facebook-pixel

परियोजना प्रबंधन में प्रतियोगी अनुसंधान का सार

Share Us

1253
परियोजना प्रबंधन में प्रतियोगी अनुसंधान का सार
13 Dec 2021
8 min read
TWN In-Focus

Post Highlight

प्रतियोगी अनुसंधान competitive research को हम तभी समझ पाएंगे जब हम परियोजना प्रबंधन के बारे में अच्छे से जान जाएंगे। हमें जानना होगा कि परियोजना आखिर क्या होती है और क्यों बनाई जाती है कोई भी परियोजना। परियोजना मूल रूप से एक व्यवस्थित योजना होती है। जिसका पूरा खाका तैयार कर लिया जाता है और बाद में उसको एक साकार रूप दे दिया जाता है। इसी परियोजना प्रबंधन Project Management को साकार रूप को देने के लिए ही एक लंबी योजना बनाई जाती है। किसी भी परियोजना को सही रूप से आगे बढ़ाने के लिए कई चीजों के बारे में जानना होता है और कई अनुसंधान करने होते हैं। इसी अनुसंधान में जो सबसे जरुरी है वो है प्रतियोगी अनुसंधान। प्रतियोगी अनुसंधान का अर्थ है दूसरे प्रतियोगियों के प्रोडक्ट्स के बारे में जानना, उनकी वेबसाइट को देखकर उनके बारे में पूरी जानकारी लेना और फिर विश्लेषण analyse करना। इसका यह फायदा होगा कि आप अपनी परियोजना को सुचारु रूप से चला पाएंगे और समझ पाएंगे। इसके अलावा जो भी कमियाँ आपकी परियोजना में होंगी उन सबको दूर कर पाएंगे।

Podcast

Continue Reading..

प्रतियोगी अनुसंधान Pompetitive research के बारे में जानने के लिए हमें सबसे पहले परियोजना प्रबंधन Project Management के बारे में जानना होगा कि परियोजना प्रबंधन वास्तव में क्या है और किसे कहते हैं परियोजना प्रबंधन। इसका मूल उद्देश्य क्या है। परियोजना एक तरह से किसी काम को करने से पहले बनाई गयी एक सुनियोजित योजना है। किसी काम को शुरू करने से पहले उस काम की एक पूरी रूपरेखा तैयार करना या योजना बनाना ही परियोजना कहलाता है। परियोजना मतलब जिसको आगे लागू किया जाता है और फिर उसको एक आकार दे दिया जाता है। हम कह सकते हैं कि किसी भी परियोजना को एक आकार देने के लिए बहुत लंबा रास्ता तय करना होता है और यही रास्ता तय करने के लिए काफी अनुसंधान करने पड़ते हैं। जिनमें मुख्य है प्रतियोगी अनुसंधान। परियोजना प्रबंधन में प्रतियोगी अनुसंधान का उद्देश्य है कि प्रतियोगियों के उत्पाद या उनकी परियोजनाओं का विश्लेषण analyze करना या आज के दौर में हम कह सकते हैं कि प्रतियोगियों की वेबसाइट का अध्ययन या विश्लेषण करना, प्रतियोगी अनुसंधान का महत्वपूर्ण बिंदु है। वेबसाइट website का अध्ययन या विश्लेषण करने से हमें अपनी marketing strategies को बेहतर करने का मौका मिलता है। चलिए जानते हैं परियोजना प्रबंधन में क्या है प्रतियोगी अनुसंधान।

क्या है प्रतियोगी अनुसंधान ?

पहले हम परियोजना प्रबंधन को समझ लेते हैं। परियोजना प्रबंधन को हम इस तरह से समझ सकते हैं कि यह शुरू से अंत तक योजना और परियोजना प्रक्रियाओं के द्वारा चलने वाला या मार्गदर्शन करने वाला दृष्टिकोण है। यह परियोजना से शुरू होता है और लक्ष्य की प्राप्ति के साथ समाप्त हो जाता है। परियोजना प्रबंधन में जो सबसे महत्वपूर्ण और मुख्य बिंदु है वो है प्रतियोगी अनुसंधान। प्रतियोगी अनुसंधान को जानना और इसे सही तरीके से लागू करन अति आवश्यक है। प्रतियोगियों का विश्लेषण करना, उनको जानना, अच्छे से समझना और उस आधार पर अपने उत्पाद की बिक्री बढ़ाने के लिए उत्पाद में सुधार करना प्रतियोगी अनुसंधान के अंदर आता है। यह अनुसंधान का एक क्षेत्र है जो प्रतिद्वंदी फर्मों competitor firms के बारे में जानकारी के संग्रह और समीक्षा collections and reviews में माहिर है। हम यह पता लगा सकते हैं कि प्रतियोगी क्या कर रहे हैं और वे आपकी कंपनी की सफलता के लिए किस तरह का खतरा पैदा कर सकते हैं। क्योंकि आपकी जैसी अन्य कई कंपनियां भी हैं जो आपके समान/उत्पाद या सेवा प्रदान करती हैं। प्रतियोगी अनुसंधान का मतलब ही यही है कि यदि आपको उनसे आगे बढ़ना है तो इसके लिए आपको अधिक से अधिक जानकारी जुटानी है। तभी जाकर आप अपने प्रतिस्पर्धियों competitor पर बढ़त हासिल कर सकते हैं। 

प्रतियोगी अनुसंधान का महत्व

आजकल नए नए सॉफ्टवेयर और प्रौद्योगिकी software and technology आ चुकी है। इसके द्वारा businessman अपने बिज़नेस को और भी अच्छे तरीके से जान लेते हैं और उन्हें पता है कि आगे रहने के लिए नियमित रूप से एक संपूर्ण प्रतिस्पर्धी विश्लेषण करना अत्यंत महत्वपूर्ण है। आपको मार्केट में अपने प्रतिस्पर्धियों पर बढ़त हासिल करने के लिए अधिक से अधिक जानकारी जुटाने की और अंतर्दृष्टि insight की जरुरत होती है। प्रतियोगी अनुसंधान इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि इसके द्वारा ही आप यह जान सकते हैं कि आपके प्रतियोगी क्या कर रहे हैं, उनकी रणनीति क्या है और सबसे जरुरी ये जानना कि उनके द्वारा आपकी कंपनी की सफलता के लिए कोई खतरा तो नहीं है। अगर आप चाहते हैं कि आपकी कंपनी सफल बने या सबसे एक कदम आगे रहे तो इसके लिए प्रतियोगी अनुसंधान अत्यंत महत्वपूर्ण है। इसके लिए आप कंपनियों के बारे में जानकारी खोजने के लिए सर्च इंजन search engine का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। 

प्रतियोगी विश्लेषण कैसे करें

प्रतियोगी विश्लेषण करने के लिए आपको कुछ बिंदुओं पर ध्यान देना आवश्यक है जैसे -

1 - प्रतिस्पर्धी सामग्री का विश्लेषण और शीर्ष प्रतिस्पर्धियों की पहचान

इसके द्वारा आप प्रतिस्पर्धियों की सामग्री का विश्लेषण कर सकते हैं। उनकी सामग्री का विश्लेषण करने से आपको यह जानने में आसानी होगी कि आप उनसे कैसे बेहतर कर सकते हैं और फिर आप उससे अपनी सामग्री की तुलना कर सकते हैं। इसका सबसे बड़ा फायदा यह है कि आप उनके उत्पाद की गुणवत्ता Product quality का पता कर सकते हैं। ये भी जानें कि वे किस तरह से सामग्री को अपडेट कर रहे हैं। उनके ब्लॉग को देखें और समझें। यह जानने की कोशिश करें कि वो किस विषय में बात कर रहे हैं और उनका ध्यान किस प्रकार की सामग्री निर्माण पर है। इसके साथ ही आप कुछ शीर्ष प्रतिस्पर्धियों Top Competitors की पहचान करें। आप  विभिन्न ऑनलाइन टूल्स online tools का उपयोग करके यह पता लगा सकते हैं कि आपके शीर्ष प्रतियोगी कौन हैं । आपके सामने कई कंपनियां होंगी जो आपके साथ प्रतिस्पर्धा कर रहे हैं इसलिए आपको उन शीर्ष प्रतिस्पर्धियों के बारे में जानकारी जुटाकर उनसे आगे बढ़ना है। आपको उन सबसे कुछ अलग करना है। 

2- प्रतिस्पर्धियों का सोशल मीडिया प्लेटफार्म और खुद में सुधार करना 

इस डिजिटल digital युग के समय में सोशल मीडिया social media पर किसी कंपनी की उपस्थिति अत्यंत महत्वपूर्ण हो गयी है। आजकल कंपनी किसी भी उत्पाद या सेवा को ऑनलाइन बेचते हैं। उनके ब्लॉग या लेख की तुलना में आप प्रासंगिक विषयों relevant topics के बारे में अधिक बार प्रकाशित करके फायदा पा सकते हैं। आप उनके लेख से बेहतर लेख लिखने की कोशिश करें। जिससे ग्राहकों का सारा ध्यान आप पर केंद्रित हो। आप अपने प्रतिस्पर्धियों से बेहतर प्रदर्शन करने की कोशिश करें। आप प्रतिस्पर्धियों के अलग तरीके पर ध्यान केंद्रित करें। उनके काम को जितना करीब से देखेंगे उतना ही आपको फायदा होगा। आपको यह विश्लेषण करना है कि आपके प्रतियोगी सोशल मीडिया का उपयोग कैसे कर रहे हैं और उनकी रणनीति क्या है। वे क्या-क्या जानकारी सोशल मीडिया पर पोस्ट कर रहे हैं। ये जानना बहुत ही जरुरी है। अब पूरा विश्लेषण करने के बाद आपको काफी कुछ समझ में आ जाता है कि आप अपनी परियोजना को किस तरह से और बेहतर बना सकते हैं। अगर आपने अपने प्रतियोगी के बारे में पूरी जानकारी एकत्रित की है तो आप अपने कार्य क्षेत्रों में सुधार कर सकते हैं। इन सबके द्वारा आप अपने ग्राहकों, ब्लॉग पाठकों blog readers के साथ अच्छे संबंध बना सकते हैं और अपने आपको एक अच्छी स्थिति के साथ मार्केट में स्थापित कर सकते हैं।