facebook-pixel

पर्यावरण को दूषित कर‌ रहे थर्मोकोल

Share Us

2223
पर्यावरण को दूषित कर‌ रहे थर्मोकोल
16 Oct 2021
8 min read
TWN Special

Post Highlight

थर्मोकोल के प्रबंधन का सबसे अच्छा तरीका इसके उत्पादन को सीमित करना और थर्मोकोल कचरे के कुशल प्रबंधन को सुनिश्चित करना है। इन महत्त्वपूर्ण कदमों से इनसे होने वाले दुष्परिणाम को रोका जा सकता है। और किन प्रक्रिआओं से हम इसको रोक सकते हैं आइये जानते हैं ।

Podcast

Continue Reading..

आज थर्मोकोल उत्पाद शहरों में पैदा होने वाले कचरे का एक बड़ा हिस्सा बन गए हैं। आज करीब प्रत्येक समरोह में, छोटी-बड़ी खाद्य दुकानों में थर्माकोल प्लेटों का उपयोग होता दिखाई पड़ता है। लेकिन इनका पर्यावरण और मनुष्य के स्वास्थ्य पर काफी बुरा प्रभाव पड़ता है। इनमें परोसे गए खानों का सेवन करने से कई बिमारियों का जन्म होता है। साथ ही इनका उत्सर्जन पर्यावरण को भी दूषित करता है और मिट्टी की उपजाऊ क्षमता को कम करता है। इसलिए इनका त्याग करना चाहिए, इनकी जगह पर्यावरण के अनुकूल विकल्पों का चुनाव करना चाहिए और इन से होने वाले दुष्परिणाम को कम करना चाहिए। थर्मोकोल के प्रबंधन का सबसे अच्छा तरीका इसके उत्पादन को सीमित करना और थर्मोकोल कचरे के कुशल प्रबंधन को सुनिश्चित करना है। इन महत्त्वपूर्ण कदमों से इनसे होने वाले दुष्परिणाम को रोका जा सकता है। और किन प्रक्रिआओं से हम इसको रोक सकते हैं आइये जानते हैं।

थर्मोकोल प्लेटों का बढ़ता प्रभाव

हम, इंसान, सामाजिक प्राणी हैं जो मिलना और प्यार बांटना पसंद करते हैं, लेकिन ऐसा करते समय यह ध्यान रखना जरूरी है कि हमारे जीवन का यह मजेदार हिस्सा किसी भी तरह से हमारे पर्यावरण को परेशान न करे। सामाजिक समारोहों में हमारे प्रियजनों के बाद सबसे अच्छी चीज भोजन होती है। इन्हीं समारोहों में अक्सर हम पाते हैं कि थर्मोकोल डिस्पोजेबल बरतन लोगों के बीच बहुत लोकप्रिय हैं। शादियों में और सड़कों के किनारे 'लंगर' या फिर कोई भी छोटे पारिवारिक समारोहों ‌में हम थर्मोकोल प्लेट को पाते हैं। यह हर छोटे बड़े समारोह में देखी जा सकती है। हालांकि यह काफी डिमांड में ‌है लेकिन पर्यावरण ‌के‌‌ लिए हानिकारक है। थर्मोकोल एक गैर-बायोडिग्रेडेबल पदार्थ है इसलिए यह पर्यावरण प्रदूषण के प्रमुख कारणों में से एक बन गया है। इसलिए अच्छी और थर्माकोल रहित थाली का चयन करना वास्तव में महत्वपूर्ण है।

हानिकारक प्रभाव

प्लास्टर ऑफ पेरिस की तरह थर्मोकोल का भी अपना खतरा होता‌ है। थर्मोकोल प्लेट ‌के उपयोग के बाद इसे फेंक दिया जाता है जो मिट्टी को‌ दूषित करता है। थर्मोकोल जलाने से हानिकारक गैसें निकलती हैं जो कैंसर का कारण बन सकती हैं। इनका उपयोग करना भी स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है। विडंबना यह है कि थर्मोकोल उत्पादों पर प्रतिबंध लगाने या इसका कोई उपयुक्त विकल्प खोजने पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया गया है। थर्मोकोल में एक महत्वपूर्ण थर्मोप्लास्टिक यौगिक होता है। इसका रासायनिक गुण पॉलीथीन के समान होता है जो बहुत ही हानिकारक होता है। यह मिट्टी में बैक्टीरिया के अपघटन के लिए बहुत धीरे-धीरे प्रतिक्रिया करता है, जिससे मिट्टी की उपजाऊ क्षमता कम हो जाती है। इसलिए थर्मोकोल पर्यावरण के लिए भी हानिकारक है।

इन खतरनाक डिस्पोजेबल बर्तनों में खाद्य पदार्थ बेचने वाली दुकानों के लिए जनता की अज्ञानता निश्चित रूप से एक आशीर्वाद साबित होती है। अधिकांश स्थानीय खाद्य दुकानों और मिठाइयों में थर्मोकोल शीट से बने डिस्पोजेबल बर्तनों में खाद्य पदार्थ परोसे जाते हैं। ये दुकानें कागज से बने उच्च गुणवत्ता वाले डिस्पोजेबल उत्पादों की तुलना में कम कीमत पर कप और प्लेट खरीदने में सक्षम होती हैं। डॉक्टरों के अनुसार थर्मोकोल प्लेटें स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होती हैं क्योंकि वे ठीक से कीटाणुरहित नहीं होती हैं और उनमें परोसे जाने वाले भोजन को भी दूषित कर सकती हैं। नतीजतन, लोगों में बैक्टीरिया के संक्रमण, त्वचा की एलर्जी और गैस्ट्रो जैसी समस्याओं का खतरा बन सकता है। अधिकांश लोगों को यह नहीं पता होता है कि डिस्पोजेबल प्लेटों में परोसा जाने वाला भोजन दूषित हो सकता है और इसके परिणामस्वरूप स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं।

वहीं इसके विपरीत बहुराष्ट्रीय खाद्य श्रृंखलाएं डिस्पोजेबल बर्तनों में अपने खाद्य उत्पादों की सेवा करते समय गुणवत्ता वाले उत्पादों का उपयोग करती हैं। इन कंपनियों द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली प्लेट, कप और कांच केमिकल आधारित बर्तनों के बजाय कागज के उत्पादों से बनाए जाते हैं। जिससे मनुष्य के स्वास्थ्य को और पर्यावरण को कोई नुक़सान नहीं पहुंचता।

डिस्पोजेबल प्लास्टिक और थर्मोकोल आइटम के विकल्प

प्रत्येक वर्ष 100 बिलियन से अधिक प्लास्टिक वस्तुओं का निपटान किया जाता है। इसमें प्लेट, कांटे, स्ट्रॉ, कप, गिलास आदि जैसी वस्तुएं शामिल हैं। विकल्प ऐसे उत्पाद का उपयोग करना होना चाहिए जो सड़ने योग्य या पुन: प्रयोज्य (reusable) हों।

पेपर प्लेट्स/बांस प्लेट्स/पाम लीफ प्लेट्स

इन प्लेट्स को डिस्पोज करना आसान होता है क्योंकि ये प्राकृतिक संसाधनों से बनी होती हैं। पेपर प्लेट सस्ते विकल्प हैं। लेकिन बांस की प्लेटों का उपयोग भी उत्तम है, अगर वह बजट में फिट बैठता है। कांटे, चम्मच, कटोरी, इन्हें भी बांस जैसे प्राकृतिक संसाधनों से बनाया जा सकता है। पत्तों के डिस्पोजेबल कागज और प्लास्टिक प्लेटों के लिए कुछ बेहतरीन स्थायी विकल्प प्रदान करता है। ये प्लेटें अपने निपटान के लगभग दो महीने बाद स्वाभाविक रूप से बायोडिग्रेड हो जाती हैं।

पेपर कप

पेपर कप एक डिस्पोजेबल कप होता है जो कागज से बनाया जाता है और अक्सर तरल को लीक होने या कागज को माध्यम से भिगोने से रोकने के लिए मोम के साथ लेपित (coated) किया जाता है।

स्टील/ग्लास स्ट्रॉ

स्टील या ग्लास स्ट्रॉ अब तक का एकमात्र व्यवहार्य विकल्प प्रतीत होता है। जो पर्यावरण के अनुकूल भी होता है और इसे बार-बार उपयोग में भी लाया जा सकता है।

गेहूं के भूसे की प्लेट

यह पेपर प्लेट्स का उपयोग करने का एक और बढ़िया विकल्प है। ये बचे हुए कृषि फाइबर के साथ-साथ गेहूं के भूसे का उपयोग करके बनाए जाते हैं। इसके परिणामस्वरूप, संसाधन पूरी तरह से नवीकरणीय और आसानी से उपलब्ध होते हैं।

निष्कर्ष

बायोडिग्रेडेबल लीफ प्लेट्स की अंतरराष्ट्रीय बाजार में व्यापक संभावनाएं हैं, जो गुणवत्ता और डिजाइन के मामले में पूरी होनी चाहिए। लीफ प्लेट्स का उपयोग करने की प्रथा को बनाए रखने और प्लास्टिक प्लेट्स को हतोत्साहित करने के लिए सरकार द्वारा आवश्यक नियम लागू किए जाने चाहिए और स्थानीय शासी निकायों के माध्यम से निगरानी की जानी चाहिए। इसके अलावा स्कूली बच्चों और कॉलेज के छात्रों को शिक्षित और महत्व को समझने के लिए प्रेरित किया जाना चाहिए। स्थानीय प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग का यह कर्तव्य होना चाहिए कि वे खाद्य दुकानों और अन्य दुकानों की जाँच करें जो खतरनाक उत्पाद का उपयोग करते हैं और उनपर प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए। साथ ही जो खाद्य दुकानें इनका उपयोग करते हैं वहां ग्राहकों को इन डिस्पोजेबल बर्तनों में परोसे जाने वाले पके हुए भोजन को स्वीकार करने से मना कर देना चाहिए क्योंकि उनके (बर्तन के) उत्पादन में खतरनाक रसायनों का उपयोग किया जाता है। लोगों को कॉफी, चाय और अन्य पेय पदार्थों के लिए कागज से बने डिस्पोजेबल ग्लास और कप की मांग करनी चाहिए। यह सरकारों के साथ-साथ सभी का उत्तरदायित्व होना चाहिए और इन पदार्थों का बहिष्कार करना चाहिए।