facebook-pixel
28 Sep 2022
174
महिला स्वास्थ्य और फिटनेस दिवस 2022

सितंबर के अंतिम बुधवार को, राष्ट्रीय महिला स्वास्थ्य और फिटनेस दिवस सभी उम्र की महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए सबसे बड़े आयोजन को बढ़ावा देता है। देश भर में, सभी उम्र की अनुमानित 80,000 से 100,000 महिलाएं स्थानीय स्वास्थ्य और फिटनेस कार्यक्रमों में एकत्रित होती हैं। वे बड़े और छोटे समूहों में शामिल होते हैं। वरिष्ठ केंद्रों से लेकर अस्पतालों, पार्कों और स्वास्थ्य क्लबों (From senior centers to hospitals, Parks and Health clubs)  तक, सभी फिटनेस स्तरों की महिलाएं एक-दूसरे को स्वस्थ यात्रा शुरू करने या जारी रखने के लिए प्रोत्साहित करती हैं। आजकल की अन हेल्दी लाइफस्टाइल और हार्मोनल चेंजेस की वजह से महिलाएं कई बीमारियों से पीड़ित होती है। जिसमें पीसीओडी (Polycystic Ovarian Disease) एक बहुत ही आम बीमारी है, जिससे कई लड़कियां और महिलाएं पीड़ित होती है। इसे जड़ से खत्म करना तो बहुत मुश्किल है। लेकिन कुछ एक्सरसाइज के जरिए हमें से कंट्रोल रख सकते हैं। ताकि हमारे हार्मोन बैलेंस रहे और मोटापा, चेहरे पर बाल, कील-मुहांसे इन सारी समस्याओं से हम बचे रहें। 

26 Sep 2022
146
World Environmental Health Day: पर्यावरण संरक्षण का संकल्प लें !

2011 से, 26 सितंबर को विश्व पर्यावरण स्वास्थ्य दिवस (World Environmental Health day) के रूप में नामित किया गया है। पर्यावरण को हो रहे नुकसान के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए विश्व पर्यावरण स्वास्थ्य दिवस ज्यादातर 5 जून को मनाया जाता है क्योंकि ऐसा माना जाता है कि चल रही पर्यावरणीय तबाही के कारण मानव जीवन को भी नुकसान उठाना पड़ता है। हमारा परिवेश हमारे स्वास्थ्य को प्रभावित करता है। पर्यावरणीय प्रभावों को आंतरिक और बाहरी स्वास्थ्य दोनों मुद्दों में योगदान देने वाला माना जाता है। बढ़ता प्रदूषण दुनिया भर के लोगों को परेशान कर रहा है। इसकी वजह से लोगों को त्वचा और सांस संबंधी बीमारियां हो रही हैं। इसके अलावा ग्रीनहाउस प्रभाव, जलवायु परिवर्तन, शहरीकरण (Greenhouse Effect, Climate Change, Urbanization) आदि की वजह से हमारे खाने, पानी और वायु आदि कि क्वालिटी पर सीधा असर होता है। जिसके कारण लोगों को कई बीमारिंया होती है। स्वास्थ्य खराब रहता है। जिसका हमारी इम्युनिट पर सीधा असर पड़ता है। इसी तरह की समस्याओं को ध्यान में रख कर और लोगों में जागरूकता बढ़ाने के लिए इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ एनवायरमेंटल हेल्थ (International Federation of Environmental Health) ने इसकी शुरुआत की। 

#World Environmental Health day2022
#SavethePlanet
#SaveEnvironment
#TreePlantation 
#SaveWater

22 Sep 2022
368
अंतर्राष्ट्रीय सांकेतिक भाषा दिवस 2022

हाथों, चेहरे एवं शरीर के हाव भाव से बातचीत करने की भाषा को सांकेतिक भाषा यानी साइन लैंग्वेज (Sign Language) कहा जाता है। अन्य भाषाओं की तरह, सांकेतिक भाषाओं के भी अपने सिंटैक्स और उपयोग दिशानिर्देश होते हैं। सांकेतिक भाषा का उपयोग उन लोगों के लिए महत्वपूर्ण है जो बहरे हैं और सुन नहीं सकते हैं। इस तथ्य के कारण कि सांकेतिक भाषा उनकी मूल भाषा और माध्यम है जिसके द्वारा मूक और बधिर एक दूसरे के साथ बातचीत करते हैं, हालाँकि सांकेतिक भाषा लिखी नहीं जाती है, लेकिन किसी भी अन्य भाषा की तरह इसका अपना सिंटैक्स और मानदंड (Syntax and Criteria) होता है। सांकेतिक भाषाओं के लिए अंतर्राष्ट्रीय दिवस की स्थापना संयुक्त राष्ट्र महासभा (United Nations General Assembly) द्वारा की गई थी। इस भाषा के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए 22 सितंबर को अंतर्राष्ट्रीय सांकेतिक भाषा दिवस (International Day Of Sign Language) मनाया जाता है।

21 Sep 2022
202
International Day Of Peace 2022 : जानिए क्या है इतिहास और थीम

हर साल 21 सितंबर को सभी लोगों के बीच मानवता और पारस्परिक प्रेम के मूल्यों को बनाए रखने के लिए अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस (International day of Peace) मनाया जाता है। अंतर्राष्ट्रीय शांति दिवस, जिसे विश्व शांति दिवस (World Peace Day) के रूप में भी जाना जाता है, सभी देशों और लोगों के बीच स्वतंत्रता, सद्भाव और खुशी के प्रतीक के रूप में मनाया जाता है। लोगों को जागरूक किया जाता है। पूरे विश्व में शांति और अहिंसा स्थापित करने के लिए लोगों में जागरुकता फैलायी जाती है कि हम एक दूसरे के दुश्मन नहीं हैं। भाईचारे को बढ़ावा देने, पारस्परिक संघर्षों को हल करने और लोगों के बीच सद्भाव को बढ़ावा देने पर जोर दिया गया है। तो आइए विश्व शांति दिवस की पृष्ठभूमि और उद्देश्य की व्याख्या करते हैं। तो चलिए आपको बताते हैं विश्व शांति दिवस का इतिहास और थीम।

#ThemeOfInternationalDayofPeace2022
#WorldPeaceDay
#InternationalDayOfPeace

20 Sep 2022
1393
Self rejection क्या है और इससे कैसे बचें?

आप के साथ कभी ना कभी ऐसा ज़रूर हुआ होगा जब आपको लगा होगा कि आप कोई काम नहीं कर सकते हैं और बिना किसी कोशिश के आप पहले से ही तय कर लेते हैं कि ये तो मेरे बस की बात नहीं है। ये एक तरह का सेल्फ रिजेक्शन Self-Rejection है, जब कोई और नहीं बल्कि आप खुद ही ये तय कर लेते हैं कि आप किसी विशेष काम को नहीं कर सकते हैं। ऐसे में किसी भी काम को ट्राई किए बिना ही आप यह निर्णय ले लेते हैं कि अगर मैंने कोशिश भी की तो भी मैं इस विशेष काम को नहीं कर पाऊंगा। ऐसे करने पर धीरे-धीरे आप सेल्फ रिजेक्शन के जाल में उलझते रहते हैं और कोई भी काम करने से पहले ही आप ये ठान लेते हैं कि मुझसे ये काम नहीं हो पाएगा। 

#WhatIsSelfRejection
#SignsOfSelfRejection
#DealingWithSelfRejection
#OvercomingSelfRejection

15 Sep 2022
152
Software Testing क्या है और इसकी आवश्यकता क्यों पड़ती है ?

Software Testing एक ऐसी प्रक्रिया है जिसका अंतर्गत सॉफ्टवेयर एप्लिकेशन की कार्यक्षमता का मूल्यांकन किया जाता है।और साथ ही यह भी देखा जाता है कि विकसित सॉफ्टवेयर की जो भी आवश्यकताएं हैं उनको वह पूरा करता है या नहीं और उसमें कोई Errors तो नहीं आ रहे हैं। यानि टेस्टिंग विकसित कंप्यूटर में सॉफ्टवेयर की शुद्धता, पूर्णता और गुणवत्ता की पहचान करने के लिए किया जाता है। इसके द्वारा आपको यह पता चल जाता है कि आपका software कितना सही है जिससे आगे software पर कार्य करते समय आपको किसी प्रकार का कोई नुकसान ना हो। जिससे इसका इस्तेमाल सुचारू रूप से किया जा सके। कंपनी द्वारा तैयार सॉफ्टवेयर को ग्राहक की जरूरतों के अनुसार विकसित किया जाता है और ग्राहक जिन परिस्थितियों में तैयार सॉफ्टवेयर का उपयोग करेगा, उस तरह की परिस्थितियों को लैब में तैयार कर सॉफ्टवेयर को परखा जाता है। सही तरीके से होने पर यह सॉफ्टवेयर में मौजूद सभी तरह के bugs को हटा देता है। किसी सॉफ्टवेयर को बनाने के लिए डेवलपमेंट टीम द्वारा कार्य किया जाता है और उसके बाद सॉफ्टवेयर को एरर फ्री बनाने के लिए सॉफ्टवेयर टेस्टर कार्य करता है। तो आइये इस आर्टिकल में सॉफ्टवेयर टेस्टिंग के बारे में विस्तार से जानते हैं।