facebook-pixel

लेखन की शुरुआत करने वालों के लिए 5 टिप्स

Share Us

3933
लेखन की शुरुआत करने वालों के लिए 5 टिप्स
25 Jan 2022
6 min read
TWN Special

Post Highlight

क्या आप लेखन की शुरुआत कर रहें हैं? क्या आप इस बात से परेशान हैं कि कैसे आप अपने लेखन को बेहतर बनाएं, आज हम आपको कुछ ऐसे टिप्स देने वाले है जिससे आप एक बेहतर लेखक बन पाएंगे।लिखना आसान है या मुश्किल इसके लिए बात सिर्फ इतनी है की यह आसान तब लगेगा अगर आप अपने विषय के बारे में जानकारी रखते हों और व्याकरण, वाक्य बनाने, शब्दावली और लेखन शैली के बारे में सही तरह से समझते हों।

Podcast

Continue Reading..

क्या आप लेखन Writing की शुरुआत कर रहें हैं? क्या आप इस बात से परेशान हैं कि कैसे आप अपने लेखन को बेहतर बनाएं, आज हम आपको कुछ ऐसे टिप्स Tips देने वाले है जिससे आप एक बेहतर लेखक Good Writer बन पाएंगे। लिखना आसान है या मुश्किल इसके लिए बात सिर्फ इतनी है की यह आसान तब लगेगा अगर आप अपने विषय के बारे में जानकारी रखते हों और व्याकरण Grammer, Sentence making वाक्य बनाने, Vocabulary शब्दावली और Writing Skills लेखन शैली के बारे में सही तरह से समझते हों। अगर आपको इसके बारे में जानकारी नहीं है तो आपको हमेशा लेखन बुरा और मुश्किल नजर आएगा।

अच्छी किताबें पढ़कर अपनी शब्दावली को बड़ा बनाएं

आपको नए शब्दों को जानने के लिए किताबों की ताकत को कम नहीं आंकना चाहिए। अच्छी किताबें चुनें और अपनी शब्दावली बढ़ाएं। हर उस शब्द को देखें जिसे आप समझ नहीं पाते, उसके अर्थ को समझें और उसका सही तरीके से कैसे उपयोग करें इस बात पर ध्यान दें। स्मार्टफोन Smart Phone और अन्य उपकरणों के साथ शब्दों को खोजना अब आसान बनाता जा रहा है। नए शब्द सीखने के अलावा पढ़ना आपकी लेखन शैली को बढ़ाने का बेहतरीन तरीका है। इस बात पर ध्यान दें कि लेखक अपने विचारों को कैसे प्रकट करते हैं और उनके उदाहरणों से सीखते रहें।

लेखन के बारे में सीखना कभी बंद न करें

जो ज्ञान अपके पास नहीं है उसे आप कभी साझा नहीं कर सकते। आप लोगों को वह नहीं सिखा सकते जो आप नहीं जानते औ आप इससे खुद को और लोगों को भ्रमित ही करेंगे। आप अपने पाठकों के साथ बहुमूल्य जानकारी साझा करने के लिए पढ़ने और सीखने की नियमित आदतें बनाएं। आप व्यावहारिक रूप से कुछ भी सीख सकते हैं। कभी-कभी आप अपने आप को सीमित कर लेते हैं और अपने मानसिक विकास को रोक देते हैं। अच्छे विषयों के बारे में सीखने से खुद को कभी ना रोकें। कठिन चीजों को पढ़ने और समझने के लिए अपने दिमाग को तैयार करें। नई चीजों को आजमाने के लिए आत्मविश्वास पैदा करें। आप इसके लिए कला, चिकित्सा, उपचार जैसे विषयों में रुचि ले सकते हैं। सभी विषयों के बारे में अधिक जानने से डरें नहीं, ताकि आप उनके बारे में विश्वसनीय रूप से लिख सकें।

जितना हो सके लिखने का अभ्यास करें

जब आप कुछ नया सीखते हैं, जैसे नृत्य, गीत या कोई भी आदत, आप बार-बार अभ्यास करते हैं जब तक कि आप कुशल नहीं हो जाते। लेखन सहित किसी भी विधा में यही सिद्धांत लागू होता है। कई विषयों पर लिखने का अभ्यास करने के लिए समय लें। आप सरल और कम जटिल विषयों पर लिख कर शुरुआत कर सकते हैं। फिर जैसे-जैसे आप आगे बढ़ें, आप कठिन विषय चुन सकते है।  अगर मानकर चलें कि आपने कभी भी एक पूरा लेख या निबंध लिखने की कोशिश नहीं की है और आप इसे आज़माना चाहते हैं तो आप अपने या अपनी रुचियों के बारे में लिखकर शुरुआत कर सकते हैं। ये विषय आसान होंगे क्योंकि ये व्यक्तिगत ज्ञान पर आधारित होंगे और इनके लिए कम रिर्सच Research की आवश्यकता पड़ेगी। इससे पहले कि आप विषयों के बारे में लिखना शुरू करें हो सकता है कि आप अपने दिमाग में एक विचार पहले से बनाना चाहेंगे। अपने लेख का फोकस बनाने के लिए छोटी बातों या अवधारणाओं से शुरू करें और उन्हें एक बड़ी अवधारणा में बुनें। मुख्य विचार को निष्कर्ष के रूप में उपयोग करें। ये प्रक्रियाएं पहली बार में चुनौतीपूर्ण हो सकती हैं लेकिन अभ्यास से आसान हो सकती है। सरल विषयों में महारत हासिल करने के बाद आप कठिन विषयों पर लिखने का प्रयास कर सकते हैं।

रिर्सच Research करें और श्रेय Credit देना ना भुलें

एक विश्वसनीय, भरोसेमंद लेखक बनने के लिए आपको लेखन के नियमों का पालन करना चाहिए। कभी भी किसी के लेखन की चोरी की नहीं करना चाहिए और उन विचारों के लिए श्रेय देना चाहिए जो आपने किसी के द्वारा लिए हैं। कॉपीराइट उल्लंघन Copyright से बचना चाहिए। आप दूसरों के अध्ययन और शोध का उल्लेख कर सकते हैं, लेकिन लेखकों को अपने संदर्भों की सूची में जोड़कर उन्हें श्रेय दें। आप इसके लिए लिंक भी प्रदान कर सकते हैं।

अपने व्याकरण और सत्यता की जांच के लिए ऑनलाइन टूल का उपयोग करें

ग्रामरली Grammarly और कॉपीस्केप Copyscape जैसे ऑनलाइन टूल Online Tools के साथ अपने लेखन को बेहतर बनाना आसान हो गया है। आप इसका उपयोग कर सकते हैं।  आप अपने व्याकरण की जांच कर सकते हैं और सीख भी सकते हैं कि ऑनलाइन टूल के माध्यम से अपने लेख को कैसे बेहतर बना सकते हैं। इसके अलावा ऑनलाइन माध्यम पर कई ऐसे टूल मौजूद है जिससे अब पता लगा सकते हैं कि लेख में कोई प्लेगेरिज्म plagiarism तो नहीं है। आप इन सभी चीजों का इस्तेमाल करके एक बेहतर लेखक बन सकते हैं।