News In Brief Business and Economy
News In Brief Business and Economy

UPI ट्रांसक्शन्स ने 2024 में पहली बार 100 बिलियन का आंकड़ा पार किया

Share Us

110
UPI ट्रांसक्शन्स ने 2024 में पहली बार 100 बिलियन का आंकड़ा पार किया
03 Apr 2024
7 min read

News Synopsis

भारत में यूपीआई ट्रांसक्शन्स UPI Transactions में पिछले वित्तीय वर्ष की तुलना में वित्तीय वर्ष 2023-24 में मात्रा में रिकॉर्ड 57 प्रतिशत और मूल्य में 44 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई।

मार्च 2024 में भी मार्च 2023 की तुलना में ट्रांसक्शन्स की मात्रा 55 प्रतिशत बढ़कर 13.44 बिलियन और मूल्य 40 प्रतिशत बढ़कर 19.78 ट्रिलियन हो गई।

यह पहली बार था, कि यूपीआई ट्रांसक्शन्स 100 बिलियन को पार कर गया और एक वित्तीय वर्ष में 131 बिलियन पर बंद हुआ, जबकि 2022-23 में यह 84 बिलियन था।

इस वर्ष 139.1 ट्रिलियन रुपये की तुलना में रिकॉर्ड मूल्य 199.89 ट्रिलियन रुपये तक पहुंच गया।

फरवरी 2024 में क्रमशः 12.10 अरब और 18.28 ट्रिलियन रुपये का ट्रांसक्शन्स देखा गया। जनवरी 2024 में मात्रा और मूल्य के हिसाब से यह 12.20 अरब और 18.41 ट्रिलियन रुपये था।

वित्त वर्ष 24 में यूपीआई बहुत अच्छी गति से बढ़ी है, ट्रांसक्शन्स में मात्रा के मामले में सालाना आधार पर 56 प्रतिशत और मूल्य के मामले में सालाना आधार पर 43 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। औसत टिकट आकार में लगातार कमी के साथ यूपीआई की जड़ें गहरी हो गई हैं, जिसका मतलब है, कि छोटी टिकट वस्तुओं के लिए यूपीआई का उपयोग बढ़ गया है।

यूपीआई ट्रांसक्शन्स पर वर्ल्डलाइन इंडिया के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट सुनील रोंगला Sunil Rongla Senior Vice President Worldline India ने कहा "मार्च 2024 में एटीएस संख्या 1,471 रुपये देखी गई, जबकि मार्च 2023 में यह 1,623 रुपये थी।"

दूसरी ओर मार्च 2024 में IMPS ट्रांसक्शन्स की मात्रा 17 प्रतिशत बढ़कर 581 मिलियन ट्रांसक्शन्स और मूल्य 16 प्रतिशत बढ़कर 6.35 ट्रिलियन रुपये हो गई।

पूरे वित्तीय वर्ष के दौरान यह 2022-23 में 5,510 मिलियन ट्रांसक्शन्स के मुकाबले 9 प्रतिशत बढ़कर 5,999 मिलियन हो गया।

वित्तीय वर्ष 2023-24 के दौरान IMPS ट्रांसक्शन्स का मूल्य 64.93 ट्रिलियन रुपये था, जो एक साल पहले 55.42 ट्रिलियन रुपये से 17 प्रतिशत अधिक था। फरवरी 2024 में वॉल्यूम 535 मिलियन और मूल्य 5.68 ट्रिलियन रुपये देखा गया, जो जनवरी 2024 में 509 मिलियन और 5.66 ट्रिलियन रुपये था।

इस बीच FASTag ट्रांसक्शन्स की मात्रा 11 प्रतिशत बढ़कर 339 मिलियन हो गई और मूल्य 17 प्रतिशत बढ़कर 5,939 करोड़ रुपये हो गया। इसकी तुलना फरवरी 2024 में मात्रा में 323 मिलियन और मूल्य में 5,582 करोड़ रुपये और जनवरी 2024 में क्रमशः 331 मिलियन और 5560 करोड़ रुपये थी।

मार्च में आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम 1 प्रतिशत की मामूली गिरावट के साथ 108 मिलियन लेनदेन पर आ गई। मूल्य के लिहाज से भी यह 8 प्रतिशत घटकर 27,996 करोड़ रुपये रह गया। मात्रा के संदर्भ में यह जनवरी में 86 मिलियन और फरवरी में 83 मिलियन से कम था। मूल्य के हिसाब से यह जनवरी में 25,057 करोड़ रुपये और फरवरी में 22,007 करोड़ रुपये था।