facebook-pixel
Entrepreneurship Motivation

उद्यमिता की अधूरी कहानी को पूर्ण जरूर करें

Entrepreneurship Motivation

उद्यमिता की अधूरी कहानी को पूर्ण जरूर करें

make-your-entrepreneurship-dream-come-true

Post Highlights

अगर केवल सपने देखते रहेंगे तो उद्यमिता में आगे बढ़ने का हुनर कैसे सीखेंगे। तो अपने सपने को पूर्ण करने के लिए जो प्रक्रिया है, जो योजना है, उसका इस्तेमाल कर आगे जरूर बढ़ें, केवल सपने देख कर काम नहीं चलेगा अगर सपना पूरा करना है तो अपने सपने को युद्ध स्तर पर मेहनत करके ही हकीकत में तब्दील किया जा सकता है।

ज़िन्दगी में कई मर्तबा हम बड़े-बड़े सपने तो देख लेते हैं लेकिन उन्हें पूर्ण करने के लिए जिस प्रक्रिया का इस्तेमाल होता है उस प्रक्रिया पर हम कभी अमल कर ही नहीं पाते। ऐसे कई आंकड़े हैं जहां हजारों, लाखों लोगों ने कई बड़े सपने देखे और उद्यमिता में अपनी धाक जमाने की सोच ली, लेकिन सफल उनमें से कुछ मामूली प्रतिशत ही हुए। जिसका कारण यह था कि सफल होना और सफल होने के लिए सपने देखना दोनों बातों में बड़ा फर्क है। अगर केवल सपने देखते रहेंगे तो उद्यमिता में आगे बढ़ने का हुनर कैसे सीखेंगे। तो अपने सपने को पूर्ण करने के लिए जो प्रक्रिया है, जो योजना है, उसका इस्तेमाल कर आगे जरूर बढ़े, केवल सपने देख कर काम नहीं चलेगा अगर सपना पूरा करना है, तो अपने सपने को युद्ध स्तर पर मेहनत करके ही हकीकत में तब्दील किया जा सकता है।

अपनी कहानी पूर्ण करने की खोज करें

उद्यमिता वाला सपना देखने के बाद आपको अपनी कहानी पूर्ण करने के लिए खोज करनी होगी। यह खोज कैसी होगी हम आपको बताते हैं आप जिस भी क्षेत्र में उद्यमिता करने की सोच रहे हैं उस क्षेत्र के बारे में इस तरह सभी तथ्यों को खोजें, जैसे कभी बचपन में किसी पहेली को सुलझाने में जुट गए थे। उन बचपन के दिनों को याद करें कि जब कोई जिज्ञासा पैदा होती थी तो किस तरह उसे पूर्ण करने में सारा दिन लगा देते थे। उसी तरह अपनी उद्यमिता के सपने को पूर्ण करने के लिए एक ऐसी खोज पर निकल जाएं कि जब तक वह पूर्ण ना हो आप घर वापस ना लौटे और जब वह खोज पूरी हो जाएगी तो आपका आत्मविश्वास खुद-ब-खुद चरम सीमा पर होगा।

सपने देखने के बाद योजना बनाना कारगर कदम

देखा जाता है कि कई बार हम कई नए नए सपने बुन लेते हैं। जिनको पूर्ण करने के लिए हमें योजना की आवश्यकता होती है, लेकिन सबसे बड़ा मसला यही होता है कि लोग जब सपने देखते हैं तो उसे सुबह उठकर भूल जाते हैं। अगर आपको उद्यमिता क्षेत्र में कुछ करने का सपना आता है और आप उस सपने को पूर्ण करना चाहते हैं, अपनी अधूरी कहानी को लिखना चाहते हैं जो कि लोगों के लिए प्रेरणा बन सके, तो इन सपनों को साकार करने के लिए योजना बनाने की शुरुआत करें। जब भी आप उद्यमिता के बारे में सोचें तो उसकी योजना बनाएं और ध्यान रहे कि योजना केवल दिमाग में ना बनाएं, योजना को किताब के पन्नों पर उतारकर याद कर लें। जब कोई भी योजना किताब के पन्नों पर उतर जाएगी तो वह आपको हमेशा याद दिलाती रहेगी कि इस योजना को पूर्ण करने की यात्रा पर कैसे निकलना है।

योजना के बाद असरदार कदम बढ़ाए

जब आप की योजना अच्छी तरह तैयार हो जाए तो कुछ असरदार कदम उठाएं, जैसे कि यहां आप अपनी उद्यमिता की अधूरी कहानी को पूर्ण करना चाहते हैं। तो उद्यमिता के जिस भी क्षेत्र में आप आगे बढ़ना चाहते हो, उस क्षेत्र में कुछ ऐसे असरदार कदम उठाएं, जिससे आपको हल्का फुल्का अंदाजा होने लगे कि हां यहां से मैंने पहली सीढ़ी पर कदम रख लिया है और अब मैं रुकने वाला नहीं हूं, अब चाहे कितनी ही कठिनाइयां आए, मैं अपने सफर में रुकने वाला नहीं हूं। हमारा वादा है कि यह असरदार कदम आपके आत्मविश्वास में 100 गुना से ज्यादा का फर्क पैदा करेंगे। तो देर किस बात की है अगर सपना देख लिया है, योजना बना ली है, तो असरदार कदम उठाना शुरू करें।

मन में 1000 सवाल आएंगे, लेकिन जवाब सिर्फ एक ही रखिएगा

जब आप उद्यमिता के क्षेत्र में आगे बढ़ते हैं तो आपके मन में हजारों सवाल पैदा होते हैं, लेकिन इन सभी सवालों का एक ही सकारात्मक उत्तर देना है कि मैं  अपने लक्ष्य को पाकर ही रहूंगा। आपकी उद्यमिता की इस अधूरी कहानी को पूर्ण करने के लिए आपको हर ऐसे सवाल पर सकारात्मक उत्तर देने होंगे जो आपको परेशान करते हैं। क्योंकि अगर आपने नकारात्मकता को अपने दिमाग पर हावी होने दिया तो आप फिर उसी स्थिति में चले जाएंगे, जहां आपने सपने देखने की शुरुआत की थी। दिमाग में प्रश्नों का आना तो अच्छी बात है, लेकिन उन प्रश्नों का अपने दिमाग पर हावी हो जाना काफी गलत बात है, तो इन्हें हावी ना होने दें और सकारात्मक बने रहें।

वैसे तो उद्यमिता के क्षेत्र में कई बड़े बड़े कदम उठाने पड़ते हैं, लेकिन हमने यहां आपको कुछ मुख्य बातें के रूप में अपने सपनों को 57उद्यमिता के क्षेत्र में पूर्ण करने की ओर एक दिशा दिखाई है। उम्मीद करते हैं कि इस छोटी सी प्रेरणा की मदद से आप कहीं ना कहीं अपने अंदर बदलाव लाकर, उद्यमिता के क्षेत्र में जरूर अपने सपनों में पल रही कहानी को पूर्ण करेंगे।

ज़िन्दगी में कई मर्तबा हम बड़े-बड़े सपने तो देख लेते हैं लेकिन उन्हें पूर्ण करने के लिए जिस प्रक्रिया का इस्तेमाल होता है उस प्रक्रिया पर हम कभी अमल कर ही नहीं पाते। ऐसे कई आंकड़े हैं जहां हजारों, लाखों लोगों ने कई बड़े सपने देखे और उद्यमिता में अपनी धाक जमाने की सोच ली, लेकिन सफल उनमें से कुछ मामूली प्रतिशत ही हुए। जिसका कारण यह था कि सफल होना और सफल होने के लिए सपने देखना दोनों बातों में बड़ा फर्क है। अगर केवल सपने देखते रहेंगे तो उद्यमिता में आगे बढ़ने का हुनर कैसे सीखेंगे। तो अपने सपने को पूर्ण करने के लिए जो प्रक्रिया है, जो योजना है, उसका इस्तेमाल कर आगे जरूर बढ़े, केवल सपने देख कर काम नहीं चलेगा अगर सपना पूरा करना है, तो अपने सपने को युद्ध स्तर पर मेहनत करके ही हकीकत में तब्दील किया जा सकता है।

अपनी कहानी पूर्ण करने की खोज करें

उद्यमिता वाला सपना देखने के बाद आपको अपनी कहानी पूर्ण करने के लिए खोज करनी होगी। यह खोज कैसी होगी हम आपको बताते हैं आप जिस भी क्षेत्र में उद्यमिता करने की सोच रहे हैं उस क्षेत्र के बारे में इस तरह सभी तथ्यों को खोजें, जैसे कभी बचपन में किसी पहेली को सुलझाने में जुट गए थे। उन बचपन के दिनों को याद करें कि जब कोई जिज्ञासा पैदा होती थी तो किस तरह उसे पूर्ण करने में सारा दिन लगा देते थे। उसी तरह अपनी उद्यमिता के सपने को पूर्ण करने के लिए एक ऐसी खोज पर निकल जाएं कि जब तक वह पूर्ण ना हो आप घर वापस ना लौटे और जब वह खोज पूरी हो जाएगी तो आपका आत्मविश्वास खुद-ब-खुद चरम सीमा पर होगा।

सपने देखने के बाद योजना बनाना कारगर कदम

देखा जाता है कि कई बार हम कई नए नए सपने बुन लेते हैं। जिनको पूर्ण करने के लिए हमें योजना की आवश्यकता होती है, लेकिन सबसे बड़ा मसला यही होता है कि लोग जब सपने देखते हैं तो उसे सुबह उठकर भूल जाते हैं। अगर आपको उद्यमिता क्षेत्र में कुछ करने का सपना आता है और आप उस सपने को पूर्ण करना चाहते हैं, अपनी अधूरी कहानी को लिखना चाहते हैं जो कि लोगों के लिए प्रेरणा बन सके, तो इन सपनों को साकार करने के लिए योजना बनाने की शुरुआत करें। जब भी आप उद्यमिता के बारे में सोचें तो उसकी योजना बनाएं और ध्यान रहे कि योजना केवल दिमाग में ना बनाएं, योजना को किताब के पन्नों पर उतारकर याद कर लें। जब कोई भी योजना किताब के पन्नों पर उतर जाएगी तो वह आपको हमेशा याद दिलाती रहेगी कि इस योजना को पूर्ण करने की यात्रा पर कैसे निकलना है।

योजना के बाद असरदार कदम बढ़ाए

जब आप की योजना अच्छी तरह तैयार हो जाए तो कुछ असरदार कदम उठाएं, जैसे कि यहां आप अपनी उद्यमिता की अधूरी कहानी को पूर्ण करना चाहते हैं। तो उद्यमिता के जिस भी क्षेत्र में आप आगे बढ़ना चाहते हो, उस क्षेत्र में कुछ ऐसे असरदार कदम उठाएं, जिससे आपको हल्का फुल्का अंदाजा होने लगे कि हां यहां से मैंने पहली सीढ़ी पर कदम रख लिया है और अब मैं रुकने वाला नहीं हूं, अब चाहे कितनी ही कठिनाइयां आए, मैं अपने सफर में रुकने वाला नहीं हूं। हमारा वादा है कि यह असरदार कदम आपके आत्मविश्वास में 100 गुना से ज्यादा का फर्क पैदा करेंगे। तो देर किस बात की है अगर सपना देख लिया है, योजना बना ली है, तो असरदार कदम उठाना शुरू करें।

मन में 1000 सवाल आएंगे, लेकिन जवाब सिर्फ एक ही रखिएगा

जब आप उद्यमिता के क्षेत्र में आगे बढ़ते हैं तो आपके मन में हजारों सवाल पैदा होते हैं, लेकिन इन सभी सवालों का एक ही सकारात्मक उत्तर देना है कि मैं  अपने लक्ष्य को पाकर ही रहूंगा। आपकी उद्यमिता की इस अधूरी कहानी को पूर्ण करने के लिए आपको हर ऐसे सवाल पर सकारात्मक उत्तर देने होंगे जो आपको परेशान करते हैं। क्योंकि अगर आपने नकारात्मकता को अपने दिमाग पर हावी होने दिया तो आप फिर उसी स्थिति में चले जाएंगे, जहां आपने सपने देखने की शुरुआत की थी। दिमाग में प्रश्नों का आना तो अच्छी बात है, लेकिन उन प्रश्नों का अपने दिमाग पर हावी हो जाना काफी गलत बात है, तो इन्हें हावी ना होने दें और सकारात्मक बने रहें।

वैसे तो उद्यमिता के क्षेत्र में कई बड़े बड़े कदम उठाने पड़ते हैं, लेकिन हमने यहां आपको कुछ मुख्य बातें के रूप में अपने सपनों को 57उद्यमिता के क्षेत्र में पूर्ण करने की ओर एक दिशा दिखाई है। उम्मीद करते हैं कि इस छोटी सी प्रेरणा की मदद से आप कहीं ना कहीं अपने अंदर बदलाव लाकर, उद्यमिता के क्षेत्र में जरूर अपने सपनों में पल रही कहानी को पूर्ण करेंगे।




Newsletter

Read and Subscribe