits हैं। हमें हमेशा से यही पढ़ाया गया है और सिखाया गया है कि हरी सब्जियां और नेचुरल फल के सेवन के अनेकों फायदे हैं लेकिन फिर भी हम जंक और प्रोसेस्ड फूड को खाने से पहले एक बार भी नहीं सोचते हैं। प्लांट बेस्ड डाइट Plant-based diet अन्य डाइट की तुलना में आपके लिए ज्यादा फायदेमंद होती है क्योंकि इसमें भर-भर के एंटी ऑक्सीडेंट्स antioxidants होते हैं और एनिमल प्रोडक्ट्स से आपको ये नहीं मिल पाते हैं। इसके साथ-साथ प्लांट रिच डाइट plant rich diet में फाइबर और फाइटो केमिकल्स की भरपूर मात्रा होती है। आइए जानते हैं कि प्लांट बेस्ड डाइट ज्यादा असरदार और फायदेमंद कैसे है ? Benefits Of A Plant-Based Diet.

Podcast

Continue Reading..

खुद को स्वस्थ रखने के लिए हम कई कोशिश करते हैं। कभी प्रोटीन रिच डाइट, तो कभी नो एक्स्ट्रा कैलोरी, नो शुगर डाइट, नो कॉफी नो टी, और रोज़ बहुत सारी एक्सरसाइज लेकिन इन सब के बावजूद भी कई लोगों को हेल्थ से जुड़ी समस्याएं लगी रहती हैं। अब ये तो हम सबको ही पता है कि हम जो भी खाते हैं उसका सीधा असर हमारे स्वास्थ्य पर पड़ता है। अगर आप हेल्थी खाना खाएंगे तो आप एनर्जेंटिक महसूस करेंगे, स्वस्थ रहेंगे वहीं अगर आप जंक और प्रोसेस्ड फूड का सेवन ज्यादा करेंगे तो आप जल्दी-जल्दी बीमार पड़ेंगे और आपका स्वास्थ्य भी खराब हो जाएगा। प्लांट बेस्ड डाइट Plant-Based Diet में फल, अनाज, सब्जियां, नट्स, सीड्स, दालें आदि शामिल होते हैं। जैसा कि नाम से पता चलता है कि ये प्लांट बेस्ड डाइट plant-based diet है इसीलिए इसमें किसी भी तरह के ऐसे उत्पाद नहीं शामिल होते हैं, जो हमें जानवरों से प्राप्त होते हैं। अगर आप प्लांट बेस्ड डाइट plant-based diet फॉलो कर रहे हैं तो आप मीट, शहद, अंडे और यहां तक कि दूध तक का भी सेवन नहीं कर सकते हैं क्योंकि ये सब हमें जानवरों से प्राप्त होता है। हां, लेकिन आप आलमंड मिल्क या सोय मिल्क का सेवन कर सकते हैं क्योंकि यह प्लांट बेस्ड है। 

प्लांट बेस्ड डाइट के प्रकार Types Of Plant Based Diets

जो 100% प्लांट बेस्ड डाइट होती है उसमें केवल वह चीज़ें शामिल होती है, जो हमें पेड़ और पौधों से मिलती हैं वहीं दूसरी तरह फ्लेक्सिबल प्लांट बेस्ड डाइट में आप कभी-कबार मीट या डेयरी का भी सेवन कर सकते हैं। 

प्लांट बेस्ड डाइट क्यों हेल्थी है?

वेजेटेरियन vegetarian या वीगन vegan होना अब एक ट्रैडिशन नहीं है बल्कि लाइफस्टाइल lifestyle का एक बहुत ही फायदेमंद रूप है क्योंकि इसके बहुत सारे हेल्थ बेनेफिट्स health benefits हैं। हमें हमेशा ये यही पढ़ाया गया है और सिखाया गया है कि हरी सब्जियां और नेचुरल फल के सेवन के अनेकों फायदे हैं लेकिन फिर भी हम जंक और प्रोसेस्ड फूड को खाने से पहले एक बार भी नहीं सोचते हैं। 

प्लांट बेस्ड डाइट plant-based diet अन्य डाइट की तुलना में आपके लिए ज्यादा फायदेमंद होती है क्योंकि इसमें भर भर के एंटी ऑक्सीडेंट्स होते हैं और एनिमल प्रोडक्ट्स से आपको ये नहीं मिल पाते हैं। इसके साथ साथ प्लांट रिच डाइट में फाइबर और फाइटो केमिकल्स की भरपूर मात्रा होती है। आइए जानते हैं कि प्लांट बेस्ड डाइट plant-based diet ज्यादा असरदार और फायदेमंद कैसे है- 

Benefits Of A Plant-Based Diet 

1. वजन कम करने में मिलती है मदद

आज बिजी लाइफस्टाइल busy lifestyle की वजह से ज्यादातर लोग प्रोसेस्ड फूड खाते हैं और एक्सरसाइज नहीं कर पाते हैं और इन्हीं कारणों से उनका वजन नियंत्रित नहीं रहता है और उन्हें अन्य कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है लेकिन प्लांट रिच डाइट की मदद से आप अपना बढ़ा हुआ वजन घटा सकते हैं। 

2. आपको मिलता है एक स्वस्थ और लंबा जीवन

प्लांट बेस्ड फूड के सेवन से आपको एक स्वस्थ और लंबा जीवन मिलता है। कई स्टडीज में ऐसा पाया गया है कि बढ़ती उम्र के साथ आपको नॉन-कम्यूनिकेबल क्रोनिक डिजीजेज होने का खतरा बढ़ जाता है लेकिन अगर आपने एक हेल्थी लाइफस्टाइल अपनाई है और प्लांट बेस्ड डाइट लेते हैं, अलग-अलग फ्रूट्स खाते हैं, जंक और प्रोसेस्ड फूड से दूर रहते हैं तो आपके बीमार होने के चांसेज बेहद कम हो जाते हैं। 

Also read: बेहतर लाइफस्टाइल की मदद से हार्मोनल इंबैलेंस होगा दूर

3. दिल को रखता है दुरुस्त

एक हालिया शोध के अनुसार, जो लोग प्लांट बेस्ट डाइट Plant-based diet लेते हैं और रिफाइंड, जंक, मिठाई आदि से परहेज़ करते हैं, उनके हृदय का स्वास्थ्य उन लोगों से बेहतर होता है Reduced risk of heart disease, जो प्लांट बेस्ड डाइट नहीं लेते हैं। 

इस रिसर्च में यह भी पाया गया है कि जो लोग मीट का सेवन ज्यादा करते हैं उन लोगों में प्लांट बेस्ड डाइट लेने वाले लोगों की तुलना में हृदय रोगों के विकास की संभावना बढ़ जाती है।

इसके साथ-साथ प्लांट बेस्ड डाइट लेने से टाइप 2 डायबिटीज़ का खतरा कम होता है Lower risk of Type 2 diabetes और आपकी किडनी पहले से बेहतर फंक्शन improved kidney function करती है। 

4. कार्बन फुटप्रिंट को कम करने में आप दे सकते हैं योगदान Reduced Carbon Footprint

हम हमेशा यह सोचते रहते हैं कि हम चाह कर के भी सस्टेनेबल लाइफस्टाइल Sustainable lifestyle नहीं अपना पा रहे हैं और प्रकृति के हमें इतना सब कुछ देने के बावजूद भी हम उसे कुछ लौटा नहीं पा रहे हैं। अगर आपके मन में भी ये सवाल आता है तो आप बस प्लांट बेस्ड डाइट अपनाकर की प्रकृति की सुरक्षा में एक बहुत बड़ा योगदान दे सकते हैं। 

Also read: सस्टेनेबल लाइफस्टाइल कैसे अपनाएं?

अन्य फायदे

जब आप नॉर्मल डाइट से प्लांट बेस्ड डाइट की तरफ स्विच करते हैं तो आपको अपनी बॉडी में कई सकारात्मक परिणाम दिखते हैं। मोटापा से लेकर उच्च रक्तचाप, मधुमेह से लेकर हृदय रोग और अन्य कई स्ट्रोक जैसी समस्याएं कम होने लगती हैं और आप पहले से ज्यादा हेल्थी महसूस करने लगते हैं। इसके साथ-साथ प्लांट बेस्ड डाइट अर्थराइटिस जैसी समस्या को भी कहीं हद तक कम करने में मददगार है। 

किन बातों का रखें ध्यान 

कई रिसर्च में ऐसा बताया गया है कि अगर आप बहुत लंबे समय तक प्लांट बेस्ड डाइट को फॉलो करते हैं तो आपके शरीर में कुछ पोषक तत्वों की कमी हो जाती है लेकिन अगर आप इस डाइट को फिर भी कंटीन्यू रखना चाहते हैं तो आप कुछ ज़रूरी सप्लीमेंट्स लेना ना भूलें। 

दरअसल, प्लांट बेस्ड डाइट सेहत के लिए बहुत लाभकारी माना जाता है मगर इसे लम्बे समय तक फॉलो करने पर आपको विटामिन डी और विटामिन बी 12 जैसे ज़रूरी पोषक तत्वों की कमी हो सकती है। 

इन विटामिन की कमी के कारण आपको अनीमिया, थकान, हेयर फॉल, पीठ में दर्द, ड्राई स्किन और अन्य कई समस्याएं हो सकती हैं। अगर आपने यह विचार बना लिया है कि अब आप सिर्फ प्लांट बेस्ड डाइट का ही सेवन करेंगे तो आप अपने डॉक्टर से कंसल्ट करके विटामिन डी और विटामिन बी 12 के सप्लीमेंट्स ले लें।

प्लांट बेस्ड डाइट के नुकसान Side-Effects Of Plant Based Diet 

  • अगर प्लांट बेस्ड डाइट को सही से फॉलो ना किया जाए तो आपको प्रोटीन की कमी हो सकती है। 
  • प्लांट बेस्ड डाइट को एक एक्सपर्ट की गाइडेंस में ही फॉलो करें क्योंकि ऐसा हो सकता है कि आपके शरीर को ज़रूरी न्यूट्रिएंट्स ना मिल रहे हों और आपकी बॉडी को सप्लीमेंट्स की ज़रूरत हो। 
  • कई एक्सपर्ट का तो ये भी कहना है कि प्लांट बेस्ड डाइट को फॉलो करने से शरीर में कॉलीन की कमी हो सकती है और इससे लिवर फंक्शन खराब हो सकता है। 

निष्कर्ष

हर तरह की डाइट के कुछ फायदे तो कुछ नुकसान होते हैं। प्लांट बेस्ड डाइट को ही ले लीजिए। इस डाइट को फॉलो करने से वजन कम करने में मदद मिलती है, एक स्वस्थ और लंबा जीवन मिलता है, हृदय का स्वास्थ्य बेहतर रहता है, कार्बन फुटप्रिंट्स को कम करने में मदद मिलती है और प्लांट बेस्ड डाइट अर्थराइटिस जैसी समस्या को भी कहीं हद तक कम करने में मददगार है लेकिन इसे लम्बे समय तक फॉलो करने पर आपको विटामिन डी और विटामिन बी 12 जैसे ज़रूरी पोषक तत्वों की कमी हो सकती है। इन विटामिन की कमी के कारण आपको अनीमिया, थकान, हेयर फॉल, पीठ में दर्द, ड्राई स्किन और अन्य कई समस्याएं हो सकती हैं।