facebook-pixel

अपने बच्चों को दूसरी भाषा सिखाने के फायदे

Share Us

1536
अपने बच्चों को दूसरी भाषा सिखाने के फायदे
08 Dec 2021
8 min read
TWN In-Focus

Post Highlight

दूसरी भाषा सीखने से आपके बच्चे में एक नया कौशल जुड़ जाता है, जिसकी मदद से वे उच्च शिक्षा के लिए अपने आवेदन में इसे शामिल कर सकते हैं। विदेश में पढ़ाई के लिए दूसरी भाषा को तवज्जो दी जाती है अगर आप वहां की भाषा समझते हैं तो आपका आवेदन स्वीकार होना लगभग तय समझिए। इस बात की खुशी हर मां-बाप और अभिभावक को होती है कि उनका बच्चा अपनी मातृभाषा सीख रहा है और बोल भी रहा है, लेकिन दूसरी नई भाषा सिखाना आपके बच्चे के लिए बड़ा ही फायदे का सौदा है, आप बच्चों को दूसरी भाषा सीखने की प्रेरणा देकर उनके भविष्य को उज्वल बनाने के कई दरवाजे खोल सकते हैं।

Podcast

Continue Reading..

किसी भी भाषा पर अच्छी पकड़ होना फायदे का सौदा होता है। बचपन से ही बच्चे स्कूल की पढ़ाई के दौरान अपने सामान्य विषय के साथ-साथ भाषा का ज्ञान भी लेते हैं, लेकिन किस तरह एक अन्य भाषा सिखाना Learning आपके बच्चे के लिए फायदे का सौदा हो सकता है, आज हम इस बात पर जोर दे रहे हैं। देश और दुनिया में हुए कई शोध बताते हैं कि अगर बच्चे को नई भाषा सिखाई जाए तो उनका विकास काफी तेजी से होता है, वे ज्यादा सफल होते हैं। इसके अलावा नई भाषा सीखने से बच्चे का आत्मवश्वास Confidence, एकाग्रता Concentration और समझने की शक्ति Grasping Power बढ़ जाती है। इससे बच्चों की मानसिक फ्लैक्सिबिलिटी Mental flexibility और Multi Tasking गतिविधियां भी बढ़ती हैं।

आज हम उन कारणों को बताएंगे, जिनसे आप यह समझ पाएंगे कि, क्यों आपको अपने बच्चों को नई भाषा सीखने के लिए प्रेरित Encourage करना चाहिए।

1. करियर के अच्छे मौकों के लिया 

आज के दौर में विदेश में नौकरी करने का सपना को नहीं देखता और जिस तरह से वैश्वीकरण Globalisation को बढ़ावा मिल रहा है, उसको मद्देनजर रखते हुए आपके बच्चे को दूसरी भाषा सिखाने से नौकरी पाने में अच्छी मदद मिल सकती है। जो लोग एक या दो भाषाओं से ज्यादा का ज्ञान Knowledge रखते हैं, उन्हें अच्छी विदेशी नौकरी मिलने का मौका होता है और उनके लिए कई नौकरियों के द्वार खुल जाते हैं।

2. यात्रा में सुरक्षा

हर मां-बाप और अभिभावक को चिंता होती है कि अगर उनका बच्चा किसी और देश में जाकर पढ़ाई करेगा तो वहां उसे भाषा Language को लेकर कोई दिक्कत ना हो और इस चिंता को दूर करने के लिए आप अपने बच्चों को दूसरी भाषा सिखाने का बीड़ा उठा सकते हैं। नई तरह की भाषा सिखाने से आपका बच्चा किसी दूसरे देश में जाकर कभी भी परेशान नहीं होगा।

3. दूसरी को पढ़ाने की क्षमता

अगर आपका बच्चा किसी दूसरी भाषा में पारंगत हासिल करता है तो उसके अंदर खुद-ब-खुद दूसरों को कुछ नया सिखाने की काबिलियत पैदा हो जाती है। इस तरह से वह दूसरों की मदद भी कर सकता है और इसको अपना व्यवसाय Business भी बना सकता है। दूसरी भाषा को सिखाने का व्यवसाय आजकल खूब बढ़ रहा है और इसमें कई अवसर मिलते हैं।

4. दिमागी विकास होगा

बच्चों को शुरुआती जीवन काल में नई भाषा सिखाने से उनके दिमागी विकास की संभावनाएं काफी बढ़ जाती हैं। कई विशेषज्ञ बताते हैं कि नई भाषा सीखने से मल्टीटास्किंग करना और उनकी एकाग्रता को बढ़ाने में काफी मदद मिलती है, साथ ही उनका संज्ञानात्मक कौशल Cognitive Skills भी बढ़ता है।

5. अपनी भाषा में होती है पकड़ मजबूत

आपको यह बात सोच कर दिक्कत होती होगी कि आपका बच्चा अगर दूसरी भाषा सीखेगा तो वह कहीं अपनी भाषा में पीछे ना रह जाए, लेकिन कई शोध बताते हैं कि जो बच्चे दूसरी भाषा सीखते हैं, वे अपनी खुद की भाषा में भी बेहतरीन पकड़ बना लेते हैं, ऐसे बच्चे पढ़ने reading की क्षमता अपने बचपन से ही शुरु कर लेते हैं और व्याकरण की भी अच्छी समझ पैदा कर लेते हैं।

6. छोटी उम्र में तेजी से सीख सकते हैं

यह बात तो आपने सुनी होगी कि बच्चे छोटी उम्र में फटाफट सब कुछ याद कर लेते हैं। अगर आप भी बच्चों में दूसरी भाषा सिखाने की प्रेरणा पैदा देना चाहते हैं तो आप उन्हें छोटी उम्र से ही सिखाएं, क्योंकि छोटी उम्र में बच्चे जल्दी याद कर लेते हैं और अगर वे छोटी उम्र में दूसरी भाषा सीखेंगे, तो उनके लिए यह काफी आसान हो जाएगा।

7. दूसरी संस्कृति को समझने की क्षमता बढ़ती है

जब आपके बच्चे दूसरी भाषा का ज्ञान हासिल करेंगे तो यह दूसरी संस्कृति को समझने में भी उनके लिए मददगार साबित होगा। वे दूसरी भाषा बोलने वाले लोगों के साथ अच्छी तरह जुड़ पाएंगे। इसके अलावा दूसरी संस्कृति का अंतर समझना, परंपराओं को समझना, उनकी कला को समझना भी उनके अंदर विकसित होगा।

8. अलग सोचने की क्षमता बढ़ेगी

दूसरी भाषा सीखने से बच्चों में रचनात्मकता Creativity और Problem Solving किसी भी प्रश्न को हल करने की क्षमता बढ़ती है। दूसरी भाषा की सीख से दिमागी कसरत Brain Exercise भी हो जाती है और बच्चे इसकी मदद से कुछ अलग सोचने और करने की क्षमता पैदा कर लेते हैं। 

9. उच्च शिक्षा के लिए भी कारगर

 दूसरी भाषा सीखने से आपके बच्चे में एक नया कौशल जुड़ जाता है, जिसकी मदद से वे उच्च शिक्षा के लिए अपने आवेदन में इसे शामिल कर सकते हैं। विदेश में पढ़ाई के लिए दूसरी भाषा को तवज्जो दी जाती है अगर आप वहां की भाषा समझते हैं तो आपका आवेदन स्वीकार होना लगभग तय समझिए। विदेशी में पढ़ाई कर आपके बच्चे भविष्य में कई सफलताएं अर्जित कर सकते हैं।

उम्मीद करते हैं कि आप अपने बच्चों में दूसरी भाषा सिखाने को लेकर उनके प्रेरणा स्त्रोत जरूर बनेंगे। यह आपको समझना होगा की नई भाषा बच्चों के निजी और उनके पेशेवर ज़िन्दगी के लिए भी बेहद जरूरी है।