फेशियल और केमिकल पील के फायदे

Share Us

2035
फेशियल और केमिकल पील के फायदे
09 Feb 2022
7 min read

Blog Post

स्किन केयर रूटीन करने के बावजूद भी प्रदूषण की वजह से स्किन पर बुरा असर पड़ता है इसीलिए क्लीनअप के लिए केमिकल पील या फेशियल करवाना अच्छा माना जाता है। कई लोगों को केमिकल पील और फेशियल का अंतर नहीं पता होता है और उन्हें लगता है ये दोनों ब्यूटी ट्रीटमेंट एक ही है लेकिन ऐसा नहीं है।

चेहरे की खूबसूरती को बरकरार रखने के लिए आज-कल लोग कई तरह के ब्यूटी ट्रीटमेंट beauty treatments करवाते हैं। फेशियल facial, क्लीनअप cleanup और केमिकल पील chemical peel कराना स्किन के लिए अच्छा माना जाता है लेकिन इससे पहले हमें यह जानना चाहिए कि क्या ये ब्यूटी ट्रीटमेंट सच में काम करते हैं। जवाब है हां, यह ब्यूटी ट्रीटमेंट स्किन संबंधित समस्याओं को कम करते हैं, चेहरे की रंगत को बनाए रखते हैं और स्किन को ग्लोइंग बनाते हैं। 

कई लोगों को केमिकल पील और फेशियल का अंतर नहीं पता होता है और उन्हें लगता है ये दोनों ब्यूटी ट्रीटमेंट एक ही है लेकिन ऐसा नहीं है। 

केमिकल पील ब्यूटी ट्रीटमेंट को दाग धब्बों को कम करने के लिए और त्वचा की रंगत को सुधारने के लिए करवाया जाता है वहीं दूसरी ओर फेशियल में क्लीनिंग cleaning, टोनिंग toning, स्क्रबिंग scrubbing, फेस पैक face pack और मॉइश्चराइजिंग moisturizing जैसे कई स्टेप्स शामिल होते हैं, जिससे स्किन ग्लोइंग और फ्रेश लगती है। आइए जानते हैं कि केमिकल पील ब्यूटी ट्रीटमेंट और फेशियल में क्या अंतर है-

  • फेशियल के दौरान चेहरे को साफ किया जाता है ताकि धूल-मिट्टी और प्रदूषण से चेहरे को जो नुकसान पहुंचता है, वह ठीक हो जाए। वहीं केमिकल पील के दौरान चेहरे की ऊपरी परत को हटाते हैं ताकि स्किन के डेड सेल्स dead cells को हटाया जा सके।
  • केमिकल पील का चुनाव स्किन टाइप skin type के अनुसार करना चाहिए। फेशियल की तुलना में ये ट्रीटमेंट ज्यादा महंगा होता है।
  • जैसा कि नाम से ही पता चलता है, केमिकल पील में कई कॉस्मेटिक केमिकल cosmetic chemicals का इस्तेमाल होता है, वहीं फेशियल को आप नेचुरल और केमिकल दोनों ही तरीके के इंग्रेडिएंट से करवा सकते हैं। 
  • फेशियल को हर स्किन टाइप्स के लोग करवा सकते हैं और इसे करवाने के लिए आपको किसी डर्मेटोलॉजिस्ट dermatologist की सलाह लेने की आवश्यकता नहीं है लेकिन केमिकल पील ट्रीटमेंट को हर कोई नहीं करवा सकता और इस ट्रीटमेंट को करवाने से पहले डर्मेटोलॉजिस्ट की सलाह लेना जरूरी माना जाता है।
  • केमिकल पील ब्यूटी मशीन beauty machine की मदद से किया जाता है और फेशियल की तुलना में इस ट्रीटमेंट को करने के लिए अधिक समय के लिए फेस मसाज किया जाता है।
  • फेशियल को आप महीने में एक बार या दो महीने में एक बार आसानी से कर सकते हैं और अगर आपने इसे समय से पहले कर लिया तो त्वचा को साइड इफेक्ट्स नहीं होता है लेकिन अगर आपने केमिकल पील को निश्चित अवधि से पहले कर लिया तो आपको स्किन से जुड़ी कई समस्याएं हो सकती हैं।
  • फेशियल की कई वेरायटी होती है, जैसे पर्ल फेशियल pearl facial, गोल्ड फेशियल gold facial, फ्रूट फेशियल fruit facial, एंटी एजिंग फेशियल anti-ageing facial, आदि वहीं केमिकल पील में आपको मीडियम, डीप और सुपर फेशियल जैसी वेरायटी मिलती हैं। 
  • फेशियल आप खुद अपने घर पर कर सकते हैं लेकिन केमिकल पील करवाने के लिए आपको पार्लर जाना होगा।

फेशियल और केमिकल पील के फायदे

1. एक्ने और पिंपल्स की समस्या कम होती है

ज्यादातर लोगों को कभी ना कभी एक्ने और पिंपल्स जैसी समस्याओं से जूझना पड़ता है लेकिन फेशियल और केमिकल पील की मदद से एक्ने और पिंपल्स की समस्या कम होती है।

2. स्किन अच्छे से क्लीन होती है

स्किन केयर रूटीन करने के बावजूद भी प्रदूषण की वजह से स्किन पर बुरा असर पड़ता है इसीलिए क्लीनअप के लिए केमिकल पील या फेशियल करवाना अच्छा माना जाता है।

3. रिंकल्स को कम करने में मदद होती है

बढ़ती उम्र का असर रिंकल्स के तौर पर चेहरे पर दिखता है इसीलिए रिंकल्स को कम करने के लिए आपको फेशियल या केमिकल पील करवाना चाहिए।