अपने काम में फिर से ख़ुशी कैसे ढूंढें

Share Us

2077
अपने काम में फिर से ख़ुशी कैसे ढूंढें
14 Dec 2021
7 min read

Blog Post

काम पर ख़ुश रहना कभी-कभी बहुत ही कठिन हो जाता है। कई बार अपनी पसंद का काम भी बोझ सा लगने लगता है। लोग अपने काम में रुचि खोने लगते हैं। प्रेरणाओं की कमी और स्वस्थ कार्यस्थल के अभाव में ऐसा होना कभी-कभी स्वाभाविक भी है। तो आखिर इस समस्या का समाधान क्या है? कार्य को‌ आनंदमय और कार्य के प्रति रुचि कैसे उत्पन्न की जाए। चलिए हम आपको कुछ ऐसे तरीके बताते हैं, जिससे काम‌ में ‌भी ख़ुशी ढूंढी जा सकती है।

किसी ने सही कहा है - किसी काम को ख़ुशी-ख़ुशी और ख़ुशनुमा ढंग से करने पर वह अधिक प्रभावी होता है तथा बेहतर परिणाम दिलाता है। किसी भी काम में ख़ुशी बहुत मायने रखती है। कुछ शोधों के अनुसार ख़ुश कर्मचारी 12% अधिक उत्पादक होते हैं। इसलिए काम पर कर्मचारियों का आनंदित रहना बहुत महत्तवपूर्ण है। लेकिन दुर्भाग्यवश ऐसा हो नहीं पाता। काम पर ख़ुश रहना कभी-कभी बहुत ही कठिन हो जाता है। कई बार अपनी पसंद का काम भी बोझ सा लगने लगता है। लोग अपने काम में रुचि खोने लगते हैं। प्रेरणाओं की कमी और स्वस्थ कार्यस्थल healthy workplace के अभाव में ऐसा होना कभी-कभी स्वाभाविक भी है। तो आखिर इस समस्या का समाधान क्या है? कार्य को‌ आनंदमय और कार्य के प्रति रुचि कैसे उत्पन्न की जाए। चलिए हम आपको कुछ ऐसे तरीके बताते हैं, जिससे काम‌ में ‌भी ख़ुशी ढूंढी जा सकती है।

1. अपना उद्देश्य याद करें

जब भी आप काम में अपनी रुचि खोने लगें तो ऐसे समय में आपको अपने उद्देश्य पर गौर करना चाहिए। आपको अपना "क्यों" याद रखना चाहिए कि आपने उस काम को ही क्यों चुना और आप आगे उस काम से क्या पाना चाहते हैं। यह तो स्वाभाविक है कि हर दिन एक जैसा नहीं होता। लेकिन अगर आप अपने उद्देश्य को याद रखें तो वह आपको उस काम को आनंदमय ढंग से करने में मदद करता है।

2. नकारात्मकता दूर करें

हम सभी का एक मजबूत बिंदु ज़रूर होता है जो मन को प्रसन्न करता है। इसलिए अपने काम को आनंदमय बनाने के लिए आप अपने उस मजबूत बिंदु को दिनचर्या का हिस्सा बनाएं।‌ यह आपके व्यक्तिगत और पेशेवर जीवन को बूस्ट करने में मदद करेगा। इसके अलावा आप अपने कार्यस्थल पर ऐसे लोगों की तलाश करें जो आप को सकारात्मक वाइब्स positive vibes देते हों और अपने आसपास की नकारात्मक ऊर्जा negative energy को ख़ुद से दूर करने का प्रयास करें।‌ सिर्फ सकारात्मक चीजों पर ग़ौर करने से आप अपने कार्य में सफ़लता प्राप्त कर सकते हैं।

3. छोटी-छोटी चीज़ों की सराहना करें

हर दिन एक चुनौती होती है। कोई भी दिन एक समान नहीं होता। उतार-चढ़ाव प्रतिदिन का हिस्सा हैं। इसलिए दिन में हुई नकारात्मक घटनाओं के बारे में सोचने के बजाय छोटी-छोटी सकारात्मक चीज़ों की सराहना करें। अपने मित्र के साथ हुई अच्छी बातें, आपके मालिक के द्वारा की गई आपकी तारीफ़ या फिर किसी संतुष्ट क्लाइंट द्वारा की गई समीक्षा, आप इन छोटी-छोटी घटनाओं पर ग़ौर करें। आपको जो चीज़ें नहीं मिलीं उसके विषय में सोचने के बजाय आपको क्या मिला है इसकी सराहना करें। यह आपको अपने काम में ख़ुशी ढूंढने में मदद करेगा।

4. अपने सहयोगियों से बात करें

कार्यस्थल में आपके सहयोगी एक परिवार की तरह होते हैं। ये आपको समस्याओं का समाधान देने में मदद कर सकते हैं। इसलिए जब भी आप काम से रूचि खोने लगे तो अपने सहयोगियों के साथ अपनी समस्याओं के बारे में बात करें। वे आपको काम के प्रति प्रेरित करने में आपकी सहायता कर सकते हैं। संचार (communication) जीवन का सबसे बड़ा साधन है, और जब इसका सही उपयोग किया जाता है, तो यह जीवन में कई बाधाओं को दूर कर सकता है।

ऊपर दिए गए तरीकों का पालन कर आप ना केवल अपने काम में आनंद की अनुभूति कर‌ पाएंगे बल्कि दूसरों में भी आनंद का संचार करेंगे।