News In Brief Business and Economy
News In Brief Business and Economy

SBI ने महीने में दूसरी बार बढ़ाया एमसीएलआर

Share Us

290
SBI ने महीने में दूसरी बार बढ़ाया एमसीएलआर
17 May 2022
9 min read

News Synopsis

देश से बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक State Bank Of India के ग्राहकों के लिए अच्छी खबर नहीं है। बैंक ने अपने लगातार दूसरे महीने एमसीएलआर MCLR में 10 बेसिस पॉइंट की बढ़ोतरी की है। बढ़ी हुई दरें 15 मई से प्रभावी हो गई हैं। इससे पुराने होम लोन Old Home और कुछ बिज़नेस लोन Business Loan महंगे हो जाएंगे। एमसीएलआर अक्टूबर 2019 से पहले लिए गए होम लोन और कुछ कैटगरी के बिजनस लोन के लिए बेंचमार्क है।

दिसंबर 2021 तक के आंकड़ों के मुताबिक बैंकों को लोन पोर्टफोलियो में एमसीएलआर लोन की हिस्सेदारी सबसे ज्यादा थी। इस बढ़ोतरी के बाद एसबीआई का एक साल के एमसीएलआर 7.1 फीसदी से बढ़कर 7.2 फीसदी हो गया है। इसी तरह दो साल के लिए एमसीएलआर को 7.3 फीसदी से 7.4 फीसदी कर दिया गया है। तीन साल के लिए बेंचमार्क अब 7.5 फीसदी हो गया है जो पहले 7.4 फीसदी था।

छह महीने के लिए एमसीएलआर 7.05 फीसदी से बढ़कर 7.15 फीसदी हो गया है। तीन महीने, एक महीने और ओवरनाइट के लिए बेंचमार्क को 6.75 फीसदी से बढ़ाकर 6.85 फीसदी कर दिया गया है।

इस बारे में एसबीआई के चेयरमैन SBI Chairman दिनेश खारा Dinesh Khara ने कहा है कि इस वृद्धि से बैंक के मार्जिन पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा क्योंकि अधिकांश लोन लगातार बदलने वाली दरों पर ही आधारित हैं। इसका मतलब है कि जैसे ही रेपो रेट में बदलाव होगा इनमें भी बदलवा कर दिया जाएगा। आपको बता दें कि बैंक के इस फैसले का सबसे ज्यादा असर उन ग्राहकों पर पड़ेगा जिन्होंने होम, ऑटो या पर्सनल लोन ले रखा है।