facebook-pixel

जानिए कैसे करें शेयर बाजार में अपना पैसा इन्वेस्ट

Share Us

202
जानिए कैसे करें शेयर बाजार में अपना पैसा इन्वेस्ट
08 Jul 2022
7 min read
TWN In-Focus

Post Highlight

शेयर बाजार Share Market उन लोगों के लिए सबसे मूल्यवान स्थान है जो दैनिक आधार पर शेयरों का व्यापार कर रहे हैं। हर कोई चाहता है कि उनकी अटकलों की रिपोर्ट सफल परिणाम दे लेकिन कुछ के लिए यह एक सपना हो सकता है। अगर आप भी पैसा बनाने के लिए शेयर बाजार में उतार रहे हैं, तो इस बात का ध्यान रखें कि शेयर बाजार में देख परखकर, सोच समझकर ही पैसा लगाना चाहिए। शेयर बाजार में सफलता के लिए कई उपाय Share Market Me Safalta Ke Upay दिए जाते हैं, लेकिन आज हम आपको यहां कुछ ऐसे सरल उपाय बताने वाले हैं। जिसकी मदद से ना केवल आप शेयर बाजार की बारीकी को समझ पाएंगे, बल्कि आपको बतायेगे की शेयर बाजार में कैसे अपना पैसा इन्वेस्ट करें । How to invest in share market .

Podcast

Continue Reading..

शेयर बाजार की दुनिया एक ऐसी दुनिया है जहां चंद मिनटों में इंसान के अर्श से फर्श तक की कहानी तय हो जाती है। ऐसे कई लोग हैं, जो शेयर बाजार में बड़े मुकाम हासिल कर चुके हैं और कई ऐसे भी हैं जो अपने घर बर्बाद कर चुके हैं। शेयर बाजार ऐसी जगह है जहां आपको फूंक-फूंक कर कदम रखने होते हैं। आपकी एक चाल आपके पूरे जीवन काल की कमाई को बर्बाद करके रख सकती है। शेयर बाजार में पैसा कमाने को लेकर कई लोगों के मन में फितूर पैदा हो जाता है। वह सोचते हैं, यहां से हमारे पैसे में केवल बढ़ोतरी ही होगी, लेकिन जरा संभल के, शेयर बाजार में केवल पैसों की बढ़ोतरी नहीं होती। यहां पैसों का भारी नुकसान भी झेलना पड़ सकता है।

शेयर बाजार क्या है? (What Is Share Market)

शेयर बाजार यानी इक्विटी मार्केट Equity market एक ऐसा प्लैटफॉर्म Platform है, जो कंपनियों और निवेशकों को एक-दूसरे से जोड़ता है। कंपनियां पूंजी जुटाने के लिए शेयर बाजार में लिस्ट होती हैं। शेयर बाजार में लिस्टिंग के बाद निवेशक कंपनियों के शेयरों खरीदते -बेचते हैं। शेयर बाजार की दुनिया एक ऐसी दुनिया है जहां चंद मिनटों में इंसान के अर्श से फर्श तक की कहानी तय हो जाती है। ऐसे कई लोग हैं, जो शेयर बाजार में बड़े मुकाम हासिल कर चुके हैं और कई ऐसे भी हैं जो अपने घर बर्बाद कर चुके हैं। 

बीएसई और एनएसई (BSE & NSE)

भारत में दो बड़े शेयर बाजार हैं, बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज Bombay Stock Exchange यानी बीएसई और नैशनल स्टॉक एक्सचेंज National Stock Exchange यानी एनएसई। बीएसई एशिया का सबसे पुराना शेयर बाजार है। इसकी स्थापना 1895 में की गई थी। एनएसई भारत का सबसे बड़ा और दुनिया का चौथा सबसे बड़ा शेयर बाजार है। सेंसेक्स और निफ्टी सेंसेक्स बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज यानी बीएसई का संवेदी सूचकांक है। सेंसेक्स में बीएसई की टॉप 30 कंपनियां शामिल की जाती हैं इसलिए इसे बीएसई 30 (BSE 30) भी कहते हैं। बाजार पूंजीकरण के हिसाब से सेंसेक्स में शामिल 30 कंपनियां बदलती रहती हैं। निफ्टी नैशनल स्टॉक एक्सचेंज यानी एनएसई का संवेदी सूचकांक है। निफ्टी दो शब्दों को मिला कर बना है NATIONAL और FIFTY। इससे साफ पता चलता है कि निफ्टी एनएसई की टॉप 50 कंपिनयां शामिल होती हैं।

ट्रेडिंग की शुरुआत (Start Of Trading)

शेयर बाजार में ट्रेडिंग यानी शेयरों की खरीद-बिक्री के लिए बैंक, डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट जरूरत Bank, Demat and Trading Account Required होती है। शेयर डीमैट अकाउंट Share Demat Account में जमा होते हैं और ट्रेडिंग अकाउंट के जरिये शेयरों की खरीद-बिक्री की जाती है।

शेयर बाजार से अगर पैसा बनाना चाहते हैं, कुछ खास बातों का जरूर ध्‍यान रखना चाहिए आमतौर पर शेयर बाजार में पैसा लगाने वाले यह सोचते हैं कि वो कम समय में तगड़ा मुनाफा कमा लेंगे कई बार ऐसा होता है कि कुछ घंटे में शेयर से मोटा मुनाफा हो जाता है इससे उलट भारी नुकसान भी उठाना पड़ जाता है बहरहाल, यह जान लें कि इक्विटी में ट्रेडिंग उतनी आसान भी नहीं है, जितनी आम निवेशक समझते हैं बाजार में आपको अनुशासन और धैर्य की जरूरत पड़ती है मार्केट में निवेश से पहले अच्‍छी तरह रिसर्च कर लेनी चाहिए ऐसे 7 ऐसे आसान टिप्‍स जानते हैं, जिनको फॉलो कर बाजार से अच्‍छी कमाई की जा सकती है।

फंडामेंटल मजबूती का रखें ध्‍यान (Take Care Of Fundamental Strength)

शेयर बाजार में खासकर दो तरह के ट्रेडर होते हैं एक जो फंडामेंटल Fundamental पर फोकस रखते हैं और दूसरे जो अटकलों पर फैसला करते हैं दोनों में बुनियादी फर्क स्‍टॉक की कीमत पर उनका नजरिया रहता है फंडामेंटल निवेशक Fundamental Investors हमेशा से कंपनी की मजबूती पर ध्‍यान देता है न कि शेयर की कीमत पर हमेशा फंडामेटल मैथड Fundamental Method पर निवेश की कोशिश करनी चाहिए बाजार से पैसा बनाने का यह अच्‍छा तरीका है।

कही-सुनी या दूसरों को देखकर न बनाएं स्‍ट्रैटजी 

शेयर बाजार में इक्विटी की खरीद-बिक्री को लेकर किसी खास तरह की सोच में न रहे कई ट्रेडर्स स्टॉक Traders Stock खरीदने या बेचने का फैसला ज्यादातर उनके जानकारों के प्रभाव में आकर करते हैं अगर उनके आस-पास के सभी लोग किसी खास स्टॉक में निवेश कर रहे हैं, तो एक ट्रेडर भी उसी स्टॉक में निवेश करता है इस तरह की स्‍ट्रैटजी से बचना चाहिए लॉन्‍ग टर्म में यह स्‍ट्रैटजी सही नहीं है दुनिया के दिग्‍गज निवेशक वारेन बफेट Warren Buffett ने कहा जब दूसरे लालची हो जाएं तो डरने की जरूरत है, वहीं जब जब दूसरे डर रहे हो, तो आप लालची बन जाएं ।

बाजार में कभी भी जल्‍दबाजी न करें (Never Be In a Hurry In The Market)

स्‍टॉक मार्केट में कभी भी जल्‍दबाजी न करें शेयर के दाम बढ़ने से पहले खरीदना और गिरने से पहले तुरंत बेचने का फैसला नुकसान करा सकता है ज्‍यादातर निवेशक यह मानते हैं कि ट्राइंग टू टाइम इन मार्केट Trying to Time in Market सही स्‍ट्रैटजी नहीं है, ऐसा इसलिए क्‍योंकि किसी भी स्‍टॉक में सटीक टॉप और बॉटम का अंदाजा लगाना मुमकिन नहीं है, अगर बाजार से पैसा कमाना है, तो इस तरह की स्‍ट्रैटजी से बचें।

कंपनी में निवेश करने से पहले उसे जान लें (Know Before Investing In a Company)

कई बार लोग बिजनस को समझे बिना शेयर खरीद लेते हैं। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) में लिस्टेड 5000 से ज्यादा शेयरों में कुछ बेहतरीन का चुनाव कर पाना कठिन काम है। कोई शेयर खरीदने से पहले कुछ बिंदुओं पर विचार करना जरूरी है। जिस तरह हम कमाई के लिए कॉलेज में पढ़ते हैं और प्रफेशनल कोर्स Professional Course करते हैं, उसी तरह अपने आसपास के बिजनस पर नजरें बनाए रहें तो इक्विटी इन्वेस्टमेंट Equity Investment से शानदार कमाई हो सकती है।

निवेश में अनुशासन जरूरी (Discipline Is Essential In Investing)

बाजार में अनुशासन बहुत जरूरी है बाजार के इतिहास Market History देखें तो बुल मार्केट Bull Market में भी अधिकांश निवेशकों में डर होता है शेयर बाजार में भारी उतार-चढ़ाव के चलते निवेशक अपनी कमाई डुबो देते हैं, वो भी तब जब मार्केट में बुलिश ट्रेंड रहा यानी, तेजी का दौर रहा इसलिए निवेशकों को निवेश को लेकर अनुशासन भरा रवैया रखना चाहिए अगर लॉन्‍ग टर्म में कमाई Long Term Earnings करना चाहते हैं, तो निवेश का सिस्‍टमेटिक अप्रोच Systematic Approach होना जरूरी है।

बाजार में अपना सरप्‍लस फंड ही लगाएं  (Put your surplus fund in the market only)

अकसर यह सुनने में आता है कि शेयरों में निवेश के चलते कोई व्‍यक्ति भारी कर्ज में फंस गया अगर आप शेयर बाजार में निवेश की शुरुआत कर रहे हैं तो हमेशा सरप्‍लस फंड Surplus Fund ही निवेश करें सरप्‍लस फंड से मतलब कि जो आपके पास आपके खर्चों और अन्‍य जरूरतों को पूरा करने के बाद बचता है अगर आपको मुनाफ होने लगता है, तो आप उस पैसे को दोबारा निवेश करेंगे कभी भी लोन या कर्ज लेकर निवेश न करें।

सेंसेक्स शेयर बाजार (Sensex Share Market)

सेंसिटिव इंडेक्स sensitive index या संवेदी सूचकांक, भारत में इसके अंतर्गत दो प्रमुख स्टॉक एक्सचेंज मुंबई शेयर बाजार Bombay Stock Exchange तथा एनएसई National Stock Exchange आते हैं सामान्यतया यह बीएसई (BSE) के लिए जाना जाता है बीएसई (BSE) के अंतर्गत 30 प्रमुख भारतीय कंपनियां आती हैं ये कंपनियां एक प्रकार से भारतीय बाजार का ट्रेंड Indian Market Trend सेट करने का काम करती हैं सरल शब्दों में भारत की बड़ी कंपनियों के शेयरों  की कीमतों Shares Price को आंकने के लिए एक सूचकांक बनाया गया है जो बाजार में इन कंपनियों के शेयरों की बढ़ती-घटती कीमतों पर नजर रखता है यही सूचकांक सेंसेक्स कहलाता है।

Also Read कर्ज से जल्दी छुटकारा पाने के लिए फाइनेंशियल टिप्स

भावनाओं पर काबू रखें  (Control Your Emotions)

बाजार में हमेशा भावनाओं में बहकर फैसला नहीं करना चाहिए अगर आपका शेयर खरीदने-बेचने को लेकर इमोशंस पर कंट्रोल नहीं है तो आप भारी नुकसान करा सकते हैं जब बाजार में तेजी रहती है तो ट्रेडर्स ज्‍यादा आकर्षित होते हैं और उस चक्‍कर में गलत शेयरों में पैसा लगा बैठते हैं डर और लालच, ये दो ऐसे फैक्‍टर हैं, जिन पर शेयर में ट्रेडिंग के दौरान कंट्रोल होना चाहिए।

लक्ष्‍य हासिल करने लायक रखें  (Keep The Goal Achievable)

शेयर बाजार में निवेश को लेकर एक वास्‍तविक गोल रखें निवेशकों को हमेशा लगता है कि उन्‍होंने जो निवेश किया है वह बेस्‍ट रिटर्न देगा लेकिन अगर आपका फाइनेंशियल गोल Financial Goal रियलस्टिक  नहीं है तो आप परेशानी में फंस सकते हैं बाजार में कभी भी समान रिटर्न की उम्‍मीद न करें।

ज्ञान बढ़ता रहेगा तो नही होगी हानि

शेयर बाजार का में निवेश के लिए एक नियम हमेशा बनाकर चलें, जब तक निवेश कर रहे हैं हमेशा नया ज्ञान एकत्रित करते रहे। क्योंकि बाजार में रोज कुछ ना कुछ नया देखने को मिलता है और इस नए ज्ञान के साथ जब आप आगे बढ़ेंगे तो आपको बाजार की समझ बेहतर तरीके से समझ में आने लगेगी। धीरे-धीरे आप इस क्षेत्र में काफी बढ़ोत्तरी कर सकेंगे। बाजार के क्षेत्र में अपने ज्ञान की भूख को कभी कम ना होने दें, क्योंकि कई आंकड़े बताते हैं जो बाजार का अच्छा ज्ञान रखते हैं वह हमेशा अच्छे निवेशक सिद्ध होते हैं।

शेयर बाजार की छुट्टियां (Share Market Holiday)

भारतीय स्टॉक एक्सचेंजों Indian Stock Exchanges (BSE and NSE) के हॉलिडे कैलेंडर Holiday Calendar पर दी गई छुट्टियों की सूची के अनुसार इस साल 2022 में शेयर बाजार कुल 13 दिन के लिए बंद रहेंगे। इस साल कुल 13 दिन स्टॉक मार्केट छुट्टियों Stock Market Holidays के कारण इक्विटी सेगमेंट, इक्विटी डेरिवेटिव सेगमेंट Equity Segment, Equity Derivatives Segment और एसएलबी सेगमेंट SLB Segment में शेयर बाज़ार ट्रेडिंग के लिए बंद रहेगा। आपको बता दें क़ि शेयर बाजार सप्ताह में पड़ने वाले शनिवार और रविवार को बंद रहता है और इसमें ट्रेडिंग बंद रहती है। 

हमें उम्मीद है कि आप इन सरल उपायों से काफी कुछ सीखे होंगे और निवेश के दौरान इन बातों का ख्याल जरूर रखेंगे। आखिर में आपको यह भी बता दें कि शेयर बाजार में काफी उतार-चढ़ाव होते हैं, निवेश करते वक्त वित्तीय प्रबंधन का ख्याल अवश्य रखें।