दुनिया की व्यावसायिक राजधानी के रूप में सिंगापुर

Share Us

2958
दुनिया की व्यावसायिक राजधानी के रूप में सिंगापुर
01 Jul 2023
6 min read

Blog Post

सिंगापुर, जो एशिया-प्रशांत क्षेत्र में एक प्रमुख वित्तीय केंद्र के रूप में स्थित है, अपनी अत्यधिक उन्नत अर्थव्यवस्था के लिए प्रसिद्ध है। हेरिटेज फाउंडेशन इंडेक्स ऑफ इकोनॉमिक फ्रीडम द्वारा 2017 में दूसरी सबसे खुली अर्थव्यवस्था के रूप में मान्यता प्राप्त सिंगापुर ने विश्व बैंक की डूइंग बिजनेस रिपोर्ट World Bank's Doing Business report द्वारा दुनिया की दूसरी सबसे अधिक व्यापार समर्थक सरकार के रूप में वर्गीकृत होने का गौरव भी अर्जित किया।

अपने मामूली घरेलू बाजार और सीमित प्राकृतिक संसाधनों के बावजूद, सिंगापुर ने 1997 और 2008 जैसे महत्वपूर्ण वित्तीय संकटों का सफलतापूर्वक सामना किया है। इस लचीलेपन का श्रेय इसकी मजबूत आर्थिक नींव को दिया जा सकता है, जो विदेशी ऋण की कमी और पर्याप्त सरकारी बजट की विशेषता है।

सिंगापुर की अर्थव्यवस्था की ताकत को इसके संपन्न क्षेत्रों से भी समर्थन मिलता है, जिसमें इलेक्ट्रॉनिक्स विनिर्माण और उपकरण का निर्यात, वित्तीय सेवाएं, पर्यटन और दुनिया के सबसे बड़े माल बंदरगाह का संचालन शामिल है।

सिंगापुर एक उद्योगमय देश Singapore is an industrial country है और व्यावसायिक राजधानी के रूप में विश्वव्यापी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।

इस लेख में, हम विस्तार से जानेंगे कि सिंगापुर को व्यावसायिक राजधानी क्यों माना जाता है, कौन से उद्योग इसकी अर्थव्यवस्था को चलाते हैं, और सिंगापुर के पास कौन से प्राकृतिक संसाधन हैं।

आज हम आपको सिंगापुर में हुए विकास के बारे में जानकारी देंगे। आप इस लेख के द्वारा समझ पाएंगे कि क्यों सिंगापुर दुनिया में व्यावसायिक राजधानी Singapore business capital of the world के रूप में देखा जाना लगा है।

सिंगापुर Singapore को एशिया Asia का दूसरा सबसे छोटा राष्ट्र कहा जाता है। सिंगापुर का क्षेत्र आपको छोटा लग सकता है, लेकिन पूरी दुनिया में व्यावसायिक गतिविधियों के चलते इसे वरिष्ठ व्यावसायिक क्षेत्र माना जाता है। यहां तक कि, इसे दुनिया की व्यावसायिक राजधानी Commercial Capital of the World के रूप में भी देखा जाता है।

सिंगापुर राष्ट्र ने व्यवसायीकरण को लेकर कई चुनौतियों का सामना करके, आज यह बड़ा मुकाम हासिल किया है। आज हम आपको सिंगापुर में हुए तमाम विकास के बारे में जानकारी देंगे। आप इस लेख के द्वारा समझ पाएंगे कि क्यों सिंगापुर दुनिया में व्यावसायिक राजधानी के रूप में देखा जाना लगा।

दुनिया की व्यावसायिक राजधानी के रूप में सिंगापुर Singapore as the Business Capital of the World

अगर साल 1819 से लेकर 1963 की बात की जाए, इन सालों में सिंगापुर पर ब्रिटिश British राज किया करते थे। इस समय के दौरान यह एक मुख्य क्षेत्र था। जहां पश्चिम से कई उत्पाद लाए जाते थे। जबकि दक्षिण-पूर्व से कच्चे माल को बाहर भेजा जाता था।

इस बरसों पुराने दौर से ही सिंगापुर ने अपने व्यावसायिक क्षेत्र को विकसित करना शुरू कर दिया था। जहां शुरुआत से ही ब्रिटिश British और यूरोपियन European व्यवसाय की तरफ अग्रसर हो चुके थे।

साल 1959 में जब ब्रिटिशर्स द्वारा राष्ट्र को अलग कर दिया गया और वहां एक अलग सरकार बन गई। तब पीपल एक्शन पार्टी People's Action Party PAP के नेता Lee Kuan Yew सत्ता में थे। उस वक्त उन्होंने और उनकी पार्टी ने सिंगापुर में काम बढ़ाया और लोगों को रोजगार Employment, घर Home, स्वास्थ्य लाभ Health Care, शिक्षा Education जैसे कई मुद्दों पर अच्छा काम किया।

शुरुआत से ही इस तरह के नजरिए को अपनाते हुए इस राष्ट्र ने बड़े मुकाम हासिल किए हैं। 2 सालों बाद सिंगापुर और मलेशिया Malaysia के बीच कुछ वित्तीय मतभेद के चलते उतार चढ़ाव भी हुए।

1960 में ही सिंगापुर में सरकार द्वारा बुनियादी ढांचा Infrastructure और सामाजिक सेवाओं Social Services को लेकर काम शुरू कर दिया गया था। जहां उनका उद्देश्य था कि, लोगों को रहने के लिए अपने घर मिल सके।

सिंगापुर की हाउसिंग एंड डेवलपमेंट बोर्ड Housing and Development Board HDB ने 5.5 लाख से ज्यादा घर बनाने की पहल की। जिसके बाद हाउसिंग एंड डेवलपमेंट बोर्ड के साथ ही 1974 में अर्बन डेवलपमेंट अथॉरिटी Urban Development Authority को भी बनाया गया। जिन्होंने साथ मिलकर काम किया और करीब 23 नए विकसित गांव बनाए और 3 बड़ी सम्पत्तियों को विकसित किया। 

इस बेहतरीन काम के चलते जहां लोग 1960 में केवल 9% लोग सार्वजनिक आवास में रह रहे थे। यह आंकड़ा 1985 तक 80% हो गया और यह विकास आज तक निरंतर चल रहा है।

व्यावसायिक क्षेत्रों का विकास development of business sectors

इकोनॉमिक डेवलपमेंट बोर्ड Economic Development Board जो साल 1961 में बना था। इसके द्वारा कई व्यावसायिक क्षेत्रों का विकास हुआ। जिसकी मदद से धीरे-धीरे सिंगापुर एक वैश्विक शहर Global City बन कर सामने आने लगा। इस दौरान इकोनामिक डेवलपमेंट बोर्ड द्वारा कपड़ा उद्योग Garment, तकनीकी क्षेत्र Electronics, टेक्सटाइल क्षेत्र Textiles में बढ़ोतरी हुई। जिसको देखते हुए कई विदेशी निवेशक Foreign Investors सिंगापुर की तरफ रुख करने लगे।

एक छोटे से द्वीप राष्ट्र Island Nation के रूप में सिंगापुर को विकास के लिए भूमि Land की काफी आवश्यकता थी। हिम्मत न हारते हुए सरकार ने द्वीप पर ही जमीन पाने की प्रक्रिया शुरू की और इसे हासिल भी किया। 

साल 2000 के दौरान कई व्यावसायिक गतिविधियां Jurong Region जुरोंग क्षेत्र में संपन्न की जा रही थी। जिसमें Jurong Island क्षेत्र के करीब तेजी से विकास हुआ।

अगर फिलहाल की बात की जाए, तो जिस तरह विकास हुआ है, उसमें कई और विकास करने वाले संस्थान जुड़ चुके हैं और  सिंगापुर का निर्माण क्षेत्र बिना रुके आगे बढ़ रहा है। जिसमें मुख्य रूप से नेशनल पार्क बोर्ड national parks board, हेल्थ प्रमोशन बोर्ड health promotion board, लैंड ट्रांसपोर्ट बोर्ड land transport board आदि जैसे कई बोर्ड शामिल हैं।

सरकार द्वारा चलाई जाने वाली संस्थाओं के अलावा भी कई और संस्थाएं सिंगापुर के विकास में बड़ा योगदान देती हैं, जिन्हें गवर्नमेंट लिंक्ड कॉरपोरेशन Government Linked corporations GLC कहा जाता है। साल 1970 के दौरान सिंगापुर की सरकार और गवर्नमेंट कॉरपोरेशंस ने मिलकर कई गुना विकास किया था।

जिसमें लोहा Iron और स्टील Steel उद्योग शामिल है। इसके अलावा 67.8 प्रतिशत की दर से जहाजों के निर्माण और इनकी मरम्मत के क्षेत्र में विकास किया गया था, साथ ही खाद्य पदार्थ Food, टिंबर Timber और केमिकल Chemicals के क्षेत्र में भी निवेश बढ़ाया गया।

बढ़ते विकास के चलते साल 1980 के बीच में सिंगापुर की सरकार 87 कंपनियां बना चुकी थी और जो सरकार से जुड़ी हुई कंपनियां थी वे करीब 400 का आंकड़ा पार कर चुकी थी। इस दौरान सरकार ने ज्यादा निजीकरण Privatization नहीं किया था।

कुछ स्थितियां बदलने के बाद और विकास को देखते हुए सरकार निजीकरण की तरफ अपना रुख कर रही थी और कई विदेशी निवेशक भी सिंगापुर की तरफ अपना रास्ता तय करने के बारे में सोचने लगे थे।

समय की मांग के साथ विकास के और पड़ाव को पार करने के लिए सिंगापुर में वित्तीय सेवाएं Finance Services, स्थिर तकनीक Sustainable Technology और बायो मेडिकल सेवाएं Bio Medical Services को बढ़ावा दिया गया। इसके द्वारा दुनिया के कई कोनों में इस तरह की सेवाएं सिंगापुर आज भी प्रदान करता है।

कुछ दशकों के बाद सिंगापुर सरकार द्वारा नई रणनीति पर काम हुआ और वह राज्य पूंजीवादी रणनीतियों को अपनाने लगे। विकास की बेहतरीन रणनीति अपनाकर इस देश ने काफी उन्नति हासिल की है।

इस राष्ट्र में केवल 6 मिलियन से कम लोगों की आबादी मानी जाती है, लेकिन आज यह दुनिया में व्यावसायिक रूप से प्रचलित देश माना जाता है। वैश्विक ट्रेड Trade के मामले में पोर्ट ऑफ सिंगापुर Port Of Singapore दुनिया का सबसे व्यस्त क्षेत्र माना जाता है।

आज की बात करें, तो सिंगापुर की Temasek Holdings and GIC को सबसे धनी माना जाता है। जिसमें करीब ट्रिलियन यूएस डॉलर पूंजी की होल्डिंग है।

बदलते दौर में और ग्लोबल वार्मिंग global warming के चलते भी स्थिरता sustainability को लेकर कई विकास की पहल जारी हैं। सिंगापुर में एक Tengah नामक जगह विकसित की जा रही है, जहां पूरी तरह वातावरण के अनुकूल भवन बनाए जाएंगे और गाड़ियों पर भी प्रतिबंध होगा।

सिंगापुर को व्यावसायिक राजधानी क्यों माना जाता है? Why is Singapore considered the business capital? ,

प्रमुख कारण सिंगापुर को व्यावसायिक राजधानी के रूप में माना जाता है क्योंकि यह एक अद्वितीय और प्रगतिशील अर्थव्यवस्था के साथ एक व्यावसायिक केंद्र है। सिंगापुर ने बेहतर व्यापारिक और निवेश सुविधाएं प्रदान करके विश्वव्यापी बाजार में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

इसके साथ ही, व्यावसायिक नीतियों की सुविधा, श्रम शक्ति का उच्च स्तर, तकनीकी नवाचार और अद्वितीय अवसरों की प्राप्ति के कारण भी सिंगापुर व्यवसायिक राजधानी के रूप में मान्यता प्राप्त करता है।

Also Read: बिजनेस यात्रा पर देखने लायक टॉप होटल्स

सिंगापुर के कौन से उद्योग अर्थव्यवस्था को चलाते हैं? Which industries drive the economy of Singapore?

सिंगापुर में कई प्रमुख उद्योग हैं जो इसकी अर्थव्यवस्था को चलाते हैं। ये उद्योग मुख्यतः वित्तीय सेवाएं, जीवन विज्ञान, इलेक्ट्रॉनिक्स, इंटरनेट और संचार प्रौद्योगिकी, पेट्रोलियम, केमिकल, औद्योगिक और नौसेना हैंडलिंग उपकरण उत्पादन, पर्यटन और व्यापार, और बायोमेडिकल औद्योगिक उत्पादों के उत्पादन में शामिल हैं।

इन उद्योगों की वजह से सिंगापुर एक उच्च आय और उच्च गति वाली अर्थव्यवस्था का आदान-प्रदान करता है।

  • वित्तीय सेवाएं: financial Services:

वित्तीय सेवाओं का उद्योग सिंगापुर की अर्थव्यवस्था को प्रभावी ढंग से संचालित करता है। यहां वित्तीय बाजार, वित्तीय प्रबंधन सेवाएं, बैंकिंग संस्थान, बीमा कंपनियाँ, और संपत्ति प्रबंधन फर्म्स जैसी महत्वपूर्ण वित्तीय संस्थाएँ हैं। सिंगापुर के मजबूत विनियामित वित्तीय क्षेत्र ने अंतरराष्ट्रीय निवेशकों को आकर्षित किया है और यह वित्तीय गतिविधियों के लिए क्षेत्रीय केंद्र के रूप में कार्य करता है।

  • जीवन विज्ञान: life science:

सिंगापुर जीवन विज्ञान और बायोमेडिकल अनुसंधान के लिए एक प्रमुख केंद्र के रूप में उभर आया है। यह औषधीय उत्पादों, जैव प्रौद्योगिकी, मेडिकल तकनीक, और स्वास्थ्य सेवाओं के विकास पर ध्यान केंद्रित करता है।

सिंगापुर नवाचार, अनुसंधान और विकास को प्रोत्साहित करता है और शैक्षणिक संस्थान, उद्योग, और स्वास्थ्य संस्थानों के बीच सहयोग को प्रोत्साहित करता है। सिंगापुर का मजबूत पारिस्थितिकी समरूपता जीवन विज्ञान कंपनियों के विकास में सहायता करता है और चिकित्सा विज्ञान में प्रगति को संभव बनाता है।

  • इलेक्ट्रॉनिक्स: Electronics:

सिंगापुर में इलेक्ट्रॉनिक्स उद्योग उसकी अर्थव्यवस्था का महत्वपूर्ण घटक है। यह सेमीकंडक्टर्स, उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स, दूरसंचार उपकरण, और प्रेसिजन इंजीनियरिंग सहित उन्नत इलेक्ट्रॉनिक्स उत्पादों के विकास, निर्माण, और असेम्बली को समेटता है। सिंगापुर की कुशल कार्यबल, उन्नत बुनियादी ढांचा, और मजबूत बौद्धिक संपत्ति संरक्षण ने वैश्विक इलेक्ट्रॉनिक्स कंपनियों को देश में स्थान स्थापित करने के लिए प्रेरित किया है।

  • सूचना और संचार प्रौद्योगिकी (आईसीटी): Information and Communication Technology (ICT):

सिंगापुर आईसीटी क्षेत्र में अग्रणी है। यह इंटरनेट और संचार प्रौद्योगिकी, सॉफ्टवेयर और सेवाएं, डेटा प्रोसेसिंग, इलेक्ट्रॉनिक कॉमर्स, और साइबर सुरक्षा जैसे क्षेत्रों में उच्चतम मानकों को स्थापित करता है। सिंगापुर के उन्नत इंफ्रास्ट्रक्चर, अद्यतित तकनीक, और उन्नत डिजिटल आधार के कारण, यह वैश्विक आईसीटी कंपनियों के लिए एक प्रमुख प्राथमिकता स्थान बना है।

  • पेट्रोलियम और केमिकल: Petroleum and Chemical: 

सिंगापुर एक प्रमुख पेट्रोलियम और केमिकल हब है और इसका अपना रिफाइनरी क्षेत्र है। यहां पेट्रोलियम उत्पादों, केमिकल उत्पादों, और रिफाइनरी संबंधी उत्पादों का निर्माण, प्रसंस्करण, और वितरण किया जाता है। सिंगापुर के पेट्रोकेमिकल उद्योग ने अंतरराष्ट्रीय बाजार में महत्वपूर्ण स्थान हासिल किया है और देश की ऊर्जा सुरक्षा के लिए महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

  • औद्योगिक और नौसेना हैंडलिंग उपकरण उत्पादन: Industrial and Naval Handling Equipment Production:

सिंगापुर उद्योगिक और नौसेना हैंडलिंग उपकरणों के विकास और निर्माण में अग्रणी है। यह उच्च प्रदर्शन वाले मशीनरी, इंजीनियरिंग कंपोनेंट्स, और तकनीकी समाधानों का निर्माण करता है जो औद्योगिक क्षेत्र में उपयोग होते हैं। सिंगापुर के उद्योगिक उत्पादन सेक्टर की उन्नतता ने उद्योगों को कम कार्यान्वयन की गारंटी दी है और क्षेत्रीय और अंतर्राष्ट्रीय व्यापार को संभव बनाया है।

  • पर्यटन और व्यापार:Tourism and Trade:

सिंगापुर पर्यटन और व्यापार का महत्वपूर्ण केंद्र है। यह एक प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है जो शानदार हॉटल, विज्ञापन, व्यापारिक केंद्र, और मनोरंजन सुविधाएँ प्रदान करता है। सिंगापुर के प्रशासनिक और नियंत्रण उद्योग, आयोजन सेवाएं, और व्यापारिक नेटवर्किंग के क्षेत्र में भी अग्रणी है। इसके साथ ही, सिंगापुर व्यापारिक आधारों, न्यायिक संरचना, और ग्राहक सुरक्षा के लिए अपनी मान्यता को सुनिश्चित करता है।

  • बायोमेडिकल औद्योगिक उत्पाद:Biomedical Industrial Products:

 सिंगापुर बायोमेडिकल औद्योगिक उत्पादों के निर्माण में भी महत्वपूर्ण योगदान देता है। यह उच्च गुणवत्ता वाले आयामी चिकित्सा उपकरण, जैव-प्रक्रियाओं, और मेडिकल इमेजिंग समाधानों का निर्माण करता है। सिंगापुर की उन्नतता और इनोवेशन ने इसे एक अग्रणी बायोमेडिकल उद्योग क्षेत्र बना दिया है और अंतर्राष्ट्रीय मानकों को पूरा करता है।

सिंगापुर के पास कौन से प्राकृतिक संसाधन हैं? What natural resources does Singapore have?

सिंगापुर अपने छोटे आकार के बावजूद कुछ प्राकृतिक संसाधनों के साथ भी संयुक्त राष्ट्रों के बाजार में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। यहां पर्यावरणीय संरक्षण और प्रबंधन को महत्व दिया जाता है और प्राकृतिक संसाधनों को सुरक्षित रखने के लिए प्रगतिशील तकनीकों का उपयोग किया जाता है।

सिंगापुर के पास सुंदर जंगल, वनस्पति, जलवायु संसाधन, अभिनव पानी पुनर्निर्माण प्रणाली, और जल आपूर्ति की सुविधा है। इन संसाधनों को समयगामी और साइबरशास्त्रीय उपकरणों के साथ मिलाकर व्यावसायिकता के क्षेत्र में उपयोग किया जाता है।

सिंगापुर, अपनी अद्वितीय भूगर्भिक और जलवायु गुणवत्ता के लिए भी प्रसिद्ध है। यह एक गार्डन सिटी के रूप में भी मशहूर है, जहां गहरे हरे वनस्पति के एक सुंदर विकास को बनाया जाता है। यहां वन्यजीव अभयारण्य और न्यूनतम प्राकृतिक संसाधन खपत के लिए स्थानीय बचाव कार्यक्रम भी चलाए जाते हैं।

सिंगापुर जलवायु का एक समृद्ध स्रोत है और इसे बचाने और पुनर्निर्माण करने के लिए अभिनव पानी प्रबंधन प्रणालियों का उपयोग किया जाता है। यहां वर्षा जल संग्रहण, सफाई और पुनर्चक्रीकरण प्रणालियों के द्वारा पानी की आपूर्ति को सुनिश्चित किया जाता है। इसके अलावा, सिंगापुर एक अद्वितीय जल संरक्षण कार्यक्रम चलाता है, जिसमें जल बचाने, जल संपादन करने, और जल उपयोग करने के संबंध में जागरूकता फैलाई जाती है।

सिंगापुर के पास वन्य जीवों और वनस्पतियों के लिए महत्वपूर्ण संरक्षण क्षेत्र भी है। वन्यजीव अभयारण्य और बागवानी परियोजनाओं के माध्यम से प्राकृतिक जीवन की रक्षा की जाती है और यहां जीव जंगली मेंढ़क, चीते, लाँगर और अन्य प्रजातियों का निवास स्थान है।

इसके साथ ही, सिंगापुर ने अपने प्राकृतिक संसाधनों के बचाव और प्रबंधन में नवाचारी तकनीकों का उपयोग किया है। वन्यजीव संरक्षण के लिए एकीकृत टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जाता है, जिसमें दूरसंचार, सूचना प्रौद्योगिकी, और सूचना प्रणाली का उपयोग किया जाता है। इससे अद्वितीय अनुभव और प्राकृतिक संसाधनों के सुरक्षित उपयोग के साथ संयुक्त राष्ट्रों के व्यापार मानचित्र पर इसकी महत्ता बढ़ती जा रही है।

मुख्यधारा के अनुसार, सिंगापुर एक उद्योग का नगर है और बाजार में अपनी विशेषताओं और योग्यताओं के कारण प्रमुख क्षेत्रों में एक मान्यता प्राप्त कर रहा है। सिंगापुर के बाजार में वित्तीय सेवाएं, वित्तीय प्रबंधन, जलवायु परिवर्तन, संचार, जीवन विज्ञान, बायोटेक्नोलॉजी, और इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IoT) जैसे उद्योगों ने महत्वपूर्ण योगदान दिया है। इसके अलावा, तकनीकी नवाचार, वित्तीय स्थायित्व, और सुरक्षा भी सिंगापुर के व्यावसायिक विकास के अभिन्न हिस्से हैं।

समयगामी तकनीक, विज्ञान, और प्राकृतिक संसाधनों का मिश्रण सिंगापुर को एक व्यावसायिक राजधानी के रूप में मान्यता प्रदान करता है। इसकी प्रगतिशील अर्थव्यवस्था, प्रबंधन और तकनीकी क्षमता ने इसे एक ग्लोबल व्यापार केंद्र बना दिया है और उद्योग, वित्त, और नवाचारिक विकास के क्षेत्र में अपनी पहचान बनाई है।

निष्कर्ष  Conclusion

सिंगापुर एक व्यावसायिक राजधानी के रूप में अपनी मान्यता प्राप्त कर रहा है। इसकी उच्च गति वाली अर्थव्यवस्था, उद्योगों का विविधता और प्राकृतिक संसाधनों का सुरक्षित उपयोग इसे वैश्विक व्यापार मानचित्र पर अलग बनाता है। सिंगापुर ने वित्तीय और नवाचारिक उपायों का प्रयोग करके व्यावसायिकता को प्रोत्साहित किया है और आगामी दशक में भी एक गहरे असर करने की संभावना रखता है।