ब्रेकफास्ट स्किप करना पड़ सकता है भारी

Share Us

2472
ब्रेकफास्ट स्किप करना पड़ सकता है भारी
28 Oct 2021
9 min read

Blog Post

जब हम ब्रेकफास्ट स्किप करते हैं तो डिनर और लंच के बीच एक लंबा अंतराल हो जाता है, जो सेहत के लिए अच्छा नहीं माना जाता है। इन्हीं कारणों की वजह से लोगों को ऑस्टियोपोरोसिस, प्रोटीन की कमी, कैल्शियम की कमी, एनीमिया, बालों का झड़ना, मोटापा आदि समस्याएं होती हैं।

स्वस्थ रहने के लिए ब्रेकफास्ट करना बेहद जरूरी है। आज की फास्ट लाइफ में हम इतने व्यस्त हैं कि हमारा रूटीन उथल-पुथल हो गया है और इसका सबसे ज्यादा असर हमारे स्वास्थ्य पर होता है। काम के चक्कर में अक्सर लोग ब्रेकफास्ट स्किप कर देते हैं और रात के डिनर के बाद सीधा लंच करते हैं, जो हर तरह से गलत है। डॉक्टरों की मानें तो स्वस्थ रहने के लिए हमें हेल्थी ब्रेकफास्ट लेने की जरूरत है। जब हम सोकर उठते हैं तो हमारे शरीर के पास ज्यादा मात्रा में ऊर्जा नहीं होती है और ऊर्जा की जरूरत को पूरा करने के लिए ब्रेकफास्ट लेना अहम है। दरअसल, जब हम ब्रेकफास्ट स्किप करते हैं तो डिनर और लंच के बीच एक लंबा अंतराल हो जाता है, जो सेहत के लिए अच्छा नहीं माना जाता है। इन्हीं कारणों की वजह से लोगों को ऑस्टियोपोरोसिस, प्रोटीन की कमी, कैल्शियम की कमी, एनीमिया, बालों का झड़ना आदि समस्याएं होती हैं। 

ब्रेकफास्ट लेना क्यों जरूरी है ?

दिन की बेहतरीन शुरुआत के लिए ब्रेकफास्ट लेना जरूरी है। एक लंबे अंतराल के बाद शरीर को ऊर्जा की जरूरत होती है और ब्रेकफास्ट उसे पूरा करता है। जो लोग ब्रेकफास्ट स्किप करते हैं और सीधे लंच करते हैं, वे थका हुआ, चिड़चिड़ा और ऊर्जाविहीन महसूस करते हैं। जो लोग ब्रेकफास्ट नहीं करते हैं उन्हें मोटापा भी जल्दी घेर लेता है। ब्रेकफास्ट के समय 500 कैलोरी लेना आवश्यक माना जाता है। जो लोग नियमित ब्रेकफास्ट करते हैं उनका वजन नियंत्रित रहता है और उनकी पाचन क्षमता भी ठीक रहती है। ब्रेकफास्ट करने से दिन को एक बेहतरीन शुरुआत मिलती है। कई सर्वे में बताया गया है कि जो लोग नियमित तौर पर ब्रेकफास्ट करते हैं उनका प्रदर्शन ब्रेकफास्ट नहीं करने वालों लोगों की तुलना में ज्यादा बेहतर होता है। 

कैसा होना चाहिए आपका ब्रेकफास्ट ?

भले ही आप डिनर में कम कैलोरी लें लेकिन एक अच्छा ब्रेकफास्ट लेना बेहद जरूरी है। अच्छे ब्रेकफास्ट का तात्पर्य है कि उसमें भरपूर मात्रा में प्रोटीन, विटामिन, ओमेगा 3, फैटी एसिड, कार्बोहाइड्रेट, कैल्शियम और फाइबर की संतुलित मात्रा होनी चाहिए। प्रोटीन और विटामिन डी के लिए अंडा, कार्बोहाइड्रेट, विटामिन और फाइबर की जरूरत को पूरा करने के लिए फल और कैल्शियम की जरूरत को पूरा करने के लिए दूध या दही लेना अच्छा विकल्प हो सकता है। जिन लोगों को हाई कोलेस्ट्रॉल की समस्या है, उन्हें ज्यादा मात्रा में अंडे का सेवन नहीं करना चाहिए। ओटमील को आज कल काफी पसंद किया जा रहा है और इसमें पोटेशियम, ओमेगा 3, फैटी एसिड और फोलेट की काफी अच्छी मात्रा होती है, जो हार्ट के लिए काफी अच्छा माना जाता है। इसके साथ-साथ कई लोग उपमा और पोहा, अंडे का सैंडविच, ब्रेड के साथ पीनट बटर, वेजिटेबल जूस, दूध और ड्राई फ्रूट्स भी लेना पसंद करते हैं। अगर आप ब्रेकफास्ट को बनाने में ज्यादा समय नहीं दे सकते हैं, तो अपने ब्रेकफास्ट में ऐसी चीजों को शामिल करें जो आसानी से कम मेहनत में बन जाए। एक बात का हमेशा ध्यान रखें कि दिन की शुरुआत हेल्थी ब्रेकफास्ट से करें न की जंक फूड से और हर दिन एक ही ब्रेकफास्ट ना करें, रोज कुछ नया ट्राय करते रहें। हेल्थी ब्रेकफास्ट करने से आपका मूड भी अच्छा रहता है और आप अपना बेहतरीन प्रदर्शन भी दे पाते हैं।