facebook-pixel

रास्पबेरी पाई बना साइबर क्राइम का कारण

Share Us

595
रास्पबेरी पाई बना साइबर क्राइम का कारण
06 Aug 2021
4 min read

Podcast

News Synopsis

विश्व में ईजाद होती नयी-नयी टेक्नोलॉजी ने जीवन को आसान कर दिया है। एक ही स्थान पर बैठ कर व्यक्ति अपनी समस्या का समाधान कर लेता है। अपने फ़ोन से इंटरनेट के माध्यम से हम घर पर बैठ कर ही कहीं पर भी किसी के भी अकाउंट में पैसे भेज सकते हैं या फिर अपने अकाउंट में पैसे मंगा सकते हैं। इसके लिए हमें बैंक या फिर ATM जाने की ज़रूरत नहीं पड़ती। यह सब केवल टेक्नोलॉजी की सहायता से संभव हो पाया है। एक तरफ जहाँ पर टेक्नोलॉजी ने हमें एक सरल जीवन दिया है, वहीँ दूसरी तरफ इसने हमारी परेशानी को भी बढ़ा दिया है। टेक्नोलॉजी के विकसित होने से साइबर क्राइम जैसे अपराध होने लगे हैं, जिसमें टेक्नोलॉजी के माध्यम से ही नए-नए तरीकों से अपराध किए जा रहे हैं। रास्पबेरी पाई भी इसी श्रेणी का हिस्सा है, जो अब नए तरीके से ATM से पैसे चुराने का काम कर रही है। एटीएम में माइक्रोसॉफ्ट के सॉफ्टवेयर इनस्टॉल रहते हैं, पुराने सॉफ्टवेयर वाले ATM में हैकिंग आसान होती है। मदर बोर्ड की तरह होने वाला रास्पबेरी सर्वर के सहारे एटीएम से पैसे निकलता है। देश में बढ़ता साइबर क्राइम बहुत बड़ी चिंता का विषय बना हुआ है। पुलिस को भी इस मामले में अपेक्षाकृत सफलता नहीं मिल पा रही है। प्रतिदिन साइबर क्राइम की खबरें आती रहती हैं। टेक्नोलॉजी के कारण बढ़ रहे अपराध को नियंत्रित करना आवश्यक जिम्मेदारी है, जिसे पूरा करने की पूरी कोशिश की जा रही है।