facebook-pixel

एक्शन प्लान कैसे बनाएं?

Share Us

2293
 एक्शन प्लान कैसे बनाएं?
13 Jan 2023
8 min read
TWN Opinion

Post Highlight

एक वेल डिजाइंड एक्शन प्लान well designed action plan की मदद से आप आप अपने लक्ष्यों को आसानी से ट्रैक कर पाते हैं। चाहे आपके पास कोई करियर से जुड़ा गोल हो या व्यवसाय या व्यक्तिगत लक्ष्य हो, एक अच्छे एक्शन प्लान की मदद से आप अपने लिए सफलता का एक स्पष्ट मार्ग बना पाते हैं। 

एक्शन प्लान में आप अपने गोल्स को कुछ छोटे-छोटे स्टेप्स में तोड़ते हैं और उसे पूरा करने के लिए समय निर्धारित करते हैं। चाहे वह कोई पर्सनल गोल personal goal हो या कोई प्रोजेक्ट मैनेजमेंट गोल project management goal, एक अच्छा एक्शन प्लान दोनों में ही आपकी मदद करता है।

एक्शन प्लान के बारे में हम सब जानते हैं लेकिन फिर भी हम कई बार कंफ्यूज रहते हैं कि इसे बनाने में हमें क्या-क्या लिखने की आवश्यकता है और किस तरह से हम एक अच्छा एक्शन प्लान बना सकते हैं। आइए इस ब्लॉग की मदद से समझते हैं कि आप कैसे एक अच्छा एक्शन प्लान बना सकते हैं । How to make an action plan?

Podcast

Continue Reading..

अपने गोल्स goals को पूरा करने के लिए आपको एक एक्शन प्लान action plan की जरूरत होती है। एक्शन प्लान बनाने से आप अपने गोल्स के बारे में और अच्छे से जान पाते हैं, सही डायरेक्शन में मेहनत कर पाते हैं और देख पाते हैं कि आपने अभी कितना हासिल है और आगे आपको क्या-क्या हासिल करना है।

अपने गोल्स को आप आसानी से एक ही बार में नहीं पूरा कर सकते हैं इसीलिए आपको एक एक्शन प्लान की जरूरत पड़ती है। एक्शन प्लान में आप अपने गोल्स को कुछ छोटे-छोटे स्टेप्स में तोड़ते हैं और उसे पूरा करने के लिए समय निर्धारित करते हैं। चाहे वह कोई पर्सनल गोल personal goal हो या कोई प्रोजेक्ट मैनेजमेंट गोल project management goal, एक अच्छा एक्शन प्लान दोनों में ही आपकी मदद करता है। 

एक ठोस एक्शन प्लान को बनाने की शुरुआत हमेशा पहले मन में एक स्पष्ट विजन या लक्ष्य के साथ होती है। आप आज जिस भी स्थिति में हैं, एक्शन प्लान आपको आपके द्वारा तय किए हुए लक्ष्य तक लेकर जाने के लिए तैयार करता है। शर्त ये है कि आपको उस एक्शन प्लान में जो भी लिखा है उसका अच्छे से पालन करना है। एक अच्छे से तैयार किए हुए एक्शन प्लान के साथ आप कठिन से कठिन लक्ष्यों को पा सकते हैं और कामयाब हो सकते हैं। 

एक्शन प्लान कैसे बनाएं? How to make an action plan?

एक्शन प्लान में क्या डिटेल्स होनी ज़रूरी हैं- What details required in the action plan?

  • गोल्स को डिस्क्रिप्टिव descriptive तरीके से लिखें
  • कब क्या टास्क पूरा करना है, उसे सीक्वेंस में लिखें
  • किस टास्क को कितना समय देना है, उसे मेंशन करें
  • गोल्स को पूरा करने के लिए आपको किन चीजों की आवश्यकता होगी, उसे भी लिखें

ज़रूरी नहीं है कि आपने एक बार में जो प्लान बनाया है, वह 100 प्रतिशत सही ही हो, इसीलिए जब भी आप अपनी प्रोग्रेस चेक करें और आपको कोई सीक्वेंस सही ना लगे या आपको टास्क में बदलाव लाने हों, तो आप प्लान को बदल सकते हैं।

एक्शन प्लान की जरूरत क्यों पड़ती है? Why is an action plan needed?

एक्शन प्लान आपके गोल्स और टारगेट्स goals and targets को पूरा करने में आपकी मदद करता है। आप कह सकते हैं कि ये आपके काम को आसान बनाता है। आइए एक्शन प्लान बनाने के और फायदों के बारे में जानते हैं-

  • गोल्स को लेकर हमें कन्फ्यूजन रहती है कि हम उसे पूरा कर पाएंगे या नहीं, लेकिन एक्शन प्लान बनाते वक्त हम यह समझ जाते हैं कि कैसे और कब हमें कौन से टारगेट्स पूरे करने हैं। जैसे-जैसे आपके टारगेट्स पूरे होते हैं, आप अपने गोल्स को पूरा करने के और करीब पहुंच जाते हैं।
  • एक्शन प्लान में हम कठिन से कठिन काम को छोटे से छोटे स्टेप्स में बांट देते हैं इसीलिए कठिन काम भी हमें आसान लगने लगता है।
  • एक्शन प्लान आपको मोटिवेट motivate करता है कि समय रहते आपको टास्क को पूरा करना है।
  • अगर आपसे कुछ गलतियां भी हो जाती हैं तो आप फोकस्ड focused रहते हुए उसके सॉल्यूशन खोजते हैं। ऐसा करने पर आपका समय भी बर्बाद नहीं होता है। 
  • एक्शन प्लान की मदद से आप अपनी प्रोग्रेस भी चेक कर सकते हैं कि आपको कहां-कहां सुधार की आवश्यकता है।

एक्शन प्लान कैसे बनाएं? How to create an action plan

आपको जो भी गोल्स पूरे करने हैं, उन्हें पहले डिस्क्राइब करें। गोल्स ऐसे रखें जिन्हें आप पूरा कर सकते हों। अगर आपको उन्हें पूरा करने के लिए किसी की मदद की आवश्यकता है या प्लान बनाते वक्त आपको कुछ जानना है तो रिसर्च करने में देरी ना करें। इस बात का ध्यान दें कि प्लान बनाते वक्त आपको समय देना होगा क्योंकि इसी प्लान की मदद से आप अपने गोल्स तक पहुंचेंगे। इस सोच के साथ प्लान बनाएं कि अभी आप जो भी समय दे रहे हैं या जितनी भी रिसर्च कर रहे हैं, इससे भविष्य में आपका समय बचेगा क्योंकि आपके पास टारगेट्स को पूरा करने के लिए एक बेसिक स्ट्रक्चर basic structure होगा। एक्शन प्लान बनाते वक्त इन बातों का ध्यान दें-

1. अपने गोल्स को डिस्क्राइब करें। Describe your goals

आपको असल में अपने गोल्स के बारे में जितना कम मालूम होगा, आपका एक्शन प्लान भी ठीक उसी तरह से उतना प्रभावी नहीं बन पाएगा, जितना आप चाहते हैं। एक बेहतरीन एक्शन प्लान बनाने के लिए आपका ये जानना बेहद ज़रूरी है कि आप क्या करना चाहते हैं और क्या हासिल करना चाहते हैं।

उदाहरण- आपको 10,000 शब्दों में एक असाइनमेंट्स सबमिट करना है और वह आपके शब्दों में होना चाहिए। इस असाइनमेंट को पूरा करने के लिए आपको एक अच्छे इंट्रोडक्शन, रिव्यू और कंक्लूजन की ज़रूरत पड़ेगी क्योंकि जब आप अपने असाइनमेंट्स को इन तीन भागों में डिवाइड कर लेंगे तो आपका काम बेहद आसान हो जाएगा और आप 1 महीने के समय में इस असाइनमेंट को अच्छी तरह से कर पाएंगे। 

इस असाइनमेंट के लिए एक्शन प्लान बनाते वक्त आप ये ध्यान में रखेंगे कि आपको इस असाइनमेंट को पूरा करने की निश्चित अवधि, इसे बनाने के लिए इस्तेमाल होने वाली किताबें और उन टॉपिक्स का जानना बहुत ज़रूरी है तभी आप डेडलाइन से पहले इस टास्क को पूरा कर पाएंगे। 

आपको किसी गोल को पूरा करने से पहले ये पता होना चाहिए कि इस गोल को पूरा करने में मेरा क्या आखिरी कदम होगा। अपने एक गोल्स को कई छोटे-छोटे गोल्स में डिवाइड करें। एक लिस्ट बनाएं, जिसमें उन सभी गोल्स को शामिल करें जिन्हें आपको पूरा करना है।

आपके गोल के हिसाब से, आप अपने गोल्स तक पहुँचने के लिए कई विभिन्न तरीकों के बारे में सोच सकते हैं। जब आपको अपने द्वारा चाहे हुए लक्ष्य के बारे में अच्छे से मालूम हो जाएगा तो फिर आप एक अच्छा और वास्तविक प्लान तैयार कर पाएंगे।

गोल्स को कैसे डिस्क्राइब करें-

गोल्स को बनाते वक्त एक बात का ध्यान रखें कि वो S.M.A.R.T. हो। आप सोच रहे होंगे कि आपका गोल S.M.A.R.T. कैसे होगा। आइए जानते हैं S.M.A.R.T. क्या है-

  • Specific- आपको क्या चाहिए, इसे लेकर बिलकुल स्पष्ट रहें। 
  • Measurable- आप अपने गोल्स को कई चेकपॉइंट्स में तोड़ सकते हैं। 
  • Attainable- क्या आपने जल्दबाजी में कोई ऐसा गोल तो नहीं बना लिया, जो पूरा करने लायक नहीं है। ऐसा ही गोल बनाएं, जिसे आप पूरा कर पाएं। 
  • Relevant- इस गोल के आपकी ज़िंदगी में क्या मायने हैं।
  • Timely- क्या आपके पास अपने लक्ष्य को पूरा करने के लिए पर्याप्त समय है।

2. गोल्स तक पहुंचने के लिए छोटे-छोटे टारगेट्स बनाएं। Make small targets to reach the goals.

कुछ टास्क्स और माइलस्टोन्स आपको अन्य टास्क और माइलस्टोन्स के मुक़ाबले पाने में जरा मुश्किल लग सकते हैं।

यही कारण है कि अगर आप किसी बड़े टास्क को लेकर बहुत भार महसूस कर रहे हैं, तो आप इसे किए जाने लायक छोटे-छोटे और मैनेज होने वाले टास्क में तोड़ सकते हैं। 

3. एक टाइमलाइन सेट करें कि इतने समय में आपको ये टारगेट पूरा करना है।Set a timeline

एक खास टाइम फ्रेम्स और डेडलाइन को सेट करने पर आप किसी भी काम को जल्दी कर सकते हैं। अगर आप डेडलाइन नहीं सेट करेंगे और गोल्स को लेकर सीरियस नहीं रहेंगे तो ऐसा हो सकता है कि आप कुछ टास्क्स को कभी पूरा ही ना कर पाएं इसीलिए एक टाइमलाइन सेट set timeline करें कि इतने समय में आपको ये टारगेट पूरा करना है।

Also Read : सफलता की राह में आने वाली 5 चुनौतियां

4. गोल्स को पूरा करने के लिए आपको जिन रिसोर्सेज की आवश्यकता पड़ेगी, उसकी लिस्ट बनाएं। List the resources you will need 

चाहे गोल आसान हो या कठिन हो, उसे पूरा करने के लिए आपको कई रिसोर्सेज की आवश्यकता पड़ती है और जब हमारे पास अच्छे रिसोर्सेज नहीं होते हैं तो हम काम को टालते जाते हैं और सोचते हैं कि जब सारे रिसोर्सेज आ जायेंगे तब मैं काम करना शुरू करूंगा लेकिन ये सही नहीं है। आपको अपने गोल्स को पूरा करने के लिए जिन भी रिसोर्सेज की आवश्यकता पड़ रही है उसकी लिस्ट बनाएं। 

5. अपनी प्रोग्रेस चेक करते रहें और एक प्रोग्रेस रिपोर्ट बनाएं। Keep checking your progress and create a progress report

एक अच्छा एक्शन प्लान बनाने का कोई फायदा नहीं होगा जब तक आप अपनी प्रोग्रेस रिपोर्ट नहीं चेक करेंगे इसीलिए अपनी प्रोग्रेस को चेक करने के लिए एक प्रोग्रेस रिपोर्ट तैयार करें। 

इन बातों का भी ध्यान रखें-

  • प्लानर की मदद लें।
  • टू-डू लिस्ट बनाने से बचें।
  • आराम करने का और ब्रेक्स का टाइम सेट करें।
  • अपने साथ जेंटल रहें क्योंकि आप ये कर सकते हैं। 
  • पॉजिटिव रहें।
  • खुद को रिवार्ड दें।
  • प्रोग्रेस को ट्रेक करें।
  • जल्दी सोएं और जल्दी उठें।
  • ज्यादा से ज्यादा रिसर्च करें।