facebook-pixel

शुरू करते हैं आज से, education

Share Us

5885
शुरू करते हैं आज से, education
31 Jul 2021
7 min read
TWN In-Focus

Post Highlight

भारतीय शिक्षा का स्वरुप कैसा है, क्या है और उसमें क्या बदलाव आये हैं। इसी के साथ आगे बढ़ते हुए हम जानेंगे कि जो आपने डिसाइड किया है, उसको कैसे शुरू करें उसमे क्या-क्या आवश्यक या जरुरी बातें क्या-क्या हो सकती हैं? हम एक-एक कर कुछ बातों को समझेंगे जो कि इस प्रकार हैं कि12 वीं के बाद की एजुकेशन कैसे करें?

Podcast

Continue Reading..

भारतीय शिक्षा का स्वरुप कैसा है, क्या है और उसमें क्या बदलाव आये हैं। इसी के साथ आगे बढ़ते हुए हम जानेंगे कि जो आपने डिसाइड किया है, उसको कैसे शुरू करें उसमे क्या-क्या आवश्यक या जरुरी बातें क्या-क्या हो सकती हैं? हम एक-एक कर कुछ बातों को समझेंगे जो कि इस प्रकार हैं कि12 वीं के बाद की एजुकेशन कैसे करें? 

जो सबसे महत्वपूर्ण बात सामने आती है वह ये है कि जब आप ये निर्णय ले चुके होते हैं, तो आपको ये समझना होता है कि उस कोर्स को करने के लिए क्या-क्या  जरूरत है, तो आइये जानते हैं। 

हम एडमिशन कैसे लें? मान लीजिये आप ट्रेडिशनल कोर्स करना चाहते हैं, तो आप देश की बड़ी-बड़ी यूनिवर्सिटी की प्रवेश परीक्षा दे कर एडमिशन ले सकते हैं और यूनिवर्सिटी मेरिट के आधार पर भी एडमिशन ले सकते हैं। अगर आप भाषा से जुड़े कोर्स करना चाहतें हैं, तो आप जेएनयू विश्वविद्याल में एडमिशन ले सकते हैं, एंट्रेंस एग्जाम दे कर। आप दिल्ली यूनिवर्सिटी में मेरिट के आधार पर भी एडमिशन ले सकते हैं। कई और भी यूनिवर्सिटी हैं पूरे भारत में आप उनको भी सर्च कर सकते हैं।

आप डिस्टेंस एजुकेशन के द्वारा भी अपने एजुकेशन करियर की शुरुआत कर सकते हैं। इसमें भी कई कोर्सेस होते हैं और आप कहीं भी रह कर पढ़ाई कर सकते हैं। 

ट्रेडिशनल के साथ-साथ आप प्रोफेशनल कोर्सेस को भी कई यूनिवर्सिटी से कर सकते हैं। आजकल कई प्राइवेट यूनिवर्सिटी भी काफी प्रोफेशनल कोर्सेस करवाती हैं। हम उनको भी सर्च कर सकते हैं, यूनिवर्सिटी लिस्ट आप गूगल पर देख सकते हैं।

जिस तरह से ऑनलाइन का ज़माना बढ़ा है उसको देखते हुए कई कोर्सेस आजकल ऑनलाइन भी होने लगे हैं। आप अपनी शिक्षा को वहाँ भी पूरा कर सकते हैं। जैसे बिज़नेस से जुड़े कोर्सेस इकोनॉमिक्स से जुड़े कोर्सेस डिप्लोमा आदि। 

आप कोई भी कोर्स करें उनके लिए सबसे ज़रूरी जो है, वो है एक सही जानकारी वो जब आप ट्रेडिशनल कोर्स करते हैं, तब आपके कोर्स कम पैसों से में हो जाते हैं। मगर जब आप प्रोफेशनल कोर्स करते हैं, तो आपको अधिक पैसे की जरूरत पड़ सकती है। इसलिए आप जो करने की सोच रहे हैं उसके पीछे की तैयारी जरुरी है,वरना पैसे के आभाव में उस कोर्स को करना थोड़ा मुश्किल हो जाता है। 

प्लानिंग- किसी कोर्स को करने से पहले प्लानिंग करना भी ज़रूरी है। कहने का तात्पर्य ये है कि हमें कहाँ से करना है, जहाँ करना वहां का स्कोप क्या है उससे आगे क्या रास्ता खुलेगा ऐसी तमाम चीजों की प्लानिंग करना आवशयक हो जाता है।

अंत में यह कहते हुए बात को खत्म करेंगे कि जो भी आपने स्टार्ट किया, या स्टार्ट करने की सोची है उस पर पूरी तरह से फोकस कर करने की जरूरत है। 

2020 में नई एजुकेशन पॉलिसी आयी थी, जिसमें शिक्षा को लेकर काफी बदलाव देखे गए हैं, जिसका असर आपकी शिक्षा में भी देखने को मिलेगा। 

आपकी सोच आपके मुकाम को ऊँचा बढ़ाती है। आप आज जो भी करेंगे शिक्षा के क्षेत्र में उसका प्रतिफल भारतीय शिक्षा को  एक समय बाद देखने को मिलेगा। 

इसलिए अंत में कहना चाहेंगे - जो भी करिये अच्छा करिये दिल से करिये।