facebook-pixel

UPSC CSE 2023 में कैसे पाएं सफलता ?

Share Us

262
UPSC CSE 2023 में कैसे पाएं सफलता ?
29 Oct 2022
6 min read
TWN Special

Post Highlight

किसी भी परीक्षा को पास करने की तरकीब एक जबरजस्त रणनीति तैयार करने में निहित है। कोई फर्क नहीं पड़ता कि परीक्षा इतनी कठिन या आसान है, यदि आप पाठ्यक्रम को अच्छी तरह से जानते हैं, पिछले वर्षों के प्रश्नपत्रों का अभ्यास करते हैं, एक स्ट्रिक्ट टाइम टेबल strict time table फॉलो करते हैं और अगर आपको अनुशासन पसंद है, तो आप इस दुनिया में किसी भी परीक्षा को पास कर सकते हैं। जैसा कि आज हम दुनिया की कुछ सबसे कठिन परीक्षाओं के बारे में बात कर रहे हैं, तो भला यूपीएससी सीएसई UPSC CSE को कोई कैसे भूल सकता है। UPSC CSE को क्रैक करना अपने आप में एक कला है। जब हम यूपीएससी UPSC के बारे में सबसे अधिक पूछे जाने वाले प्रश्नों पर चर्चा करते हैं तो उनमें यूपीएससी सीएसई UPSC CSE की तैयारी कैसे करें, यूपीएससी उम्मीदवार को आईएएस IAS बनने के लिए कितने घंटे अध्ययन करना चाहिए, यूपीएससी सीएसई से संबंधित मिथक आदि शामिल होते हैं। आज हम आपको यूपीएससी सीएसई UPSC CSE के बारे में वो सब कुछ बताने जा रहे हैं, जिसकी मदद से आप इस परीक्षा को और अच्छे से जान पाएंगे। 

 

Podcast

Continue Reading..

UPSC CSE क्या है? What is UPSC CSE?

UPSC CSE दुनिया की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक है। सिविल सेवा परीक्षा भारत में एक राष्ट्रीय प्रतियोगी परीक्षा है। यह परीक्षा संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) Union Public Service Commission (UPSC) द्वारा भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस), भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस), भारतीय विदेश सेवा (आईएफएस), समूह ए सेवाओं या केंद्रीय सेवाओं और समूह बी सेवाओं Group A Services or Central Services and Group B Services और अन्य राज्य सेवाओं State Services etc. के लिए उम्मीदवारों की भर्ती के लिए आयोजित की जाती हैं।

इस परीक्षा में तीन चरण होते हैं- प्रारंभिक परीक्षा (प्रीलिम्स) preliminary exam (prelims), मुख्य परीक्षा mains exam और एक पर्सनालिटी टेस्ट personality test, जो एक इंटरव्यू होता है। हर साल लगभग 5 से 6 लाख उम्मीदवार इस परीक्षा को देते हैं। 

UPSC CSE 2023

यूपीएससी सीएसई 2023 के लिए नोटिफिकेशन 01 फरवरी, 2023 को प्रकाशित की जाएगी। आप यूपीएससी सीएसई 2023 के लिए 1 फरवरी, 2023 - 21 फरवरी, 2023 के बीच आवेदन कर सकते हैं।

  • यूपीएससी सीएसई 2023, प्रीलिम्स डेट- 28 मई, 2023
  • यूपीएससी सीएसई 2023 मेन्स डेट- सितंबर, 2023

भारत में सिविल सर्विस के प्रकार Types Of Civil Services In India

  • भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) Indian Administrative Service (IAS)
  • भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) Indian Police Service (IPS)
  • भारतीय विदेश सेवा (आईएफएस) Indian Foreign Service (IFS)
  • भारतीय राजस्व सेवा Indian Revenue Service
  • भारतीय लेखा परीक्षा और लेखा सेवा 
  • भारतीय रक्षा लेखा सेवा
  • भारतीय डाक सेवा
  • Indian P&T Accounts & Finance Service, Group A
  • Indian Civil Accounts Service, etc.

UPSC CSE 2023 ओवरव्यू

यूपीएससी, सीएसई (सिविल सेवा परीक्षा) आयोजित करने के लिए जिम्मेदार है। यह तीन चरणों की परीक्षा है जो आधिकारिक तौर पर साल में एक बार ऑफलाइन मोड में आयोजित की जाती है। ऑफिशियल नोटिफिकेशन के अनुसार, यूपीएससी सीएसई के लिए आयु सीमा 21 से 32 वर्ष के बीच है। आगामी UPSC 2023 परीक्षा की तैयारी करने वाले उम्मीदवार UPSC CSE, 2023 के लिए 1 अगस्त, 2023 की गणना करके अपनी आयु सीमा की जांच कर सकते हैं।
 

यूपीएससी सीएसई की तैयारी के लिए रणनीति Complete UPSC CSE Preparation strategy 

1. पहले इस परीक्षा और इसके पैटर्न से परिचित हों Get Familiar With This Exam And Its Pattern

कई छात्र सीएसई CSE के बारे में कुछ भी जाने बिना अपनी तैयारी शुरू कर देते हैं और कुछ ही महीनों में तैयारी के दौरान उनकी रुचि और जिज्ञासा खत्म हो जाती है। अपने साथ ऐसा मत होने दीजिए। सबसे पहले, सीएसई टॉपर्स के कुछ ब्लॉग और वीडियो पढ़ना शुरू करें और उनकी रणनीतियों को नोट करें। आँख बंद करके उनका अनुसरण न करें बल्कि उन रणनीतियों को फॉलो करें जो लगभग सारे ही टॉपर्स में कॉमन हैं। जब आप इस परीक्षा से परिचित हो जाते हैं, तो आपके लिए एक रूटीन को फॉलो करना आसान हो जाता है और आप कड़ी मेहनत करने के लिए तैयार हो जाते हैं।

  • प्रीलिम्स और मेन्स परीक्षा दोनों के सिलेबस को जानें। Know the syllabus of both prelims and mains exam.
  • नियमित रूप से एक समाचार पत्र पढ़ें। Read a newspaper regularly.
  • अपने खुद के नोट्स बनाएं। Make your own notes.

2. अपनी नींव को मजबूत करें। Strengthen Your Foundation

सीएसई CSE की तैयारी के लिए बाजार में हजारों सामग्री हैं लेकिन अपनी नींव को मजबूत करने के लिए एनसीईआरटी NCERTs की किताबों से बेहतर कुछ नहीं है। सबसे पहले फोकस्ड रहकर एनसीईआरटी की किताबों का अध्धयन करें और कोई भी नोट्स बनाने से पहले कम से कम तीन बार एनसीईआरटी को पढ़ें। 
 

3. स्टैंडर्ड बुक्स की मदद से अपनी नॉलेज को अपग्रेड करें Standard boos will upgrade your knowledge

यदि आपने सारी एनसीईआरटी की किताबें पढ़ ली हैं और आप रोज़ एक न्यूजपेपर पढ़ रहे हैं तो इसका मतलब है कि आपको पाठ्यक्रम का पर्याप्त ज्ञान है लेकिन अपनी नॉलेज को अपग्रेड करने के लिए स्टैंडर्ड बुक्स की मदद लें। स्टैंडर्ड किताबों की सूची यहां दी गई है The list of standard books are discussed below-
विषय किताबें लेखक
इतिहास 1. India's struggle for Independence बिपिन चंद्र
  2. Indian Art & culture  नितिन सिंघानिया
  3. India’s Ancient Past  आर. एस. शर्मा
  4. History of Medieval India (800–1700 AD)   सतीश चंद्र
  5. Mastering modern world history Norman Lowe 
भूगोल  1. Certificate Physical Geography G C Leong 
  2. World Atlas  
  3. Old NCERTS (VI-X)  
  4. New NCERTS (XI-XII)  
इंडियन पॉलिटी भारत की राज्यव्यवस्था M. Laxmikant 
गवर्नेंस 1. From Government to Governance Kuldeep Mathur 
इंडियन इकोनॉमी  1. Introductory Macroeconomics Class- XII NCERT  
  2. Indian Economy Sanjeev Verma 
एथिक्स, इंटीग्रिटी & एप्टीट्यूड  1. Ethics in Governance- ARC Report  
  2. Lexicon by Chronicle Publications  
International Relations 1. Contemporary World Politics- NCERT XII  
Maths & reasoning  Verbal & Non-Verbal Reasoning  
  Tata McGraw Hill CSAT Manual  

 

4. स्टडी पैटर्न को प्रीलिम्स और मेंस के बीच डिवाइड ना करें Don't divide your study pattern into Prelims and Mains

हम में से ज्यादातर लोगों को ये लगता है कि प्रीलिम्स और मेंस के अलग-अलग सिलेबस हैं तो हमें प्रीलिम्स और मेंस prelims and mains के लिए अलग-अलग किताबों से अलग-अलग तैयारी करने की ज़रूरत है। अगर आप भी ऐसा ही सोचते हैं तो आप गलत तरीके से तैयारी कर रहे हैं। 
दरअसल, प्रीलिम्स और मेंस एक ही परीक्षा के दो पार्ट हैं। प्रीलिम्स और मेंस का सिलेबस एक नहीं है लेकिन बहुत हद तक मिलता जुलता है और अगर आप मेंस की तैयारी करते हैं तो प्रीलिम्स की तैयारी अपने आप ही हो जाती है। Prelims and mains are two parts of the same exam with a similar syllabus (not same).
उदाहरण- वर्ल्ड हिस्ट्री, मेंस के जीएस 1 का एक महत्वपूर्ण विषय है लेकिन प्रीलिम्स के सिलेबस में वर्ल्ड हिस्ट्री नहीं मेंशन है। ठीक इसी तरह मैथ्स और रीजनिंग प्रीलिम्स प्रीलिम्स पेपर पैटर्न के लिए ज़रूरी हैं लेकिन मेंस में इनकी ज़रूरत नहीं है।  
 

प्रीलिम्स पेपर पैटर्न Prelims paper pattern 

मोड ऑफ एग्जाम ऑफलाइन 
नंबर ऑफ़ पेपर्स 1. जनरल स्टडीज
2. सिविल सर्विस एप्टीट्यूड टेस्ट
नेचर ऑफ़ एग्जाम क्वालीफाइंग
एग्जाम ड्यूरेशन  GS- 2 hours
CSAT- 2 hours
भाषा अंग्रेजी और हिंदी
पेपर टाइप ऑब्जेक्टिव क्वेश्चंस 
प्रीलिम्स टोटल मार्क्स 400

मेंस पेपर पैटर्न और पर्सनालिटी टेस्ट Mains paper pattern & personality test

पेपर टाइटल  मार्क्स
निबंध (Essay paper) 250
इंग्लिश लैंग्वेज  300 (qualifying)
अन्य भारतीय भाषा  300 (qualifying)
GS 1 250
GS 2 250
GS 3 250
GS 4 250
Optional paper-I 250
Optional paper-II 250
Personality test 

275

 
यूपीएससी नोटिफिकेशन के अनुसार, दोनों लैंग्वेज पेपर्स में आपको कम से कम 25 प्रतिशत मार्क्स चाहिए। यानी की आपको कम से कम 75/300 मार्क्स चाहिए। 

5. एक टाइम टेबल बनाइए Make a Time Table

अगर आपको एक आईएएस ऑफिसर बनना है तो पहले आपको उनकी तरह एक रूटीन भी फॉलो करना होगा। हम अक्सर सुनते हैं- Fake it till you make it. तो, आपको मेहनत करने से क्या रोक रहा है? 
एक वेल ऑर्गनाइड टाइम टेबल well-organized time table बनाइए और उसे फॉलो करिए। एक अच्छे स्टडी रूटीन को फॉलो किए बिना अगर आप सिविल सर्विसेज परीक्षा की तैयारी करते हैं तो आपको बाद में कुछ समस्याएं आ सकती हैं। जैसे- सिलेबस ना पूरा कर पाना, रिवाइज ना कर पाना, आदि। 
अगर आपको अपने प्लांस और टू-डू लिस्ट को लिखना नहीं पसंद है और आपको ऐसा लगता है कि उसमें आपका काफी समय जाता है तो आप गूगल शीट्स की मदद लें। 

यूपीएससी सीएसई एस्पिरेंट्स के लिए कुछ ज़रूरी टिप्स Very important tips for UPSC CSE Aspirants

  • ज्यादा से ज्यादा मॉक टेस्ट दें। कई बार स्टूडेंट्स मॉक टेस्ट अपने कंफर्ट जोन में देते हैं, जैसे- एसी ऑन करके किसी भी वक्त वो मॉक टेस्ट देना शुरू कर देते हैं, मगर ये मॉक टेस्ट देने का सही तरीका नहीं है। अगर आप मॉक टेस्ट दे रहे हैं तो ऐसा माहौल बनाइए जैसे आप सच में प्रीलिम्स की परीक्षा दे रहे हैं। आप उसी समय पर रोज़ मॉक टेस्ट दीजिए जिस समय पर प्रीलिम्स होता है और इसके साथ-साथ एसी बंद रखिए क्योंकि एग्जाम हॉल में एसी नहीं फैन होता है। 
  • रिवीजन करते रहिए। 
  • आंसर राइटिंग की प्रैक्टिस करिए। 
  • CSAT को नज़रंदाज़ मत करिए।
  • ऑप्शनल विषय को सोच समझ कर चुनिए। 
  • योजना, कुरुक्षेत्र और इकोनॉमिक और पॉलिटिकल वीकली जैसी मैगजीन को पढ़िए। 

सिविल सर्विसेज एग्जाम से जुड़े मिथक Myths related to Civil Services Examination

  • सिविल सर्विसेज एग्जाम को क्रैक करने के लिए आपको एक दिन में 20 घंटे पढ़ने की ज़रूरत है।
  • आईएएस बेस्ट जॉब है और इसके जैसी कोई नौकरी नहीं है। 
  • भले ही आप कितनी भी मेहनत क्यों ना कर लें इस परीक्षा को पास करने में किस्मत का एक बड़ा योगदान होता है। 
  • अगर आपकी इंग्लिश कमजोर है तो आप इस परीक्षा को पास नहीं कर सकते हैं। 
  • अगर आप अपने घर पर इस परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो आप कभी भी इस परीक्षा को क्रैक नहीं कर पाएंगे क्योंकि इस परीक्षा को पास करने के लिए आपको दिल्ली में रहकर कोचिंग करना है। 

ऊपर जितने भी पॉइंट्स बताए गए हैं ये सब गलत हैं लेकिन फिर भी आज कई ऐसे एस्पिरेंट्स हैं जो इन मिथक को सच मानते हैं और अपनी तैयारी अच्छे से नहीं कर पाते हैं।

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न Frequently asked questions (FAQs)

प्रश्न 1. मुझे UPSC 2023 की तैयारी कब से शुरू करनी चाहिए?
उत्तर- UPSC CSE Prelims 2023 के लिए केवल छह महीने बचे हैं, इसलिए जल्द से जल्द अपनी तैयारी शुरू कर दें। मेरा विश्वास करें, UPSC CSE Prelims को क्रैक करना आसान नहीं है, इस परीक्षा में पास होने के लिए आपको कड़ी मेहनत करनी होगी। प्रारंभिक परीक्षा में अधिकतम अंक प्राप्त करने का प्रयास करें और मुख्य परीक्षा के लिए दोगुनी मेहनत करें।
प्रश्न 2. क्या एनसीईआरटी यूपीएससी प्रीलिम्स और मेन्स के लिए पर्याप्त है?
उत्तर- एक समय था जब एनसीईआरटी की किताबें प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए पर्याप्त हुआ करती थीं लेकिन अब ऐसा नहीं है। फंडामेंटल कॉन्सेप्ट को क्लियर करने के लिए पहले एनसीईआरटी की किताबें पढ़ें और अपनी नॉलेज को अपग्रेड करने के लिए स्टैंडर्ड बुक्स की मदद लें। 
प्रश्न 3. UPSC CSE 2023 के लिए सबसे अच्छी किताबें कौन सी हैं?
उत्तर- सबसे पहले आपको एनसीईआरटी NCERTs पढ़ने की जरूरत है। बहुत से लोग आपको केवल 11वीं-12वीं एनसीईआरटी पढ़ने का सुझाव देंगे लेकिन अगर आपको कॉन्सेप्ट क्लियर करना है तो आप कक्षा 6-12 की एनसीईआरटी की किताबें पढ़ें। इसके बाद PYQ को हल करें और स्टैंडर्ड बुक्स पढ़ें।