facebook-pixel

भाषा का अनुवाद संचार के द्वार खोलता

Share Us

1625
भाषा का अनुवाद संचार के द्वार खोलता
30 Sep 2021
9 min read
TWN In-Focus

Post Highlight

अनुवाद ऐसा माध्यम है जिसकी सहायता से हम आज किसी भी क्षेत्र में खुद को स्थापित कर सकते हैं। यदि अनुवाद ना हो तो हम शायद ऐसे कई पहलुओं से अवगत ही ना हो पाएं, जिनके बारे में जानना हमारे लिए आवश्यक है। भाषा का अनुवाद हुमारे जीवन को सरल और सहज बनाता है। इसकी महत्ता बदलते वक़्त के साथ और भी बढ़ता जा रहा है। कारण यह है कि अब हम खुद को केवल अपने क्षेत्र में ही नहीं, बल्कि वैश्विक अखाड़े में उतर रहे हैं। जहां पर वे क्षेत्रीय भाषा को अपने अनुरूप रूपान्तरित करके ही खुद का विकास कर सकते हैं।

Podcast

Continue Reading..

यह कल्पना ही हमारे मन को रात के ऐसे रेगिस्तान में खड़ा कर देता है, जहां पर दूर-दूर तक केवल रेत है और उसका भी अस्तित्व अंधेरे में धुंधला नजर आता है, जब हम खुद को संचार की दुनिया से नीरस करते हैं। हमारी ज़िंदगी उस डिब्बे सा प्रतीत होता है, जो बाहर से देखने में भरा लगता है, परन्तु अंदर झाँकने पर वह पूर्ण रूप से खाली रहता है। वास्तव में हमारा जीवन संचार के बिना संभव है ही नहीं। हमें प्रतिदिन के छोटे से कार्य में भी संचार की आवश्यकता होती ही है। संचार के माध्यम से ही हम अपनी भावनाओं को प्रकट कर पाते हैं, जो कि किसी भी व्यक्ति के लिए कितना महत्वपूर्ण है। यदि हम अपनी भावनाओं को व्यक्त ना कर पाएं तो हम मानसिक रूप से परेशान रहने लगते हैं, यह किसी भी व्यक्ति के स्वास्थ्य पर प्रभाव डालता है। संचार की सहायता से ही हम आज उस दुनिया में प्रवेश कर पाएं हैं जहां पर हम अपनी सुविधानुसार वस्तुओं का निर्माण करते हैं। प्रत्येक मंजिल तक पहुंचने की एक राह होती है। कुछ मंजिलों का केवल एक रास्ता होता है तो कुछ के पास विकल्पों में रास्ते होते हैं। परन्तु किसी डगर से होकर ही मंजिल तक पहुंचा जा सकता है। जब हम संचार करते हैं तो हमें उसके लिए भी एक रास्ते की ज़रूरत होती है। कई विकल्पों के साथ यहां पर एक रास्ता बोलने वाली भाषा के माध्यम से होकर गुजरता है। हालांकि बोलने वाली भाषा क्षेत्र के अनुरूप बदलती है, जिसे समझ पाना प्रत्येक व्यक्ति के लिए संभव नहीं है। यही कारण है कि हमारी दुनिया में अनुवाद जैसी क्षमता ने जन्म लिया।

अनुवाद से भावनाओं का बंधन 

अनुवाद वह ज़रिया है, जिसके माध्यम से हम किसी भी क्षेत्र में खुद को स्थापित कर पाने में, अपनी भावनाओं को व्यक्त कर पाने में सफल होते हैं। अनुवाद वह झरना है, जिसके सानिध्य में जाकर हम दुनिया की सारी भावनाओं से जुड़ पाते हैं, बिना किसी परेशानी के हम अपने मन में चल रही उलझनों को अनुवाद के सहारे दूसरों से साझा कर पाते हैं, जो हमारी भाषा समझने में सक्षम नहीं हैं।

प्रत्येक भाषा को सीख पाना असंभव 

अनुवाद प्रत्येक व्यक्ति के जीवन में महत्वपूर्ण होता है, क्योंकि दुनिया में अनेक भाषाएं हैं और प्रत्येक भाषा को समझ पाना और सीख पाना हमारे लिए असंभव है। यही कारण है कि जब हमें कोई भाषा नहीं समझ आती तो हम किसी ऐसे व्यक्ति की तलाश करने लगते हैं, जो उस भाषा का रूपांतरण करके हमें समझा सके। आधुनिक दुनिया में तो टेक्नोलॉजी ही हमारे लिए वह मनुष्य बन गया है जो हमारी दुविधा का अनुवाद करता है। इसकी ज़रूरत कितनी है, इसका अंदाज़ा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि प्रत्येक टेक्नोलॉजी खुद को कई भाषाओं में प्रस्तुत करता है। 

ज्ञान का विस्तार करता भाषायी अनुवाद

हम यह कह सकते हैं कि अनुवाद की सहायता से ही हम दुनिया के किसी भी कोने तक आसानी से पहुंच जाते हैं। ज्ञान का विस्तार, एक भाषा के दूसरी भाषा में रूपांतरण से और तीव्र गति से होता है। हमें दुनिया के किसी भी क्षेत्र के किसी विषय की जानकार लेनी हो तो हम इंटरनेट की सहायता से वहां की जानकारी को अपनी भाषा में बदल कर आसानी से जान लेते हैं। किसी भाषा का अनुवाद भौगोलिक बाधा को तोड़कर एक ऐसी ज्यामितीय रचना का निर्माण करता है, जिसमें हर किसी को खुद की क्षमता को प्रदर्शित करने का मौका मिलता है। 

भाषा का अनुवाद बनता आय का ज़रिया

आज जो परिवेश है, वहां पर अनुवाद ना केवल व्यक्ति को दूसरों की सभ्यता को समझने का अवसर दे रहा है, बल्कि व्यक्ति के लिए ऐसे क्षेत्र के द्वार भी खोल रहा है जहां से वह अपने आय का ज़रिया तलाश कर पाते हैं। जब हम किसी ऐसे इलाके में जाते हैं, जहां की भाषा से हम बिल्कुल अंजान हैं तो हम ऐसे व्यक्ति की खोज में रहते हैं, जो सदैव हमारे साथ रहे और हमारी भाषा में वहां के प्रत्येक परिवेश से अवगत कराये। इसी ज़रूरत को कई लोग अपने आय का ज़रिया बना लेते हैं। ऐसे लोगों के लिए उनका मार्गदर्शक बनकर उन्हें अपने परिवेश के बारे में बताना और उसके बदले में एक तय सैलरी लेना, क्षेत्रीय लोगों के लिए अच्छा कार्य सिद्ध होता है तथा इससे वह अपने जीवन की ज़रूरतों को पूरा करने में सफल होते हैं।

शैक्षिक संस्थानों में शामिल विभिन्न भाषाएं

प्रत्येक व्यक्ति अपनी बोल-चाल की भाषा के अलावा भी अन्य भाषा के प्रति आकर्षित होता है। यही कारण है कि शैक्षिक संस्थानों में विभिन्न प्रकार की भाषा का विषय सम्मिलित किया गया है। जिसे जो रूचि होती है, व्यक्ति उसका चयन करके उसको पढ़ता है और उसमें अपना भविष्य सुनहरा करता है। प्रत्येक कंपनी इंटरनेट पर अपनी वेबसाइट बनाती है, ताकि उनकी पहुंच अधिकतम लोगों तक हो सके। इसको और अधिक क्षेत्र में विस्तारित करने के लिए वे अपने वेबसाइट को अनेक भाषाओं में अनुवाद करके पढ़ने का विकल्प देते हैं।

पॉडकास्ट में भी अनुवाद की सुविधा

लोग कभी-कभी पढ़ना पसंद नहीं करते हैं, इसलिए कोशिश करते हैं कि वह जो जानना चाहते हैं उसे किसी की आवाज में सुन पाएं। इस ज़रूरत को पूरा करने के लिए व्यवसायिक और औद्योगिक कंपनियां तथा कोई वेबसाइट पॉडकास्ट जैसी सुविधा लोगों को मुहैया कराती हैं। इसमें भी वह लोगों को अनुवाद करके अपनी भाषा के अनुरूप पॉडकास्ट सुनने की सुविधा देते हैं। अनुवाद हमारे जीवन में बहुत महत्वपूर्ण है। इसकी महत्ता को लोग और अधिक समझ सकें यही कारण है कि वैश्विक स्तर पर विश्व अनुवाद दिवस 30 सितम्बर को मनाया जाता है। 

परिहास के बजाय मदद का करें प्रयास 

यदि हमारे सामने ऐसा कोई मनुष्य उपस्थित हो जिसे, हमारी क्षेत्रीय भाषा समझ में ना आये, तो हमें यह प्रयास करना चाहिए कि हम उसका परिहास करने के बजाय उसको अपनी भाषा से अवगत कराएं और उसकी मुश्किलों को आसान करने में मदद करें। हालांकि इंटरनेट ने अधिकतम सारे मुश्किल पहले ही आसान कर दिया है। अब किसी अंजान जगह पर भी हमें सफर करने में कोई परेशानी नहीं होती।    

किसी क्षेत्र में खुद को स्थापित करना आसान 

अनुवाद ही ऐसा माध्यम है जिसकी सहायता से हम आज किसी भी क्षेत्र में खुद को स्थापित कर सकते हैं। यदि अनुवाद ना हो तो हम शायद ऐसे कई पहलुओं से अवगत ही ना हो पाएं, जिनके बारे में जानना हमारे लिए आवश्यक है। भाषा का अनुवाद हमारे जीवन को सरल और सहज बनाता है। इसकी महत्ता बदलते वक़्त के साथ और भी बढ़ती जा रही है। कारण यह है कि अब हम खुद को केवल अपने क्षेत्र में ही नहीं, बल्कि वैश्विक अखाड़े में उतार रहे हैं। जहां पर वे क्षेत्रीय भाषा को अपने अनुरूप रूपान्तरित करके ही खुद का विकास कर सकते हैं।