facebook-pixel
Sustainability Community Welfare

आयुष्मान भारत दिवस -30 अप्रैल

Sustainability Community Welfare

आयुष्मान भारत दिवस -30 अप्रैल

30-april-ayushman-bharat-day

Post Highlights

भारत में आयुष्मान भारत दिवस (Ayushman Bharat Diwas) हर साल 30 अप्रैल को मनाया जाता है। इसका मकसद है गरीबों के लिए स्वास्थ्य और कल्याण को बढ़ावा देना और साथ ही उन्हें बीमा लाभ प्रदान करना। जिससे कि देश का कोई भी नागरिक अपनी आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण उपचार से वंचित ना रहे। इस योजना के माध्यम से देश के नागरिकों को 5 लाख रुपए तक का स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध करवाया जाता है। इस लेख के द्वारा आप आयुष्मान भारत दिवस के बारे में विस्तार पूर्वक जान पाएंगे। 

सरकार द्वारा देश के आर्थिक रूप से कमजोर नागरिकों को विभिन्न प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाती हैं। इसके लिए समय समय पर कई योजनाएं चलायी जाती हैं। इन्हीं में से एक योजना है Ayushman Bharat Yojana आयुष्मान भारत योजना। यह प्रधानमन्त्री द्वारा शुरू की जाने वाली एक स्वास्थ्य सेवा संबंधित योजना Health Care Plan है जिसके उपलक्ष्य में हर साल 30 अप्रैल के दिन आयुष्मान भारत दिवस मनाया जाता है। इस दिन का उद्देश्य देश के दूरदराज के क्षेत्रों में चिकित्सा सुविधाओं को बढ़ावा देना है। यह योजना स्वास्थ्य और कल्याण को भी बढ़ावा देती है और गरीबों को बीमा लाभ Insurance benefits to the poor भी प्रदान करती है। चलिए विस्तार से जानते हैं कि आयुष्मान भारत दिवस को मनाने का लक्ष्य क्या है और कैसे आयुष्मान भारत योजना का लाभ प्राप्त किया जा सकता है।

आयुष्मान भारत योजना क्या है और इसका क्या उद्देश्य है ? 

इस योजना को प्रत्येक वर्ष 30 अप्रैल को देश में आयुष्मान भारत दिवस Ayushman Bharat Diwas के रूप में मनाया जाता है। इस योजना को 23 सितंबर 2018 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी Prime Minister Narendra Modi द्वारा झारखंड के रांची शहर Ranchi city of Jharkhand से शुरू किया गया था। इस योजना का उद्देश्य देशवासियों के स्वास्थ्य का ख्याल रखना और उनकी लंबी आयु की कामना करना है, जो कि इसके नाम से ही पता चलता है। दरअसल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा साल 2018 में आयुष्मान भारत योजना शुरू की गई थी, ताकि उन करोड़ों भारतीयों को स्वास्थ्य संबंधी लाभ प्रदान किया जा सके, जिन्हें पैसों के अभाव में उचित चिकित्सा सुविधाएं नहीं मिल पातीं हैं। आयुष्मान भारत दिवस, आयुष्मान भारत योजना के आदर्शों के उत्थान के लिए मनाया जाने वाला दिन है। इस योजना के माध्यम से देश के नागरिकों को 5 लाख रुपए तक का स्वास्थ्य बीमा Health insurance up to Rs 5 lakh उपलब्ध करवाया जाता है। यानि यह एक ऐसी सरल योजना है जिसके अन्तर्गत कैशलेस तथा पेपरलेस प्रक्रिया Cashless and paperless process के तहत प्रत्येक परिवार को हर वर्ष 5 लाख रुपए तक का स्वास्थ्य कवरेज प्रदान किया किया जाता है। आयुष्मान भारत योजना को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना Pradhan Mantri Jan Arogya Yojana यानि "PM-JAY" योजना भी कहा जाता है। इसके तहत सरकारी /पैनल अस्पतालों तथा निजी स्वास्थ्य केंद्र में मुफ्त इलाज की सुविधा free treatment facility उपलब्ध करायी जाती है। लाभार्थियों को सामाजिक-आर्थिक जनगणना डेटाबेस से चुना जाता है। यह दुनिया का बहुत बड़ा स्वास्थ्य कवर health cover है। यह योजना अस्पताल में भर्ती होने से पंद्रह दिन पहले और अस्पताल में भर्ती होने के पंद्रह दिन बाद को भी कवर करती है। इसमें दवाओं और परीक्षणों का खर्च शामिल है। भारत में मनाया जाने वाला आयुष्मान भारत दिवस दोहरे मिशन को प्राप्त करने के उद्देश्य से देश भर में मनाया जाता है। मिशन हैं गरीबों के लिए स्वास्थ्य और कल्याण को बढ़ावा देना Promoting health and welfare for the poor और साथ ही उन्हें बीमा लाभ प्रदान करना। इस योजना के अन्तर्गत प्रति कार्ड धारक को  प्रति वर्ष पांच लाख रुपये का स्वास्थ्य कवर प्रदान करना है। इस योजना से भारत के 50 करोड़ लोगों को सीधे तौर पर फायदा होने का अनुमान लगाया गया है। 

आयुष्मान भारत दिवस पर राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा मिशन के बारे में जागरूकता पैदा करने के साथ ही सामाजिक, आर्थिक और जातिगत जनगणना डेटाबेस को सत्यापित और अपडेट करने के लिए देश के अलग अलग हिस्सों में ग्राम सभाओं का आयोजन किया जाता है। सरकार द्वारा इस योजना के ज़रिए देश में लगभग 75,532 से अधिक आयुष्मान भारत स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों का उद्घाटन किया है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य देश के लोगों को मुफ्त स्वास्थ्य सेवाएँ उपलब्ध करवाना है। इसके अलावा इस योजना का एक महत्वपूर्ण उद्देश्य यह है कि इसके माध्यम से देश के दूर-दूर स्थित क्षेत्रों में सस्ती स्वास्थ्य सेवाओं को पहुंचाने में अधिक तेज़ी को लाना है। इस योजना को ‘मोदी केयर’ या ‘नेशनल हेल्थ प्रोटेक्शन स्कीम’ Modi Care or National Health Protection Scheme के नाम से भी जाना है। आज पूरी दुनिया भी भारत की इस स्वास्थ्य योजना का लोहा मानती है। आयुष्मान भारत योजना देश के गरीब वर्ग के लोगों के लिए काफी मददगार साबित हो रही है और लोग इसका लाभ ले पा रहे हैं। 

 इन बीमारियों को कवर करती है आयुष्मान भारत योजना

आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Scheme) ने बहुत बड़ी कामयाबी हासिल की है। आयुष्मान भारत योजना का मुख्य उद्देश्य आर्थिक रूप से कमजोर लोगों, खासकर बीपीएल कार्डधारक को स्वास्थ्य बीमा मुहैया कराना है और बीमारी के चलते मृत्यु दर को कम  करना है। इस योजना के तहत पहले 31 मार्च 2021 तक 70 हजार स्वास्थ्य केंद्र (Health and Wellness Centre) खोलने का लक्ष्य रखा गया था जो कि समय से पहले ही पूरा हो गया था। आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड Ayushman bharat golden card देश के हर ग्रामीण और शहरी इलाकों में बनाए जा रहे हैं। यदि आप इस योजना के लाभार्थी हैं तो आपको नजदीकी जन सेवा केंद्र या फिर जिलाधिकारी कार्यालय जाकर अपना गोल्डन कार्ड डाउनलोड कराना होगा। आधार कार्ड की कॉपी जमा करने पर आपको आयुष्मान योजना का गोल्डन कार्ड मिल जाता है। इस योजना में Surgery, मेडिकल डे केयर ट्रीटमेंट, diagnostic समेत 1350 तरह के इलाज करवाए जा सकते हैं। इसके तहत बेहद गंभीर बीमारियों को भी इलाज के लिए बीमा कवर में शामिल किया गया है। 

इसमें स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र में दी जाने वाली सेवाओं को शामिल किया गया है। इस योजना के तहत निम्नलिखित सेवाएं भी शामिल हैं-

गर्भावस्था देखभाल और स्वास्थ्य सेवाएं pregnancy care and health services

नवजात और शिशु स्वास्थ्य सेवाएं Neonatal and Child Health Services

बाल स्वास्थ्य संक्रामक रोग child health infectious diseases

मानसिक बीमारी के लिए आपातकालीन चिकित्सा emergency medicine for mental illness

आज यानी 30 अप्रैल को देश में आयुष्मान भारत दिवस का आयोजन किया जा रहा है। आयुष्मान भारत योजना का लक्ष्य भारत में 10 करोड़ से अधिक परिवारों को स्वास्थ्य सेवा प्रदान करना है। इन 10 करोड़ परिवारों में ग्रामीण क्षेत्रों के आठ करोड़ परिवार और शहरी क्षेत्रों के लगभग 2.33 करोड़ परिवार शामिल हैं। यह योजना पूरी तरह से पेपरलेस, कैशलेस और आईटी आधारित है।

इस योजना में इलाज को कवर करने के लिए लगभग 1,300 से भी अधिक पैकेज हैं। इनमें रेडिएशन थेरेपी, कीमोथेरेपी, कैंसर सर्जरी, रीढ़ की सर्जरी, दंत सर्जरी, हृदय संबंधी सर्जरी, न्यूरो (मस्तिष्क) सर्जरी, आंखों की सर्जरी और एमआरआई और सीटी स्कैन Radiation therapy, chemotherapy, cancer surgery, spine surgery, dental surgery, cardiac surgery, neuro (brain) surgery, eye surgery and MRI and CT scans आदि परीक्षण हैं। 

कोरोना काल में आयुष्मान भारत योजना का लाभ 

मंत्रालय ने 2021 में पुष्टि की थी कि COVID महामारी के कारण हुए झटके के बीच, कार्यात्मक निकाय 2022 के अंत तक कुल 1.5 लाख स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों को चालू करने के लिए ट्रैक पर है। कोरोना महामारी के दौर में भी लोगों को आयुष्मान भारत योजना का लाभ मिल रहा है। इस योजना के तहत कोविड-19 की मुफ्त जांच और इलाज उपलब्ध है। लाभार्थी इस योजना का लाभ पूरे देश में किसी भी सार्वजनिक या निजी सूचीबद्ध अस्पताल में उठा सकतें हैं। क्योंकि कोरोना महामारी corona pandemic ने प्रत्येक व्यक्ति की आर्थिक व्यवस्था को हिला कर रख दिया था। लोगों के पास इलाज करने तक के पैसे नहीं थे। हर कोई बेबस हो गया था लेकिन सरकार की इन्हीं स्वास्थ्य संबधी योजनाओं का कई लोगों को लाभ भी मिला है। यानि दुनिया में फैले कोरोना संक्रमण के परिणाम से यह सभी को ज्ञात हो गया है कि देश में स्वस्थ होने का मतलब किसी बीमारी से मुक्त होना नहीं है, बल्कि शारीरिक, मानसिक तथा भावनात्मक रूप से व्यक्ति का स्वस्थ होना ज़रूरी है। इसी तरह के कई अहम् मुद्दों को लेकर भारत सरकार ने आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना को लागू किया था जिसके तहत लोगों को निशुल्क स्वास्थ्य संबंधित सेवाएं प्रदान की जाती हैं जो कि बेहद सराहनीय कदम है।

योजना के अंतर्गत लांच किया गया नया हेल्थ बेनिफिट पैकेज

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा साल 2018 में आयुष्मान भारत स्वास्थ्य देखभाल की शुरुआत की थी। जिसको अब इस बार 4 वर्ष पूरे हो जाएंगे। इस दिवस के आयोजन में इस बार सभी आयुष्मान भारत स्वास्थ्य देखभाल केंद्रों पर 17 अप्रैल 2022 को योग तथा स्वास्थ्य देखभाल सत्रों का आयोजन किया गया, वहीं पूरे देश में 18 से 30 अप्रैल तक ब्लॉक स्तर पर स्वास्थ्य मेले भी आयोजित किए जा रहे हैं। देश में वंचित तबके के लोगों के लिए आयुष्मान भारत योजना बहुत उपयोगी कदम साबित हो रही है। सरकार का मानना है कि पांच लाख तक की स्वास्थ्य बीमा योजना से देश की बड़ी आबादी की स्वास्थ्य समस्याएं दूर करने में मदद मिल रही है। नेशनल हेल्थ अथॉरिटी National health authority ( NHA) के माध्यम से वर्ष 2022 के लिए एक नया हेल्थ बेनिफिट पैकेज health benefit package लांच करने की घोषणा की गई है। यह हेल्थ बेनिफिट पैकेज आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत लांच किया जाएगा। इस पैकेज को तमिलनाडु के महाबलीपुरम में आयोजित रिव्यू मीटिंग के दौरान लांच किया गया है। इस पैकेज के अंतर्गत स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा 265 नए प्रोसीजर लांच किए गए हैं और अब इस योजना के माध्यम से कुल 1949 प्रोसीजर कवर किए जाएंगे। साथ ही इस अवसर पर मंत्रालय द्वारा इंटरनेशनल क्लासिफिकेशन ऑफ़ डिजीज International Classification of Diseases एवं इंटरनेशनल क्लासिफिकेशन ऑफ हेल्थ इंटरवेंशन आरंभ करने की भी घोषणा की गई है। डायग्नोसिस रिलेटेड ग्रुपिंग Diagnosis Related Grouping (DRG) को भी हरियाणा, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, केरल और मेघालय राज्यों में पायलट के तौर पर लॉन्च किया गया था। इसके साथ ही, भारत में पहली बीमा योजना जो DRG के माध्यम से भुगतान तंत्र प्रदान करेगी वह AB-PMJAY होगी।

Think with Niche पर आपके लिए और रोचक विषयों पर लेख उपलब्ध हैं एक अन्य लेख को पढ़ने के लिए कृपया नीचे  दिए लिंक पर क्लिक करे-

Digital Seva Portal- डिजिटल इंडिया की ओर एक मज़बूत क़दम

सरकार द्वारा देश के आर्थिक रूप से कमजोर नागरिकों को विभिन्न प्रकार की सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाती हैं। इसके लिए समय समय पर कई योजनाएं चलायी जाती हैं। इन्हीं में से एक योजना है Ayushman Bharat Yojana आयुष्मान भारत योजना। यह प्रधानमन्त्री द्वारा शुरू की जाने वाली एक स्वास्थ्य सेवा संबंधित योजना Health Care Plan है जिसके उपलक्ष्य में हर साल 30 अप्रैल के दिन आयुष्मान भारत दिवस मनाया जाता है। इस दिन का उद्देश्य देश के दूरदराज के क्षेत्रों में चिकित्सा सुविधाओं को बढ़ावा देना है। यह योजना स्वास्थ्य और कल्याण को भी बढ़ावा देती है और गरीबों को बीमा लाभ Insurance benefits to the poor भी प्रदान करती है। चलिए विस्तार से जानते हैं कि आयुष्मान भारत दिवस को मनाने का लक्ष्य क्या है और कैसे आयुष्मान भारत योजना का लाभ प्राप्त किया जा सकता है।

आयुष्मान भारत योजना क्या है और इसका क्या उद्देश्य है ? 

इस योजना को प्रत्येक वर्ष 30 अप्रैल को देश में आयुष्मान भारत दिवस Ayushman Bharat Diwas के रूप में मनाया जाता है। इस योजना को 23 सितंबर 2018 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी Prime Minister Narendra Modi द्वारा झारखंड के रांची शहर Ranchi city of Jharkhand से शुरू किया गया था। इस योजना का उद्देश्य देशवासियों के स्वास्थ्य का ख्याल रखना और उनकी लंबी आयु की कामना करना है, जो कि इसके नाम से ही पता चलता है। दरअसल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा साल 2018 में आयुष्मान भारत योजना शुरू की गई थी, ताकि उन करोड़ों भारतीयों को स्वास्थ्य संबंधी लाभ प्रदान किया जा सके, जिन्हें पैसों के अभाव में उचित चिकित्सा सुविधाएं नहीं मिल पातीं हैं। आयुष्मान भारत दिवस, आयुष्मान भारत योजना के आदर्शों के उत्थान के लिए मनाया जाने वाला दिन है। इस योजना के माध्यम से देश के नागरिकों को 5 लाख रुपए तक का स्वास्थ्य बीमा Health insurance up to Rs 5 lakh उपलब्ध करवाया जाता है। यानि यह एक ऐसी सरल योजना है जिसके अन्तर्गत कैशलेस तथा पेपरलेस प्रक्रिया Cashless and paperless process के तहत प्रत्येक परिवार को हर वर्ष 5 लाख रुपए तक का स्वास्थ्य कवरेज प्रदान किया किया जाता है। आयुष्मान भारत योजना को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना Pradhan Mantri Jan Arogya Yojana यानि "PM-JAY" योजना भी कहा जाता है। इसके तहत सरकारी /पैनल अस्पतालों तथा निजी स्वास्थ्य केंद्र में मुफ्त इलाज की सुविधा free treatment facility उपलब्ध करायी जाती है। लाभार्थियों को सामाजिक-आर्थिक जनगणना डेटाबेस से चुना जाता है। यह दुनिया का बहुत बड़ा स्वास्थ्य कवर health cover है। यह योजना अस्पताल में भर्ती होने से पंद्रह दिन पहले और अस्पताल में भर्ती होने के पंद्रह दिन बाद को भी कवर करती है। इसमें दवाओं और परीक्षणों का खर्च शामिल है। भारत में मनाया जाने वाला आयुष्मान भारत दिवस दोहरे मिशन को प्राप्त करने के उद्देश्य से देश भर में मनाया जाता है। मिशन हैं गरीबों के लिए स्वास्थ्य और कल्याण को बढ़ावा देना Promoting health and welfare for the poor और साथ ही उन्हें बीमा लाभ प्रदान करना। इस योजना के अन्तर्गत प्रति कार्ड धारक को  प्रति वर्ष पांच लाख रुपये का स्वास्थ्य कवर प्रदान करना है। इस योजना से भारत के 50 करोड़ लोगों को सीधे तौर पर फायदा होने का अनुमान लगाया गया है। 

आयुष्मान भारत दिवस पर राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा मिशन के बारे में जागरूकता पैदा करने के साथ ही सामाजिक, आर्थिक और जातिगत जनगणना डेटाबेस को सत्यापित और अपडेट करने के लिए देश के अलग अलग हिस्सों में ग्राम सभाओं का आयोजन किया जाता है। सरकार द्वारा इस योजना के ज़रिए देश में लगभग 75,532 से अधिक आयुष्मान भारत स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों का उद्घाटन किया है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य देश के लोगों को मुफ्त स्वास्थ्य सेवाएँ उपलब्ध करवाना है। इसके अलावा इस योजना का एक महत्वपूर्ण उद्देश्य यह है कि इसके माध्यम से देश के दूर-दूर स्थित क्षेत्रों में सस्ती स्वास्थ्य सेवाओं को पहुंचाने में अधिक तेज़ी को लाना है। इस योजना को ‘मोदी केयर’ या ‘नेशनल हेल्थ प्रोटेक्शन स्कीम’ Modi Care or National Health Protection Scheme के नाम से भी जाना है। आज पूरी दुनिया भी भारत की इस स्वास्थ्य योजना का लोहा मानती है। आयुष्मान भारत योजना देश के गरीब वर्ग के लोगों के लिए काफी मददगार साबित हो रही है और लोग इसका लाभ ले पा रहे हैं। 

 इन बीमारियों को कवर करती है आयुष्मान भारत योजना

आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Scheme) ने बहुत बड़ी कामयाबी हासिल की है। आयुष्मान भारत योजना का मुख्य उद्देश्य आर्थिक रूप से कमजोर लोगों, खासकर बीपीएल कार्डधारक को स्वास्थ्य बीमा मुहैया कराना है और बीमारी के चलते मृत्यु दर को कम  करना है। इस योजना के तहत पहले 31 मार्च 2021 तक 70 हजार स्वास्थ्य केंद्र (Health and Wellness Centre) खोलने का लक्ष्य रखा गया था जो कि समय से पहले ही पूरा हो गया था। आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड Ayushman bharat golden card देश के हर ग्रामीण और शहरी इलाकों में बनाए जा रहे हैं। यदि आप इस योजना के लाभार्थी हैं तो आपको नजदीकी जन सेवा केंद्र या फिर जिलाधिकारी कार्यालय जाकर अपना गोल्डन कार्ड डाउनलोड कराना होगा। आधार कार्ड की कॉपी जमा करने पर आपको आयुष्मान योजना का गोल्डन कार्ड मिल जाता है। इस योजना में Surgery, मेडिकल डे केयर ट्रीटमेंट, diagnostic समेत 1350 तरह के इलाज करवाए जा सकते हैं। इसके तहत बेहद गंभीर बीमारियों को भी इलाज के लिए बीमा कवर में शामिल किया गया है। 

इसमें स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र में दी जाने वाली सेवाओं को शामिल किया गया है। इस योजना के तहत निम्नलिखित सेवाएं भी शामिल हैं-

गर्भावस्था देखभाल और स्वास्थ्य सेवाएं pregnancy care and health services

नवजात और शिशु स्वास्थ्य सेवाएं Neonatal and Child Health Services

बाल स्वास्थ्य संक्रामक रोग child health infectious diseases

मानसिक बीमारी के लिए आपातकालीन चिकित्सा emergency medicine for mental illness

आज यानी 30 अप्रैल को देश में आयुष्मान भारत दिवस का आयोजन किया जा रहा है। आयुष्मान भारत योजना का लक्ष्य भारत में 10 करोड़ से अधिक परिवारों को स्वास्थ्य सेवा प्रदान करना है। इन 10 करोड़ परिवारों में ग्रामीण क्षेत्रों के आठ करोड़ परिवार और शहरी क्षेत्रों के लगभग 2.33 करोड़ परिवार शामिल हैं। यह योजना पूरी तरह से पेपरलेस, कैशलेस और आईटी आधारित है।

इस योजना में इलाज को कवर करने के लिए लगभग 1,300 से भी अधिक पैकेज हैं। इनमें रेडिएशन थेरेपी, कीमोथेरेपी, कैंसर सर्जरी, रीढ़ की सर्जरी, दंत सर्जरी, हृदय संबंधी सर्जरी, न्यूरो (मस्तिष्क) सर्जरी, आंखों की सर्जरी और एमआरआई और सीटी स्कैन Radiation therapy, chemotherapy, cancer surgery, spine surgery, dental surgery, cardiac surgery, neuro (brain) surgery, eye surgery and MRI and CT scans आदि परीक्षण हैं। 

कोरोना काल में आयुष्मान भारत योजना का लाभ 

मंत्रालय ने 2021 में पुष्टि की थी कि COVID महामारी के कारण हुए झटके के बीच, कार्यात्मक निकाय 2022 के अंत तक कुल 1.5 लाख स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों को चालू करने के लिए ट्रैक पर है। कोरोना महामारी के दौर में भी लोगों को आयुष्मान भारत योजना का लाभ मिल रहा है। इस योजना के तहत कोविड-19 की मुफ्त जांच और इलाज उपलब्ध है। लाभार्थी इस योजना का लाभ पूरे देश में किसी भी सार्वजनिक या निजी सूचीबद्ध अस्पताल में उठा सकतें हैं। क्योंकि कोरोना महामारी corona pandemic ने प्रत्येक व्यक्ति की आर्थिक व्यवस्था को हिला कर रख दिया था। लोगों के पास इलाज करने तक के पैसे नहीं थे। हर कोई बेबस हो गया था लेकिन सरकार की इन्हीं स्वास्थ्य संबधी योजनाओं का कई लोगों को लाभ भी मिला है। यानि दुनिया में फैले कोरोना संक्रमण के परिणाम से यह सभी को ज्ञात हो गया है कि देश में स्वस्थ होने का मतलब किसी बीमारी से मुक्त होना नहीं है, बल्कि शारीरिक, मानसिक तथा भावनात्मक रूप से व्यक्ति का स्वस्थ होना ज़रूरी है। इसी तरह के कई अहम् मुद्दों को लेकर भारत सरकार ने आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना को लागू किया था जिसके तहत लोगों को निशुल्क स्वास्थ्य संबंधित सेवाएं प्रदान की जाती हैं जो कि बेहद सराहनीय कदम है।

योजना के अंतर्गत लांच किया गया नया हेल्थ बेनिफिट पैकेज

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा साल 2018 में आयुष्मान भारत स्वास्थ्य देखभाल की शुरुआत की थी। जिसको अब इस बार 4 वर्ष पूरे हो जाएंगे। इस दिवस के आयोजन में इस बार सभी आयुष्मान भारत स्वास्थ्य देखभाल केंद्रों पर 17 अप्रैल 2022 को योग तथा स्वास्थ्य देखभाल सत्रों का आयोजन किया गया, वहीं पूरे देश में 18 से 30 अप्रैल तक ब्लॉक स्तर पर स्वास्थ्य मेले भी आयोजित किए जा रहे हैं। देश में वंचित तबके के लोगों के लिए आयुष्मान भारत योजना बहुत उपयोगी कदम साबित हो रही है। सरकार का मानना है कि पांच लाख तक की स्वास्थ्य बीमा योजना से देश की बड़ी आबादी की स्वास्थ्य समस्याएं दूर करने में मदद मिल रही है। नेशनल हेल्थ अथॉरिटी National health authority ( NHA) के माध्यम से वर्ष 2022 के लिए एक नया हेल्थ बेनिफिट पैकेज health benefit package लांच करने की घोषणा की गई है। यह हेल्थ बेनिफिट पैकेज आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत लांच किया जाएगा। इस पैकेज को तमिलनाडु के महाबलीपुरम में आयोजित रिव्यू मीटिंग के दौरान लांच किया गया है। इस पैकेज के अंतर्गत स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा 265 नए प्रोसीजर लांच किए गए हैं और अब इस योजना के माध्यम से कुल 1949 प्रोसीजर कवर किए जाएंगे। साथ ही इस अवसर पर मंत्रालय द्वारा इंटरनेशनल क्लासिफिकेशन ऑफ़ डिजीज International Classification of Diseases एवं इंटरनेशनल क्लासिफिकेशन ऑफ हेल्थ इंटरवेंशन आरंभ करने की भी घोषणा की गई है। डायग्नोसिस रिलेटेड ग्रुपिंग Diagnosis Related Grouping (DRG) को भी हरियाणा, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, केरल और मेघालय राज्यों में पायलट के तौर पर लॉन्च किया गया था। इसके साथ ही, भारत में पहली बीमा योजना जो DRG के माध्यम से भुगतान तंत्र प्रदान करेगी वह AB-PMJAY होगी।

Think with Niche पर आपके लिए और रोचक विषयों पर लेख उपलब्ध हैं एक अन्य लेख को पढ़ने के लिए कृपया नीचे  दिए लिंक पर क्लिक करे-

Digital Seva Portal- डिजिटल इंडिया की ओर एक मज़बूत क़दम







Newsletter

Read and Subscribe