facebook-pixel

मिशेल ओबामा से सीखें जीवन के सबक

Share Us

1739
मिशेल ओबामा से सीखें जीवन के सबक
30 Mar 2022
7 min read
TWN In-Focus

Post Highlight

एक अश्वेत महिला होने की वजह से मिशेल ओबामा को हमेशा से ही कई मुश्किलों का सामना करना पड़ा था। उनका मानना है कि उम्मीद का दामन ना छोड़ना उनके लिए काफी अच्छा साबित हुआ और आज वह जो कुछ भी हैं, इसी वजह से हैं।

Podcast

Continue Reading..

यह बात किसी से भी नहीं छुपी हुई है कि दुनिया भर में कई लोगों को रंगभेद racism और लैंगिक असमानता gender inequality का सामना करना पड़ा है और दुख की बात यह है कि आज भी कई लोगों को इसका सामना कर पड़ रहा है लेकिन कई लोग ऐसे भी हैं, जो इन सब बातों पर ध्यान ना देते हुए पूरे उत्साह के साथ आगे बढ़ते रहे और दुनिया भर में कई लोगों के लिए इंस्पिरेशन और रोल मॉडल inspiration and role model बनें, मिशेल ओबामा Michelle Obama उनमें से एक हैं।

साउथ शिकागो की एक माइग्रेंट फैमिली में जन्मी मिशेल ओबामा ऐसे माहौल में पली बढ़ी थीं जहां सिविल राइट मूवमेंट Civil Right Movement और जेंडर इक्वालिटी Gender Equality की चर्चा हमेशा से होती आ रही थी। वह हमेशा से बेहद हार्ड वर्किंग hard working, टैलेंटेड talented और एंबिशस ambitious थीं लेकिन इसके बावजूद भी एक अश्वेत महिला होने की वजह से उन्हें हमेशा से ही कई मुश्किलों का सामना करना पड़ा था। उनका मानना है कि उम्मीद का दामन ना छोड़ना उनके लिए काफी अच्छा साबित हुआ और आज वह जो कुछ भी हैं, इसी वजह से हैं। आइए जानते हैं कि आप उनकी जिंदगी से कैसे सबक ले सकते हैं-

कड़ी मेहनत से मिलेगी आपको कामयाबी

उनका बचपन भले ही मुश्किलों भरा था लेकिन फिर भी उन्होंने कभी हार नहीं मानी और लगातार मेहनत करती रहीं। उनका मानना है कि उन्हें हमेशा से जीतना पसंद था और इसी जज्बे के साथ वह जिंदगी में आगे बढ़ती रहीं। चाहे कितनी भी बड़ी मुश्किल क्यों ना आ जाए लेकिन उनके आगे बढ़ने के साहस ने उन्हें हर जगह सफलता दिलाई। उनका मानना है कि चॉइसेस, कड़ी मेहनत और दृढ़ता Choices, Hard Work and Perseverance से आप सब कुछ हासिल कर सकते हैं और यही कामयाबी success mantra का सूत्र है। अपने आपको जज़ ना करें और अपने महत्व को कम ना आंके। उम्मीद पर दुनिया कायम है और यही उम्मीद आपकी जिंदगी का रुख भी बदल सकती है।

लोक कल्याण के लिए करें काम

भले ही मिशेल ने अपनी योग्यता साबित करते हुए प्रख्यात कॉलेजेस से अपनी पढ़ाई पूरी की लेकिन फिर भी उन्हें रंगभेद का सामना करना पड़ा। वह बताती हैं कि उन्हें दूसरे छात्रों के साथ कनेक्ट करने में बेहद मुश्किल होती है लेकिन उन्होंने हिम्मत नहीं हारी और आगे चलकर लोक कल्याण में अपना योगदान दिया।

शिक्षा हमारा हक़ है

मिशेल को अपनी पढ़ाई को पूरा करते वक्त भी कई संघर्षों का सामना करना पड़ा और इसी तरह उन्हें शिक्षा का महत्व समझ में आया। उन्होंने लेट गर्ल्स लर्न और बेटर मेक रूम कैंपेन "Let Girls Learn and Make a Better Room Campaign" की शुरुआत की, जहां उन्होंने लोगों को उच्च शिक्षा के लिए जागरूक किया।

समाज में होने वाली कई कुरीतियों के बारे में भी उन्होंने अपने विचार जाहिर किए और उन्हें कम करने के तरीके भी बताए। आज भी बराक ओबामा Barack Obama अपने राष्ट्रपति वाले समय को याद करते हैं तो मिशेल ओबामा Michelle Obama के योगदान का ज़िक्र जरूर करते हैं और ये भी कहते हैं कि वह अमेरिका के लिए जो कुछ भी कर पाए, उसकी नींव मिशेल ने ही रखी है।

अपने सपनों और खुद पर यकीन करो

महिलाओं के उत्थान के लिए मिशेल ओबामा ने कई काम किए हैं और उनका ये मानना है कि चाहे जैसा भी समाज हो, महिलाओं को चुनौतियों का सामना करना ही पड़ता है। एक पुरुष जितना काम करने के बावजूद भी उनके सामने जॉब, सैलरी और कई ऐसी समस्याएं आती रहती हैं, जिनके बारे में महिलाएं खुलकर बात नहीं कर पाती हैं। ऐसे में उनकी सोच और अपने सपने पर यकीन ही उन्हें हर हालात में स्ट्रॉन्ग रहने की हिम्मत देता है। जाहिर सी बात है कि जब तक आप खुद पर यकीन नहीं करेंगे, दुनिया भी आप पर यकीन नहीं करेगी इसीलिए खुद पर यकीन करिए ताकि पूरी दुनिया आप पर यकीन करे।

Think with Niche पर आपके लिए और रोचक विषयों पर लेख उपलब्ध हैं एक अन्य लेख को पढ़ने के लिए कृपया नीचे  दिए लिंक पर क्लिक करे-

महिला सशक्तिकरण की मिसाल-कमला हैरिस