facebook-pixel

Fashion Designing - बेहतर करियर विकल्प

Share Us

1705
Fashion Designing - बेहतर करियर विकल्प
28 Feb 2022
6 min read
TWN In-Focus

Post Highlight

आज के परिवेश में जहाँ हर कोई फैशन की दुनिया में कदम रखना चाहता है। हम आपको बताएंगे कि आप फैशन के क्षेत्र में अपना करियर कैसे उज्ज्वल बना सकते हैं। 

Podcast

Continue Reading..

फैशन डिजाइनिंग Fashion Designing में सफल भविष्य कैसे बनाएं? 

फैशन डिजाइनिंग Fashion Designing एक अत्यधिक प्रतिस्पर्धी क्षेत्र है, लेकिन साथ ही साथ यह रोचक और लाभदायक interesting & beneficial भी है। इसीलिए भारत में एक फैशन डिजाइनर Fashion Designer बनने के लिए, आपको फैशन डिजाइनिंग कोर्स करने के साथ ही फैशन के सभी आवश्यक पहलुओं की अच्छी समझ होने की आवश्यकता है।  फैशन डिजाइनिंग Fashion Designing में अपना सफल भविष्य career बनाने के लिए आप देश के किसी भी शीर्ष फैशन डिजाइनिंग कॉलेज Fashion Designing college से फैशन डिजाइन में ग्रेजुएट या पोस्ट ग्रेजुएट graduate or postgraduate डिग्री प्राप्त कर सकते हैं।   12वीं के बाद फैशन डिजाइनर बनने के इच्छुक छात्रों के लिए कई कॉलेजों में प्रवेश परीक्षाएं आयोजित की जाती हैं, जैसे कि निफ्ट, एनआईडी, एआईईईडी, सीईईडी या यूसीईईडी NIFT, NID, AIEED, CEED, UCEED आदि। फैशन डिजाइनिंग के यूजी कोर्स में बीएससी/बीए/बैचलर इन फैशन डिजाइनिंग B.sc./B.A./Bachelor in Fashion Designing शामिल हैं। यूजी पाठ्यक्रमों के अलावा, आप फैशन डिज़ाइन में डिप्लोमा Fashion Design diploma भी कर सकते हैं। 

Famous Fashion Designing 

  1. निफ्ट मुंबई NIFT Mumbai
  2. निफ्ट दिल्ली NIFT Delhi
  3. पर्ल अकादमी Pearl Academy  

एक फैशन डिजाइनर Fashion Designer क्या करता है?

एक फैशन डिजाइनर द्वारा किये जाने वाले कार्यों की सूची आपके संदर्भ के लिए नीचे सूचीबद्ध है-

फैशन डिजाइनर का पहला और सबसे महत्वपूर्ण क्षेत्र पुरुषों, महिलाओं और बच्चों के लिए परिधान (outfit) तैयार करना है, जिसमें स्पोर्ट्सवियर, मैटरनिटी वियर, पार्टी वियर sports wear, Maternity Wear, party wear आदि शामिल हैं। फैशन डिजाइनर बेल्ट, स्कार्फ्स, कैप, हैंडबैग Belt, Scarfs, cap, handbag जैसे सामान भी डिजाइन करते हैं। किसी भी पोशाक को डिजाइन करते समय फैशन डिजाइनर को फैशन के नवीनतम रुझानों के साथ ही ग्राहकों के आराम को भी ध्यान में रखना चाहिए।

फैशन डिजाइनरों को सभी नवीनतम तकनीकों का ज्ञान होना आवश्यक है, जैसे बॉडी स्कैनिंग Body Scanning प्रक्रिया, इससे आप एक बेहतर और आरामदायक फिटिंग की पोशाक तैयार कर सकते हैं।  यदि आप एक सफल फैशन डिजाइनर बनना चाहते हैं तो आपको फैशन से जुड़ी सभी प्रकार की तकनीकों से अपडेट रहना आवश्यक है, जिसके आप कम समय और कम लागत के साथ भी एक आकर्षक पोशाक तैयार कर सकते हैं।  डिज़ाइन कांसेप्ट Design concept (आइडिया) से लेकर डिज़ाइन प्रोडक्शन तक की पूरी प्रक्रिया में बहुत समय लगता है। यह इस पर भी निर्भर करता है की डिजाइनर को फैशन के सभी आयामों, नवीनतम और आगामी तकनीकों के बारे में पता हो जिससे डिजाइनर सरलता से आकर्षक परिधान तैयार कर सकता है। 

Fashion Designer कितने प्रकार के होते हैं? 

आज कल जहाँ हर कोई फैशन की ओर आकर्षित है और खुद को मॉडर्न परिवेश में ढालना चाहता है। ऐसे में हम आपको बताएंगे की आप फैशन के किस क्षेत्र में अपना भविष्य बना सकते हैं। अपनी रुचि और विशेषज्ञता के आधार पर आप स्नातक या स्नातकोत्तर स्तर पर उसकी पढ़ाई कर सकते हैं। 

फैशन डिजाइनर के प्रकार:

परिधान (पोशाक) डिजाइनर Outfit Designer: 

परिधान फैशन डिजाइनर मुख्य रूप से विभिन्न नए और आकर्षक पोशाक डिजाइन करने पर केंद्रित होते हैं। हर प्रकार के परिवेश के आधार पर अलग-अलग लोगों की पसंद के अनुसार अपनी कला को कपड़ों के माध्यम से प्रदर्शित करना ही परिधान डिजाइनर का उद्देश्य होता है। उनके डिजाइन आम लोगों से लेकर फैशन मॉडल तक सभी वर्गों के लिए उपयुक्त होते हैं।

फुटवियर डिजाइनर Footwear Designer: 

फुटवियर को नवीतम कलाओं से आकर्षक बनाकर लोगों के सामने पेश करना ही फुटवियर डिजाइनर का उद्देश्य होता ही। इस श्रेणी के अंतर्गत विभिन्न प्रकार के डिज़ाइन हैं जैसे एथलेटिक जूते, फॉर्मल जूते, कैज़ुअल जूते और कई अन्य।

ज्वैलरी डिज़ाइनर Jewelry Designer: 

ज्वैलरी डिजाइनिंग ट्रेंड और फैशन के अनुसार नए ज्वेलरी डिज़ाइन बनाने पर केंद्रित है। ज्वैलरी डिज़ाइनर लोगों की आवश्यकताओं के अनुसार हार, कंगन, हैंडबैग और अन्य सामान बनाते हैं।

फैशन डिजाइनर Fashion Designer बनने के क्या फायदे हैं?

फैशन डिजाइनर भारत में प्रसिद्ध व्यावसायिक पाठ्यक्रमों में से एक है। फैशन के क्षेत्र में आजकल काफी उन्नती हो गयी है और अब फैशन हर युवा की जरूरत है। इस नई डिजिटल दुनिया में एक फैशन डिजाइनर होने के कई लाभ हैं:

वेतन (salary): 

आज की दुनिया में एक सफल फैशन डिजाइनर होने पर आपको पूर्ण आराम के साथ एक अच्छा वेतन मिलेगा। फैशन डिज़ाइनर की सैलरी काफी अच्छी होती है जिससे वे विलासितापूर्ण जीवन का आनंद लेते हैं। फैशन डिजाइनर का औसत वार्षिक वेतन लगभग 4 से 5 लाख रुपये है। 1 वर्ष से कम के अनुभव के साथ फैशन डिजाइनर को लगभग 2 से 3 लाख रुपये के वेतन प्राप्ति हो सकती है। 

नौकरी की सुरक्षा (job security): 

फैशन डिजाइनर पेशे में नौकरी की पूरी सुरक्षा होती है। फैशन डिजाइनर या तो किसी भी फैशन डिजाइनिंग एजेंसियों में काम कर सकते हैं या एक एजेंसी या बुटीक खोलकर अपना खुद का व्यवसाय शुरू कर सकते हैं, जो किसी तीसरे पक्ष के लिए काम करने की तुलना में नौकरी की अधिक सुरक्षा प्रदान करता है। 

करियर पर सकारात्मक प्रभाव (positive impact on career):

 इस कोर्स ने करियर पर सबसे संतोषजनक, पुरस्कृत और सकारात्मक प्रभाव डाला है। बहुत से  लोग फैशन डिजाइनर पाठ्यक्रम का चयन नहीं करते इसलिए इस क्षेत्र में कम प्रतिस्पर्धा होती है साथ ही सकारात्मकता प्राप्त होती है।

फैशन डिजाइनर Fashion Designer बनने के लिए आवश्यक कौशल (Skills)

एक सफल फैशन डिजाइनर successful Fashion Designer बनने के लिए कुछ आवश्यक कौशल नीचे सारणीबद्ध हैं:

  1. अच्छा संचार कौशल 
  2. रचनात्मकता और कलात्मकता 
  3. स्केचिंग में रुचि
  4. रंगों और संयोजनों का गहरा ज्ञान
  5. सीखने की ललक 
  6. बाजार की अच्छी समझ 
  7. व्यापार कौशल
  8. सिलाई का वास्तविक तकनीकी ज्ञान 

भारत में फैशन डिजाइनर Fashion Designer कैसे बनें? (fashion designer course details)

भारत में फैशन डिज़ाइनर Fashion Designer बनने के लिए, आपको को देश भर के किसी भी शीर्ष फैशन डिजाइनिंग कॉलेज से विभिन्न स्नातक और स्नातकोत्तर फैशन डिजाइनिंग पाठ्यक्रमों को पूरा करना होगा। इन कॉलेजों में प्रवेश आमतौर पर फैशन डिजाइन प्रवेश परीक्षा के आधार पर किया जाता है, हालांकि कुछ कॉलेज योग्यता के आधार पर भी प्रवेश देते हैं।

10वीं के बाद फैशन डिजाइनर Fashion Designer कैसे बनें?

फैशन डिज़ाइनर Fashion Designer बनने के लिए 10वीं के बाद छात्र विज्ञान, वाणिज्य या कला कोई भी स्ट्रीम ले सकते हैं। कक्षा 10 वीं की बोर्ड परीक्षा पूरी करने के बाद किसी विशेष स्ट्रीम को लेने का कोई जरूरी नियम नहीं है।

12वीं के बाद फैशन डिजाइनर Fashion Designer कैसे बनें?

फैशन डिज़ाइनर Fashion Designer बनने के लिए 12वीं के बाद उम्मीदवार अपने अंडरग्रेजुएट और पोस्टग्रेजुएट स्तर पर कोर्स कर सकते हैं, जैसे कि विभिन्न यूजी डिग्री जैसे बीएससी फैशन डिजाइनिंग, फैशन डिजाइनिंग में डिप्लोमा B.Sc. fashion designing, fashion designing में diploma आदि। 

पीजी स्तर की तैयारी: 

पीजी पाठ्यक्रमों के लिए भी, छात्रों के नामांकन के लिए कॉलेजों द्वारा विभिन्न प्रवेश परीक्षाएं आयोजित की जाती हैं। आप एमएससी फैशन डिजाइनिंग, एमए फैशन डिजाइनिंग, मास्टर्स ऑफ़ फैशन डिजाइनिंग M.sc.  fashion designing, M.A. fashion designing, master’s of fashion management आदि जैसे पाठ्यक्रम में नामांकन कर सकते हैं। 

फैशन डिज़ाइनर कोर्स की जानकारी Fashion Designer course information:

हालांकि फैशन डिजाइनिंग Fashion Designing पाठ्यक्रमों के लिए कोई उक्त विषय संयोजन नहीं है, आप कक्षा 10 और 12 में कला जैसे विषयों को ले सकते हैं, या फिर ड्राइंग, स्केचिंग और अपने नवीन कौशल विकसित skill development करने पर ध्यान केंद्रित कर सकते हैं। जिससे आपकी सोचने की क्षमता विकसित होगी और आप सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने में सफल हो पाएंगे। फैशन डिजाइनर बनने के लिए लोकप्रिय पाठ्यक्रम, फैशन डिजाइन में बीएससी, फैशन डिजाइन में बीए आदि हैं। 12वीं कक्षा पूरी करने के बाद फैशन डिजाइन में डिप्लोमा भी किया जा सकता है। 

भारत के शीर्ष 5 फैशन डिजाइनिंग कॉलेजों में निफ्ट दिल्ली, निफ्ट बैंगलोर, निफ्ट चेन्नई, निफ्ट पटना और निफ्ट गांधीनगर NIFT Delhi, NIFT Bengaluru, NIFT Chennai , NIFT Patna और NIFT Gandhinagar शामिल हैं। फैशन डिजाइनिंग में यूजी पूरा करने के बाद, आप उस विशेष पाठ्यक्रम में परास्नातक का विकल्प चुन सकते हैं। पीजी फैशन डिजाइनिंग पाठ्यक्रमों में पात्र होने के लिए उम्मीदवारों को यूजी में कम से कम 55% अंक प्राप्त करने की आवश्यकता है।

फैशन डिज़ाइनर Fashion Designer बनने के स्टेप्स Steps-

फैशन डिजाइनर Fashion Designer बनने के लिए कक्षा 12 से ही आपको योजना बनानी पड़ेगी। विषयों का चयन, प्रवेश परीक्षा की तैयारी, सही कॉलेज प्राप्त करना फैशन डिजाइनिंग में सफल करियर की दिशा में सबसे महत्वपूर्ण कदम हैं।

फैशन डिज़ाइन Fashion Design की पूर्ण शिक्षा:

फैशन डिजाइन की दुनिया में कदम रखने के लिए, आपको फैशन डिजाइन में डिग्री प्राप्त करके फैशन डिजाइन के कौशल और मूल बातों को सीखना होगा। आप फैशन डिजाइनिंग में डिप्लोमा भी ले सकते हैं। जिससे आपको इसकी अच्छी समझ हो जाएगी और फिर आप अपना सफल करियर इसमें बना सकते हैं। 

फैशन डिजाइनिंग Fashion Designing में बेहतर कौशल: 

किसी डिजाइन को शुरू से ही तैयार करने के लिए आपके पास आवश्यक कौशल होना आवश्यक है। आपको कॉलेज शिक्षा के अलावा व्यवहारिक अनुभव होना भी आवश्यकता है।  फैशन डिजाइनिंग में बेहतर कौशल सीखने के लिए आप  डिजाइन फर्म, कपड़े निर्माता, या व्यक्तिगत स्टाइलिस्ट में इंटर्नशिप कर सकते हैं। 

फैशन व्यवसाय Fashion business की समझ:

 फैशन उद्योग के रचनात्मक पहलू के पीछे एक फैशन कंपनी को चालू रखने के लिए व्यावसायिक रणनीति बहुत आवश्यक है। फैशन क्षेत्र के रचनात्मकता को सीखने के अलावा, आपको फैशन व्यवसाय के पहलुओं की जानकारी  होनी चाहिए- जैसे वित्त, बिक्री और विपणन। यह जानकारी बहुत लाभदायक है यदि आप अपना फैशन व्यवसाय करना चाहते हैं तो व्यावसायिक रणनीति की जानकारी आवश्यक है।

अपना पोर्टफोलियो तैयार करें: 

भविष्य में फैशन डिजाइनरों और अपने ग्राहकों को अपना काम दिखाने के लिए, अपनी कौशल और रचनात्मक क्षमताओं का प्रदर्शन करने वाला एक पोर्टफोलियो तैयार करना आवश्यक है। यदि आपके पास नौकरी का अनुभव नहीं है तो आप अपने कॉलेज की शिक्षा या इंटर्नशिप के दौरान किए गए कार्यों से अपना पोर्टफोलियो भर सकते हैं। जिसपर आप अपने कौशल को लोगों के सामने रख सकते हैं। 

नवीनतम फैशन रुझानों के साथ अपडेट रहें New Fashion trends: 

फैशन एक ऐसा उद्योग है जो हर मौसम में बदलता है, इसलिए फैशन डिजाइनरों के लिए नवीनतम रुझानों से अवगत रहना बहुत महत्वपूर्ण है। जिससे कि आप आसानी से नयी और आकर्षक चीज़ें तैयार कर सकें। 

यदि आप भी अपने पैशन यानि फैशन को अपना करियर बनाना चाहते है तो आप एक सही दिशा  प्रयास कर रहे है। एक अच्छे इंस्टिट्यूट से फैशन डिजाइनिंग की डिग्री प्राप्त कर आप अपने उज्जवल भविष्य बनाने का सफर तय कर सकते हैं। थिंक विथ नीस पर हम आपको इस क्षेत्र से जुड़ी सारी जानकारी उपलब्ध कराते रहेंगे। पढ़ते रहिए #TWN

इसी विषय से सम्बंधित एक अन्य लेख को पढ़ने के लिए कृपया नीचे  दिए लिंक को क्लिक करे-

https://www.thinkwithniche.in/blogs/details/top-fashion-brands-in-world