रियल लाइफ आयरन मैन - एलन मस्क

Share Us

7646
रियल लाइफ आयरन मैन - एलन मस्क
23 Sep 2021
9 min read

Blog Post

मार्वल की फिल्म आयरन मैन को दर्शकों द्वारा काफी पसंद किया गया था। आयरन मैन को 2008 में विश्व भर में बड़े परदे पर रिलीज किया गया था। इस फिल्म में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए और इस फिल्म के किरदार को समझने के लिए रॉबर्ट डाउनी जूनियर किसके पास गए थे? आइए जानते हैं उस शख्स के बारे में जो दुनिया को एक अलग तरीके से देखते हैं और सिर्फ सपने नहीं देखते बल्कि उन्हें पूरा करने के लिए दिन रात एक कर देते हैं।

मार्वल की फिल्म आयरन मैन को दर्शकों द्वारा काफी पसंद किया गया था। आयरन मैन को 2008 में विश्व भर में बड़े परदे पर रिलीज किया गया था। इस फिल्म का मुख्य किरदार टोनी स्टार्क है। टोनी स्टार्क को एक बुद्धिमान व्यक्ति, अविष्कारक और उद्योगपति के रूप में दिखाया गया है। फिल्म में टोनी स्टार्क की भूमिका रॉबर्ट डाउनी जूनियर ने निभाई है।

लेकिन, लेकिन, लेकिन क्या आपको पता है- इस फिल्म में अच्छा प्रदर्शन करने के लिए और इस फिल्म के किरदार को समझने के लिए रॉबर्ट डाउनी जूनियर किसके पास गए थे?

हम आपको कुछ हिंट दे रहे हैं-

  • यह इंसान स्पेस में रॉकेट भेजने के लिए काफी मशहूर है।
  • इनकी कम्पनी दुनिया की सर्वश्रेष्ठ इलेक्ट्रिक कार बनाती है।
  • इनकी मुख्य रुचि में टेक्नोलॉजी और मशीन का नाम शामिल है।
  • बडे़ सपने देखकर उसे पूरा कैसे किया जाए, ये कोई इनसे सीखे।
  • दुनिया के सबसे अमीर इंसानों की सूची में इस शख्स का नाम शामिल है।

अब तो आप समझ ही गए होंगे कि वो शख्स कोई और नहीं बल्कि दुनिया के मशहूर उद्योगपति एलन मस्क हैं। यहाँ तक की फिल्म आयरन मैन की सीक्वल में रॉबर्ट डाउनी जूनियर और एलन मस्क का सीन भी है।

एलन मस्क का जन्म 28 जून, 1971 को साउथ अफ्रीका के प्रिटोरिया शहर में हुआ था। मस्क की मां पेशे से एक मॉडल और डायटिशियन थीं और उनके पिता एक इलेक्ट्रो मैकेनिकल इंजीनियर, प्रॉपर्टी डेवलपर, पायलट, सेलर और कंसल्टेंट थे। मस्क बचपन से अनोखे स्वभाव के थे। मस्क बताते हैं कि आज भी वह एक अंतर्मुखी हैं। कुछ ही समय बाद उनके माता-पिता का डाइवोर्स होने की वजह से एलन के जीवन में काफी बदलाव आया। माता-पिता का डाइवोर्स होने के बाद एलन अपने पिता के साथ रहने लगे। पिता का ध्यान उनके काम पर ज्यादा रहता था और वह एलन के साथ ज्यादा वक्त नहीं बिता पाते थे वहीं दूसरी ओर स्कूल में उनके सीनियर उन्हें परेशान भी करते थे। एलन को लोगों की गलतियों को ठीक करना अच्छा लगता था पर लोग इसी वजह से उन्हें काफी नापसंद करते थे।

यहीं से एलन के ज़िन्दगी में कुछ बदलाव आया। उन्होंने किताबों को अपना दोस्त बनाया। एलन ने अपने एक इंटरव्यू में भी बताया था कि वो आज जो कुछ भी जानते हैं, सिर्फ किताबों की वजह से जानते हैं। एलन को पढ़ा हुआ भूलता नहीं था और आज भी एलन किताबें पढ़ने के उतने ही शौकीन हैं जितने वे 10 साल की उम्र में हुआ करते थे।

मात्र 12 वर्ष की आयु में उन्होंने ब्लास्टर नामक गेम बनाया और इस गेम को उन्होंने एक मैगजीन को 500 डॉलर में बेचा था। मस्क ने यूनिर्सिटी ऑफ पेंसिलवेनिया से इकॉनमिक्स और फिज़िक्स में डिग्री प्राप्त की और स्टैनफोर्ड यूनिर्सिटी से पीएचडी करने का मन बनाया। लेकिन मात्र दो दिन बाद उन्होंने पीएचडी छोड़ दी। 

इसी निर्णय ने उनकी ज़िन्दगी बदल दी। लोग उस समय इंटरनेट का इस्तेमाल सीख रखे थे और मस्क ने इंटरनेट की मदद से कई शानदार काम किए और काफी पैसा बनाया। लेकिन उतने पैसों को सही जगह इन्वेस्ट किया और आज वो टेस्ला और स्पेसऐक्स जैसी बड़ी कंपनी के सीईओ, बोरिंग कंपनी के संस्थापक और न्यूरालिंक के सह-संस्थापक हैं।

ये सुनकर वाकई अविश्वसनीय सा लगता है कि स्पेसएक्स, टेस्ला मोटर्स, सोलरसिटी, हाइपरलूप और PayPal जैसी दिग्गज कंपनियों का वजूद आज सिर्फ एक ही आदमी ही वजह से है और वो हैं एलन मस्क। वह इस ग्रह पर कुछ बड़ी उपलब्धि हासिल करने वालों में से एक हैं।