facebook-pixel

पोस्ट ऑफिस फ्रेंचाइजी कैसे लें ?

Share Us

186
 पोस्ट ऑफिस फ्रेंचाइजी कैसे लें ?
15 Jul 2022
7 min read
TWN Opinion

Post Highlight

हर कोई चाहता है कि उसके पैसे अधिक से अधिक बढ़े इसलिए लोग सुरक्षित और अच्छे रिटर्न के लिए इन्वेस्टमेंट के तरीके खोजते हैं। अधिकतर लोग इन्वेस्टमेंट के लिए पोस्ट ऑफिस की बचत योजनाओं को काफी फायदेमंद और बेहतर मानते हैं। दरअसल भारत में लगभग 1.55 लाख डाकघर (Post Office) हैं लेकिन अभी भी कुछ ऐसे क्षेत्र भी हैं जहां पर पोस्ट ऑफिस खोलने की जरुरत है। देखा जाये तो इतना बड़ा नेटवर्क होने के बावजूद हर कस्टमर की डिमांड को पूरा करना आज भी इनके लिए चनौती है। बस इसी कमी को दूर करने के लिए पोस्ट ऑफिस डिपार्टमेंट ने डाक विभाग फ्रेंचाइजी खोलने का अवसर दिया है। आप पोस्ट ऑफिस फ्रेंचाइजी लेकर रोजगार की दिशा में एक कदम बढ़ा सकते हैं और इस फ्रेंचाइजी को शुरू करके आप अच्छी खासी कमाई भी कर सकते हैं। इसमें आपको एक निश्चित कमीशन मिलेगा। यदि कोई व्यक्ति पोस्‍ट ऑफिस फ्रेंचाइजी (Indian Post Office Franchise) शुरू करना चाहता है तो आप अपने राज्य या शहर में शुरू कर सकता है। पोस्ट ऑफिस की फ्रैंचाइज़ी लेने के लिए क्या योग्यता है, कैसे आवेदन करें और इससे जुड़ी अन्य जो भी बातें हैं उसकी पूरी जानकारी आपको इस आर्टिकल में विस्तारपूर्वक जानने को मिलेगी।

Podcast

Continue Reading..

आज के समय में जॉब को लेकर हर कोई परेशान है। इतनी आसानी से जॉब नहीं मिल रही है। यदि कोई प्राइवेट जॉब मिल भी जाती है तो उसमें काम अधिक और पैसा बहुत कम है और ऊपर से स्ट्रेस इतना ज्यादा है कि आदमी अपने लिए सुकून के दो पल भी नहीं निकाल पाता है। यही वजह है कि अब हर कोई अपना रोजगार शुरू करना चाहता है या फिर अपना कोई भी बिज़नेस शुरू करना चाहता है। ऐसे लोगों के लिए रोजगार के लिए भारतीय डाक विभाग काफी अच्छा जरिया हो सकता है। क्योंकि भारतीय डाक विभाग विश्व का सबसे बड़ा नेटवर्क वाला डाक विभाग Indian Postal Department is the world's largest postal department है। भारतीय डाक विभाग अपने नेटवर्क को और फ़ैलाने के लिए या बड़ा करने के लिए अब आम लोगों को भी पोस्ट ऑफिस की फ्रेंचाइजी Post Office Franchise को प्रदान कर रहा है। इसलिए आपके लिए ये अच्छा मौका है और आप आसानी से भारतीय पोस्ट ऑफिस की फ्रेंचाइजी लेकर अच्छी कमाई शुरू कर सकते हैं। तो चलिए जानते हैं कि पोस्ट ऑफिस फ्रेंचाइजी कैसे लें और कैसे इससे अच्छी कमाई करें। 

पोस्ट ऑफिस की फ्रेंचाइजी के लिए योग्यता Eligibility for Post Office Franchisee

  • पोस्ट ऑफिस फ्रेंचाइजी के लिए कोई भी भारतीय नागरिक आवेदन दे सकता है। 

  •  फ्रेंचाइजी लेने के लिए इच्छुक व्यक्तियों की कम से कम आयु 18 साल तय की गई है और मैक्सिमम आयु की कोई सीमा नहीं है। 

  •  कम से कम आठवीं कक्षा तक की पढ़ाई होनी जरुरी है। 

  • फ्रेंचाइजी के लिए सुरक्षा के तौर पर 5 हजार रुपये जमा करने होंगे। 

  • फ्रेंचाइजी को लेने के लिए कोई भी व्यक्ति आवेदन कर सकता है, इंस्टिट्यूशन, ऑर्गनाइजेशन के अतिरिक्त दुकान वाला, छोटे स्तर पर कारोबारी यहां तक की इंडस्ट्रियल सेंटर, कॉलेज, यूनिवर्सिटीज, पॉलिटेक्निक इत्यादि क्षेत्र के भी लोग इसके अंतर्गत आवेदन कर सकते हैं। 

  • यदि आपके परिवार का कोई सदस्य आपके इलाके के डाक विभाग की डिवीजन में अगर कार्य करता है, तो आप उस एरिया की फ्रेंचाइजी लेने के लिए अप्लाई नहीं कर सकेंगे। 

  • फ्रेंचाइजी मिलने के बाद आपको काम के हिसाब से कमीशन (Commission) मिलेगा। 

पोस्ट ऑफिस की 2 तरह की फ्रैंचाइज़ी स्कीम 

भारतीय डाक सेवा अपने प्रोडक्ट बेचने के लिए और अपनी सर्विस को लोगों तक पहुंचाने के लिए 2 तरह की फ्रैंचाइज़ी स्कीम देती है। 

  • काउंटर सर्विसेज (Franchise Outlet)

  • पोस्टल एजेंस (Postal Agent Franchise)

काउंटर सर्विस में हर प्रकार की सर्विस दी जाती है जो एक सरकारी पोस्ट ऑफिस में होती है और पोस्टल एजेंट फ्रैंचाइज़ी में केवल डाक टिकट, स्टेशनरी की काउंटर सर्विस ही दी जाती है। 

पोस्ट ऑफिस फ्रैंचाइज़ी के लिए कैसे करें आवेदन

  • पोस्ट ऑफिस की फ्रेंचाइजी को प्राप्त करने के लिए सबसे पहले आपको आवेदन करना होगा। 

  • आवेदन करने के लिए आपको भारतीय डाक विभाग की ऑफिशल वेबसाइट https://www.indiapost.gov.in/VAS/DOP_PDFFiles/Franchise.pdf पर जाना है।

  • वहां पर आपको पीडीएफ के रूप में आवेदन फॉर्म मिलेगा आपको उसे डाउनलोड करना है और आवेदन फॉर्म की कॉपी का प्रिंट आउट प्राप्त कर लेना है।

  • प्रिंट आउट निकालने के बाद आपको पोस्टल एजेंट से जुड़े हुए फॉर्म (post office franchise form) को भरना होगा और इस फॉर्म को भरने के बाद इसे पास के डाक विभाग में जमा करवाना होगा। 

  • ऑनलाइन फॉर्म डाउनलोड करने के अलावा आप पोस्ट ऑफिस में भी जाकर इस फॉर्म को खरीद सकते हैं और इस फॉर्म को वहां ही भर कर जमा भी करवा सकते हैं।

  • य़े फॉर्म जमा करवाने के बाद अगर आपका चयन डाक विभाग द्वारा Postal Agent पोस्टल एजेंट के लिए कर लिया जाता है तो आपको इसकी जानकारी दे दी जाएगी और आप पोस्टल एजेंट बन जाएंगे। इसके बाद आप लोगों को खुद से पोस्ट ऑफिस की सेवाएं मुहैया करा दी जायेंगी 

  • इतनी प्रक्रिया को करने के बाद आपका आवेदन संपूर्ण हो जाता है।

फ्रैंचाइज़ी के लिए जरुरी डाक्यूमेंट्स Required documents for franchise

पोस्ट ऑफिस की फ्रेंचाइजी लेने के लिए आप फॉर्म भरने से पहले इन सभी निम्न दस्तावेजों की फोटोकॉपी निकलवा लें, क्योंकि ये दस्तावेज आपको फॉर्म के साथ लगाने होंगे।

  • आधार कार्ड Aadhar card

  • पैन कार्ड Pan card

  • स्थाई निवास प्रमाण पत्र Permanent Residence Certificate

  • बर्थ सर्टिफिकेट Birth Certificate

पोस्ट ऑफिस फ्रैंचाइज़ी के लिए सिक्योरिटी डिपॉजिट

पोस्ट ऑफिस फ्रैंचाइज़ी के लिए सबसे पहले आपको 5000 हजार रुपए तक का सिक्योरिटी डिपॉजिट Security Deposit एनएससी को जमा करना पड़ता है। यह सिक्योरिटी डिपॉजिट आपके 1 दिन में किए जाने वाले फाइनेंशियल ट्रांजैक्शन पर आधारित होता है। यदि आपका समय बीतने के अनुसार रेवेन्यू बढ़ता जाता हैं, तो आपका सिक्योरिटी डिपॉजिट अमाउंट बढ़ाया जा सकता है। 

Also Read : Affiliate Marketing - Extra Income का बेहतरीन स्रोत

सिलेक्शन प्रक्रिया कैसे पूरी होती है 

यदि हम भारतीय डाक विभाग की फ्रेंचाइजी की सिलेक्शन प्रक्रिया के बारे में जानने का प्रयास करें, तो इसका सिलेक्शन डिवीजन हेड द्वारा किया जाता है। आवेदन फॉर्म को जमा करने के बाद 14 दिनों के अंदर अंदर ही एएसपी/एसडीआई की रिपोर्ट पर आधारित सिलेक्शन प्रक्रिया को पूरा किया जाता है। 

जिस व्यक्ति का चयन डिविजनल हेड Divisional Head द्वारा किया जाएगा, उस व्यक्ति को ‘मेमोरेंडम ऑफ एग्रीमेंट’ Memorandum of Agreement पर साइन करना होगा। ‘मेमोरेंडम ऑफ एग्रीमेंट’ में उस व्यक्ति के अलावा दो गवाहों द्वारा भी साइन किए जाएंगे। इसलिए आप ‘मेमोरेंडम ऑफ एग्रीमेंट’ पर साइन करने से पहले उसे अच्छे से पढ़ लें। अब समझौते पर साइन करने के बाद आपको प्रेंचाइजी मिल जाएगी। 

फ्रेंचाइजी के लिए कितना करना होगा निवेश?

पोस्ट ऑफिस फ्रेंचाइजी लेने से आपको अच्छी खासी कमाई भी होगी साथ ही इसमें निवेश Investment का ज्यादा खर्च भी नहीं है। यानि पोस्ट ऑफिस खोलने के लिए अधिक इन्वेस्टमेंट नहीं करना पड़ता है। इस फ्रेंचाइजी के लिए आपको Rs. 50,000 से 1 लाख खर्च करना पड़ सकता है। साथ ही पोस्ट विभाग द्वारा जिन लोगों का चयन फ्रेंचाइजी देने के लिए किया जाएगा, उनको सिक्योरिटी डिपॉजिट भी जमा करवाना होगा। पोस्ट ऑफिस फ्रेंचाइजी खोलने के लिए आपको मिनिमम सिक्यॉरिटी अमाउंट 5000 रुपए देना होगा। पोस्ट ऑफिस फ्रेंचाइजी के अन्दर इन्वेस्टमेंट ज्यादा नही करनी पड़ती है क्योकि यदि आपकी खुद की जमीन है तो थोड़ी सी ब्रांड सिक्यूरिटी देने के बाद ऑफिस बनाना पड़ता है। इस योजना के अंतर्गत दो तरह की फ्रेंचाइजी हैं, पहला आउटलेट फ्रेंचाइजी है और दूसरा पोस्टल एजेंट की फ्रेंचाइजी है।

जहां डाक सेवाओं की मांग है वहां आउटलेट फ्रेंचाइजी के जरिए काउंटर सेवाएं दी जाएंगी। वहीं, डाक एजेंटों के जरिए शहरी और ग्रामीण इलाकों में डाक टिकटों और स्टेशनरी की बिक्री की जाएगी। फ्रेंचाइजी आउटलेट का काम मुख्य रूप से सर्विस को पास करना होता है इसलिए इसका इन्वेस्टमेंट कम है लेकिन पोस्टल एजेंट के लिए इन्वेस्टमेंट ज्यादा होता है क्योंकि आपको स्टेशनरी के सामान की खरीदारी भी करनी होती है। 

पोस्ट ऑफिस फ्रैंचाइज़ी के लिए ट्रेनिंग Post Office Franchisee Training

सिलेक्शन होने के बाद सिलेक्टेड व्यक्तियों को उनके काम से संबंधित कुछ समय के लिए ट्रेनिंग प्रदान की जाती है जिससे वो काम को सही तरीके से कर पाएं। ट्रेनिंग प्राप्त करने वाले व्यक्तियों को ट्रेनिंग के बाद काम करने में काफी आसानी हो जाती है। फ्रेंचाइजी से जुड़ी ट्रेनिंग कितने समय की होगी, किस समय दी जाएगी और किस स्थान पर दी जाएगी इसका चयन डिपार्टमेंट ऑफ पोस्ट द्वारा किया जाएगा। अगर ये ट्रेनिंग किसी अन्य शहर में दी जाती है तो इस ट्रेनिंग के लिए उस शहर मे जाने और रहने का खर्चा डाक विभाग की ओर से नहीं दिया जाएगा। जिन भी व्यक्तियों को फ्रेंचाइजी दी जाएगी उन्हें सबसे पहले ट्रेनिंग दी जाएगी और अगर उन व्यक्तियों की फ्रेंचाइजी किसी दूसरे व्यक्ति द्वारा संभाली जाएगी, तो ये ट्रेनिंग उसको दी जाएगी। फ्रेंचाइजी से जुड़ी हुई सारी ट्रेनिंग क्षेत्र के सब-डिवीजनल इंस्पेक्टर Sub-Divisional Inspector द्वारा दी जाएगी और ट्रेनिंग देते समय अगर किसी व्यक्ति का प्रदर्शन अच्छा नहीं पाया गया तो उसको दी गई फ्रेंचाइजी का अनुबंध खत्म कर दिया जाएगा। इसलिए ट्रेनिंग लेते समय अच्छा प्रदर्शन करके दिखाना जरुरी है। ट्रेनिंग के दौरान ये बताया जाता है कि किस तरह से पोस्ट ऑफिस में कार्य किया जाता है और उत्पादों, सेवाओं, बुनियादी प्रक्रियाओं, परिसर की देखभाल किस तरह से की जाती है। बस फिर इस ट्रेनिंग के बाद फ़्रेंचाइज़र अपनी फ्रेंचाइजी शुरू कर सकते हैं।

पोस्ट ऑफिस में क्या काम करना होगा 

यदि आप भारतीय डाक विभाग की फ्रेंचाइजी प्राप्त कर लेते हैं तो आप अपने फ्रेंचाइजी के जरिए अपने ग्राहकों को कुछ प्रमुख और महत्वपूर्ण सुविधाएं प्रदान करने योग्य हो जाते हैं जैसे -फ्रेंचाइजी के जरिए स्पीड पोस्ट, मनीआर्डर की बुकिंग Speed ​​Post, Money Order Booking आदि सेवाएं प्रदान कर सकते हैं। आप स्टांप और स्टेशनरी की सेवा प्रदान कर सकते हैं। फ्रेंचाइजी के द्वारा आप अपने ग्राहकों को पोस्टल लाइफ इंश्योरेंस और प्रीमियम भुगतान की सेवा Postal Life Insurance and Premium Payment Service प्रदान कर सकते हैं। आप ई-गवर्नेंस और सिटीजन जैसी सर्विस भी अपने उपभोक्ताओं को प्रदान कर सकते हैं। आप बिल, टैक्स, जुर्माने का कलेक्शन जैसी पेमेंट सर्विस भी प्रदान कर सकते हैं। इसके अलावा भारतीय डाक विभाग जो भी सर्विस लांच करेगा उन सभी सर्विसेस को आप अपनी फ्रेंचाइजी के द्वारा अपने उपभोक्ताओं को प्रदान कर सकते हैं। 

फ्रेंचाइजी मिलने के बाद कैसे होती है कमाई

स्पीड पोस्ट के लिए 5 रुपए, 100 से लेकर 200 रुपए तक का मनी ऑर्डर बुकिंग करने पर आपको 3.50 रुपए तक का कमीशन Commission प्राप्त होता है। साथ ही पोस्टल स्टाम्प और स्टेशनरी पर 5 फीसदी का कमीशन मिलता है। इस तरह अलग-अलग सर्विस के लिए अलग अलग कमिशन मिलता है। ऐसे में आपकी कमाई भी अच्छी हो सकती है। सभी प्रकार के रेवेन्यू स्टांप सेंटर रिक्रूटमेंट एजेंसी की फ़ीस स्टांप आदि पर आपको रिटेलर सर्विसेज पर पोस्टल डिपार्टमेंट की ओर से उनकी कमाई का लगभग 40% कमीशन प्राप्त होता है। हर महीने 1000 से ज्यादा रजिस्ट्री या स्पीड पोस्ट आर्टिकल पर 20 फीसदी अतिरिक्त कमीशन मिलता है।