निवेश करने के लिये बेस्ट म्यूचुअल फंड

Share Us

3454
निवेश करने के लिये बेस्ट म्यूचुअल फंड
19 Jan 2024
6 min read

Blog Post

म्यूचुअल फंड में निवेश investing in mutual funds करना आपके वित्तीय लक्ष्यों को प्राप्त करने का एक शानदार तरीका है। म्यूचुअल फंड आपको विविध पोर्टफोलियो बनाने में मदद कर सकते हैं, आपके पैसे को पेशेवर फंड मैनेजर द्वारा प्रबंधित किया जा सकता है और आप किसी भी समय अपने म्यूचुअल फंड यूनिट्स को बेच सकते हैं।

वित्तीय निवेश एक महत्वपूर्ण पहल है, लेकिन विभिन्न विकल्पों की भरमार में आपके लिए सही म्यूचुअल फंड का चयन करना कठिन हो सकता है।

म्यूचुअल फंड एक ऐसी स्कीम है जो आपको हर जगह अपने विज्ञापनों द्वारा दो बातें बताती दिखती है, एक यह कि यह आपके सपनों को पूरा करने में आपकी सहायता करेगा और दूसरा कि यह स्कीम बाजार जोखिमों के अधीन है। 

पिछले कुछ समय से इसकी कम दरों के चलते इसकी लोकप्रियता कम हो रही है।  महंगाई से तुलना करने पर रिटर्न के माइनस में चले जाने की आशंका रहती है। म्यूचुअल फंड में कई निवेशकों का पैसा एक जगह जमा किया जाता है और इस फंड में से फिर बाज़ार में निवेश किया जाता है।

इस लेख में, हम आपको वित्तीय निवेश के इस महत्वपूर्ण पहल की दिशा में मदद करेंगे, आपको बताएंगे कि कैसे म्यूचुअल फंड एक उत्कृष्ट निवेश विकल्प हो सकते हैं। हम आपको सबसे बेहतरीन म्यूचुअल फंडों best mutual funds की सूची प्रदान करेंगे जो 2023 में उपलब्ध हैं और आपके वित्तीय लक्ष्यों को पूरा कर सकते हैं।

म्यूचुअल फंड Mutual Funds एक ऐसी स्कीम है जो आपको हर जगह अपने विज्ञापनों द्वारा दो बातें बताती दिखती है, एक यह कि यह आपके सपनों को पूरा करने में आपकी सहायता करेगा और दूसरा कि यह स्कीम बाजार जोखिमों के अधीन है। 

पिछले कुछ समय से इसकी कम दरों के चलते इसकी लोकप्रियता कम हो रही है। अगर  महंगाई से तुलना करें तो रिटर्न के और माइनस  में जाने की आशंका रहती है तो  ऐसे में निवेशक अपने लक्ष्य और जोखिम लेने की क्षमता के आधार पर SIP एसईपी के जरिये  म्यूचुअल फंड में निवेश की तरफ अब आकर्षित हो रहे हैं। 

क्या है म्यूचुअल फंड About Mutual Funds -

म्यूचुअल फंड में कई सारे  निवेशकों का पैसा एक जगह जमा किया जाता है और इसके बाद  फंड में से फिर बाज़ार में निवेश किया जाता है। म्यूचुअल फंड को एसेट मैनेजमेंट कंपनियों (AMC) द्वारा संयोजित manage  किया जाता है। यह काम इतनी योजना और तत्परता के साथ किया जाता है कि सभी निवेशकों की योजनाएं कार्यान्वित हो सकें। 

दरअसल, बहुत सारे निवेशकों की धनराशि जमा होने पर ही म्यूच्यूअल फंड की सृष्टि होती है। इस फंड के प्रबंधन के लिए दान प्रबंधक fund managers  नियुक्त होते है। छोटे निवेशों  के कारण अगर आप अपने लिये बड़ी निधि huge asset बनाना चाहते हैं तो म्यूचुअल फंड में निवेश से बेहतर विकल्प हो नहीं सकता. कोरोना वायरस के नए  वैरिएंट्स variients के चलते शेयर बाजार में भारी उतार-चढ़ाव देखने को मिल रहा है। 

बाजार कहां तक गिरेगा या कहां तक उठेगा इसकी  कोई भविष्यवाणी नहीं कर सकता है सभी केवल अनुमान लगा सकते हैं, लेकिन आर्थिक जगत के विशेषज्ञों का मानना है भारतीय अर्थव्यवस्था तेजी से आगे बढ़ेगी तो ज़ाहिर है शेयर बाजार आने वाले वक्त में नई ऊंचाईयों को छू सकता है। 

यह भी अच्छी बात है कि आजकल हर महीने मात्र 1000, 500 की राशि से भी म्यूचुअल फंडस शुरू हो सकता है। आप केवल यह सोचकर देखिये कि यदि आपकी राशि माह में केवल 5000 भी है तो भी हर महीने 1000 भी लगाकर यदि आपने किसी अच्छे काम में निवेश कर दिया तो आपको लाभ भी होगा और जैसे -जैसे बाजार ऊपर जाएगा आपका शेयर भी आपको लाभ देगा।

बस इसके लिये आपको अच्छी तरह सोच-समझकर ही किसी म्यूचुअल फंडस में निवेश करना होगा ताकि कम नुकसान हो। 

म्यूचुअल फंड्स का चुनाव Selection of mutual funds

आपको पहले यह सोचना  होगा कि  आप किस प्रकार के फण्ड में निवेश करना चाहते हैं। व्यापक रूप से, equity fund इक्विटी फंड तभी चुने जाने चाहिये जब आप अधिक जोखिम  उठाने को तैयार हों और समय सीमा 5 वर्ष से अधिक हो। 

अगर आप थोड़ा यानी लगभग मध्यम जोखिम उठा सकते हैं, तो आप hybrid fund हाइब्रिड फंड में निवेश कर सकते हैं। कम जोखिम लेना चाहते हैं, तो आपको date fund डेट फंड में निवेश करना चाहिए। ध्यान दें, सभी म्यूचुअल फंड में यानी हाइब्रिड,डेट सभी में कुछ न कुछ जोखिम तो होता ही है। 

आप किस प्रकार के फण्ड में निवेश करना चाहते हैं, यह आपको सोचना है और इसके बाद आप उसमें से  एक फण्ड चुन सकते हैं। यह फण्ड चुनने के लिए एक समयसीमा में उसका प्रदर्शन देख, उसकी तुलना करके  फंड चुन सकते हैं। 

इसके अलावा कुछ और अन्य कारक भी हैं  जिन पर आप भी विचार कर सकते हैं-

अनुभव

फंड मैनेज करने वाली कंपनी कब और कितने समय से फण्ड मैनेज कर रही है, उसका ट्रैक रिकॉर्ड क्या है? यह जानना बहुत ही आवश्यक है, इसी को कहते हैं- background check बैकग्राउन्ड चेक 

पोर्टफोलियो –

आपको यह भी देखना चाहिये कि कंपनी अपने म्यूचुअल फण्ड के निवेश का पैसा, किसी एक क्षेत्र में लगा रही है या अलग-अलग क्षेत्रों में? यह  भी देखें कि कितना पैसा इक्विटी फंड  में लगाया गया है और कितना डेट फंड  में?

Also Read: जीवन बीमा योजना- Max Life Insurance

निवेश करने के लिये बेस्ट म्यूचुअल फंड Best mutual fund to invest

1.ऐक्सिस बलूचिप फंड Axis Bluechip Fund की  Monthly SIP-

यह एक open ended equity scheme ओपन-एंडेड इक्विटी स्कीम है जिसका ट्रैक रिकॉर्ड बेहतरीन रहा है और लंबे समय में बड़ी पूंजी तैयार करने के लिए ऐसी योजना बहुत  लाभप्रद रही  है. यहाँ  मुख्य रूप से large cap बड़ी कैप कंपनियों के लार्ज कैप स्टॉक्स में रकम लगाई  जाती  हैं। 

2.आईसी आईसी आई प्रूडेन्शियल बलूचिप फंड  ICICI Prudential Bluechip Fund-

अब तक के हिसाब से इसका ट्रैक रिकॉर्ड भी काफी अच्छा रहा है । आप चाहें तो इसके बैकग्राउंड को भी चेक करके आगे बढ़ सकतें हैं । 

  • यह फंड भारतीय शेयर बाजार के प्रमुख शेयरों में निवेश करता है।
  • फंड का पोर्टफोलियो Nifty 50 सूचकांक के समान है।
  • फंड का रिटर्न पिछले तीन वर्षों में 15% से अधिक रहा है।
  • फंड का एयूएम ₹50,000 करोड़ से अधिक है।

3. आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल अल्ट्रा शॉर्ट टर्म फंड ICICI Prudential Ultra Short Term Fund

  • यह फंड अल्पावधि के लिए पैसे को सुरक्षित रखने के लिए एक अच्छा विकल्प है।
  • फंड मुख्य रूप से कम जोखिम वाले सरकारी और कॉर्पोरेट बॉन्ड में निवेश करता है।
  • फंड का रिटर्न पिछले तीन वर्षों में 8% से अधिक रहा है।
  • फंड का एयूएम ₹20,000 करोड़ से अधिक है।

4. मिराई ऐसेट लार्ज कैप फंड Mirae Asset Large Cap Fund-

इस फंड को अप्रैल 2008 में लॉन्च किया गया था इसका पैसा इक्विटी और इक्विटी से जुड़े निवेश में लगाया जाता है. इसकी  योजना के तहत 5 साल की 10 हजार रुपये की एसआईपी से 6.72 लाख रुपये की पूंजी बनाई जा सकती है। 

5. मिराए एसेट इंडिया हाइब्रिड फंड Mirae Asset India Hybrid Fund

  • यह फंड इक्विटी और डेट दोनों में निवेश करता है।
  • फंड का लक्ष्य इक्विटी और डेट दोनों से उचित रिटर्न प्राप्त करना है।
  • फंड का रिटर्न पिछले तीन वर्षों में 12% से अधिक रहा है।
  • फंड का एयूएम ₹10,000 करोड़ से अधिक है।

6. एसबीआई मल्टी कैप फंड SBI Multicap Fund-

एसबीआई SBI पहले ही एक बहुत बड़ी, प्रतिष्ठित और विश्वसनीय बैंकिंग संस्था है। अगर आप SBI की म्यूचुअल फंड्स योजना के अनुसार हर माह  10 हजार रुपये लगाते हैं तो  रिटर्न के हिसाब से 5 साल के अंत में 7 लाख के अंदर तक की पूंजी हो सकती है। और फिर  इसका पैसा equity इक्विटी और date डेट इंस्ट्रूमेंट्स में भी लगाया जा सकता  है। 

7. एसबीआई मासिक आय फंड SBI Monthly Income Fund

  • यह फंड नियमित आय प्राप्त करने के लिए एक अच्छा विकल्प है।
  • फंड मुख्य रूप से फिक्स्ड इनकम इंस्ट्रूमेंट्स, जैसे कि सरकारी बॉन्ड और कॉर्पोरेट डिबेंचर में निवेश करता है।
  • फंड का रिटर्न पिछले तीन वर्षों में 7% से अधिक रहा है।
  • फंड का एयूएम ₹50,000 करोड़ से अधिक है।

8. एचडीएफसी शॉर्ट टर्म डेब्ट फंड  HDFC Short Term Debt Fund-

यह एक कम समय की यानी short-duration fund शॉर्ट-ड्यूरेशन फंड और तुलना में मॉडेरेटली moderately low risk लो-रिस्क date mutual fund डेट म्यूचुअल फंड है। हर महीने लगाए गए दस हजार रुपये पांच साल में 7 से 8 लाख के बीच बन सकते हैं । 

9 .आदित्य बिड़ला सन लाइफ बचत फंड Aditya Birla Sun Life Savings Fund-

पांच साल के लिये यह भी बहुत अच्छी SIP एसआईपी है और इससे  कम अवधि में ही शानदार लाभ कमाया जा सकता है।  बैंक एफडी की तुलना में यह अधिक बेहतर विकल्प साबित हो सकता है. 

10. एसबीआई मैगनम मीडियम ड्यूरेशन फंड SBI Magnum Medium Duration Fund-

यह एक मीडियम ड्यूरेशन फंड medium duration fund है और इसका पैसा date funds डेट फंड्स, government securities  सरकारी सुरक्षा और बहुत कम रिस्क वाली सुरक्षाओं में लगाया जाता है।  यह ऐसे निवेशकों के लिए निवेश का बेहतरीन विकल्प हो सकता है जो अधिक नुक्सान नहीं उठाना चाहतें हैं।

11. निप्पॉन भारत का कम अवधि का फंड Nippon India Low Duration Fund-

यह एक open ended date mutual fund  ओपन-एंडेड डेट म्यूचुअल फंड है और यह उन  निवेशकों के लिए अच्छा है जो कम अवधि  में अपनी पूंजी बढ़ाना चाहते हैं। अभी तक की जानकारी के अनुसार, इस फंड का पैसा money market securities मनी मार्केट सिक्योरिटीज और date mutual funds डेट म्यूचुअल फंड्स में लगाया जाता है। 

12 .ऐल एण्ड टी का कम अवधि का फंड L&T Low Duration Fund-

यह एक open ended date fund ओपन एंडेड डेट फंड है जो optimal return ऑप्टिमल रिटर्न के लिए जाना जाता है. इस स्कीम को रिलायंस म्यूचुअल फंड द्वारा वर्ष  2007 में लॉन्च किया था और इसके तहत यदि कोई हर माह  10 हजार रुपये की SIP एसआईपी करें  तो पांच वर्षों  में  पैसे 7.30 लाख रुपये तक बनया सकते हैं। 

13. एलएंडटी इमर्जिंग बिजनेस फंड L&T Emerging Business Fund

  • यह फंड भारतीय और विदेशी स्टार्ट-अप्स और नवीन व्यवसायों में निवेश करता है।
  • फंड का लक्ष्य उच्च विकास क्षमता वाले व्यवसायों में निवेश करना है।
  • फंड का रिटर्न पिछले तीन वर्षों में 25% से अधिक रहा है।
  • फंड का एयूएम ₹10,000 करोड़ से अधिक है।

14. Parag Parikh Long Term Equity Fund

  • यह फंड एक निष्क्रिय रूप से प्रबंधित फंड है जो Nifty 50 सूचकांक को ट्रैक करता है।
  • फंड का लक्ष्य Nifty 50 सूचकांक के समान रिटर्न प्राप्त करना है।
  • फंड का रिटर्न पिछले तीन वर्षों में 12% से अधिक रहा है।
  • फंड का एयूएम ₹5,000 करोड़ से अधिक है।

 डिस्क्लेमर  Disclaimer:

यह लेख म्यूचुअल फंडों में निवेश के बारे में जानकारी प्रदान करता है। यह किसी भी विशिष्ट म्यूचुअल फंड या फंड हाउस की सिफारिश नहीं करता है। म्यूचुअल फंड में निवेश जोखिम भरा हो सकता है। निवेश करने से पहले, आपको अपने वित्तीय लक्ष्यों, जोखिम उठाने की क्षमता और वित्तीय स्थिति के बारे में समझदारी से निर्णय लेना चाहिए। आपको यह भी सलाह दी जाती है कि किसी वित्तीय सलाहकार से परामर्श करें, जो आपकी विशिष्ट परिस्थितियों के आधार पर निवेश सलाह दे सके।

यह लेख केवल सूचनात्मक उद्देश्यों के लिए है और किसी भी प्रकार की कानूनी, वित्तीय या निवेश सलाह नहीं माना जाना चाहिए।

#MutualFunds #TypesOfMutualFunds #InvestInMutualFunds #BestMutualFundsInIndia