facebook-pixel

भारत की टॉप यूनिवर्सिटीज

Share Us

2047
भारत की टॉप यूनिवर्सिटीज
30 Oct 2021
5 min read
TWN In-Focus

Post Highlight

जब से मानव सभ्यता का सूर्य उदय हुआ है तभी से भारत अपनी शिक्षा तथा दर्शन के लिए प्रसिद्ध रहा है। आज भी शिक्षा के उद्देश्य भारत में जीवित हैं। आज भी भारत अपनी शिक्षा के लिए प्रसिद्ध है। यहाँ पर शिक्षा प्राप्त करने के लिए टॉप यूनिवर्सिटीज हैं। कुल मिलकर हम ये कह सकते हैं कि भारत के जितने भी शिक्षा केंद्र हैं उनमें छात्र का शारीरिक, मानसिक, नैतिक तथा अध्यात्मिक आदि सभी प्रकार का विकास संभव है।

Podcast

Continue Reading..

बारहवीं कक्षा पास करने के बाद हर विद्यार्थी का सपना होता है कि वह देश की टॉप यूनिवर्सिटीज में जाकर पढ़ाई करें लेकिन देश की टॉप यूनिवर्सिटीज में पढ़ना हर किसी के लिए इतना आसान नहीं होता। भारत पुराने समय से ही शिक्षा का केंद्र रहा है। जैसे नालंदा, तक्षशिला के विश्वविद्यालय। धीरे-धीरे शिक्षा में बदलाव हो रहा है और शिक्षा पहले से काफी बेहतर हो रही है। आज हर कोई शिक्षा के प्रति जागरूक हो गया है इसलिए हर छात्र यही चाहता है कि वे अच्छी से अच्छी शिक्षा प्राप्त कर एक उच्च पद को प्राप्त करें और ऐसी ही कुछ यूनिवर्सिटीज हैं जिनमे आप शिक्षा ग्रहण कर अपनी मंजिल तक पहुँच सकते हैं। 

जवाहरलाल नेहरु यूनिवर्सिटी

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) देश की जानी-मानी यूनिवर्सिटीज में से एक है। हर कोई सोचता है कि भारत के टॉप विश्वविद्यालय में शामिल जवाहरलाल यूनिवर्सिटी में आखिर ऐसा क्या है, जो इसे इतना खास बनाता है। इसको राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद (NAAC) ने जुलाई 2012 में किये गए सर्वे में भारत का सबसे अच्छा विश्वविद्यालय घोषित किया है। इस यूनिवर्सिटी में लगभग 8.5 हजार ज्यादा स्टूडेंट्स पढ़ रहे हैं। इस विश्वविद्यालय की स्थापना 1969 में हुई थी। इसका नाम भारत के पहले प्रधानमंत्री पं. जवाहारलाल नेहरू के नाम पर रखा गया था। जेएनयू में पढ़ने के लिए हर साल भारत ही नहीं बल्कि विदेशी स्टूडेंट भी अप्लाई करते हैं। यहां पर करीब 550 फैकल्टी मेंम्बर है। जेएनयू की फीस अन्य विश्वविद्यालय के मुकाबले काफी काम है। जेएनयू की सबसे बड़ी खासियत है कि यहां पर कई सालों से विभिन्न देशों की लैंग्वेज की पढ़ाई करवाई जा रही है। मल्टीनेशनल कंपनियों के भारत आने से लैंग्वेज एक्सपर्ट की मांग काफी रहती है। 

कलकत्ता यूनिवर्सिटी

वैसे तो हमारे देश में एक से बढ़कर एक यूनिवर्सिटी और शिक्षण संस्थान हैं लेकिन पश्चिम बंगाल के कलकत्ता यूनिवर्सिटी की बात ही कुछ अलग है। हालांकि दिल्ली यूनिवर्सिटी में एडमिशन का क्रेज ज्यादा रहता है लेकिन कलकत्ता यूनिवर्सिटी भी इस मामले में पीछे नहीं है। कलकत्ता विश्वविद्यालय (सीयू) को क्यूएस इंडिया रैंकिंग 2020 में 11वां स्थान मिला है। कलकत्ता यूनिवर्सिटी का दावा है कि इसके पास नेनो साइंस और नेनो टेक्नोलॉजी सेंटर है। यहां देश भर से स्टूडेंट्स पढ़ने के लिए आते हैं। यहाँ पढ़ाई-लिखाई के साथ-साथ खेल कूद, पॉलिटिक्स सब-कुछ पर ध्यान दिया जाता है। यहाँ दूसरे राज्यों से भी बच्चे पढ़ने आते हैं। कोलकाता अपने आर्ट कल्चर के लिए प्रसिद्ध है। यहाँ पर कॉम्पटीशन होते रहते हैं। बाहर से आए छात्र जिन्हें लोक नृत्य और संगीत में रुचि है उनके लिए ये अच्छा विकल्प है। 

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय

बनारस हिंदू विश्वविद्यालय की स्थापना महान राष्ट्रवादी नेता पंडित मदन मोहन मालवीय ने सन 1916 को की थी और ये भारत में शिक्षा के सबसे बड़े केंद्रों में से एक है। इसे काशी हिन्दू विश्वविद्यालय भी कहा जाता है। इसे एशिया का सबसे बड़ा आवासीय विश्वविद्यालय होने का गौरव हासिल है। महामना पंडित मालवीय के साथ ही सर्वपल्ली राधाकृष्णन और एनी बेसेंट ने भी विश्वविद्यालय की स्थापना में महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाई और लंबे समय तक विश्वविद्यालय से जुड़े रहे। परिसर के भीतर विशालकाय भवन हैं, जिनमें कक्षाएँ चलती हैं। इसके प्रांगण में विश्वनाथ का एक विशाल मंदिर भी है। विश्वविद्यालय का अपना हेलीपैड भी है। यहाँ के इंस्टीट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी की तुलना आईआईटी से की जाती है। यह संस्थान 16 कोर्स उपलब्ध कराता है। परिसर के भीतर 14 अलग-अलग संकाय हैं। विश्वविद्यालय में छह विषयों के एडवांस्ड स्टडी सेंटर भी हैं। इस विश्वविद्यालय के दो परिसर है। मुख्य परिसर वाराणसी में स्थित है।

दिल्ली यूनिवर्सिटी 

दिल्ली विश्वविद्यालय देश का एक प्रमुख विश्वविद्यालय है। साल 1922 में स्थापित हुई दिल्ली यूनिवर्सिटी का नाम देश की सबसे बड़ी यूनिवर्सिटी में गिना जाता है और इस यूनिवर्सिटी के कुल 77 कॉलेज मौजूद हैं। यह परिसर अब 69 एकड़ में फैले हरे-भरे क्षेत्र में फैला हुआ है हर साल लाखों की संख्या में बच्चे इस यूनिवर्सिटी में दाखिला लेने के लिए अप्लाई करते हैं। डीयू के कॉलेजों में अंडर ग्रेजुएट और पोस्ट ग्रेजुएट से जुड़े हुए विभिन्न कोर्सेज की पढ़ाई करवाई जाती है। विश्वविद्यालय को आज विभिन्न महाविद्यालयों में स्थित पुस्तकालयों के अलावा 15 बड़े पुस्तकालय होने का गौरव प्राप्त है। यह विश्वविद्यालय 16 संकायों, 80 से अधिक शैक्षणिक विभागों, सात लाख से अधिक छात्रों सहित भारत के सबसे बड़े विश्वविद्यालयों में से एक के रूप में विकसित हुआ है। इस विश्वविद्यालय की शिक्षण, अनुसंधान और सामाजिक पहुँचने ने इस विश्वविद्यालय को अन्य विश्वविद्यालयों के लिए आदर्श और पथ प्रदर्शक बनाया है। इनके अलावा हैदराबाद विश्वविद्यालय, मणिपाल अकेडमी ऑफ़ हायर एजुकेशन मणिपाल, हैदराबाद यूनिवर्सिटी, जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी आदि प्रमुख टॉप यूनिवर्सिटीज हैं।