facebook-pixel
Coursera Image_2

विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस: "Safer Food, Better Health"

Share Us

195
विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस: "Safer Food, Better Health"
07 Jun 2022
7 min read
TWN Special

Post Highlight

अगर आप विश्वभर में कई आंकड़े देखें तो आपको पता लगेगा कि सिर्फ दूषित भोजन लेने की वजह से लोग सबसे ज्यादा बीमारियों के शिकार होते हैं। दूषित भोजन लेने से डायरिया Diarrhoea, फूड प्वाइजनिंग Food Poisoning, नोरोवायरस Norovirus संक्रमण सहित कई अन्य बीमारियों का भी खतरा बढ़ जाता है। विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस World Food Safety Day मनाने का मुख्य कारण यही है कि लोगों को साफ और शुद्ध खाने के लिए जागरूक किया जाए और इसीलिए विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस के दिन कई देश तरह-तरह के जागरूकता प्रोग्राम भी चलाते हैं ताकि लोगों को दूषित खाने से होने वाली बीमारियां और उनसे बचने के उपाय के बारे में बताया जा सके। 

Podcast

Continue Reading..

रोटी, कपड़ा और मकान Food, Clothing and Shelter की ज़रूरत हर व्यक्ति को है और इनमें से सबसे ज्यादा ज़रूरी है- रोटी लेकिन आए दिन ऐसी खबरें सुनने को मिल जाती हैं कि किसी की भूख के कारण मृत्यु हो गई तो किसी की दूषित भोजन के सेवन की वजह से मृत्यु हो गई इसीलिए लोगों को खाद्य सुरक्षा Food Safety के बारे में जागरूक करना बेहद ज़रूरी है। 

आज-कल की भाग दौड़ भरी जिंदगी में हम जिस चीज़ को सबसे ज्यादा इग्नोर करते हैं, वह है हमारा स्वास्थ्य। अब लोग यह भूल रहे हैं कि स्वस्थ शरीर ही स्वस्थ जीवन का आधार है और व्यस्त होने की वजह से लोग ज्यादातर फास्ट फूड Fast Food पर निर्भर हो गए हैं। आप को ये जान के हैरानी होगी कि दुनिया भर में 44 से ज्यादा लोग हर मिनट दूषित और खराब खाने की वजह से बीमार होते हैं। डब्ल्यूएचओ WHO यूरोपीय क्षेत्र की रिपोर्ट के अनुसार दूषित या जहरीला खाना खाने से लगभग 44 लोगों की रोजाना मृत्यु हो जाती है और प्रत्येक साल सिर्फ दूषित भोजन लेने की वजह से लगभग 4,20,000 लोगों की मौत हो जाती है। 

अगर आप विश्वभर में कई आंकड़े देखें तो आपको पता लगेगा कि सिर्फ दूषित भोजन लेने की वजह से लोग सबसे ज्यादा बीमारियों के शिकार होते हैं। दूषित भोजन लेने से डायरिया Diarrhoea, फूड प्वाइजनिंग Food Poisoning, नोरोवायरस संक्रमण सहित कई अन्य बीमारियों का भी खतरा बढ़ जाता है। 

विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस World food safety day मनाने का मुख्य कारण यही है कि लोगों को साफ और शुद्ध खाने के लिए जागरूक किया जाए और इसीलिए विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस के दिन कई देश तरह-तरह के जागरूकता प्रोग्राम भी चलाते हैं ताकि लोगों को दूषित खाने से होने वाली बीमारियां और उनसे बचने के उपाय के बारे में बताया जा सके। 

कब मनाया जाता है विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस?

विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस दुनिया भर में 7 जून को मनाया जाता है। 2018 में यूनाइटेड नेशन United Nations (संयुक्त राष्ट्र महासभा) के खाद्य और कृषि संगठन द्वारा इसकी शुरुआत की गई थी और 2019 में पहली बार दुनिया भर में विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस मनाया गया था। लोगों को दूषित भोजन और दूषित पानी के खतरों के बारे में जागरूक करने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन World Health Organization ने इस दिन को मनाने का प्रस्ताव रखा था। 

क्यों मनाया जाता है विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस?

लोगों को खाद्य सुरक्षा के प्रति जागरूक करने के लिए और खराब खाने से होने वाले रोगों के बारे में बताने के लिए विश्वभर में 7 जून को वर्ल्ड फूड सेफ्टी डे मनाया जाता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन एवं खाद्य और कृषि संगठन इस समस्या पर मिल कर काम कर रहे हैं ताकि हर व्यक्ति को पर्याप्त मात्रा में सुरक्षित और पौष्टिक भोजन मिल सके। 

थीम: सेफर फूड, बेटर हेल्थ Theme: Safer food, better health

हर साल वर्ल्ड फूड सेफ्टी डे मनाने के लिए एक थीम Theme तय की जाती है। 2021 की थीम थी- स्वस्थ कल के लिए आज का सुरक्षित भोजन और 2022 की थीम है- Safer food, better health सुरक्षित भोजन, बेहतर स्वास्थ्य। 

कैसें मनाया जाता है विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस World food safety day ?

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) और संयुक्त राष्ट्र का खाद्य और कृषि संगठन के सहयोग से इस दिन दुनिया भर में लोगों फूड सेफ्टी के बारे में बताया जाता है क्योंकि इस विषय को लेकर जितनी जागरूकता फैलेगी उतने ही कम लोगों की दूषित भोजन और दूषित पानी की वजह से मृत्यु होगी। लोगों को बताया जाता है कि अच्छे स्वास्थ्य के लिए पौष्टिक भोजन लेना ज़रूरी है। 

इस दिन लोगों का ध्यान दूषित भोजन से होने वाली बीमारियों diseases की ओर खींचा जाता है, ताकि इससे बीमार और मरने वालों की संख्या में कमी लायी जा सकें।

2020 और 2021 में कोविड के चलते लोगों को कई कार्यक्रम का आयोजन वर्चुअली करना पड़ा था लेकिन इस साल फूड सेफ्टी को लेकर कई इवेंट्स का आयोजन किया जाएगा और ज्यादा से ज्यादा लोगों को इसके बारे में जागरूक किया जाएगा। 

दूषित खाने और फूड पॉइजनिंग से कैसे बचा जाए?

  • फल और सब्जियों को अच्छे से धोने के बाद ही इस्तेमाल में लाएं।
  • सड़े-गले फल और सब्जियों को ना खाएं।
  • पके हुए भोजन को 5 से 6 घंटे के अंतराल में ही खाएं। 
  • घर में साफ-सफाई के साथ खाना बनाएं और खाने को पॉलिथिन या अखबार में लपेट कर रखने से बचें और प्लास्टिक के बर्तन में गरम भोजन ना रखें।
  • चाकू और चॉपिंग बोर्ड को रोज़ साफ करें।
  • साफ पानी पीएं।
  • अगर आप मीट का सेवन करते हैं तो उसे अच्छे से पका करके ही खाएं।
  • स्ट्रीट फूड खाने से बचें।

घर से बाहर खाने से पहले किन बातों का ध्यान रखें?

  • हाथ धोना ना भूलें।
  • रेस्टोरेंट या फिर किसी वेंडर के पास कुछ खाने से पहले लोकल लोगों से सलाह लें।
  • जहां आप खाना खाने जा रहे हैं वहां पर इस बात का ध्यान दें कि वह स्थान साफ-सुथरा हो। 
  • रेस्टोरेंट में पानी हमेशा बंद बोतलों से पिएं। 

ये भी पढ़े: विश्व पर्यावरण दिवस: Only One Earth 

निष्कर्ष

विश्व खाद्य सुरक्षा दिवस, खाद्य सुरक्षा food safety, मानव स्वास्थ्य human health, कृषि, आर्थिक समृद्धि, सतत विकास sustainable development में योगदान की तरफ लोगों का ध्यान आकर्षित करने के लिए मनाया जाता है। दूषित भोजन लेने की वजह से लोग सबसे ज्यादा बीमारियों के शिकार होते हैं इसीलिए इस दिवस के माध्यम से लोगों को अच्छे स्वास्थ्य के लिए पौष्टिक भोजन लेने के लिए बताया जाता है ताकि लोगों की दूषित भोजन और दूषित पानी की वजह से मृत्यु ना हो।