ग्रुप टेक्नोलॉजी क्या है?

405
30 Aug 2022
8 min read

Post Highlight

आज हम जीवन के हर पहलू में नयी-नयी टेक्नोलॉजी के उपयोग को देख सकते हैं। दैनिक जीवन में टेक्नोलॉजी हमारे जीवन का एक हिस्सा बन चुकी है। हम अपने दैनिक जीवन में टेक्नोलॉजी के महत्व और इसके उपयोग से बच नहीं सकते हैं। आजकल की इस विकसित होती दुनिया में हर काम टेक्नोलॉजी से ही परिपूर्ण हो रहा है। क्योंकि चाहे कोई लघु उद्योग हो या कोई बड़ी कम्पनी हर कोई अपनी उत्पादकता में वृद्धि करने के लिए या अपनी कंपनी बढ़ाने के लिए टेक्नोलॉजी के उपयोग को बढ़ावा दे रहा है। विज्ञान और प्रौद्योगिकी ने हमें साझा करने, सीखने और अनुसंधान के लिए आसान पहुंच प्रदान करने के लिए एक स्थान दिया है। ऐसे ही उत्पादकता में वृद्धि, समय की बचत तथा उत्पाद की बेहतर गुणवत्ता आदि ग्रुप टेक्नोलॉजी के फायदे हैं। ग्रुप टेक्नोलॉजी से आशय उन पार्ट्स का समूह बनाने से है जो उत्पादकता एवं डिजाईन में एक जैसे है इनका ग्रुप बनाकर उत्पादकता में वृद्धि की जा सकती है। दरअसल जब बहुत सारे उत्पाद पर एक ही जैसी समस्याएं होती हैं और एक ही जैसे प्रोसेस करने की आवश्यकता पड़ती है तो उन्हें समूह अथवा ग्रुप में बाँट कर मशीनिंग प्रोसेस द्वारा सही करने का प्रयास किया जाता है, इसी को ग्रुप टेक्नोलॉजी (Group Technology) कहते हैं। समूह प्रौद्योगिकी निर्माण को व्यवस्थित करने के लिए एक दृष्टिकोण है जिसे किसी भी उद्योग में लागू किया जा सकता है। 

Podcast

Continue Reading..

आज जिस तरह नयी-नयी टेक्नोलॉजी Technology ने संपूर्ण विश्व में परिवर्तन और क्रांति ला दी है वैसे ही धीरे-धीरे दैनिक जीवन में इसका महत्व और भी बढ़ता जा रहा है। मतलब आज की दुनिया तकनीक पर ही चल रही है। हम इसका उपयोग कैसे करें यह इस पर निर्भर करता है। हमारे जीवन में आज जितनी भी आरामदायक चीज़ों का अविष्कार हुआ है वो सब इन नयी नयी टेक्नोलॉजी की देन है। विज्ञान और प्रौद्योगिकी ने लोगों के जीवन को बड़े स्तर पर प्रभावित किया है। विज्ञान और प्रौद्योगिकी ने जीवन को आसान, सरल और तेज बना दिया है। देखा जाये तो टेक्नोलॉजी के विकास ने हमें बैलगाड़ी की सवारी से हवाई यात्रा की सुविधा तक पहुंचा दिया है। आज हम कोई भी सवाल खोज सकते हैं और कुछ सेकंड में जवाब सामने होता है। प्रौद्योगिकी Technology के द्वारा जितनी सुलभ सरल सुविधा प्राप्त हो रही है उसका उपयोग हम सब दैनिक जीवन में कर रहे हैं। आजकल इंटरनेट के जमाने में टेक्नोलॉजी ने हमारे जीवन को बहुत सरल बना दिया है। आपने कई तरह की टेक्नोलॉजी के बारे में सुना होगा जैसे इनफार्मेशन टेक्नोलॉजी, मशीन टेक्नोलॉजी आदि, ऐसे ही एक नाम है Group Technology ग्रुप टेक्नोलॉजी। समूह तकनीक या ग्रुप टेक्नोलॉजी अन्य सभी टेक्नोलॉजी से काफी अलग है। ग्रुप टेक्नोलॉजी के द्वारा उत्पादकता में वृद्धि की जा सकती है। चलिए इस आर्टिकल में विस्तार से जानते हैं कि ग्रुप टेक्नोलॉजी क्या है और इसके क्या फायदे और नुकसान हैं ?

ग्रुप टेक्नोलॉजी क्या है What is Group Technology?

प्रौद्योगिकी व्यक्तियों के संवाद करने, सीखने और सोचने के तरीके को प्रभावित करती है। टेक्नोलॉजी आपकी मदद करता है। प्रौद्योगिकी आज समाज में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। इसका दुनिया पर सकारात्मक और नकारात्मक प्रभाव पड़ता है और यह दैनिक जीवन को प्रभावित करता है। ग्रुप टेक्नोलॉजी निर्माण को व्यवस्थित करने के लिए एक दृष्टिकोण है जिसे किसी भी उद्योग जैसे मशीनिंग, प्लास्टिक मोल्डिंग, वेल्डिंग, प्रेस वर्क, फोर्जिंग Machining, Plastic Molding, Welding, Press Work, Forging आदि में लागू किया जा सकता है। 

उत्पादकता में वृद्धि, समय की बचत तथा उत्पाद की बेहतर गुणवत्ता Increase in productivity, save time and improve product quality आदि ग्रुप टेक्नोलॉजी Group Technology के फायदे है। ग्रुप टेक्नोलॉजी से आशय उन पार्ट्स का समूह बनाने से है जो उत्पादकता एवं डिजाईन में एक जैसे है इनका ग्रुप बनाकर उत्पादकता में वृद्धि की जा सकती है। दरअसल जब बहुत सारे उत्पाद पर एक ही जैसी समस्याएं होती हैं और एक ही जैसे प्रोसेस करने की आवश्यकता पड़ती है तो उन्हें समूह अथवा ग्रुप में बाँट कर मशीनिंग प्रोसेस द्वारा सही करने का प्रयास किया जाता है, इसी को ग्रुप टेक्नोलॉजी (Group Technology) कहते हैं। समूह प्रौद्योगिकी निर्माण को व्यवस्थित करने के लिए एक दृष्टिकोण है जिसे किसी भी उद्योग में लागू किया जा सकता है। 

यानि किसी कंपनी या संस्था में एक जैसी समस्याओ का ग्रुप बनाकर उन सभी का एक समाधान निकालना ग्रुप टेक्नोलॉजी कहलाता है। ग्रुप टेक्नोलॉजी एक उत्पादन तकनीक A production technology है जिसकी सहायता से कंपनी की कई क्रियाओ जैसे उत्पादन क्रिया और अन्य कार्यों को ग्रुप में बाँटकर, एक्सपर्ट लोगों को इन कामों को जल्दी करने में लगाते है जिससे कंपनी का उत्पादन तो बढ़ता ही है साथ ही समय की भी बचत time saving होती है। आजकल की इस विकसित होती दुनिया में हर काम टेक्नोलॉजी से ही परिपूर्ण हो रहा है। क्योंकि चाहे कोई लघु उद्योग हो या कोई बड़ी कम्पनी हर कोई अपनी उत्पादकता में वृद्धि करने के लिए या अपनी कंपनी बढ़ाने के लिए टेक्नोलॉजी के उपयोग को बढ़ावा दे रहा है।

इसे इस तरह से भी समझा जा सकता है कि ग्रुप टेक्नोलॉजी या समूह प्रौद्योगिकी एक दृष्टिकोण है जिसमें डिजाइन और उत्पादन में समानता का लाभ उठाने के लिए समान भागों की पहचान की जाती है और उन्हें एक साथ समूहीकृत किया जाता है। यानि ग्रुप टेक्नोलॉजी निर्माण को व्यवस्थित करने के लिए किसी भी उद्योग में लागू किया जा सकता है। 

कुछ ऐसे उत्पाद होते हैं जिनमे समान दोष होता है तो कई उत्पाद ऐसे होते हैं जिनमें समान ऑपरेशन करना पड़ता है। इसलिए जब बहुत सारे उत्पादों में एक जैसी समस्याएं होती हैं और एक ही जैसे प्रोसेस करने की जरुरत होती है तो उन्हें समूह अथवा ग्रुप में बाँट करके मशीनिंग प्रोसेस द्वारा सही किया किया जाता है, बस इसी प्रोसेस को ग्रुप टेक्नोलॉजी Group Technology कहते हैं। ग्रुप टेक्नोलॉजी का उपयोग करते समय सबसे पहले सभी उत्पादों को उन पर होने वाले ऑपरेशन और डिजाइन के आधार पर समूहों में बांट लिया जाता है और इस प्रकार ग्रुप टेक्नोलॉजी में ग्रुप के आधार पर उनको सेल में स्थापित किया जाता है और आवश्यकतानुसार मशीनिंग की जाती है। 

ग्रुप टेक्नोलॉजी के सिद्धांत Principles of Group Technology

ग्रुप टेक्नोलॉजी सिद्धांतों को चार मुख्य स्टेप में लागू किया जा सकता है। ये चार स्टेप निम्न हैं-

स्टेप 1- इस स्टेप में पार्ट्स और उन पुर्जो का समूह बनाया जाता है जिनसे समान तरह के उत्पादन बनाये जाते हैं। 

स्टेप 2- इस स्टेप में उन मशीनो का ग्रुप बनाया जाता है जो एक ही ग्रुप के होते हैं।

स्टेप 3- इस स्टेप में एक समान कुशलता रखने वाले कर्मचारियों को सही उपकरणों के साथ सही उत्पादों का निर्माण कराया जाता है।

स्टेप 4- इस स्टेज में एक समान उत्पादों को तैयार करने में प्लानिंग तथा डिजाईन planning and design की जाती है। 

ग्रुप टेक्नोलॉजी का उद्देश्य Purpose of Group Technology 

अब जानते हैं ग्रुप टेक्नोलॉजी का मुख्य उद्देश्य क्या है। इसका मुख्य उद्देश्य किसी कंपनी द्वारा बनाये जा रहे उत्पादों की उत्पादकता में बढ़ोतरी करना और समय की बचत करना है। क्योंकि कुछ पार्ट्स के डिजाईन तथा उनके उपयोग का तरीका लगभग एक जैसा होता है इसलिए ऐसे उत्पादों को (ग्रुप बनाकर) बनाने के लिए अलग-अलग मशीन न लगाकर एक ही मशीन से उत्पादन करने पर पर सिर्फ समय ही नहीं बचता है बल्कि उत्पादन कुशलता production efficiency भी बढ़ती है। जैसे एक फैक्ट्री में कई कर्मचारी होते हैं जो फैक्ट्री में काम करते हैं। वहाँ पर कई काम ऐसे होते हैं जो एक जैसे होते हैं इसलिए उन कामो को एक ही मशीन द्वारा एवं कुशल कर्मचारियों skilled employees द्वारा किया जाता है। 

जब एक जैसे कार्यों को एक मशीन और एक समान कुशलता रखने वाले कर्मचारियों से कराया जाता है तो इससे काम जल्दी तो होता ही है साथ ही लागत भी कम हो जाती है। ग्रुप टेक्नोलॉजी में कार्यों में समानता वाले भागों का निर्माण एक ही स्थान पर कम संख्या में मशीनों या प्रक्रियाओं का उपयोग करके किया जाता है। ग्रुप तकनीकी इस सिद्धांत पर कार्य करती है कि सामान कार्यो को समान क्षमता रखने वाली मशीन एवं लोगो से कराया जाये।

कार्यों में समानता वाले भागों का निर्माण एक ही स्थान पर कम संख्या में मशीनों या प्रक्रियाओं का उपयोग करके किया जाता है। कई समस्याएं समान हैं और समान समस्याओं को समूहीकृत करके, इसमें कई समस्याओं का एक समूह में एक ही समाधान पाया जा सकता है। इस तरह से ग्रुप टेक्नोलॉजी में समय और प्रयास की बचत saving time and effort होती है।

Also Read : जानें क्या है Metaverse Technology?

ग्रुप टेक्नोलॉजी के फायदे Advantages of Group Technology

  • ग्रुप टेक्नोलॉजी द्वारा बनाये गए उत्पाद की गुणवत्ता उच्च high product quality होती है

  • काम करने वाले श्रमिक संतुष्ट होते हैं क्योंकि लोग अक्सर ग्रुप में रहना पसंद करते हैं

  • कार्य निरंतर चलता है

  • मटेरियल हैंडलिंग material handling आसान हो जाती है

  • अधिक टूल सेटअप करने की जरुरत नहीं

  • बेहतर संसाधन उपयोग के कारण आउटपुट में सुधार हुआ है

  • काम करने वाले श्रमिक संतुष्ट होते हैं क्योंकि लोग अक्सर ग्रुप में रहना पसंद करते हैं

  • निर्माण में आने वाली परेशानी कम हो जाती है

  • मशीनों को बंद करते सभी मशीन एक साथ बंद हो जाती जिससे समय की बचत होती है

  • इससे न केवल उत्पादकता बढती है बल्कि श्रमिको की कार्यक्षमता में भी वृद्धि होती है

  • एक साथ कई उत्पाद पर काम करने से समय की अधिक बचत होती है।

  • ग्रुप टेक्नोलॉजी से ज्यादा कार्य को कम समय में करके उत्पादकता बढाई जाती है और अधिक उपयोगी उत्पाद बनाये जा सकते हैं

  •  एक साथ कई उत्पाद पर काम करने से समय की अधिक बचत होती है

  •  जब कई उत्पादों का समूह बनाकर निर्माण किया जाता है तो उसे करना आसान होता है 

  • योजना बनाना एवं उत्पादन का लेखा-जोखा रखना सरल हो जाता है

  • ग्रुप टेक्नोलॉजी के द्वारा उत्पादकता को बढ़ाकर अच्छा मुनाफा good profit कमाया जा सकता है

  • कर्मचारियों की कार्यक्षमता पर भी सकारात्मक प्रभाव Positive impact पड़ता है

ग्रुप टेक्नोलॉजी के नुकसान Disadvantages of group technology

ग्रुप टेक्नोलॉजी के नुकसान निम्न हैं -

  • जब किसी टेक्नोलॉजी से किसी बिजनेस में लाभ मिलता है तो हो उसके भले ही कम नुकसान हो लेकिन होते जरूर हैं। वैसे ही ग्रुप टेक्नोलॉजी का सबसे बड़ा नुकसान ये है कि इसमें खर्चा काफी होता है। क्योंकि उत्पादों को समूह में बांटने और मशीन आदि सेटअप करने में काफी पैसा खर्च होता है।

  • ग्रुप टेक्नोलॉजी के अंतर्गत बनाए गए सभी सेल में एक साथ देखरेख करना संभव नहीं होता है।

  • ग्रुप टेक्नोलॉजी में कई सारे पुर्जो पर एक साथ काम किया जाता है इसलिए इसकी अधिक देख-रेख करनी पड़ती है। 

  •  इसे निरंतर सही तरीके से चलाने के लिए और लागू करने के लिए एक सलाहकार की जरुरत होती है जो एक्सपर्ट हो। इसमें अनुभवी सलाहकार Experienced Consultant की जरूरत हमेशा रहती है इसलिए लागत भी अधिक आती है। 

  • आउट-ऑफ-सेल संचालन में कठिनाइयाँ

  • ग्रुप टेक्नोलॉजी में जो चीज सबसे ज्यादा परेशान करती है वह है मशीन का डाउन टाइम। क्योंकि इस टेक्नोलॉजी से मशीन के बंद होने का समय बढ़ जाता है। ऐसा इसलिए किया जाता है क्योंकि एक ही मशीन में कई एक तरह के उत्पाद तैयार किये जाते है और जिस वजह से अलग मटेरियल का प्रयोग करने के लिए मशीन को बंद किया जाता है।

  • ग्रुप टेक्नोलॉजी के लिए कम्प्यूटर ओर डाटा बेस आवश्यक होता है। 

TWN Opinion