facebook-pixel

पेट्रोल-डीजल कार बन सकते हैं, ई-कार

Share Us

1249
पेट्रोल-डीजल कार बन सकते हैं, ई-कार
22 Sep 2021
4 min read

Podcast

News Synopsis

भारत में जहां पेट्रोल-डीजल के दाम आसमान छू रहे हैं, वहीं कई लोगों की इच्छा है कि वह इलेक्ट्रॉनिक कार खरीद सकें, लेकिन इलेक्ट्रॉनिक कार काफी महंगी आती है, जिसके कारण लोगों का यह सपना पूरा नहीं हो पाता। अब भारत में कुछ कंपनियां ऐसी भी हैं जो पेट्रोल-डीजल कार को इलेक्ट्रॉनिक कार में तब्दील कर देती हैं और नई इलेक्ट्रॉनिक कारों पर वारंटी भी देती हैं।

पेट्रोल और डीजल कारों को इलेक्ट्रॉनिक कार में कन्वर्ट करने वाली कंपनियां ज्यादातर हैदराबाद में देखी जाती हैं। इसमें ईट्रियो और नॉर्थवेएमएस कंपनी काफी कारगर सिद्ध हो रही हैं। कंपनियों द्वारा आप अपनी कोई भी कार इलेक्ट्रॉनिक करवा सकते हैं। 

इस इलेक्ट्रॉनिक कार को बनवाने में अगर आप 20 किलोवॉट की इलेक्ट्रॉनिक मोटर और 12 किलोवॉट की लिथियम आयन बैटरी के खर्च की बात करें तो यह करीब 4 लाख का होगा, वहीं 22 किलोवॉट का खर्च लगभग 5 लाख आएगा। हालांकि आप जितनी अच्छी मोटर और बैटरी का इस्तेमाल करेंगे उसके मुताबिक पैसे में बढ़ोतरी होगी। अगर आप 20 किलोवाट की लिथियम आयन बैटरी का इस्तेमाल करते हैं तो आपकी गाड़ी 70 किलोमीटर चल पाएगी, वहीं 22 किलोवॉट में करीब 150 किलोमीटर की यात्रा तय हो पाएगी। जानकारी के लिए बता दें जब पेट्रोल-डीजल कार को इलेक्ट्रॉनिक कार में बदला जाता है, तो सभी मैकेनिकल पार्ट्स को बदल दिया जाता है। 

TWN In-Focus