facebook-pixel

Animation क्या है और यह कितने प्रकार के होते हैं?

Share Us

288
Animation क्या है और यह कितने प्रकार के होते हैं?
22 Nov 2022
7 min read
TWN In-Focus

Post Highlight

Animation का उपयोग कंप्यूटर में drawing तथा अन्य प्रकार के art के लिए किया जाता है। एनिमेशन के जरिए हर प्रकार के लोगो डिजाइन संभव हुए हैं। अब तो animation का field एक बहुत बड़ा platform बन गया है जिससे छात्र इसे एक career option की तरह भी चुन सकते हैं। एनीमेशन को समझें तो यह एक ऐसी तकनीक है जिससे कोई भी ऐसा चित्र, Image या Object जो रियल में हिल नहीं सकता है या मूव नहीं कर सकता है उसको चलते हुए, बोलते हुए या कुछ करते हुए दिखाया जाता है। यानि Animation किसी रुकी हुई Image पर जान डालता है जिसके कारण Image में कुछ प्रतिक्रिया होती हुई दिखाई देती है। एनिमेशन एक प्रकार का Art और विज्ञान है। Animation एक क्रम में गति का भ्रम पैदा करने के लिए क्रमिक चित्र, मॉडल या कठपुतलियों को चित्रित करने की एक विधि है। इसको इस तरह से भी समझ सकते हैं कि Animation वह है जिसमे एक sequence (क्रम) में movement (गति) का एक illusion (भ्रम) create किया जाता है, जिसके लिए sequence photographs, models, या फिर puppets (कठपुतली) का इस्तेमाल इस विधि में किया जाता है। एनिमेशन एक प्रकार की प्रक्रिया है जिसके अंतर्गत डिजाइनिंग, drawing, लेआउट बनाना तथा फोटोग्राफिक्स के लिए इसका मुख्य उपयोग किया जाता है। एनिमेशन के माध्यम से हर प्रकार की इमेज के लेआउट को कस्टमाइज कर सकते हैं और उसे मैनेज कर सकते हैं। एनिमेशन टेक्नोलॉजी के आने के पश्चात कंप्यूटर में कई प्रकार के ग्राफिक्स कार्य को करने में मदद मिली है। एनिमेशन कंप्यूटर में कई प्रकार के ग्राफिक, logo और कार्टून बनाने के लिए उपयोग किया जाता है। 

Podcast

Continue Reading..

Animation का नाम कंप्यूटर टेक्नोलॉजी Computer Technology में काफी लोकप्रिय है। कंप्यूटर एनीमेशन और graphics के इस्तमाल से complex चीज़ों को और भी रोचक बनाया जा सकता है। आज जैसे-जैसे हम technologically एडवांस हो रहे हैं, वैसे ही सभी चीज़ें digitalize बन रही हैं। अब तो लोगों में animation के प्रति उत्सुकता देखने को मिलती है जिसके कारण इन animation के कामों की बहुत ज्यादा demand बढ़ गयी है। Animation ने वर्तमान के storytellers (कहानीकारों) को यह सुविधा दी है कि वह अपनी story को एक unique तरीके से कह सकते है और लोगो तक पहुँचा सकते हैं। 

Animation का उपयोग कंप्यूटर में drawing तथा अन्य प्रकार के art के लिए किया जाता है। एनिमेशन के जरिए हर प्रकार के लोगो डिजाइन संभव हुए हैं। अब तो animation का फील्ड एक बहुत बड़ा platform बन गया है जिससे छात्र इसे एक career option की तरह भी चुन सकते हैं। Animation के field में भी आप अच्छा काम करके आप फिल्म्स इंडस्ट्री, मीडिया हाउसेस, एडवरटाइजिंग एजेंसी, डिजिटल एजेंसी, इ-लर्निंग Films Industry, Media Houses, Advertising Agency, Digital Agency, E-learning आदि industries में कार्य कर सकते हैं और अच्छे पैसा कमा सकते हैं। तो चलिए इस आर्टिकल में animation क्या है और animation से संबंधित पूरी जानकारी विस्तार से जानते हैं। जैसे एनीमेशन क्या है और यह कितने प्रकार के होते हैं आदि। 

Animation क्या है? What is Animation?

साधारण सी भाषा में एनीमेशन को समझें तो यह एक ऐसी तकनीक है जिससे कोई भी ऐसा चित्र, Image या Object जो रियल में हिल नहीं सकता है या मूव नहीं कर सकता है उसको चलते हुए, बोलते हुए या कुछ करते हुए दिखाया जाता है। यानि Animation किसी रुकी हुई Image पर जान डालता है जिसके कारण Image में कुछ प्रतिक्रिया होती हुई दिखाई देती है। जैसे आप एनीमेशन की सहायता से बनाई गयी किसी Video या Movie में आप इन्सान को उड़ता हुआ देख सकते हैं। चित्रों की एक श्रृंखला द्वारा बनाई गई movement का simulation एनीमेशन कहलाता है। एनिमेशन एक प्रकार का Art और विज्ञान है। Animation एक क्रम में गति का भ्रम पैदा करने के लिए क्रमिक चित्र, मॉडल या कठपुतलियों को चित्रित करने की एक विधि है। इसको इस तरह से भी समझ सकते हैं कि Animation वह है जिसमे एक sequence (क्रम) में movement (गति) का एक illusion (भ्रम) create किया जाता है, जिसके लिए sequence photographs, models, या फिर puppets (कठपुतली) का इस्तेमाल इस विधि में किया जाता है। 

एनीमेशन को बनाने के लिए बहुत सी Image का उपयोग किया जाता है जिनमे अलग अलग प्रतिक्रिया वाली Image होती है और इन्हें एक साथ तेज गति से चलाया जाता है जिससे यह प्रतिक्रिया करती दिखाई देती है। हमारी आंखें एक छवि को केवल सेकंड के 1/10वें भाग तक बनाए रख सकती हैं। ऐसे में जब कई छवियां तेजी से एक Sequence में दिखाई देती हैं तो मस्तिष्क उन्हें एक ही चलती छवि समझने लगता है। पहले के कार्टून इसके उदाहरण हैं लेकिन आज अधिकांश एनिमेटेड फिल्में CGI (Computer-generated imagery) के साथ बनाई जाती हैं। 

Animation का नाम कंप्यूटर टेक्नोलॉजी में काफी लोकप्रिय है। एनिमेशन एक प्रकार की प्रक्रिया है जिसके अंतर्गत डिजाइनिंग, drawing, लेआउट बनाना तथा फोटोग्राफिक्स के लिए इसका मुख्य उपयोग किया जाता है। एनिमेशन के माध्यम से हर प्रकार की इमेज के लेआउट को कस्टमाइज कर सकते हैं और उसे मैनेज कर सकते हैं। एनिमेशन टेक्नोलॉजी के आने के पश्चात कंप्यूटर में कई प्रकार के ग्राफिक्स कार्य को करने में मदद मिली है। Animation का उपयोग कंप्यूटर में drawing तथा अन्य प्रकार के art के लिए किया जाता है। Animation, drawing सीखने वालों के लिए काफी पॉपुलर नाम है। drawing सीखकर कई प्रकार के लोगो डिजाइन logo design का काम भी आसानी से कर सकता है। एनिमेशन के जरिए हर प्रकार के लोगो डिजाइन संभव हुए हैं। कंप्यूटर में कई प्रकार के ग्राफिक, logo और कार्टून Cartoon बनाने के लिए उपयोग किया जाता है। 

एनीमेशन कितने प्रकार के होते हैं ? Types Of Animation

Animation पाँच प्रकार के होते हैं जो निम्न हैं -

Traditional Animation

2D Animation (Vector-based)

3D Animation

Motion Graphics

Stop Motion

1- Traditional Animation

Traditional Animation फिल्म में इस्तेमाल होने वाली एनीमेशन का सबसे पुराना method है। इसे Cel animation भी कहा जाता है। इन traditional animation में objects (वस्तुओं) को celluloid transparent paper पर drawn किया जाता है इसलिए इससे एक animated sequence create करने के लिए animator को प्रत्येक frame को draw करना होगा। सिर्फ और सिर्फ तभी जाकर हम एक animated sequence create कर पाते हैं। Traditional Animation में बहुत सारे pictures को create किया जाता है जो कि एक दूसरे से बहुत ही कम अलग होते हैं लेकिन वो naturewise progressive होते हैं।

इन drawings को trace करने के लिए transparent sheet का इस्तेमाल होता है। पारंपरिक एनीमेशन अक्सर 2D एनीमेशन होता है। अलादीन, द लायन किंग और पहले के कई कार्टून इसके उदाहरण हैं। पहले के वर्षों में, एनिमेटर एक ऐसी मेज पर Draw होता था जिसके अंदर प्रकाश होता था ताकि निर्माता अपने पिछले एनीमेशन को देख सके। जबकि पारंपरिक शैली आज लगभग प्रचलित नहीं है आजकल चित्र आमतौर पर tablets पर बनाए जाते हैं। 

2- 2D Animation

इसे करने के लिए Powerpoint और Flash animations का इस्तेमाल किया जाता है। इनके features cel animation के similar होते हैं , लेकिन 2D animation ज्यादा popular इसलिए है क्योंकि इसमें scanned drawings का इस्तेमाल किया गया है। एक बहुत ही popular animation software जिसका इस्तेमाल computer 2D animation बनाने के लिए किया जाता है वो Adobe Flash है। 

2D Animation पारंपरिक एनीमेशन के अंतर्गत आ सकता है लेकिन वेक्टर-आधारित एनीमेशन एक ऐसी एनीमेशन है जो पारंपरिक होने के बिना भी 2D हो सकता है। 

इसमें किसी भी Object की 2 Dimension Show होती है जिससे आप एनीमेशन में उपयोग होने वाली Image की लम्बाई और चौड़ाई का ही अनुमान लगा सकते है। आप इसमें किसी Object को केवल एक ही Angle से देख सकते है और इसका उपयोग आप Cartoon में देख सकते है जैसे जो काफी पहले बना है Doraemon में। 

वेक्टर-आधारित एनीमेशन में गति को पिक्सल के बजाय वैक्टर द्वारा नियंत्रित किया जा सकता है। JPG, GIF, BMP जैसे परिचित प्रारूपों वाली छवियां पिक्सेल छवियां हैं। 

3- 3D Animation

 3D Animation आज के समय में कंप्यूटर एनीमेशन का सबसे पॉपुलर प्रकार है। 3d Animated फिल्मों में, एनिमेटर Character के शरीर के अंगों को इधर-उधर घुमाने के लिए एक प्रोग्राम का उपयोग करता है। इसका उपयोग filmmaking में होता है जहाँ हमें unusual objects या characters की जरुरत होती है जिन्हें कि आसानी से display नहीं किया जा सकता। जैसे 3D animation के इस्तेमाल से हम बहुत सारे लोगों को एक जगह में खड़े कर सकते हैं। 

3D Animation इस मायने में भी अलग है कि 2D या अन्य पारंपरिक तरीकों के विपरीत Character का पूरा शरीर हमेशा दिखाई देता है। इसमें बहुत से different shapes, mathematical codes का इस्तेमाल, actions और colors का display किया जाता है। जो कि ऐसा प्रतीत होता है कि ये किसी actual picture से copy किया गया हो। इसमें किसी भी Object को 360 डिग्री तक घुमाया जा सकता है। इसमें आप किसी भी Object को लम्बाई, चौड़ाई, और मोटाई भी देख सकते हैं। जैसे आपने बहुत सी Movie भी देखी होंगी जिनमे 3D Animation का उपयोग किया जाता है जो यदि Original भी नहीं है तो Original जैसी दिखाई देती है। 

Also Read : Information Technology में करियर बनाने के लिए 5 बेस्ट कोर्स

4- Motion Graphics

Motion Graphics डिजिटल ग्राफ़िक्स है जो आमतौर पर विज्ञापनों, फ़िल्मों में शीर्षक अनुक्रमों के लिए गति का भ्रम पैदा करते हैं। इन्हें अक्सर मल्टीमीडिया प्रोजेक्ट के लिए ध्वनि के साथ जोड़ा जाता है। ये एक प्रकार के एनीमेशन हैं जिनका उपयोग ज्यादातर व्यवसाय में किया जाता है। हम कह सकते हैं कि Motion Graphics, digital graphics है जो कि advertisement में और films में title sequences के लिए motion का भ्रम पैदा करते हैं। ये motion graphics digital footage या animation के pieces होते हैं जो की ऐसे illusion create करते हैं जिसमें लगता है कि वो illusion motion में हैं और rotate भी कर रहे हैं। Motion graphics को typical animation जैसे कोई story based में ही इस्तेमाल नहीं किया जाता है बल्कि ये animated abstract shapes और forms जैसे कि logos और logo elements में ज्यादातर use किये जाते हैं। इन्हें अक्सर audio के साथ combine किया जाता है बेहतर आकार देने के लिए और इन्हें दूसरे multimedia projects में इस्तेमाल किया जाता है.

5- Stop Motion

Stop motion में claymation, pixelation, object-motion, cutout animation और इसके अलावा भी बहुत कुछ होता है। लेकिन इसका भी जो basic mechanics है वो बिलकुल traditional style के जैसा ही है जैसे कि एक flipbook, Flipbook में बहुत सारी pictures होती है और जब उनके पन्नो को एक साथ तेजी से पलटा जाता है तो ऐसा लगता है की बुक में मौजूद pictures move कर रही है और story बता रही है। 

इस तरह से अगर इन्हें small increments में move किया जाता है, तो यह एक समय में एक frame को capture कर लेता है, जिससे कि हमारे सामने गति का भ्रम पैदा होता है। Puppetry एक बहुत ही प्रमुख frame-to-frame animation type है। कुछ Hollywood movies जिसमें कि animate किया गया है। Stop-motion effects वो हैं King Kong, The Dinosaur, और The Lost World आदि। drawings के बजाये stop motion प्रत्येक frame में physical objects को adjusts करती है। 

Stop animation या stop motion animation एक प्रकार की technique है जिससे कि objects को अपने आप ही move करा सकते हैं। इसमें कुछ images को draw किया जाता है different positions में और उन्हें separately photographed किया जाता है। इसके अन्य उदाहरण जैसे Wallace and Gromit, Chicken Run, और Nightmare Before Christmas जैसी stop motion films हैं। 

एनीमेशन बनाने के लिए उपयोग किये जाने वाले सॉफ्टवेयर  Software Used To Create Animation

एनीमेशन बनाने के लिए टैलेंट के साथ साथ Software चलाने के बारे में भी जानकारी का होना आवश्यक है तभी आप एक अच्छा एनीमेशन बना सकते हैं।कंपनियां एनीमेशन बनाने के लिए जिन Software का उपयोग करती है उनमें से कुछ निम्न हैं -

Adobe After Effect

• एनीमो anime

3D Studio

•  माया Maya 

Final Cut pro

Adobe Photoshop