facebook-pixel

बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन-सामाजिक कल्याण के लिए प्रतिबद्ध

Share Us

1582
बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन-सामाजिक कल्याण के लिए प्रतिबद्ध
29 Mar 2022
6 min read
TWN Opinion

Post Highlight

बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन Bill and Melinda Gates Foundation एक समाजसेवी संस्था है। इस ऑर्गेनाइजेशन को दुनिया के धनी व्यक्ति बिल गेट्स ने साल 2000 में अपनी पत्नी मेलिंडा के साथ मिल कर बनाया था। यह फाउंडेशन वैश्विक सार्वजनिक स्वास्थ्य मामलों में बहुत ही शक्तिशाली और प्रभावशाली ताकतों और संस्थानों में से एक है। इस आर्टिकल के माध्यम से आप बिल गेट्स और उनके ऑर्गेनाइजेशन बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन के बारे में विस्तारपूर्वक जान पायेंगे।

Podcast

Continue Reading..

आज दुनिया में कई ऑर्गेनाइजेशन Organization हैं और हर ऑर्गेनाइजेशन का अपना-अपना कार्य है। ऐसे ही दुनिया की एक परोपकारी ऑर्गेनाइजेशन है- Bill and Melinda Gates Foundation बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन। बिल गेट्स और मेलिण्डा गेट्स Bill Gates and Melinda Gates ने इसकी शुरुआत की थी। इस ऑर्गेनाइजेशन के बारे में जानने से पहले बिल गेट्स के बारे में जान लेते हैं। 2020 की फ़ोर्ब्स की अरबपतियों की लिस्ट के अनुसार 103 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ बिल गेट्स दुनिया के दूसरे सबसे धनी व्यक्ति थे। माइक्रोसॉफ्ट Microsoft Company के को-फाउंडर और विश्व के सबसे अमीर व्यक्तियों में से एक अरबपति बिल गेट्स को कौन नहीं जानता है। बिल गेट्स Bill Gates का जन्म 28 अक्टूबर 1955 सीऐटल, वॉशिंगटन राज्य, Seattle, Washington संयुक्त राज्य अमेरिका में हुआ था। उनकी रुचि बचपन से ही Computer Programming कंप्यूटर प्रोग्रामिंग में थी। उसी की वजह से वह टेक्नोलॉजी के द्वारा नये-नये बिजनेस योजनाएं बनाने में और बहुत ही आक्रामक बिजनेस रणनीति business strategy बनाने में माहिर हैं। आज वह Microsoft Business माइक्रोसॉफ्ट बिज़नेस की वजह से दुनिया के अमीर व्यक्ति हैं।

उनका प्रारंभिक स्कूल सिएटल लेकसाइड स्कूल Seattle Lakeside School था। उन्होंने जब सिएटल के एक स्कूल में पढ़ाई की तब वहाँ उनकी दोस्ती पॉल एलन से हुई जिसके साथ उनका रिश्ता उम्र भर बना रहा। बचपन से ही बिल गेट्स की कंप्यूटर में रूचि बढ़ने लगी और वह ज्यादा से ज्यादा समय कंप्यूटर को देते थे। कंप्यूटर प्रोग्रामिंग क्या है, इसके बारे में वह जानने लगे। उनके दोस्त Paul Allen पॉल एलन और बिल गेट्स अपना अधिकतर समय Programming प्रोग्रामिंग में गुजारते थे। जब बिल गेट्स सिर्फ 15 साल के थे, तब उन्होंने अपने मित्र पॉल एलन के साथ “Traf-O- Data Program” ट्रैफ-ओ- डेटा प्रोग्राम बनाया जो सिएटल Seattle City के ट्रैफिक पैटर्न Traffic Pattern पर नजर रखता था। बिल गेट्स के माता पिता ने आगे की पढ़ाई के लिए हावर्ड यूनिवर्सिटी Harvard University में बिल गेट्स का दाखिला करा दिया। बिल गेट्स और उनके मित्र ऐलन ने 1975 में माइक्रोसॉफ्ट कंपनी की शुरूआत की। बिल और पॉल ने पहले बेसिक नाम का प्रोग्राम बनाया जो माइक्रो कंप्यूटर की प्रसिद्ध प्रोग्रामिंग लैंग्वेज programming language है। बिल गेट्स की माइक्रोसॉफ्ट धीरे धीरे पूरी दुनिया में फ़ैल गयी। FORBES की विश्व की सबसे अमीर लोगों की श्रेणी में गेट्स का नाम लगातार 11 वर्षों तक पहले नंबर पर आता रहा है।

20 नवंबर सन् 1985 को माइक्रोसॉफ्ट द्वारा “विंडोज” (Windows) ऑपरेटिंग सिस्टम पूरी दुनिया के सामने आ गया। सन् 1989 में माइक्रोसॉफ्ट ने “माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस” अपना ऑफिस खोला। उसमें बहुत सारी एप्लीकेशन जैसे माइक्रोसॉफ्ट वर्ड और एक्सेल Microsoft Word and Excel एक साथ एक ही सिस्टम में चलाया जा सकता है। माइक्रोसॉफ्ट के कारण बिल गेट्स ने पर्सनल कंप्यूटर पर एकाधिकार कर लिया।

अब बिल गेट्स के वैवाहिक जीवन की बात करें तो बिल गेट्स की शादी फ़्रांस में रहने वाली मेलिंडा से सन् 1994 में हुई थी। इनके तीन बच्चे हैं और इनका वैवाहिक जीवन काफी सालों तक अच्छा चला लेकिन बिल गेट्स ने अपनी पत्नी मेलिंडा गेट्ल से शादी के 27 सालों बाद मई 2021 में अलग होने का फैसला किया और दोनों अलग हो गए।

माइक्रोसॉफ्ट के अलावा बिल गेट्स बहुत बड़े दानी भी हैं उन्होंने बहुत सारे दान किये हैं। 2000 में, गेट्स के दो परोपकारी संगठन- विलियम एच. गेट्स फाउंडेशन और गेट्स लर्निंग फाउंडेशन- का विलय बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन बनाने के लिए हुआ। दुनिया के सबसे धनी व्यक्ति रह चुके गेट्स ने साल 2000 में अपनी पत्नी के साथ मिल कर ही बिल एंड मिलिंडा गेट्स फाउंडेशन बनाया था। यह विश्व का काफी बड़ा दानशील संस्थान Charitable Foundation है। वर्तमान में फाउंडेशन में केवल तीन ट्रस्टी हैंं, जिनमें बिल गेट्स उनकी पूर्व पत्नी मेलिंडा फ्रेंच गेट्स और बफेट शामिल हैं। इस ऑर्गेनाइजेशन के सीईओ मार्क सुज़मैन CEO Mark Suzman हैं।

गेट्स वैश्विक स्वास्थ्य, शिक्षा और जलवायु परिवर्तन Global health, education and climate change जैसे मुद्दों पर अधिक काम करते हैं। पिछले दो दशकों में यह फाउंडेशन वैश्विक सार्वजनिक स्वास्थ्य मामलों में सबसे शक्तिशाली और प्रभावशाली ताकतों और संस्थानों में से एक है। Bill and Melinda Gates Foundation बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन, एक जानी मानी समाजसेवी संस्था है। गेट्स फाउंडेशन उपेक्षित बीमारियों से लड़ने और सबसे महत्वपूर्ण बच्चों में टीकाकरण की दर vaccination rates in children को बढ़ाने का काम करता है। फाउंडेशन ने 2007 में इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ मेट्रिक्स एंड इवैल्यूएशन को लॉन्च करने में मदद की। यह अब वैश्विक स्वास्थ्य आंकड़ों का प्रमुख स्रोत है और वैक्सीन रोलआउट और कैंसर स्क्रीनिंग जैसे कार्यक्रमों के प्रभाव का मूल्यांकन करने के लिए एक महत्वपूर्ण उपकरण है।

'बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन' ऐसी कई परेशानियों के लिए कोष दान में देता है जिनको सरकार द्वारा अनदेखा किया जाता है जैसे कम प्रतिनिधित्व वाले अल्पसंख्यक समुदायों के लिये कॉलेज छात्रवृत्तियां college scholarships, कृषि और एड्स बीमारी को दूर करना। इस फाउंडेशन का मकसद यूएस में शैक्षिक अवसरों और सूचना प्रौद्योगिकी तक पहुंच का विस्तार करना है। अपनी स्थापना के बाद से, फाउंडेशन ने कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय में गेट्स कैम्ब्रिज छात्रवृत्ति की स्थापना सहित सामाजिक, स्वास्थ्य और शिक्षा के विकास की एक विस्तृत श्रृंखला का समर्थन किया है। कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय अमेरिका और दुनिया भर के छात्रों को अध्ययन करने की अनुमति देता है।

गेट्स फाउंडेशन का वैश्विक स्वास्थ्य पर गहरा प्रभाव पड़ा है। इसके दान का जो विशाल पैमाना है वह आश्चर्यजनक है। बिल गेट्स इस संस्था की मदद से असहाय और गरीब लोगों की मदद करते हैं। इसके अलावा वह कई संस्थानों के जरिए दान भी करते हैं। यदि अभी हाल ही की बात की जाए तो बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन ने पूरी दुनिया में कोरोना वायरस coronavirus से निपटने के लिए 100 मिलियन डॉलर (751 करोड़ रुपए) की मदद देने की बात की थी। बिल गेट्स ने वाशिंगटन के लिए 50 करोड़ रुपया देने की घोषणा की थी।

गेट्स ने एचआईवी/एड्स, तपेदिक और मलेरिया जैसी गंभीर संक्रामक बीमारियों से लड़ने और मातृ स्वास्थ्य और बचपन की मृत्यु दर Improving maternal health and childhood mortality में सुधार के लिए अरबों का वितरण किया है। उनके फाउंडेशन ने कोरोना वायरस को रोकने के लिए दुनियाभर में कोरोना की दवा और टीका विकसित करने वालों के साथ मिलकर काम किया है। उनके बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन का उद्देश्य समाज में लोगों के स्वास्थ्य में वृद्धि Increasing health और reducing extreme poverty around the world दुनिया भर में अत्यधिक गरीबी को कम करना है। बिल गेट्स भारत आ कर भारत के गरीबों के लिए भी महत्वपूर्ण कार्य करते हैं।

बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन -Bill and Melinda Gates Foundation भारत के सबसे कमजोर लोगों के लिए और उनकी स्थितियों में सुधार करने के लिए काम करते हैं। फाउंडेशन मुख्य रूप से दो राज्यों में अपने निवेश पर ध्यान केंद्रित करते हैं, बिहार और उत्तर प्रदेश। यहाँ की आबादी और बीमारी के कारण इन राज्यों की अत्यधिक जरूरतें हैं। जिसके लिए सरकार के साथ मिलकर काम कर रहे हैं। फाउंडेशन ने भारत में 2003 में एक एचआईवी रोकथाम कार्यक्रम HIV prevention program के साथ काम करना शुरू किया था। इनका कार्य भारत के सबसे कमजोर समुदायों के भविष्य को सुरक्षित करना है। वे प्रमुख मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करते हैं जैसे प्रजनन, मातृ, नवजात, बाल स्वास्थ्य और पोषण, स्वच्छता, कृषि विकास, लैंगिक समानता और डिजिटल वित्तीय समावेशन। फाउंडेशन ने संयुक्त राज्य अमेरिका के अलावा अन्य देश की तुलना में भारत में अधिक निवेश किया है। यह फाउंडेशन केंद्र और राज्य सरकारों के साथ काम करने के अलावा सामुदायिक समूहों, शैक्षणिक संस्थानों, गैर-लाभकारी संगठनों, निजी क्षेत्र और विकास संगठनों के साथ साझेदारी करते हैं। 

यह अधिक प्राथमिकता वाले राज्यों, बिहार और उत्तर प्रदेश में सेवाओं की गुणवत्ता और कवरेज में सुधार करने के साथ ही तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, ओडिशा और महाराष्ट्र में भी काम करते हैं। फाउंडेशन स्वास्थ्य के लिए मानव संसाधनों के प्रबंधन के साथ-साथ आपूर्ति श्रृंखलाओं को मजबूत करने के लिए सरकार के प्रयासों का भी समर्थन करता है। फाउंडेशन पूरे भारत में छोटे किसानों को सशक्त बनाने के लिए काम करता है। जिससे विशेष रूप से महिलाएं अपनी उत्पादकता में सुधार करके अपनी आय को बढ़ाकर अपनी आजीविका चला सके। बिहार और उत्तर प्रदेश में फाउंडेशन मातृ, नवजात और बाल स्वास्थ्य, बचपन पोषण, परिवार नियोजन, टीकाकरण और रोग नियंत्रण के क्षेत्रों में राज्य के लक्ष्यों का समर्थन करता है, साथ ही कृषि विकास, डिजिटल वित्तीय समावेशन और महिला आर्थिक सशक्तिकरण का समर्थन करता है। यह उत्तर प्रदेश में महिलाओं के आर्थिक सशक्तिकरण और डिजिटल वित्तीय समावेशन के विस्तार के प्रयासों का भी समर्थन करता है। 

फाउंडेशन संयुक्त राज्य अमेरिका के बाद डब्ल्यूएचओ का दूसरा सबसे बड़ा फंडर भी है। फाउंडेशन ने पोलियो और मलेरिया से लड़ने के लिए अरबों खर्च किए हैं। फाउंडेशन ने इबोला से लड़ने में मदद करने के लिए भी 2014 में $50 मिलियन का वादा किया था। 2010 में, वॉरेन बफेट के साथ, बिल गेट्स ने गिविंग प्लेज की शुरुआत की, एक ऐसा अभियान जो अमीरों को परोपकारी कार्यों के लिए अपनी अधिकांश संपत्ति दान करने के लिए प्रोत्साहित करता है।

बिल गेट्स और मिलेंडा गेट्स की लगभग 148 बिलियन डॉलर की संपत्ति है, जिसमें पब्लिक और प्राइवेट कंपनियों के स्टॉक, निजी हवेली, निजी जेट और होटल आदि शामिल हैं। तलाक के बाद ‘बिल एंड मेलिंडा गेट्स’ फाउंडेशन' इस बंटवारे का हिस्सा नहीं है। दोनों ने कहा था कि वो अपने चैरिटेबल फाउंडेशन बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन में साथ मिलकर काम करते रहेंगे। गेट्स फाउंडेशन अन्य देशों की तुलना में हर साल वैश्विक स्वास्थ्य पर अधिक खर्च करता है। फाउंडेशन ने वैश्विक स्वास्थ्य के लिए निजी फंडिंग को अभूतपूर्व स्तर पर ले लिया है और दूसरों को भी ऐसा करने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए बिल और मेलिंडा की सराहना की जाती है।

कुल मिलाकर हम कह सकते हैं कि फाउंडेशन का पैसा निस्संदेह वैश्विक स्वास्थ्य प्रयासों global health efforts के लिए बहुत बड़ा वरदान रहा है। बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन' जो कि वैश्विक स्वास्थ्य के उपेक्षित क्षेत्रों के लिए, शिक्षा और अन्य कई क्षेत्रों के लिए अपने धन का उपयोग करते हैं, वास्तव में यह एक महान महान कार्य है।

Think with Niche पर आपके लिए और रोचक विषयों पर लेख उपलब्ध हैं एक अन्य लेख को पढ़ने के लिए कृपया नीचे  दिए लिंक पर क्लिक करे-

बिल गेट्स की पसंदीदा किताबे

https://www.author.thinkwithniche.com/allimages/project/thumb_957dffavorite-books-of-bill-gates.jpg