News In Brief World News
News In Brief World News

Nobel Prize 2022: कौन है स्वीडिश वैज्ञानिक स्वान्ते पाबो, इनके बारे में जानें

Share Us

911
Nobel Prize 2022: कौन है स्वीडिश वैज्ञानिक स्वान्ते पाबो, इनके बारे में जानें
06 Oct 2022
min read

News Synopsis

सोमवार को मानव विकास Human Evolution में खोज के लिए स्वीडिश वैज्ञानिक Swedish Scientist स्वंते पाबो Svante Pabo को चिकित्सा में नोबेल पुरस्कार Nobel Prize मिला है।  स्वंते पाबो ने निएंडरथल डीएनए Neanderthal DNA के रहस्यों को उजागर किया और हमें यह समझने में मदद की कि मनुष्य को क्या अद्वितीय बनाता है और हमारी प्रतिरक्षा प्रणाली में महत्वपूर्ण अंतर्दृष्टि Critical Insights प्रदान करता है। स्वंते पाबो की अगुवाई वाली तकनीकों ने शोधकर्ताओं Techniques Researchers को आधुनिक मनुष्यों और अन्य होमिनिन – डेनिसोवन्स के साथ-साथ निएंडरथल के जीनोम की तुलना करने की अनुमति दी।

लीपजिग में मैक्स प्लैंक इंस्टीट्यूट फॉर इवोल्यूशनरी एंथ्रोपोलॉजी Max Planck Institute for Evolutionary Anthropology द्वारा आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने अपने बायन में कहा कि जैसे आप अतीत के बारे में पता लगाने के लिए पुरातत्व की खुदाई करते हैं। वैसे ही हम मानव जीनोम Human Genome में खुदाई करते हैं। गौर करने वाली बात ये है कि निएंडरथल हड्डियों को पहली बार 19 वीं शताब्दी के मध्य में खोजा गया था। पाबो और उनकी टीम ने साइबेरिया की एक गुफा में मिली एक छोटी उंगली की हड्डी से डीएनए निकालने में कामयाबी हासिल की थी, जिससे प्राचीन मनुष्यों की एक नई प्रजाति की पहचान हुई, जिसे उन्होंने डेनिसोवन्स कहा।

निएंडरथल और डेनिसोवन्स Neanderthals and Denisovans बहन समूह थे जो लगभग 600,000 साल पहले एक दूसरे से अलग हो गए थे। डेनिसोवन जीन Denisovan Genes एशिया और दक्षिण पूर्व एशिया Asia and Southeast Asia में 6 फीसदी तक आधुनिक मनुष्यों में पाए गए हैं, यह दर्शाता है कि वहां भी इंटरब्रीडिंग Interbreeding हुई थी। पाबो ने कहा कि वह अपनी जीत के बारे में जानकर हैरान थे और पहले लगा कि यह सहयोगियों द्वारा एक बड़ी शरारत है।