facebook-pixel

महिला उद्यमिता से महिला सशक्तिकरण

Share Us

893
महिला उद्यमिता से महिला सशक्तिकरण
19 Apr 2022
7 min read
TWN In-Focus

Post Highlight

भारत एक प्रगतिशील समाज की ओर बढ़ रहा है और यही वजह है कि पिछले कुछ दशकों में महिला उद्यमियों women entrepreneurs की संख्या में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। ये महिला सशक्तिकरण women empowerment का युग है इसीलिए ज़रूरी है कि अब महिलाओं को भी बराबर चांस मिलें ताकि वो भी कॉरपोरेट क्षेत्र में बेहतरीन प्रदर्शन दिखा पाएं।  यह बात तो हर कोई जानता है कि पहले लोगों का मानना था कि बिज़नेस करना महिलाओं के बस की बात नहीं है और उनकी जगह घर पर ही है लेकिन आज ऐसी कई सफल महिला उद्यमी जैसे फाल्गुनी नायर Falguni Nayar, वंदना लूथरा Vandana Luthra, देवता सराफ Devita Saraf, राधिका घई अग्रवाल Radhika Ghai Aggarwal और सुचि मुखर्जी Suchi Mukherjee ने यह प्रूफ किया कि बिज़नेस करने के लिए आपको बस एक अच्छे आइडिया और मेहनत की ज़रूरत है। ये महिलाएं आज कई लोगों की इंस्पिरेशन हैं। ये कहना गलत नहीं होगा कि इनसे प्रेरित होकर आज भारत की कई महिलाएं हैं जो अपना स्टार्टअप startup शुरू कर रही हैं। 

Podcast

Continue Reading..

आज के समय में कोई भी महिला सिर्फ घर नहीं चलाना चाहती है। घर चलाने के साथ-साथ आज वे पैसे भी कमाना चाहती हैं क्योंकि हर किसी को फाइनेंशियल इंडिपेंडेंट financially independent होना चाहिए। पिछले कुछ दशकों से ऐसा देखा जा रहा है कि महिलाएं हर क्षेत्र में कदम रख रही हैं और सफल भी हो रही हैं।

महिलाओं ने बिज़नेस और स्टार्टअप के क्षेत्र में कदम तो रख दिया है लेकिन ये बात भी किसी से छिपी हुई नहीं है कि उन्हें आज भी कई चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। आइए जानते हैं कि एक महिला उद्यमी को किन चुनौतियों का सामना करना पड़ता है-

महिला उद्यमियों के सामने क्या चुनौतियां आती हैं? Challenges faced by Women Entrepreneurs

1. सीमित फंडिंग

यह समस्या सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में है। ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट से पता चलता है कि जिन व्यवसाय को महिलाएं चलाती हैं, उन व्यवसाय को पुरुषों के द्वारा चलाने वाले व्यवसाय की तुलना में कम फंडिंग मिलती है। ये बात तो हम सब जानते हैं कि व्यवसाय शुरू करने के लिए फंडिंग कितनी महत्वपूर्ण है लेकिन महिलाओं को सीमित फंडिंग मिलने की वजह से वे चाह करके भी बिज़नेस से जुड़े अपने प्लांस को पूरा नहीं कर पाती हैं। 

2. कड़ी प्रतिस्पर्धा

जाहिर सी बात है कि लंबे समय से उद्यमिता पुरुषों के वर्चस्व वाला क्षेत्र रहा है और ऐसे में जब एक महिला इस क्षेत्र में कुछ शुरू करती है तो उसे कड़ी प्रतिस्पर्धा से जूझना होता है। धीरे-धीरे परिदृश्य बदल तो रहा है लेकिन फिर भी एक महिला उद्यमी के सामने चुनौतियां हैं। 

एक उदाहरण की मदद से आप समझिए। भारत में पिछली साल 1,000 से भी ज्यादा स्टार्टअप की शुरुआत हुई लेकिन मात्र 11% ऐसे स्टार्टअप हैं, जिसकी संस्थापक महिलाएं हैं। 

3. वर्क लाइफ बैलेंस

दुनिया भर में महिलाओं से यही उम्मीद की जाती है कि वे घर संभालें और परिवार की देखभाल करें। किसी व्यवसाय को चलाने के लिए आपको अपना काफी समय उसके संचालन के लिए देना होगा। 

घर को संभालने में महिलाएं इतनी व्यस्त हो जाती हैं कि उन्हें ना चाहते हुए भी अपने व्यवसाय को कम प्राथमिकता देना पड़ता है।

 4. शिक्षा का अभाव

व्यवसाय को सुचारू रूप से चलाने के लिए कई कौशल का होना ज़रूरी है। यूनेस्को UNESCO की एक रिपोर्ट बताती है कि देश की निरक्षर आबादी में 68% महिलाएं हैं। अब जब महिलाओं को शिक्षित नहीं किया जाएगा तो जाहिर सी बात है कि उन्हें व्यवसाय को चलाने के लिए कई समस्याओं का सामना करना पड़ेगा और दूसरों पर डिपेंडेंट रहना पड़ेगा। 

कैसे बनें एक सफल बिज़नेस वूमेन?

यह बात तो हर कोई जानता है कि पहले लोगों का मानना था कि बिज़नेस करना महिलाओं के बस की बात नहीं है और उनकी जगह घर पर ही है लेकिन आज ऐसी कई सफल महिला उद्यमी जैसे फाल्गुनी नायर Falguni Nayar, वंदना लूथरा Vandana Luthra, देवता सराफ Devita Saraf, राधिका घई अग्रवाल Radhika Ghai Aggarwal और सुचि मुखर्जी Suchi Mukherjee ने यह प्रूफ किया कि बिज़नेस करने के लिए आपको बस एक अच्छे आइडिया और मेहनत की ज़रूरत है। ये महिलाएं आज कई लोगों की इंस्पिरेशन हैं। ये कहना गलत नहीं होगा कि इनसे प्रेरित होकर आज भारत की कई महिलाएं हैं जो अपना स्टार्टअप startup शुरू कर रही हैं। 

बिज़नेस आप सिर्फ लीडरशिप क्वालिटी leadership quality के दम पर नहीं चला सकती हैं, बिज़नेस चलाने के लिए आपके पास और भी कई स्किल्स का होना ज़रूरी है। एक सक्सेसफुल बिज़नेस वूमेन successful business woman बनने के लिए आपको कई टिप्स को फॉलो करना चाहिए। आपको किसी भी बिज़नेस business को शुरू करने से पहले मार्केट रिसर्च market research और कस्टमर बिहेवियर customer behaviour को समझना पड़ेगा और आपको मार्केटिंग marketing पर खास ध्यान देना होगा। बेस्ट रिजल्ट्स के लिए आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीके से मार्केटिंग करें।

एक सक्सेसफुल बिज़नेस वूमेन successful business woman बनने के लिए आपको कई टिप्स को फॉलो करना चाहिए। आइए जानते हैं कि कैसे आप एक सफल बिज़नेस वूमेन बन सकती हैं-

1. बिज़नेस आइडिया business idea को लेकर क्लियर रहें

कई बार हम दूसरों की सफलता से इतने प्रभावित हो जाते हैं कि हम भी उसी क्षेत्र में जाना चाहते हैं, जिस क्षेत्र में पहले से ही कोई बहुत सफल हो चुका है। हम उस वक्त अपने इंट्रेस्ट के बारे में ना सोचते हुए एक तरह से सामने वाले की नकल करने लगते हैं और बाद में फेलियर के बाद आपको पता चलता है कि आपने गलत क्षेत्र में कदम रख दिया है। इन सबसे बचने के लिए आपको अपने बिज़नेस को लेकर क्लीयर रहने की जरूरत है। अपने इंट्रेस्ट को जानने के बाद बिज़नेस रिस्क business risk और मार्केट रिसर्च market research पर ध्यान दें ताकि बिज़नेस में नुकसान होने की संभावना कम हो। 

2. छोटे स्केल से शुरुआत करें

किसी भी बिज़नेस की सफलता इस बात पर निर्भर नहीं करती है कि आपने उसे एक बड़े स्केल पर शुरू किया है। आप बिज़नेस में सफलता प्राप्त करने के लिए छोटे स्केल से शुरुआत कर सकते हैं और बाद में धीरे-धीरे ग्रोथ करके बिज़नेस को बड़े स्केल पर पहुंचा सकते हैं। ऐसा करने से आपको पहले कम पूंजी लगाना होगा ताकि अगर नुकसान भी हो तो ज्यादा ना हो और धीरे-धीरे ग्रोथ करने से आपको बिज़नेस से जुड़े नए-नए अनुभव भी मिलेंगे। 

3. खुद पर भरोसा रखें

अगर आप खुद का बिज़नेस शुरू करने जा रही हैं तो आपको कम ही ऐसे लोग मिलेंगे जो आपका सपोर्ट करेंगे और जिन्हें आप पर भरोसा होगा, ऐसे में दूसरों की वजह से खुद की क्षमताओं और फैसलों पर संदेह करके आप बना बनाया काम भी बिगाड़ देंगी इसीलिए जब कोई भरोसा ना करे तो खुद की क्षमताओं और फैसलों पर आप खुद भरोसा करिए क्योंकि बिज़नेस में प्रॉफिट और लॉस लगा रहता है और एक लॉस कहीं से भी ये नहीं साबित कर सकता कि आप एक अच्छी बिज़नेस वूमेन नहीं बन सकती हैं। 

4. चैलेंजेस के लिए रेडी रहें

जॉब और बिज़नेस में सबसे बड़ा अंतर यही है कि बिज़नेस में आपको कई चैलेंजेस का सामना करना पड़ेगा। कई बार आपकी बेस्ट स्ट्रेटजी काम नहीं करेगी और कड़ी मेहनत करने के बावजूद भी आपको बिज़नेस में लॉस हो सकता है, लेकिन सच कहें तो इसी में तो बिज़नेस करने का असली मज़ा है। आपको रोज़ नए चैलेंजेस मिलेंगे और आपको उन चैलेंजेस को लेने के लिए तैयार रहना होगा। 

5. मनी कैलकुलेशन के लिए सही स्ट्रेटजी बनाएं

बिज़नेस की शुरुआत करते वक्त मनी कैलकुलेशन money calculation पर ध्यान देना इसीलिए ज़रूरी है क्योंकि बिज़नेस में आवश्यक पूंजी लगाने के बाद भी आपको प्रमोशन, सैलरी और अन्य जगहों पर पैसे खर्च करने पड़ते है और कभी-कभी तो काम शुरू करने के बाद अपेक्षानुसार रिजल्ट नहीं मिलता है इसीलिए मनी कैलकुलेशन के लिए सही स्ट्रेटजी बनाएं। 

अगर आप को भी आत्मनिर्भर बनना है और घर के काम को खत्म करने के बाद आप भी कोई नया साइड बिज़नेस side business शुरू करना चाहती हैं, तो फिर देर मत करिए। आपको ऐसा बिज़नेस चुनना है जिसकी डिमांड हमेशा रहे और आप सालभर उससे कमाई कर पाएं। आपको किसी भी बिज़नेस को शुरू करने से पहले मार्केट रिसर्च और कस्टमर बिहेवियर को समझना पड़ेगा और आपको मार्केटिंग पर खास ध्यान देना होगा। बेस्ट रिजल्ट्स के लिए आप ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीके से मार्केटिंग करें। आइए जानते हैं महिलाओं के लिए बेस्ट बिज़नेस आइडियाज business ideas for women के बारे में-

1. डिजाइनर कपड़े

कई महिलाओं के पास कढ़ाई और सिलाई का हुनर होता है और इस हुनर से आप अच्छे पैसे कमा सकती हैं, ज़रूरत है तो बस क्रिएटिविटी की। आपको क्रिएटिव बनना पड़ेगा और साधारण से दिखने वाले कपड़ों को कढ़ाई और सिलाई की मदद से आकर्षक बनाना होगा। आप होलसेल पर कम दाम में साधारण से दिखने वाले कपड़े खरीद सकती हैं और उन्हें आकर्षक बनाकर ऑनलाइन या किसी स्टोर पर बेच सकती हैं। 

2. फ्रीलांसिंग Freelancing

अगर आपको अलग-अलग आर्टिकल्स, मैगजींस और किताबें पढ़ने का शौक है तो आप अपने इस हुनर के इस्तेमाल से घर बैठे पैसे कमा सकती हैं। ज़रूरी नहीं है कि आपको अपनी कोई मनपसंद जॉब करने के लिए 8 से 9 घंटे के लिए ऑफिस जाना पड़े। आप घर बैठे ही फ्रीलांसिंग राइटिंग freelancing writing कर सकती हैं। इंटरनेट पर आपको कई ऐसी वेबसाइट, मैगजीन और न्यूजपेपर कंपनीज मिल जाएंगी जिन्हें अच्छे आर्टिकल्स की आवश्यकता है, आप ऐसी कंपनीज के लिए घर बैठे आसानी से आर्टिकल और ब्लॉग्स लिख सकती हैं। 

इसके अलावा अगर आपकी एक से ज्यादा भाषा पर अच्छी पकड़ है तो आप ट्रांसलेटर translator का काम भी कर सकती हैं। इसके लिए भी आपको बस इंटरनेट पर ऐसे प्रोजेक्ट खोजने पड़ेंगे और आप आसानी से घर बैठे अनुवाद का काम शुरू कर सकती हैं। 

कई बार स्कूल में बच्चों को कुछ ऐसे प्रोजेक्ट मिलते हैं, जिन्हें वे अकेले नहीं कर पाते हैं और माता-पिता अपने काम में व्यस्त होने की वजह से बच्चों की प्रोजेक्ट बनाने में मदद नहीं कर पाते हैं, ऐसे बच्चों को आप प्रोजेक्ट बनाकर दे सकती हैं और उनकी मदद करने के लिए पर प्रोजेक्ट per project फीस चार्ज कर सकती हैं। 

3. मेकअप आर्टिस्ट Makeup artist

इस बात में कोई शक नहीं है कि मेकअप आर्टिस्ट स्किल्स के दम पर हर महीने लाखों कमाते हैं और मेकअप की ज़रूरत और डिमांड के बारे में भला एक महिला से अच्छा कौन जान सकता है। पार्लर में महिलाएं काफी पैसे खर्च करती हैं लेकिन अब समय आ गया है कि आप खुद इस इंडस्ट्री से जुड़कर अच्छी कमाई करें। इसके लिए सबसे पहले आप उस क्षेत्र में कोई कोर्स कर लें, जिसमें आपकी रुचि है। इसके बाद हेयर प्रोडक्ट्स, मेकअप प्रोडक्ट्स और स्किन प्रोडक्ट्स की अच्छी जानकारी ले लें, वैसे ये सब चीजें आपको कोर्स के वक्त सिखाई जाती है। आप पहले इस बिज़नेस को घर से शुरू करें और बाद में मुनाफा होने पर आप इसे बड़े स्तर पर शुरू करें। 

4. फिटनेस ट्रेनर Fitness trainer

आज कल लोग अपनी फिटनेस को लेकर बेहद जागरूक हो रहे हैं और ऐसे में वो हर वक्त हेल्थी तो खा नहीं सकते इसीलिए जिम जाकर, योग और मेडिटेशन करके लोग चीज़ों को बैलेंस करना चाहते हैं इसीलिए फिटनेस सेंटर की डिमांड बहुत बढ़ रही है। ऐसे में अगर आपको योग और एक्सरसाइज की अच्छी समझ है तो आप फिटनेस सेंटर को मैनेज कर सकती हैं और एक फिटनेस ट्रेनर बन सकती हैं। इसके साथ-साथ आज कल जुंबा का काफी ट्रेंड चल रहा है और लोग इसे रेगुलर एक्सरसाइज की तरह करना बेहद पसंद कर रहे हैं। आप जुंबा क्लासेस शुरू करके भी अच्छी कमाई कर सकती हैं। 

5. ग्राफिक डिजाइनिंग Graphic designing

वर्तमान में ज्यादातर व्यवसाय इंटरनेट पर अपनी मौजूदगी बनाने के लिए वेबसाइट बनवा रहे हैं और वेबसाइट को आकर्षक बनाने के लिए ग्राफिक डिजाइनर की ज़रूरत होती है। यह बेहद क्रिएटिव फील्ड है और कई महिलाओं को इसमें रुचि होती है। 

ऐसे रोजगार क्षेत्र जिसमें महिलाओं का हैं बोलबाला

  • सामाजिक सेवा
  • नर्सिंग
  • शिक्षक
  • एकाउंटेंट
  • सामाजिक सेवा

फ़िल्म मेकिंग, पायलट, कंस्ट्रक्शन इंडस्ट्री, आर्किटेक्ट, सॉफ्टवेयर डेवलपर, फायर फाइटर आदि ये सब ऐसे क्षेत्र हैं, जिनमें पुरुषों का दबदबा है। ये ऐसे क्षेत्र हैं जिनमें महिलाओं को पुरुषों की तुलना में कम अवसर मिलते हैं और आज भी इस क्षेत्रों में पुरुषों का जलवा कायम है। 

निष्कर्ष

भारत एक प्रगतिशील समाज की ओर बढ़ रहा है और यही वजह है कि पिछले कुछ दशकों में महिला उद्यमियों women entrepreneurs की संख्या में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है। अगर आप भी अपना बिज़नेस शुरू करना चाहती हैं तो अभी भी कोई देर नहीं हुई है, आपको बस ये ध्यान रखना है कि बिजनेस आइडिया का फैसला करते समय आपको अपनी रुचि, बजट और स्किल्स का ध्यान देना है क्योंकि जिस जगह आपकी रुचि सबसे ज्यादा है, आप उस काम को और बेहतर तरीके से कर पाएंगी। 

ये बात हम सब जानते हैं कि आज कई ऐसी सफल महिला उद्यमी हैं जिन्होंने कई सफल व्यवसायिक ब्रांड बनाए हैं लेकिन सफर उनका भी आसान नहीं था। ये महिला सशक्तिकरण women empowerment का युग है इसीलिए ज़रूरी है कि अब महिलाओं को भी बराबर चांस मिलें ताकि वो भी कॉरपोरेट क्षेत्र में बेहतरीन प्रदर्शन दिखा पाएं। 

Think with Niche पर आपके लिए और रोचक विषयों पर लेख उपलब्ध हैं एक अन्य लेख को पढ़ने के लिए कृपया नीचे  दिए लिंक पर क्लिक करे-

इन बिज़नेस विमेंस की ऊंची उड़ान बनी प्रेरणास्रोत