facebook-pixel

Chandra Grahan 2022: आज लगेगा साल का आखिरी चंद्र ग्रहण, जानें क्या करें और क्या ना करें, इन राशियों पर पड़ेगा विशेष प्रभाव  

Share Us

527
Chandra Grahan 2022: आज लगेगा साल का आखिरी चंद्र ग्रहण, जानें क्या करें और क्या ना करें, इन राशियों पर पड़ेगा विशेष प्रभाव  
08 Nov 2022
7 min read
TWN In-Focus

Post Highlight

Chandra Grahan 2022: आज साल का आखिरी चंद्र ग्रहण लगेगा। आज कार्तिक पूर्णिमा भी है, इसलिए इस ग्रहण का विशेष महत्व है। ज्योतिष और वैज्ञानिक दृष्टिकोण से ग्रहण के विभिन्न कारण और महत्व के बारे में बताया गया है। ग्रहण की घटना को धार्मिक दृष्टि से शुभ नहीं माना जाता है। ज्योतिष शास्त्र में यह भी बताया गया है कि ग्रहण किसी न किसी रूप में सभी राशियों को प्रभावित करता है। इसलिए ग्रहण के दौरान कई गतिविधियां वर्जित मानी जाती हैं। विशेष रूप से ग्रहण के दौरान शुभ कार्य, भोजन, यात्रा और धार्मिक कार्यों पर विशेष निषेध है। इस साल का आखिरी और दूसरा चंद्र ग्रहण कार्तिक पूर्णिमा के दिन लगने जा रहा है। 

Podcast

Continue Reading..

08 नवंबर 2022 को चंद्र ग्रहण लगेगा, जो भारत में भी दिखाई देगा। इसलिए इस दौरान कुछ बातों का खास ख्याल रखें। इस दौरान कुछ कार्यों को ध्यान में रखकर ग्रहण के दुष्प्रभाव से बचा जा सकता है। जानिए चंद्र ग्रहण के दौरान किन बातों का ध्यान रखना चाहिए और किन चीजों से बचना चाहिए।

चंद्र ग्रहण के दौरान न करें ये काम

-ग्रहण के समय सोना वर्जित माना गया है। इसलिए ग्रहण के दौरान आराम करने से बचें। इस दौरान भगवान का स्मरण और मंत्रों का जाप किया जा सकता है।

-ऐसा कहा जाता है कि ग्रहण के दौरान खाया गया भोजन विष के समान होता है। क्योंकि इस दौरान नकारात्मक ऊर्जा का प्रभाव बढ़ जाता है। इसलिए इस दौरान खाना बनाने और खाने से बचना चाहिए। तुलसी के पत्तों को पानी, दूध, दही और पके हुए भोजन में रखना चाहिए।

-ग्रहण के समय घर से बाहर न निकलें। खासकर गर्भवती महिला को ग्रहण में बिल्कुल भी बाहर नहीं जाना चाहिए। मंदिर के पट खुले न रखें : ग्रहण से पहले पूजा कक्ष में मंदिर के दरवाजे बंद कर दें या कपड़े से ढक दें। ग्रहण समाप्त होने के बाद घर में हर जगह गंगाजल छिड़कें।

-ग्रहण के समय तुलसी समेत किसी भी पेड़-पौधे को नहीं छूना चाहिए। इस दौरान न तो पौधों को पानी देना चाहिए और न ही फूल और पत्ते तोड़े जाने चाहिए।

-आमतौर पर चंद्र ग्रहण के दौरान घर के अंदर रहने और नई चीजें करने या कोई नया काम शुरू करने से बचने की सलाह दी जाती है।

-चंद्र ग्रहण के दौरान पानी पीना, दांतों को ब्रश करना, बालों में कंघी करना, तेल मालिश करना, बाथरूम जाना या वाशरूम का उपयोग करना और यौन गतिविधियों में शामिल होना वर्जित है।

-चंद्र ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को बाहर न निकलने देने की सख्त मान्यता है और न ही किसी कपड़े को काटने या सिलाई करने या कैंची, ब्लेड, चाकू जैसी तेज वस्तुओं को ले जाने या इसी तरह की अन्य गतिविधियों को करने से बच्चे पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ सकता है।

-सूतक काल और ग्रहण के दौरान ठोस या तरल सभी प्रकार के खाद्य पदार्थ वर्जित हैं।

-जब तक चंद्रमा पर ग्रहण न हो तब तक तुलसी के पत्तों को खाद्य पदार्थों में रखना चाहिए।

-प्रार्थना करें कि चंद्रमा जल्द ही राहु की पकड़ से मुक्त हो जाए।

-शरीर और आत्मा को शुद्ध करने के लिए ग्रहण से पहले और बाद में पवित्र स्नान करें।

कहाँ दिखायी देगा ग्रहण where will the eclipse be visible

नासा के अनुसार, कुल चंद्रग्रहण औसतन हर डेढ़ साल में एक बार होता है, लेकिन अंतराल अलग-अलग होता है और इस मंगलवार यानी 8 नवंबर, 2022 को, पूर्वी एशिया से उत्तरी अमेरिका के लिए रात के समय यह देखने को मिलेगा। अगला पूर्ण चंद्र ग्रहण 14 मार्च, 2025 तक होने की उम्मीद नहीं है। यह पूर्वी एशिया, ऑस्ट्रेलिया में जहां भी आसमान साफ ​​​​होगा, नग्न आंखों को दिखाई देगा। प्रशांत और उत्तरी अमेरिका जहां चंद्रमा की लाली की डिग्री इन क्षेत्रों में वायु प्रदूषण, धूल भरी आंधी, जंगल की आग के धुएं और यहां तक ​​कि ज्वालामुखी की राख के विभिन्न स्तरों पर निर्भर करेगी।साल का आखिरी चंद्र ग्रहण भारत समेत कई देशों में देखा जा सकता है। यह अधिकांश उत्तर-पूर्वी यूरोप, प्रशांत महासागर, ऑस्ट्रेलिया, एशिया, हिंद महासागर, उत्तरी अमेरिका और दक्षिण अमेरिका में दिखाई देगा।

चंद्र ग्रहण का समय Lunar Eclipse Time

भारतीय समय के अनुसार चंद्र ग्रहण 08 नवंबर 2022 को दोपहर 02:41 बजे शुरू होगा और शाम 06:20 बजे समाप्त होगा। ग्रहण शाम 05:20 बजे उदय के साथ दिखाई देगा। वहीं चंद्र ग्रहण का सूतक काल सुबह 09:21 बजे शुरू होगा और ग्रहण खत्म होने के बाद खत्म होगा। 

क्यों होता है चंद्र ग्रहण Why does lunar eclipse happen

पूर्ण चंद्र ग्रहण तब होता है जब चंद्रमा पूर्णिमा पर एक नोड के पास होता है यानी जब पृथ्वी सूर्य और चंद्रमा के बीच आती है, सूर्य की किरणों को चंद्रमा को प्रकाश देने से रोकती है जबकि आंशिक चंद्र ग्रहण तब होता है जब पृथ्वी सूर्य और पूर्ण के बीच चलती है चंद्रमा लेकिन वे ठीक से संरेखित नहीं हैं क्योंकि चंद्रमा की दृश्य सतह का केवल एक हिस्सा पृथ्वी की छाया के अंधेरे हिस्से में चला जाता है जिसे अम्ब्रा कहा जाता है, जबकि शेष चंद्रमा पृथ्वी की छाया के बाहरी हिस्से से ढका होता है जिसे पेनम्ब्रा कहा जाता है।

चंद्र ग्रहण सूतक काल भारत में सुबह 09:21 बजे शुरू होगा और शाम 06:18 बजे समाप्त होगा जहां ग्रहण से पहले की अवधि को सूतक के रूप में जाना जाता है और इसे हिंदुओं द्वारा एक अशुभ अवधि माना जाता है। द्रिक पंचांग के अनुसार, चंद्र ग्रहण सूतक ग्रहण से पहले 3 प्रहरों के लिए मनाया जाता है या चंद्र ग्रहण से 9 घंटे पहले यानी चंद्र ग्रहण की वास्तविक शुरुआत से पहले सूतक मनाया जाता है।

इन राशियों पर पड़ेगा विशेष प्रभाव These zodiac signs will have a special effect

यह समझना आवश्यक है कि यह प्राकृतिक घटना आप पर कैसे प्रभाव डालेगी। ज्योतिष शास्त्र को बारह राशियों के साथ विश्लेषण करके आपके व्यक्तित्व की पेचीदगियों को समझने का एक बहुत ही कारगर तरीका माना जाता है। इसलिए, यहां सूचीबद्ध राशियां हैं जो 8 नवंबर, 2022 को चंद्र ग्रहण से सबसे अधिक प्रभावित होने की संभावना है।

मेष राशि वालों को इस दौरान काफी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। इस राशि के जातकों को आर्थिक और स्वास्थ्य संबंधी कई परेशानियां आएंगी। उन्हें पैसा निवेश करने से बचना चाहिए क्योंकि बहुत जोखिम हो सकता है। इसलिए उन्हें सावधान रहना चाहिए।

वृषभ राशि के जो लोग परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं या परिणाम की उम्मीद कर रहे हैं उन्हें वांछित परिणाम नहीं मिल सकता है। यह उन्हें दुखी करेगा और वे पूरी तरह से निराश और प्रेरित महसूस करेंगे। वृषभ राशि के जातक आगे बहुत निराश महसूस कर सकते हैं। उनका मनोबल बहुत कम होगा।

मिथुन राशि वालों को एक बड़े विश्वासघात या एक मुद्दे का सामना करना पड़ेगा जो उनकी विश्वास प्रणाली को हिला देगा। उन्हें अपने पहलुओं और अवसरों का अधिक विश्लेषण करना होगा क्योंकि वे वास्तव में कठिन परिस्थितियों का सामना कर सकते हैं। उन्हें मजबूती से खड़ा होना होगा और इससे लड़ना होगा नहीं तो जेमिनी के लिए यह बहुत मुश्किल हो सकता है।

धनुराशि को चंद्र ग्रहण के दौरान कठिन समय का सामना करना पड़ सकता है क्योंकि उन्हें बहुत सारी चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। वे काफी समय से कठोर हो गए हैं और इसलिए, उन्हें आराम करने और चीजों को अपने प्राकृतिक प्रवाह में होने देने की आवश्यकता है। उन्हें इस दौरान अपने पैसे खर्च करने में सावधानी बरतने की जरूरत है।

इस समय के दौरान इन राशियों को अतिरिक्त सावधानी बरतने की आवश्यकता है क्योंकि उन्हें कई भावनात्मक, मानसिक और वित्तीय समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। एक आत्मविश्वास और प्रेरित मोर्चा बनाए रखना एक स्वागत योग्य बदलाव हो सकता है।