facebook-pixel

आंखों से देख नहीं पाती पर हौसला है बुलंद

Share Us

1176
आंखों से देख नहीं पाती पर हौसला है बुलंद
19 Nov 2021
8 min read
TWN In-Focus

Post Highlight

यदि आपको सफल होना है तो वही काम कीजिये जो काम करना आपको अच्छा लगता है और जिसमें आपको विश्वास हो। दृष्टिहीन होने के बावजूद गीता ने भी यही किया। उनको खुद पर विश्वास था। कई बार लोगों ने उनको ताने भी मारे कि आँखों से न दिखाई देने की वजह से ये कुछ नहीं कर पाएगी लेकिन उन्होंने कर दिखाया कि अगर हिम्मत हो तो आप शारीरिक रूप से असमर्थ होने पर भी पूरी दुनिया को जीत सकते हो। गीता आज अपना ऑनलाइन फूड बिजनेस चलाती हैं। उनको कुकिंग का शौक है। वे अपने हाथ से बने अचार और घी का बिजनेस करती हैं। उनके प्रॉडक्ट्स बहुत ही अच्छे हैं। आज हर जगह के लोग उनके प्रॉडक्ट्स आर्डर कर मंगाते हैं।

Podcast

Continue Reading..

क्या आप कभी सोच सकते हैं कि एक महिला जो आँखों से देख नहीं पाती blind उसने अपना बिज़नेस business खड़ा कर दिया। जी हाँ ये सच्चाई है। ये महिला हैं त्रिशूर की गीता सलिश geeta saleesh जिन्होंने अपने हौसले, हुनर के दम पर और अंधेरों से न घबराकर सफलता हासिल की है। उन्होंने अपने हुनर, पाक कला को ही बिज़नेस का रूप दे दिया। आज उनके प्रॉडक्ट्स product के पूरे देश से आर्डर आते हैं। कहते हैं न कि बड़ा संघर्ष ही बड़ी सफलता का इतिहास रचता है। ऐसा ही कुछ किया है गीता ने भी। दरअसल गीता को खाना बनाना बेहद पसंद है। इसी कला के चलते उन्होंने कुछ नया करने का सोचा बस फिर क्या था गीता ने अपने हाथों के जादू से सबको प्रभावित कर दिया। 

कैसे की बिज़नेस की शुरुआत 

दरअसल पिछले साल लॉकडाउन lockdown के समय केरल की गीता सलिश ने ऑनलाइन फूड बिजनेस की शुरुआत की थी। इसमें उनका साथ उनके पति ने भी दिया। भले ही गीता आँखों से देख नहीं सकती लेकिन गीता को कुकिंग का शौक था उसी हुनर का प्रयोग कर गीता ने पिछले साल घर से ही अचार और घी बनाकर बेचना शुरू किया। आज एक नहीं बल्कि बहुत सारे राज्यों में उनके प्रॉडक्ट्स की मांग है। उनके हाथों से बनी चीज़ों में स्वाद है यही कारण है कि उनकी बनायी चीज़ों की आज काफी मांग है। आज उनके हाथों का स्वाद एक जगह नहीं बल्कि देश के अलग-अलग राज्यों जैसे मध्यप्रदेश, गुजरात और राजस्थान आदि राज्यों में पहुँच रहा है। गीता को सिर्फ कुकिंग ही नहीं कंप्यूटर और स्विमिंग में भी महारत हासिल है। गीता आज अपने हौसले daring और हुनर से अच्छी कमाई कर रही हैं। 

किस प्रॉडक्ट से की शुरुआत 

गीता बहुत पहले एक रेस्टोरेंट restaurant को भी चलाया करती थी। लेकिन बाद में उसे बंद कर दिया गया था। जब रेस्टोरेंट बंद हुआ तो उन्होंने पहले अंडे का व्यापार शुरु किया था। इसके लिए उन्होंने कुछ मुर्गियां और बटेर पाले और फिर उन अण्डों को दुकान में जाकर बेचने लगे लेकिन पिछले साल कोरोना महामारी के दौरान ये काम ढंग से नहीं चला। जब पूरे अंडे बिके नहीं तो उनके मन में अचार बनाने का विचार आया। रेस्टोरेंट में काम करने का अनुभव उनका यहाँ काम आया और उन्होंने घर से काम करने के बारे में सोचा। पहले आस-पड़ोस में उन्होंने अचार देना शुरू किया। उसके बाद धीरे-धीरे बाहर से उनको ऑर्डर मिलने लगे। फिर उन्होंने Home to Home "होम टू होम" नाम से स्टार्ट अप start up शुरू किया। उन्होंने अचार, घी और अन्य प्रॉडक्ट बनाने शुरू कर दिए। अब वह इस तरह बिज़नेस से अच्छा मुनाफा कमा लेती हैं। 

कौन सा प्रॉडक्ट बिकता है ज्यादा

वैसे तो गीता कई सारे प्रॉडक्ट बनाती हैं और सारे प्रॉडक्ट घर से बना कर बेचती हैं। वह बटेर के अंडे का अचार, घी के साथ करीब 10 से 12 प्रॉडक्ट बनाती हैं। इनकी जिस प्रॉडक्ट की सबसे ज्यादा डिमांड है वे हैं हल्दी और खजूर का काढ़ा। यह इनका सबसे ज्यादा बिकने वाला प्रॉडक्ट है। इस प्रॉडक्ट का आर्डर लगभग हर राज्य से आता है। क्योंकि यह एक इम्युनिटी बूस्टर है इसलिए यह प्रॉडक्ट सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है। दरअसल हल्दी और खजूर का काढ़ा केरल की एक पारंपरिक डिश है। इसमें हल्दी और खजूर को नारियल के दूध के साथ बनाया जाता है। इसको बनाने में काफी समय लगता है। गीता ने बताया कि यदि हम एक चम्मच रोजाना इसका प्रयोग करते हैं तो इससे शरीर को एनर्जी मिलती है और ये स्वास्थ्य के लिए भी लाभदायक होता है। कुल मिलाकर अब उनको इस बिज़नेस से काफी फायदा हो रहा है और लोग घर की बनी चीज़ों का स्वाद ले रहे हैं। 

पैकिंग, मार्केटिंग और कमाई 

अब सारे प्रॉडक्ट बनाने के बाद बारी आती है पैकिंग करने की। इसके लिए गीता दिन में दो किलो आचार बनाती हैं। जिनको वह 250 ग्राम के डिब्बों में पैक करती हैं। वैसे ही दूध भी करीब 25 से 30 लीटर आता है। फिर इसके बाद घी बनता है। घी और अचार दोनों को अलग-अलग साइज के डिब्बों में पैक कर लिया जाता है। मार्केटिंग करने के लिए गीता सोशल मीडिया का सहारा भी लेती हैं। पहले तो वह सिर्फ व्हाट्सएप के द्वारा ही ऑर्डर्स लेती थीं लेकिन अब उन्होंने अपनी एक वेबसाइट भी लॉन्च कर दी है। इस तरह से उनके सारे प्रॉडक्ट लोगों तक पहुँच जाते हैं। अब उनका बिज़नेस अच्छे से चल रहा है तो उन्होंने 3 से 4 लोगों को भी अपने साथ काम करने के लिए रख दिया है। अब उनको पहले से अधिक आर्डर मिल रहे हैं। इस तरह से अब उनकी कमाई भी काफी अच्छी हो गयी है। वह लगभग इस बिज़नेस से 50 हजार रुपये महीना कमाकर बहुत खुश हैं।