SMS के माध्यम से होगा पैसे का ट्रांजैक्शन

Share Us

1291
SMS के माध्यम से होगा पैसे का ट्रांजैक्शन
03 Feb 2023
8 min read

News Synopsis

Latest Updated on 03 February 2023

भारतीय स्टेट बैंक State Bank of India भारत के सबसे बड़े सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में से एक है, यह अक्सर अपने ग्राहकों के लिए नई सेवाएं लेकर आता है। बैंक ने घोषणा की कि वह अब फीचर फोन से यूएसएसडी के माध्यम से धन हस्तांतरण के लिए एसएमएस शुल्क नहीं लेगा। कि ग्राहक बिना किसी अतिरिक्त शुल्क के यूएसएसडी सेवा का उपयोग कर सकेंगे। इससे अधिक लोगों के लिए मोबाइल मनी ट्रांसफर Mobile Money Transfer सस्ता हो जाएगा।

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने घोषणा की है, कि उन्होंने मोबाइल फंड ट्रांसफर Mobile Fund Transfer के लिए एसएमएस शुल्क SMS Charges हटा दिया है। जो नियमित फोन उपयोगकर्ताओं के लिए यूएसएसडी सेवा का उपयोग करना बहुत आसान और सस्ता बना देगा।

स्टेट बैंक ने यह भी घोषणा की है, कि यदि आप यूएसएसडी सेवा का लाभ लेना चाहते हैं। तो आपको अपने मोबाइल से *9# डायल करना चाहिए। इसके बाद आप कई बेनिफिट्स फ्री Benefits Free में उठा सकते हैं। यह विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों Rural Areas के लोगों के लिए फायदेमंद है। जिनकी इंटरनेट तक कम पहुंच है, और फिर भी बड़ी संख्या में फीचर फोन का उपयोग करते हैं।

यूएसएसडी सेवा USSD Service के माध्यम से आप बिना किसी शुल्क के बुनियादी बैंकिंग कार्य Basic Banking Operations कर सकते हैं। इसमें आपका बैंक बैलेंस चेक Balance Check करना, अपना बैंक मिनी स्टेटमेंट Mini Statement देखना और अपना UPI पिन बदलना शामिल है। ऐसा करने के लिए आपको इंटरनेट Internet से कनेक्ट होने या स्मार्टफोन Smartphone होने की भी आवश्यकता नहीं है।

Last Updated on 03 August 2021

ई-रुपी डिजिटल पेमेंट को भारत में डिजिटल ट्रांजैक्शन Digital Transaction के लिए लागू किया गया है, जो SMS और QR Code के माध्यम से ट्रांजैक्शन करेगा। भारत में इसको कैशलेस दुनिया की तरफ एक और कदम बढाते हुए देख सकते हैं। इस डिजिटल वाउचर से पेमेंट करने में आसानी इसलिए होगी कि हमें किसी नेट बैंकिंग और पेमेंट एप Payment App की ज़रूरत  नहीं होगी। यह वाउचर इस आधार पर ही रहेगा कि इसमें पहले से पैसे रहेंगे। ई-रूपी के आने से एक फायदा यह भी होगा कि प्राप्तकर्ता की पूरी जानकारी सुरक्षित रहती है। इसकी सबसे असरकारी प्रक्रिया यह होगी कि इसमें SMS के माध्यम से पैसे ट्रांसफर किये जा सकेंगे, जिसका फायदा उन लोगों को होगा जो कोई भी डिजिटल पेमेंट ऐप नहीं इस्तेमाल नहीं करते हैं। इससे बैंकों में रिश्वत के नाम पर हो रही दलाली से बचा जा सकेगा, खासकर किसानों को इसका फायदा होगा। भारत के परिपेक्ष में अगर देखें तो ऑनलाइन पेमेंट प्रक्रिया बाजार में अभी अपनी पकड़ बनाने की कोशिश कर रही है। भारत की अधिकतम आबादी अभी कैश के लेन-देन में ही विश्वास कर रही है। इससे पहले के इंटरनेट बैकिंग, गूगल पे Google Pay, पेटीएम Paytm जैसे कई ऑनलाइन पेमेंट ऐप हैं, जो भारत में इस्तेमाल किए जाते हैं। सरकारी कामों में इस्तेमाल किया जाने वाला ई-रूपी यदि निजी क्षेत्र में आता है, तो इसके विस्तार की और इस्तेमाल की संभावनाएं और बढ़ जाएंगी।