कैसे शुरू करें UPSC CSE की तैयारी?

Share Us

1097
 कैसे शुरू करें UPSC CSE की तैयारी?
19 Feb 2022
6 min read

Blog Post

प्रीलिम्स, मेंस और इंटरव्यू prelims, mains and interview में सफलता पाने के लिए आपको एक प्रॉपर स्ट्रेटजी proper strategy की जरूरत होती है। इस परीक्षा को देने वाले सभी स्टूडेंट्स मेहनत तो करते ही हैं लेकिन सही दिशा में मेहनत करने वाले छात्र ही इस परीक्षा को पास कर पाते हैं।

भारत की सबसे कठिन और प्रतिष्ठित परीक्षाओं में यूपीएससी सीएसई UPSC CSE का नाम शामिल है। जो विद्यार्थी सिविल सर्विसेज civil services की परीक्षा को पास करते हैं, उन्हें उनके मार्क्स और प्रिफरेंस के हिसाब से आईएएस IAS, आईआरएस IRS, आईपीएस IPS, आईएफएस IFS जैसे पदों पर नियुक्ति मिलती है। 

हर साल लाखों विद्यार्थी इस प्रतिष्ठित परीक्षा की तैयारी करते हैं लेकिन उनमें से कुछ ही ऐसे विद्यार्थी होते हैं, जो इस परीक्षा में पास हो पाते हैं। प्रीलिम्स, मेंस और इंटरव्यू prelims, mains and interview में सफलता पाने के लिए आपको एक प्रॉपर स्ट्रेटजी proper strategy की जरूरत होती है। इस परीक्षा को देने वाले सभी स्टूडेंट्स मेहनत तो करते ही हैं लेकिन सही दिशा में मेहनत करने वाले छात्र ही इस परीक्षा को पास कर पाते हैं। 

अगर आप भी यूपीएससी सीएसई की तैयारी करने की सोच रहे हैं और समझ नहीं पा रहे हैं कि शुरुआत कैसे की जाए तो हम आपका कन्फ्यूजन दूर करेंगे। आज हम आपको बताएंगे कि आप यूपीएससी सीएसई की तैयारी कैसे कर सकते हैं How to prepare for UPSC CSE-

1. Syllabus को जानें

हर परीक्षा की तरह इस परीक्षा में भी सबसे जरूरी चीज़ है, इसका सिलेबस। इसके सिलेबस को भी एक किताब की तरह पढ़िए ताकि आपको पता चला कि किस सब्जेक्ट में क्या टॉपिक्स और सब-टॉपिक्स हैं। सिलेबस की अच्छी समझ होने के बाद अब आपको पुराने वर्षों के प्रश्न पत्र previous years question papers को देखना चाहिए। प्रश्न पत्र देखने से आपको यह आइडिया लग जाएगा कि इस एग्जाम के सबसे ज्यादा इंप्रोर्टेंट टॉपिक्स important topics कौन-कौन से हैं। इसके बाद आपको बुक्स, नोट्स और मैगजींस books, notes and magazines को लेना होगा। याद रखें कि एक टॉपिक के लिए एक से ज्यादा किताब ना पढ़ें। 

2. NCERT की बुक्स अवश्य पढ़ें

ऐसा अक्सर होता है कि हम स्टैंडर्ड बुक्स और नोट्स standard books and notes को पढ़ना तो शुरू कर देते हैं लेकिन हमें उस सब्जेक्ट के बेसिक लेवल की समझ ही नहीं होती है और यही कारण है कि हमें स्टैंडर्ड बुक्स पढ़ते वक्त हर चीज़ समझ नहीं आती है। एनसीईआरटी की किताबें बहुत ही सरल भाषा में लिखी जाती है इसीलिए पहले इन्हें पढ़ें। ज्यादा फोकस सोशल साइंस की किताबों पर करें। कुछ लोग 6 से 12 तक की किताबें पढ़ते हैं, वहीं कुछ लोग 9 से 12 तक की किताबें पढ़ते हैं, आप अपनी नॉलेज के हिसाब से जो पैटर्न फॉलो करना चाहें, कर सकते हैं। 

3. करेंट अफेयर्स के लिए न्यूजपेपर रोज़ पढ़ें

एस्पिरेंट्स aspirants के समय को बचाने के लिए आज कई कोचिंग इंस्टीट्यूट करंट अफेयर्स current affairs की मैगजींस देते हैं। छात्रों को भी लगता है कि जब मैगजींस से करेंट अफेयर्स कवर हो जाएगा तो न्यूजपेपर newspaper पढ़ने की तो ज़रूरत ही नहीं है लेकिन सच बात तो यह है कि न्यूजपेपर ज्ञान का मुख्य श्रोत होता है। इसे पढ़ने पर आपको करेंट अफेयर्स की नॉलेज होने के साथ-साथ ये भी समझ में आएगा कि आप अच्छी आंसर राइटिंग answer writing कैसे कर सकते हैं। 

4. रोज़ पढ़ने की आदत डालें

आप कह सकते हैं कि इस एग्जाम का सिलेबस बहुत ज्यादा है इसीलिए एक भी दिन पढ़ाई ना करना, आपको दूसरों से पीछे छोड़ सकता है। याद रखें कि इस एग्जाम में आपको कंसिस्टेंट consistent बने रहना है और काम को कल पर नहीं टालना है। टाइम टेबल time table बनाएं और अपनी हर एक्टिविटी के लिए समय निर्धारित करें। 

5. रिवीजन और नोट्स पर खास ध्यान दें

सिलेबस इतना ज्यादा है कि कुछ नया पढ़ना और उसे भूल जाना बहुत स्वाभाविक है लेकिन इससे बचने के लिए रिवीजन revision करना बहुत जरूरी है। कल आपने जो भी पढ़ा है, उसे रिवाइज करें। किताब से रिवाइज करने की बजाय अपनी नोट्स से रिवाइज करें ताकि आपका समय बचें। 

6. प्रोग्रेस रिपोर्ट देखें

जैसे-जैसे आप सिलेबस को पूरा करने के करीब पहुंच जाते हैं, आपको मॉक टेस्ट mock tests देना शुरू कर देना चाहिए। मॉक टेस्ट देने से आप अपनी कमियों को जान पाएंगे कि क्या स्ट्रेटजी गलत साबित हुई, किस विषय में आपको और मेहनत करनी है, आपका कौन सा विषय स्ट्रॉन्ग है, आदि। 

7. सोशल मीडिया का इस्तेमाल करें लेकिन थोड़ा संभलकर

इस बात से आप इंकार नहीं कर सकते कि सोशल मीडिया पर हमारा समय बर्बाद होता है इसीलिए प्रिपरेशन के दौरान इसे कम ही इस्तेमाल करें।