हर व्यक्ति के पास होनी चाहिए ये 6 स्किल्स

Share Us

5760
हर व्यक्ति के पास होनी चाहिए ये 6 स्किल्स
20 Jun 2023
5 min read

Blog Post

अपने जीवन को सफलतापूर्वक और अपने दम पर जीने के लिए आपको कुछ स्किल्स आनी चाहिए। इन कौशल की मदद से आप अपने जीवन में सही निर्णय ले पाते हैं और अपना ख्याल रख पाते हैं। इंडिपेंडेंट लिविंग स्किल्स इसीलिए ज़रूरी हैं क्योंकि ये लोगों को अपने दम पर जीने, पैसे कमाने और उनके स्वास्थ्य की देखभाल करने में मदद करती हैं।

इन स्किल्स की मदद से हर व्यक्ति रोटी,कपडा और मकान Food, clothing and shelter के लिए खुद पर निर्भर रहता है। जब आप दूसरों पर निर्भर नहीं रहते तो आप बेहद कांफिडनेट रहते हैं और कुछ भी हासिल करने की हिम्मत रखते हैं। 

आज के दौर में इंडिपेंडेंट लिविंग स्किल्स Independent living skills का महत्व बढ़ता जा रहा है। एक व्यक्ति के पास इंडिपेंडेंट लिविंग स्किल्स होना बहुत जरूरी है क्योंकि यह उन्हें अपने जीवन के हर क्षेत्र में सफलता हासिल करने में मदद करता है। यह उन्हें स्वतंत्र बनाता है जिससे वे खुद को निर्भर नहीं रखते हैं।

इससे उनमें स्वयं के प्रति विश्वास बढ़ता है और वे अपने लक्ष्यों की तरफ बढ़ते हुए समय व पैसे की बचत कर सकते हैं। इसके साथ ही इंडिपेंडेंट लिविंग स्किल्स उन्हें बड़े स्तर पर स्वस्थ जीवन जीने में मदद करते हैं जहाँ वे अपने खुशहाल जीवन का आनंद उठा सकते हैं।

इसलिए, इंडिपेंडेंट लिविंग स्किल्स का होना आज के समय में बहुत जरूरी है जो हमारे व्यक्तित्व को समृद्ध और खुशहाल बनाने में मदद करते हैं।

जॉब पाने के लिए और पर्सनल डेवलपमेंट personal development के लिए हम कई तरह को स्किल्स skills सीखते हैं, जैसे- कम्यूनिकेशन स्किल्स communication skill, प्रोब्लम सॉल्विंग स्किल्स problem solving skill, क्रिएटिविटी creativity, लीडरशिप leadership आदि लेकिन अपने जीवन को सुचारू रूप से चलाने के लिए हम सभी के पास कुछ जरूरी स्किल्स होनी चाहिए। अगर ये स्किल्स आपके पास नहीं रहेंगी तो आपको अपने ही काम के लिए दूसरों पर निर्भर होना पड़ेगा। 

खासकर ये स्किल्स टीनेजर्स teenagers को ज़रूर आनी चाहिए क्योंकि अक्सर कॉलेज और जॉब के चलते उन्हें घर से दूर रहना पड़ता है और ऐसे में बेसिक लाइफ स्किल basic life skill में अगर वे निपुण होते हैं तो वे आसानी से अपना जीवन व्यतीत कर पाते हैं और उन्हें किसी पर निर्भर नहीं होना पड़ता है। 

इंडिपेंडेंट लिविंग स्किल्स Independent living skills क्या होती हैं?

अपने जीवन को सफलतापूर्वक और अपने दम पर जीने के लिए आपको कुछ स्किल्स आनी चाहिए। इन कौशल की मदद से आप अपने जीवन में सही निर्णय ले पाते हैं और अपना ख्याल रख पाते हैं। 

इंडिपेंडेंट लिविंग स्किल्स या स्वतंत्र जीवन कौशल हमारे जीवन में बहुत महत्वपूर्ण होते हैं। ये हमें एक आत्मनिर्भर व्यक्ति बनने में मदद करते हैं जो अपनी दैनिक जिंदगी के लिए स्वयं से फैसले ले सकता है। इन स्किल्स को सीखने से हम अपने आप को संभालना सीखते हैं और अपने आसपास के लोगों की मदद कर सकते हैं।

यहां हम इंडिपेंडेंट लिविंग स्किल्स के कुछ महत्वपूर्ण पहलुओं पर चर्चा करेंगे -

  • सेल्फ केयर स्किल्स  Personal Care

सेल्फ केयर स्किल्स हमें खुद की देखभाल करने की शिक्षा देते हैं। ये शामिल होते हैं जैसे स्वच्छता, खान-पान, रोजमर्रा की गतिविधियों के लिए उपकरणों का इस्तेमाल करना, बेड मेकिंग, नैपकिन बदलना आदि। इन सब कामों को खुद से करना हमें अपनी संगति से अलग रहने का भी अनुभव देता है।

  • सोशल स्किल्स Social skills

सोशल स्किल्स हमें दूसरों से मिलने, बातचीत करने, संभाषण करने, ग्राहक सेवा में सहायता देने जैसे जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में सक्षम बनाती हैं। ये हमें अन्य लोगों से अच्छी तरह संवाद करने, सामाजिक तौर पर सही तरीके से पेश आने, समूह काम में भाग लेने, अपने विचारों को साफ और स्पष्ट रूप से व्यक्त करने आदि कौशलों को सिखाती हैं।

अधिकतर मामलों में, सोशल स्किल्स का सही उपयोग हमें दूसरों से अच्छी तरह संवाद करने और समूह में शामिल होने में सहायता करता है। इसके अलावा, ये हमारी स्थानीय या वैश्विक समुदाय में संबंध और समझ के बीच बाधाओं को दूर करने में भी मदद करते हैं।

कुछ महत्वपूर्ण सोशल स्किल्स हैं जैसे कि संवाद कौशल, भागीदारी , संतुलन और अनुकूलता। संवाद कौशल एक महत्वपूर्ण सोशल स्किल है जो हमें दूसरों से सही ढंग से बातचीत करना सिखाती है।

भागीदारी Involvement एक अन्य महत्वपूर्ण सोशल स्किल है जो हमें समूह में शामिल होना सिखाती है। एक अच्छी भागीदारी क्षमता के साथ, हम अन्य लोगों के साथ अच्छी तरह से मिलते हैं और अपने विचारों को साझा करते हुए अपने समूह के साथ एक मित्रता और विश्वास बनाते हैं। संतुलन भी एक महत्वपूर्ण सोशल स्किल है जो हमें दूसरों की भावनाओं और विचारों का समझने के लिए समझदार होने की सिखाती है।

अनुकूलता एक अन्य महत्वपूर्ण सोशल स्किल है जो हमें अन्य लोगों के साथ अच्छी तरह से समझौता करने की सिखाती है। यह बहुत महत्वपूर्ण है क्योंकि जीवन में हमें हमेशा अपनी इच्छाओं को पूरा नहीं कर सकते हैं, और अन्य लोगों को समझने के लिए अनुकूलता एक महत्वपूर्ण विशेषता है।

इन सोशल स्किल्स का समावेश आपके दैनिक जीवन में आपकी संभावित आर्थिक, सामाजिक और व्यक्तिगत सफलता में बहुत महत्वपूर्ण होता है।

  • वित्तीय ज्ञान Money management 

वित्तीय ज्ञान इंडिपेंडेंट लिविंग के लिए आवश्यक होता है। आपको अपने वित्त के बारे में जानना चाहिए, जैसे बजट, बैंकिंग, और आपके खर्चों के प्रबंधन के तरीके।इससे आप अपने वित्तीय दुर्बलताओं को पहचान सकते हैं और उन्हें दूर करने के लिए कदम उठा सकते हैं। बजट बनाने की कला और उसे पालन करने की क्षमता आपको वित्तीय स्थिरता और स्वतंत्रता देती है।

वित्तीय ज्ञान की मदद से आप आर्थिक रूप से स्वस्थ रह सकते हैं और आपको संभवतः अपने आय के बारे में जानने और अपने खर्चों को प्रबंधित करने के लिए कुछ आवश्यक स्किल जानने की आवश्यकता होती है। यह आपको आने वाले समय में आर्थिक रूप से स्थिर रखने में मदद करेगा।

वित्तीय ज्ञान के अन्य महत्वपूर्ण तत्वों में बैंकिंग, निवेश, अधिकृत और अनुशंसित खर्च शामिल होते हैं। बैंकिंग स्किल आपको बैंकिंग सेवाओं के बारे में समझ देती है और आपको वित्तीय लेनदेन करने में मदद करती है। निवेश स्किल आपको आर्थिक संरचना का निर्धारण करने में मदद करती है और आपके लिए सही निवेश योजनाएं चुनने में मदद करती है।

  • फूड प्रिपरेशन Food preparation

फूड प्रिपरेशन यानी खाद्य तैयारी एक और महत्वपूर्ण इंडिपेंडेंट लिविंग स्किल है। इसमें आपको खाद्य सामग्री को ठीक से साफ करना, काटना, उबालना, भूनना और तलना जैसे कुछ महत्वपूर्ण चरण होते हैं।

इसके अलावा आपको स्वस्थ और संतुलित भोजन बनाने के तरीके के बारे में जानना चाहिए, जैसे कि अलग-अलग खाद्य समूहों से प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट्स, विटामिन और मिनरल्स कैसे प्राप्त किए जा सकते हैं। इससे आप स्वस्थ भोजन की तैयारी कर सकते हैं जो आपके शारीर के लिए उत्तम होगा।

  • क्लोथिंग केयर Clothing care

क्लोथिंग केयर भी इंडिपेंडेंट लिविंग स्किल्स में से एक है। इसमें आपको अपनी कपड़ों की सही देखभाल करना सीखना चाहिए। इसमें से कुछ तरीके शामिल हैं:

  1. धोबी के पास जाकर कपड़ों को धोना या स्वयं कपड़ों को धोना सीखना।
  2. सुनसान और अलग स्थान पर उन्हें सुखाना।
  3. विभिन्न कपड़ों को अलग-अलग तरीकों से इस्तेमाल करना, जैसे अलग रंगों के कपड़ों को अलग-अलग धोना।
  4. धुले हुए कपड़ों को अच्छी तरह संभाल कर रखना।
  5. धुले हुए कपड़ों को इस्त्री पर इस्तेमाल करना।
  6. अलग-अलग फैब्रिक को अलग-अलग तरीकों से इस्तेमाल करना।

इसके अलावा, कपड़ों को ठीक से संभाल कर रखना, उन्हें सुखाना और इस्त्री पर इस्तेमाल करना इसका हिस्सा होता है। इन सभी कार्यों को स्वयं करने से आप अपनी कपड़ों की सही देखभाल कर सकते हैं और आपके पास अन्य कामों के लिए भी समय बचाने में मदद मिलेगी।

  • होम मेंटेनेंस Home maintenance

होम मेंटेनेंस एक और अहम इंडिपेंडेंट लिविंग स्किल है। यह आपको अपने घर की देखभाल और सुरक्षा से संबंधित जानकारी प्रदान करता है। इसमें आपको अपने घर की सफाई और सामान्य रिपेयर्स करने के तरीके का पता होना चाहिए।

इसके अलावा, आपको अपने घर के सुरक्षा सुविधाओं के बारे में भी जानना चाहिए जैसे अलार्म सिस्टम, फायर एक्सटिंगुशर सिस्टम आदि। इससे आपके घर के नुकसान को कम करने और अपने और अपने परिवार के लिए सुरक्षित रहने में मदद मिलेगी।

इंडिपेंडेंट लिविंग स्किल्स क्यों ज़रूरी हैं?

इंडिपेंडेंट लिविंग स्किल्स इसीलिए ज़रूरी हैं क्योंकि ये लोगों को अपने दम पर जीने, पैसे कमाने और उनके स्वास्थ्य की देखभाल करने में मदद करती हैं। इन स्किल्स की मदद से हर व्यक्ति फूड, क्लोथिंग और शेल्टर के लिए खुद पर निर्भर रहता है।

जब आप दूसरों पर निर्भर नहीं रहते तो आप बेहद कांफिडनेट रहते हैं और कुछ भी हासिल करने की हिम्मत रखते हैं। आइए जानते हैं उन स्किल्स के बारे में जो हर व्यक्ति के पास होनी चाहिए-

1. फाइनेंस finance की अच्छी समझ 

इस बात से फर्क नहीं पड़ता कि आपकी उम्र क्या है और आप क्या काम करते हैं, आपको फाइनेंस की अच्छी समझ होनी ही चाहिए। आपको पता होना चाहिए कि आप कितना पैसा कमा रहे हैं, कितना इन्वेस्ट कर रहे हैं और कितना खर्च कर रहे हैं।

इमरजेंसी परपज emergency purpose के लिए आप कितना पैसा बचा रहे हैं और मनोरंजन, बिल्स, रेंट और फूड entertainment, bills, rent, food पर आप हर महीने कितना पैसा खर्च रहे हैं। 

2. प्रोफेशनल तरीके से काम करें

अगर आप जॉब करते हैं तो आपको हर काम को प्रोफेशनल तरीके से करना आना चाहिए। कंपनी के ड्रेस कोड का पालन करना, उचित भाषा का उपयोग करना, सहयोगियों का समर्थन करना, डेडलाइन से पहले काम पूरा करना और अपने प्रबंधक के हर निर्देशों का पालन करना आपको आना चाहिए।

इससे भी ज्यादा ज़रूरी है आपका अनुशासित रहना क्योंकि कभी-कभी तो सबसे ही गलतियां हो जाती हैं लेकिन अगर आप अनुशासित हैं तो आपसे कम गलतियां होंगी।

Also Read: जीवन में सफल होने के टिप्स

3. हेल्थी मील्स तैयार करना 

हम सभी को हेल्थी मील्स healthy meals तैयार करना चाहिए क्योंकि इससे आप पैसे की बचत भी कर पाएंगे और आपका स्वास्थ्य भी अच्छा रहेगा। हर किसी को बेसिक कुकिंग स्किल्स basic cooking skills आनी चाहिए। हमें हमेशा से यह सीखाया जाता है कि हमें किसी पर निर्भर नहीं रहना चाहिए और इसीलिए हमें अलग-अलग स्किल्स आनी चाहिए लेकिन उन स्किल्स में हम कुकिंग को शामिल करना भूल जाते हैं।

आज के दौर में बाज़ार में जंक फूड और फास्ट फूड की भरमार है और ऐसे में कई लोग अपने बिजी शेड्यूल के चलते खुद खाना बनाने के बजाय बाहर खाना खाना पसंद करते हैं लेकिन इस चीज़ का सबसे बुरा असर उनके स्वास्थ्य पर होता है।

कुकिंग में आप खाने में डिफरेंट एक्सपेरिमेंट कर सकते हैं और ये बहुत अद्भुत लाइफ स्किल भी है इसीलिए अपने फ्री टाइम में कुकिंग करना ज़रूर सीखें और वैसे भी आज कल तो यू ट्यूब पर कई ऐसे चैनल भी हैं जिनकी मदद से आप कुकिंग सीख सकते हैं और अपने लिए हेल्थी और टेस्टी मील्स तैयार कर सकते हैं। 

कुकिंग के साथ-साथ आपको ग्रोसरीज groceries की खरीदारी करनी भी आनी चाहिए। अगर आपको सही तरीके से ग्रोसरीज की खरीदारी करनी आती है तो आप पैसे की बचत कर पाएंगे और अपने लिए घर पर ही हेल्थी मील्स तैयार कर पाएंगे। 

4. नियमित योग और व्यायाम करना 

योग और व्यायायम के फायदे जानने के बावजूद भी हम इसे अपना समय नहीं दे पाते हैं। रोज़ एक्सरसाइज करना भी एक स्किल है क्योंकि ये सबके बस की बात नहीं है। व्यायाम करने से आप शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ रहते हैं और आपका स्लीप शेड्यूल sleep schedule सही हो जाता है।

आज-कल कई लोगों को स्लीप शेड्यूल से जुड़ी कई समस्याएं होती हैं, वे अपना शेड्यूल सही तो करना चाहते हैं लेकिन कई कोशिशों के बाद भी वे इसमें नाकाम रहते हैं। ऐसे लोगों को एक बार व्यायाम की आदत डालनी चाहिए और रोज़ योग और व्यायाम करना चाहिए क्योंकि ऐसा करने से आपका स्लीप शेड्यूल सही हो जाएगा और आपका दिन ज्यादा प्रोडक्टिव productive रहेगा।

वेट ट्रेनिंग करना, सीढियां चढ़ना, नृत्य करना, टहलना या दौड़ना और रस्सी कूदना, आप अपने पसंद के अनुसार इनमें से किसी को भी अपने एक्सरसाइज रूटीन में शामिल कर सकते हैं। 

5. करियर गोल्स निर्धारित करें

भविष्य की योजना बनाने के लिए और अपने लक्ष्यों को पूरा करने के लिए आपको करियर गोल्स career goals निर्धारित करने पड़ेंगे क्योंकि ऐसा करने से आपको पता होगा कि कितने समय में आपको अपने आपसे क्या चाहिए और उसे कैसे पूरा किया जाए।

करियर गोल्स से मतलब है कि आप आने वाले 5 सालों में खुद को कहां देखते हैं, किस पद पर देखते हैं और उस पद पर पहुंचने के लिए आपको क्या-क्या करना होगा। 

6. टाइम मैनेजमेंट

हमें एक दिन, एक सप्ताह और एक महीने में कई कार्य करने पड़ते हैं और अगर आपने टाइम मैनेजमेंट time management सीख लिया तो हर टास्क को सही समय पर पूरा करना आसान हो जाता है। रोज़ आपको बस ये देखना है कि आपका समय किन-किन चीजों में जाता है।

बिजी शेड्यूल होने के नाते समय बीतते रहता है और हमें पता भी नहीं चलता है इसीलिए रोज़ आप खुद को 10 मिनट दें और यह देखें कि आपने 24 घंटे में किस काम को कितना समय दिया है। 

निष्कर्ष 

रोज़ खुद को बेहतर बनाने के लिए आपको कई तरीके की सॉफ्ट स्किल्स और हार्ड स्किल्स सीखनी पड़ती है लेकिन कुछ स्किल्स ऐसी भी होती हैं, जो सभी को आनी चाहिए जिन्हें आप लाइफ स्किल या इंडिपेंडेंट लिविंग स्किल्स कह सकते हैं।

लाइफ में आपको कई तरह के चैलेंजेस का सामना करना पड़ता है लेकिन अगर आपके पास ज़रूरी स्किल्स हैं तो आप उन चैलेंजेस का सामना कर सकते हैं।