facebook-pixel

कार्यक्षेत्र में मनोविज्ञान की भूमिका

Share Us

1610
कार्यक्षेत्र में मनोविज्ञान की भूमिका
23 Nov 2021
7 min read
TWN Special

Post Highlight

औद्योगिक या संगठनात्मक मनोवैज्ञानिक Industrial or Organizational किसी उद्योग या कार्यक्षेत्र में व्यक्ति, समूह और संगठनात्मक गतिशीलता की जांच या मूल्यांकन करने के लिए जाने जाते हैं। वे काम के तनाव और संगठन की भलाई से संबंधित कर्मचारियों के मुद्दों को हल करने के लिए अनुसंधान पर आधारित प्रथाओं और साक्ष्य के तरीकों को लागू करते हैं।

Podcast

Continue Reading..

व्यवसाय चलाने का एक मात्र उद्देश्य यही होता है कि कैसे अपने व्यवसाय को लाभ प्राप्त कराया जाये। सही और सामाजिक हित से जुड़ी रणनीति के द्वारा यह संभव होता है, लेकिन इसके साथ-साथ, कई अन्य कारक हैं जो एक सफल व्यवसाय चलाने में योगदान देते हैं। सभी कारकों में से सबसे उत्तम कारक- कर्मचारी प्रबंधन Employee Management या सीधे शब्दों में कहें तो, कर्मचारी के मानसिक स्वास्थ्य Mental Health की देखभाल करना। संगठनात्मक मनोविज्ञान की बढ़ती संस्कृति और मानसिक स्वास्थ्य के महत्व ने लोगों के प्रदर्शन में बाधा डालने वाले मुद्दों पर परामर्श और शुरुआती चर्चा का विकास किया है। आइए उन कारणों पर एक नज़र डालते हैं कि क्यों उद्योग/संगठनात्मक Organization मनोविज्ञान दुनिया भर के कर्मचारियों को बेहतर व्यवसायिक रिश्ते बिज़नेस business relation बनाने और उत्पादकता बढ़ाने में मदद कर रहा है। 

1. उत्पादकता में वृद्धि

संगठनात्मक मनोवैज्ञानिक organizational psychologist द्वारा संबोधित प्रमुख मुद्दों में से एक है, उत्पादकता और इसे बढ़ावा देने के तरीका विकसित करना तथा कम उत्पादकता के कारण बाधाओं पर जांच करना है। हालांकि यह सच है कि लगातार काम करने से काम की गुणवत्ता में बाधा आ सकती है और उत्पादकता में काफी कमी आ सकती है। मनोवैज्ञानिकों ने पाया है कि कर्मचारियों को एक सेक्शन से दूसरे सेक्शन में शिफ्ट करने से रुचि का स्तर बढ़ सकता है और कर्मचारियों के बीच सामाजिक संपर्क का मौका टीम भावना और मनोबल को बढ़ा सकता है।

2. टीम बिल्डिंग

टीम बिल्डिंग करना एक सफल बिजनेस सेटअप के लिए एक नींव का आवश्यक बिल्डिंग ब्लॉक building block है, संगठनात्मक मनोवैज्ञानिक इस आवश्यकता को बहुत गंभीरता से संबोधित करता है। वे कर्मचारियों को टीम की भावना को समझने में मदद करने के लिए हर प्रकार की नई-नई पद्धतियों को अपनाते हैं और बाध्य-स्थापित प्रथाओं treditions का अभ्यास करने में मदद करते हैं। विशेष रूप से देखें तो, लक्ष्य प्राप्त करने और संगठन के सामान्य लक्ष्यों की दिशा में काम करने के लिए मिलकर काम करने की आवश्यकता है। मनोवैज्ञानिक सामान्य लक्ष्यों पर टीम वर्क में मदद करने के लिए इनाम प्रणाली की तर्ज पर काम करते हैं, कर्मचारियों की समस्याओं के समाधान का सुझाव देने के लिए समूहों को सशक्त व मजबूत बनाते हैं।

3. कर्मचारियों के बीच संघर्ष को कम करना

संगठनात्मक विकास और उसके आउटपुट पर जोर देते हुए कर्मचारियों के बीच संघर्ष को कम करना एक प्रमुख उद्देश्य होना चाहिए। कर्मचारी एक परियोजना या किसी भी चीज़ के दौरान कई मुद्दों पर बहस करते हैं, यदि संगठन मुद्दों में कमी करने में असमर्थ है, तो वे अपने बचाव के लिए एक संगठनात्मक मनोवैज्ञानिक को रख सकते हैं, ऐसे मनोवैज्ञानिकों को सम्मान, गरिमा, जिम्मेदारी-साझाकरण से संबंधित मुद्दों पर काम करने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है।

4. मानसिक स्वास्थ्य

मानसिक स्वास्थ्य संबंधी चिंताओं की परामर्श और मांगों को पूरा करने के लिए दुनिया भर में बहु-राष्ट्रीय कंपनियों global companies और अन्य कंपनियों ने अत्यधिक लोकप्रियता हासिल की है। तेजी से प्रतिस्पर्धी competitive दुनिया में जहां एक काम करने से जीवन संतुलन शायद ही हो पता है, ऐसे में तनाव का होना भी खुद में एक बड़ा स्तर दर्शाता है। स्वास्थ्य समस्याओं के साथ-साथ मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दों को भी गंभीरता से नहीं लिया जाता है, उत्पादकता में कमी और कम उत्पादन, इन समय में परामर्शदाता और मानसिक स्वास्थ्य विशेषज्ञों के पास कार्यक्षेत्र और सकारात्मक दृष्टिकोण में बदलाव लाने की संभावनाओं की खोज करने की जरूरत है।

5. मार्केटिंग रणनीतियाँ

संगठनात्मक मनोवैज्ञानिक व्यावसायिकता की सीमाओं को फिर से परिभाषित करने के लिए भी जाने जाते हैं, वे एक संगठन को कौशल-विशिष्ट कर्मचारियों skill specialist worker की अपनी सीमा का विस्तार करने, प्रदर्शन के लिए मानदंड स्थापित करने और कर्मचारियों को उन लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद कर सकते हैं, उपभोक्ता की वरीयताओं, मांगों का जाँच करने के लिए मार्केटिंग रणनीति planning for marketing निर्धारित कर सकते हैं और ग्राहकों की संतुष्टि भी इसी में संभव है। 

कुल मिलाकर, एक संगठनात्मक या उद्योग मनोवैज्ञानिक के कई लाभ हैं, वे संस्था की नींव के लिए शक्ति-बढ़ाने वाले एजेंटों के रूप में कार्य कर सकते हैं और एक स्थिर कामकाजी कंपनी stable working organization की स्थापना कर सकते हैं, जो अपने लक्ष्यों से अवगत हो और इसके पीछे एक मजबूत टीम शामिल हो।