facebook-pixel

इन पदों से आती है व्यवसाय में मजबूती

Share Us

641
इन पदों से आती है व्यवसाय में मजबूती
10 Feb 2022
9 min read
TWN In-Focus

Post Highlight

एक घर को चलाना और एक संस्था को चलाना, देखा जाए तो लगभग एक जैसा ही है बस घर चलाना व्यक्तिगत individual बात है और  संस्था organization एक बड़े स्तर की बात है, मगर इसको अच्छे से चलाने के लिए हमें कुछ महत्वपूर्ण पदों पर नियुक्ति करनी आवश्यक हो जाती है। आइये जानते हैं वे कौन से पद हैं।

Podcast

Continue Reading..

वैसे तो हर कोई अपने जीवन में नौकरी करना चाहता है। क्योंकि नौकरी होती है, तो पैसा आता है और पैसा आता है, तो हमारा लाइफ स्टाइल life style बदलता है। आप कहेंगे कि पैसा कमाने के लिए जरुरी तो नहीं कि नौकरी ही की जाये कुछ लोग कहेंगे कि वे अपना business करना अधिक पसंद करते हैं। ये आप पर निर्भर करता है कि आप किस प्रकार का कार्य करते हैं, परन्तु सरकारी संस्था government organization हो या व्यक्तिगत संस्था private firm दोनों संस्थाओं में कुछ खास लोगों की आवश्यकता होती है फिर चाहें उन्हें किसी भी पद के नाम से जाना जाता हो। वैसे तो प्राइवेट संस्थाओं में कुछ लोगों का उनकी संस्था में सम्मलित होना उनकी फर्म या संस्था या organization के लिए अति आवश्यक है। वे कौन से ऐसे काम हैं या पद वाले व्यक्ति हैं, जिनकी सबसे अधिक मांग demand है, आइये जानते हैं। 

1) team player या team लीडर 

मान लीजिये आप किसी एक कार्य को बेहतर ढंग से जानते हैं और समय के बढ़ते-बढ़ते आप इतने अनुभवी हो चुके होते हैं, जहाँ आपको team का नेतृत्व करने की कला का ज्ञान उत्पन्न हो चुका होता है। तब आपको एक संस्था या organization एक team leader के रूप में नियुक्त करती है। team लीडर का होना ऐसा है, जैसे पानी में नाव का होना तथा जिसकी पतवार leader हाथ में होने के बावजूद वह अपने साथियों को भी ये ज्ञान देता चलता है कि आखिर वे कैसे नाव की पतवार को चलाना सीखे एक team leader अपने कार्यात्मक अनुभव को साझा करता रहता है। जिसके लिए उसको हायर hire किया जाता है।

 2) संरक्षक a mentor

एक फर्म के लिए जिस तरह से एक team लीडर की आवश्यकता होती है वैसे ही एक organization के लिए एक mentor की आवश्यकता पड़ती है। मेंटरशिप की बात करें तो मेंटर होने से हर टीम को फायदा हो सकता है। एक लीडर की भांति mentor अक्सर अपनी ज्ञान रुपी प्रतिभा के तहत कई वर्षों के कार्य अनुभव वाला कर्मचारी होता है। यह अपने क्षेत्र में कुशल होता हैं, और ये अपने ज्ञान को छोटे या कम अनुभवी श्रमिकों के साथ साझा करने में मदद करने का काम करता हैं। सलाहकार व्यक्तिगत और व्यावसायिक विकास दोनों में मदद कर सकता हैं। एक संरक्षक तमाम उदाहरणों के द्वारा नेतृत्व करता है। mentor एक प्रकार का आदर्श कर्मचारी होता हैं, क्योंकि यह आपके अनुभवहीन श्रमिकों inexperienced workers को महान टीम के सदस्यों में विकसित करने में आपकी सहायता कर सकता है। आपकी team को बारी-बारी से समय-समय पर मोटीवेट करने का काम करना mentor का असल काम होता है, ताकि team काम के प्रति उर्जावान energetic रहें और वे काम को करते वक्त लक्ष्यहीनता का अनुभव न करें। ऐसा होने पर फर्म में एक उर्जा का उदगार समय-समय पर होता रहता है और यह बहुत आवश्यक है। 

3) एक शोधकर्ता की आवश्यकता a researcher 

आपकी organization के लिए जिस तरह एक team leader की आवश्यकता होती है, जिस तरह से एक mentor या motivator की आवश्यकता होती है ठीक उसी तरह आपके लिए और आपकी संस्था के लिए एक शोधकर्ता या यूँ कहें कि एक researcher की भी आवश्यकता होती है। एक बेहतर शोधकर्ता आपकी संस्था को एक ऊँचे मुकाम पर ले जाने का काम करता है। आप इसको एक उदाहरण से भी समझ सकते हैं, मान लीजिये x company कोई नया कार्य शुरू करती है, तथा साथ ही साथ कोई y company ठीक वही कार्य शुरू करती है परन्तु दोनों में फर्क इतना है कि x लम्बे समय से अपने भीतर कोई नया बदलाब नहीं लाया क्योंकि उसने किसी भी प्रकार न कोई शोधकर्ता रखा न स्वयं ही कोई शोध किया। अपितु y ने इसके विपरीत किया तो y की संस्था बाजार में बेहतर प्रदर्शन करती है। इसलिए एक शोधकर्ता का होना अति आवश्यक है इसलिए शोधकर्ताओं की बहुत अधिक demand रहती है। 

4)  मल्टीटास्कर multitasker

जब भी आप किसी ऐसे व्यक्ति की बात करते हैं जो एक नहीं, एक से अधिक काम जानता  हो। एक ही पद पर रहकर उसको multi-work का दर्जा मिला हो तो किसी संस्था या फ़र्म के लिए कितने फायदे की बात हो सकती है। ऐसे इंसान को आप एक शब्द में मल्टीटास्कर कह सकते हैं। वह आपके working मौहोल में एक कार्मिक और सकारात्मक वातावरण Personnel and positive environment भरने में काफी सहायक हो सकता है, multitask करने वाला व्यक्ति जो की एक हलचल भरे वातावरण में पनपता है। ये हर एक दिन एक ही कार्य को दोहराने के बजाय, विभिन्न प्रकार के कार्यों को करके अपने कौशल को फ्लेक्स करने का आनंद लेते हैं। इस प्रकार का कर्मचारी स्टार्टअप और छोटे व्यवसायों के लिए आदर्श है जिनके पास अभी तक पूर्ण कर्मचारी नहीं है और अपने कर्मचारियों को एक साथ कई भूमिकाओं में कार्य करने की आवश्यकता है। मल्टीटास्कर में कई प्रतिभाएँ होती हैं, और वे लचीले और अत्यधिक अनुकूलनीय होते हैं। अनुकूलनशीलता नियोक्ताओं के लिए सबसे महत्वपूर्ण गुणों में से एक है। इसलिए एक मल्टीटास्कर का होना काफी आवश्यक है। इसको आप यूँ समझिये, यदि आप क्रिकेट प्रेमी हैं और क्रिकेट का थोड़ा बहुत ज्ञान रखते हैं, तो अपने देखा होगा वह टीम अधिक बेहतर प्रदर्शन करती है जिसके पास एक से अधिक all rounder players होते हैं। मतलब कि जिन्हें balling, batting दोनों करनी आती हैं तथा साथ ही साथ वे अच्छे फील्डर भी होते हैं। तो बताइए आपकी फर्म के पास है मल्टीटास्कर क्या?

5) नया-नया सोचने वाला और खोजने वाला the innovator 

आपके पास नया क्या है? इस बात का बाजार पर बहुत प्रभाव पड़ता है। कोई आपको क्यूँ पसंद करेगा? किसी को आपकी फर्म के प्रोडक्ट व सेवाओं में क्यूँ दिलचस्पी होगी? ये सारी बातें बयाँ करती हैं कि क्या आपके पास एक innovator होना चाहिए कि नहीं। यदि हाँ तो एक innovator की hiring सबसे महत्वपूर्ण काम है, क्योंकि innovator संगठन का विकास और सफलता की कुंजी हो सकता है। एक अभिनव कर्मचारी वह है जो लगातार नए विचारों को सामने लाता है। विचारशील और रचनात्मक होना एक नवप्रवर्तक के लिए अति आवश्यक हैं, और ये अक्सर समस्याओं के मूल समाधान के साथ आते हैं। यह कर्मचारी यथास्थिति को चुनौती देता है, जो अधिक कुशल प्रक्रियाओं को बनाने में सहायक हो सकता है। यदि आप अपनी टीम में एक नवप्रवर्तक जोड़ना चाहते हैं, तो आप उनके तर्क का परीक्षण करने के लिए विशिष्ट साक्षात्कार प्रश्नों का उपयोग कर सकते हैं। आप उन्हें कुछ समस्यात्मक प्रश्न देकर उनसे पूछ सकते हैं कि वे इसे कैसे हल करेंगे, प्रेसेंस ऑफ़ माइंड को समझ सकते हैं तथा साथ ही उनकी नई प्रस्तुति के बारे में जानने की चाह रख सकते हैं। समाधान जितना अधिक रचनात्मक होगा, उतनी ही अधिक संभावना है कि वे नवप्रवर्तनक की भूमिका को पूरा कर सकें।

6) योजनाकार a planner 

आपके घर को कौन चलता है? आप कहेंगे मम्मी-पापा मिल कर चलाते हैं। फिर आप से पूछा  जाए कि कैसे चलाते हैं? आप कहेंगे वैसे ही जैसे हर कोई चलाता है, पापा कमाते हैं और मम्मी व्यवस्थित रूप से खर्च करतीं हैं या मम्मी-पापा यदि दोनों कमाते हैं तो भी खर्च करने का तरीका जिसके भी हाथ में होगा वह एक व्यवस्थित तरीका ही होगा।  इस मामले को सुचारू रूप से चलाने के लिए आपके मम्मी-पापा को प्लान करना होता है कि कैसे, कब और कहाँ पैसा खर्च करना है, तथा किस-किस तरह से घर में हर तरीके की सुविधाओं को बढ़ाना या घटाना है। कहने का मतलब बिना प्लानिंग के एक घर नहीं चलता तो एक बड़ी organization कैसे चलेगी, इसके लिए एक planner की अति आवश्यकता होती है। एक planner आपको आपके अतीत की गलतियों को बताते हुए वर्तमान में कैसे कार्य करना है तथा उसका नज़दीकी भविष्य में क्या लाभ होने वाला है ये सब बताता है। एक कार्य-उन्मुख कर्मचारी को काम पर रखना जो एक योजनाकार के रूप में कार्य करता है, आपके व्यवसाय की दीर्घकालिक सफलता के लिए चमत्कार साबित हो सकता है। ये कर्मचारी, कंपनी के लक्ष्यों पर ध्यान देते हैं और उन तक पहुंचने के लिए सूझ-बूझ से कार्य करते हैं। वे रणनीति बनाने, व्यवस्थित करने और कार्य पर बने रहने में कुशल होते हैं। वे अन्य कर्मचारियों को भी ध्यान केंद्रित कराने में मदद कर सकते हैं और उन्हें अपने स्वयं के वर्कफ़्लो में सुधार के लिए कुछ तकनीक बता सकते हैं, जबकि आपकी टीम के बाकी सदस्यों को उनकी नौकरियों के लिए उनके सक्रिय दृष्टिकोण को बेहतर बनाने के लिए प्रशिक्षित किया जा सकता है।

निष्कर्ष 

एक घर को चलाना और एक संस्था को चलाना, देखा जाए तो लगभग एक जैसा ही है बस घर चलाना व्यक्तिगत individual बात है और संस्था  organization एक बड़े स्तर की, लाभ कमाने वाली बात है। संगठन चलाने हेतु हमें कई बार कुछ अनुभवी लोगों की आवश्यकता होती है फिर चाहे वह फर्म छोटी हो या बड़ी। एक अच्छा व्यवसायिक कुछ अनुभवी व्यक्तियों की नियुक्ति अपनी फर्म में अवश्य करता है जिसमें team player या team leader होना चाहिए, एक आदर्श या mentor होना चाहिए, एक योजनाकार या एक planner का होना तो बहुत जरुरी है साथ ही साथ एक शोधकर्ता की आवश्यकता होती है। कुछ अन्य पद भी महत्वपूर्ण हैं जैसे मल्टीटास्कर, planner आदि। कहने का मतलब यदि आप चाहते हैं अपनी फर्म, अपनी संस्था, या अपने संगठन की तरक्की चाहते हैं तो इन पदों पर काम करने वाले व्यक्तियों का आपके पास होना आवश्यक है।