facebook-pixel
Coursera Image_2

अपने लेख को लक्षित पाठकों तक कैसे पहुंचायें ?

Share Us

953
अपने लेख को लक्षित पाठकों तक कैसे पहुंचायें ?
09 Dec 2021
6 min read
TWN In-Focus

Post Highlight

सावधानीपूर्वक अपने कंटेंट को तैयार करना और फिर उसे एक सधी हुई, सुनियोजित मार्केटिंग रणनीति से जोड़ा जाना बहुत आवश्यक है, नहीं तो आप अपने लेख के माध्यम से जिन लोगों को लाभवान्वित करना चाहते हैं या जिन तक अपना लेख पहुँचाना चाहते हैं उन तक आपका सन्देश कभी नहीं पहुंच पायेगा। इस लेख में  उल्लिखित  तथ्यों पर ध्यान केंद्रित कर आप न सिर्फ अपनी रचनात्मकता बढ़ा सकते हैं, बल्कि अपने लेखों को लोगों तक बेहतर तरीके से पहुंचा सकते हैं। जो कि आपका अंतिम लक्ष्य है।

Podcast

Continue Reading..

एक अच्छा लेख पढ़ना हमेशा एक नया अनुभव, सीख या आनंद की अनुभूति प्रदान करता है। एक अच्छे लेख की यही सार्थकता है कि यह कितना productive and constructive है। पर एक अच्छा लेख लिखने के लिए एक लेखक को कितनी मेहनत करनी पड़ती है। पहले लेख का विषय सोचना,उसकी प्रासंगिकता पर विचार, फिर उसे अपनी imagination,अनुभव का प्रयोग करते हुए तार्किकता के पैमाने पर परखते हुए, उससे जुड़े अन्य तथ्यों से जोड़ते हुए, पाठकों के सामने रोचक तरीके से प्रस्तुत करना। ये पूरी प्रक्रिया हमेशा चुनौतीपूर्ण होती है। पर इन सबके बावजूद उससे भी ज्यादा मुश्किल है उसे लेख के लक्षित पाठकों तक पहुंचना। आइये जानते हैं कि हमें इस लक्ष्य की प्राप्ति के लिए किन मुख्य बातों का ध्यान रखना चाहिए।

प्रतिष्ठित व्यक्तियों के वक्तव्य प्रयोग करें

यदि आप एक लेख लिख रहे हैं, तो अपने क्षेत्र में अन्य प्रभावशाली लोगों से अपने लेख पर उनकी राय उनकी अंतर्दृष्टि के साथ साझा करने के लिए कहें। ऐसा करने से आपका लेख अधिक प्रभावशाली, प्रमाणिक और स्वीकार्य बनेगा। फलस्वरूप ज्यादा से ज्यादा लोग आपके लेख को पढ़ेंगे।

अपने दर्शकों के अनुसार अपने लेख में विविधता लाएँ

आप अपने विभिन्न वर्गों पाठकों variety of readers की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए अपने लेख में आवश्यक जानकारी important information, तथ्य डालें। इससे आपका पाठक आपके साथ आसानी से जुड़ा रहेगा, क्यूंकि उसे ये पता है कि आप उसकी ज़रूरतों का ख्याल रखेंगे, उसके लिए प्रॉपर रिसर्च proper research करके आप उसके समय को सदुपयोगी बनाते हैं।

परफेक्ट टाइमिंग perfect timing पर अपना पोस्ट पब्लिश करें

आपका लिखना तो मायने रखता ही है, उससे ज्यादा मायने ये रखता है कि आप कब लिखते हैं। एक अच्छा लेख ठीक उसी समय दिया जाता है जब किसी ग्राहक को इसकी ज़रूरत होती है और तभी उसकी प्रासंगिकता भी होती है और यह सिर्फ मार्केटिंग marketing strategy नहीं है, यह अपने ग्राहकों /पाठकों को एक बेहतरीन सेवा प्रदान करना भी है। जिसे आप customer satisfaction भी कह सकते हैं जो कि आपके साइट या पोर्टल portal की पॉपुलैरिटी में और इज़ाफ़ा increase in popularity करेगा। आप जितना अपने पाठकों के लिए डेडिकेटेड होंगे आपके पाठक आपको उतना ही पसंद करेंगे।

अपने रिजल्ट्स पर हमेशा ध्यान दें

अपने लेख पर हमेशा निगाह रखें ,उसे विभिन्न सामान प्लेटफॉर्म्स common platforms पर परखें, उसका तुलनात्मक अध्यन comparative study करते रहें, फिर पहचानें कि आपको क्या परिणाम मिल रहे हैं जो आपके लिए मायने रखते हैं। इससे आपके काम में सतत वृद्धि, गुणवत्ता में सुधार और आपके पाठकों की संख्या में लगातार वृद्धि होने के साथ -साथ आपकी अपनी रूचि में भी वृद्धि होगी। लगातार पता लगाएँ कि आपके मनमाफिक रिजल्ट सबसे ज्यादा कहाँ से आ रहे हैं, बेहतर कैसे कर सकते हैं और जहाँ से वांछित परिणाम नहीं आ रहे वहां आप क्या बेहतर रणनीति अपना सकते हैं।

शीर्षकों और उपशीर्षकों का आकर्षक और सटीक प्रयोग

कई  लेखक अपने लेखों में शीर्षकों और उपशीर्षकों का प्रयोग नहीं करते या अगर करते भी हैं तो उसे आकर्षक नहीं बना पाते। एक अच्छे  ब्लॉग या लेख का शीर्षक और उपशीषर्क न केवल आपकी सर्च रिजल्ट रैंकिंग को बढ़ाता है बल्कि लोगों को आकर्षित भी करता है। उसके लिए आप कुछ सॉफ्टवेयर्स का सहारा भी ले सकते हैं पर याद रखें आपकी खुद की क्रिएटिविटी का प्रयोग सबसे बेहतर रिजल्ट दे सकता है । शीर्षक हमेशा छोटे और सारगर्भित होने चाहिए जो पाठक को स्पष्ट रूप से बताएं कि लेख किस बारे में है। ये एक छोटा सा कदम अकेले आपके पाठकों की संख्या में बढ़ोतरी करने के लिए पर्याप्त है।

प्रभावशाली लोगों को साथ जोड़ें 

प्रभावशाली लोगों के साथ मजबूत संबंध बनाने को प्राथमिकता दें । ऐसे लोग जो आपके काम की महत्ता के बारे में संवेदनशील हों। इस तरह के लोग आपकी वेबसाइट के लिए सबसे बड़े प्रमोटर और मार्गदर्शक हो सकते हैं। प्रभावशाली लोगों के पास एक संगठन निर्माण के ताकत भी होती है और वो बहुत जल्दी लोगों को प्रभावित भी कर सकते हैं और इसका किसी भी विज्ञापन या प्रचार से कहीं अधिक प्रभाव हो सकता है।

अपने लेख/वेबसाइट को प्रचलित समाचारों से जोड़ें

अपनें चुनिंदा लेखों को समाचार में होने वाली किसी बड़ी घटनाओं से जोड़ें, खासकर तब जब यह आपके दर्शकों के घनिष्ट रूप से जुड़ते हों। समाज में होने वाले सकारात्मक परिवर्तन positive changes लोगों की भावनाओं पर प्रभाव डालते हैं इसलिए इन भावनाओं को समझें और उनसे कहानियां बनाएं। पर इन अवसरों का लाभ बड़ी ही सजगता और संवेदनशीलता से उठाना चाहिए ,राजनीतिक मुद्दों पर कई बार कुछ समस्याएं पैदा हो सकती हैं। इनसे बच कर चलें तो बेहतर है। अपनी प्राथमिकताओं पर कायम रहना सुनिश्चित करें।

सहानुभूतिपूर्ण भाषा का प्रयोग करें

जब आप लोगों तक अपनी बात पहुँचाना चाहते हैं तो सहानुभूति सबसे ज़रूरी है। आप जिस व्यक्ति से जुड़ने की कोशिश कर रहे हैं, उसके स्थान पर खुद को रखकर उसके साथ मानवीय स्तर पर जुड़ने की कोशिश करिये। सम्मानजनक शब्दों respective words का प्रयोग करें। सभी वर्गों, समुदायों, जाति ,धर्म, जेंडर, आदि की भावनाओं को सम्मान देने के साथ ये सुनिश्चित करें कि आप उनका समान प्रतिनिधित्व कर रहे हैं।

आपकी लेखन क्षमता writing skill के साथ-साथ उपरोक्त तथ्यों पर ध्यान केंद्रित कर आप न सिर्फ अपनी रचनात्मकता बढ़ा सकते हैं, बल्कि अपने लेखों को लोगों तक बेहतर तरीके से पहुंचा सकते हैं। जो कि आपका अंतिम लक्ष्य है। आशा है ये लेख आप सबके उपयोगी होगा।