चने का व्यवसाय लाभदायक क्यों?

Share Us

3606
चने का व्यवसाय लाभदायक क्यों?
21 Sep 2021
5 min read

Blog Post

चने की खेती, चने से बने उत्पाद इन सबका व्यवसाय किसी व्यवसायी के लिए लाभदायक होते हैं। क्योंकि चने को कई तरह इस्तेमाल किया जाता है। प्रत्येक घर में इसका उपयोग होता है। यही कारण है कि बाजार में चना कीमती दाम पर बिकता है। चना एक स्वास्थ्यवर्धक अनाज है, जो मनुष्य को तंदुरुस्त रहने में मदद करता है। इसके बने उत्पाद शरीर के कई अंगों को स्वस्थ रखते हैं। यदि मनुष्य चने की खेती और उससे बने उत्पादों को अपने व्यवसाय के रूप में चुनना चाहे, तो वह निःसंदेह एक सफल व्यवसायी बन सकता है।  

वक़्त कोई भी रहा हो परन्तु मनुष्य के लिए व्यवसाय हमेशा ही आवश्यक रहा है। बस कुछ मामलों में व्यवसाय का चेहरा बदला है। पुराने समय में किये जा रहे व्यवसाय को वक़्त के तकाज़े के अनुसार थोड़ा बदला गया या हम कह सकते हैं कि व्यवसाय के तरीकों में संसोधन किया गया। इसके साथ मनुष्य की बदलती जरूरतों के कारण नए व्यवसायों का भी निर्माण हुआ। व्यवसाय मनुष्य की ज़िंदगी की जरूरत हैं। प्रत्येक व्यक्ति यह सपना देखता है कि वह अपना खुद का एक व्यवसाय शुरू करे। सपना देखें भी क्यों न आखिर कौन दूसरों के इशारों पर काम करना पसंद करेगा। इसके साथ ही व्यवसाय के क्षेत्र में व्यक्ति इसलिए भी जाना चाहता है क्योंकि नौकरी की अपेक्षा उसमें अधिक आय की सम्भावना रहती है। व्यवसाय के लिए कृषि एक ऐसा क्षेत्र है, जो मनुष्य को सबसे कम निराश करता है। हम कह सकते हैं कि व्यवसाय का बहुत ही सुदृढ़ और निश्चित रूप है कृषि। कृषि मनुष्य के जीवन का आधार होता है। वह भिन्न-भिन्न रूप में मनुष्य के जीवन में महत्वपूर्ण स्थान रखता है। कृषि में भी कुछ ऐसे अनाज हैं, जिनकी जरूरत बाजार में अधिक होती है क्योंकि वह मनुष्य के स्वाद और स्वास्थ्य के अनुरूप का संगम लेकर चलता है। इन्हीं फसलों में आती है चने की फसल। 

चने की कीमत बाजार में बहुत अधिक रहती है इसका कारण यह है कि प्रत्येक घर में इसकी आवश्यकता रहती ही है। कभी यह दाल के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। कभी चने की सब्जी बनाई जाती है। चने से बने आटे को कभी रोटी बनाने के लिए इस्तेमाल करते हैं, तो कभी मिठाई बनाने के लिए। इसके अलावा यह प्राचीन समय में चबैना (भूना हुआ चना खाने के लिए इस्तेमाल किया जाना) के रूप में लोग इसका उपयोग करते थे। पहले के समय में तो कई लोगों का तो यही भोजन ही होता था इसे खाकर ही व्यक्ति अपना पूरा दिन निकाल देता था। आज के समय में भी बहुत घरों में यह चबैना के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। आज चने को कई नाश्तों की सूरत में लोगों के सामने प्रस्तुत किया जाता है। 

चना स्वास्थ्य के लिए भी फायदे मंद होता है। कई बीमारियों में जब किसी भी दाल को खाने के लिए मना कर दिया जाता है या फिर किसी अन्य दाने के बने आटे से बनी रोटी खाने के लिए डॉक्टर मना कर देते हैं, उस समय में भी चने से बने भोजन को खाने की सलाह दी जाती है। चने से बने भोजन के उत्पाद से मोटापा भी नहीं बढ़ता। हम समझ सकते हैं कि चना से हमें कितना फायदा होता है, इसलिए बाजार में इसका अधिक कीमती होना आश्चर्यजनक नहीं है। 

बाजार में खड़े चने का मूल्य 4,500-5,500 रूपये प्रति क्विंटल रहता है। चने की दाल का मूल्य 5000-6000 रूपये प्रति क्विंटल के मध्य रहता है। इनके मूल्य विभिन्न प्रकार की किस्मों के आधार पर निर्धारित होते हैं। यह अन्य दाल के मुकाबले अधिक महंगा बिकता है, इसकी खपत अधिक रहती है। साथ ही चने से बनने वाले उत्पाद जैसे कि बेसन, भुने चने का आटा, चने की दाल ये सब भी बाजार में भिन्न-भिन्न दामों पर बिकते हैं। यदि मनुष्य चाहे तो चने की दाल से घर पर ही विभिन्न प्रकार के उत्पादों को बनाकर बाजार में बेच सकता है। इस माध्यम से भी मनुष्य चने की खेती को एक अच्छे व्यवसाय के रूप में ढाल सकता है।