Swiggy Success Story - हर दरवाज़े पर स्वाद की दस्तक

862
30 May 2022
6 min read

Post Highlight

स्विगी के माध्यम से आप, हम और हमारे जैसे लाखों लोग प्रतिदिन अपनी पसंद का  खाना अपने पसंद की होटल अथवा रेस्टोरेंट से मंगा कर घर पर उस का आनंद लेते हैं.यह आप अच्छे से जानते होगें, पर क्या आपको पता है, कि ये Company लाखों दिलों पर कैसे छाई है, रोजाना हजारों की संख्या में स्टार्टअप Startup लॉन्च होते हैं,और मिट जाते हैं, पर अपनी जगह बनाना बहुत ही बड़ा काम होता है, जो हर कोई नहीं बना पाता है, आज हम स्विगी की सफलता की कहानी  (Swiggy Success Story) के साथ इसके  क्रिएटर्स के बारे में जानेंगे और जानेंगे कि कैसे वे इस इनोवेटिव कॉन्सेप्ट Innovative Concept के साथ आए। आज Swiggy के स्वाद की दस्तक से शायद ही कोई दरवाजा अछूता हो। 

 

Podcast

Continue Reading..

इन दिनों वंडर ऐप स्विगी हमारी क्रेविंग को शानदार तरीके से संतुष्ट करने का काम कर रहा है! चाहे गुलाब जामुन हो या बिरयानी Biryani की शाही डिश, सिज़लिंग हॉट पिज़्ज़ा Sizzling Hot Pizza, या लिप-स्मूदी बटर चिकन, ये सभी आपकी उंगलियों पर उपलब्ध हैं। आप उन्हें कभी भी, कहीं भी ले सकते हैं! स्विगी हमेशा आपकी सेवा में है ! अब आप स्विगी इंस्टा मार्ट Swiggy Insta Mart से भी किराने का सामान खरीद सकते हैं, और इसमें एक स्विगी जिनी swiggy genie है जो आपके लिए तुरंत काम कर सकती है!

वो दिन गए जब आपको एक रेस्टोरेंट में अपनी भूख को शांत करने के लिए खचाखच भरी भीड़ और तेज गर्मी में जूझना पड़ता था। अब आप अपने घर में आराम से बैठकर चिकन बर्गर का मजा ले सकते हैं! आप बिन बुलाए मेहमान के लिए झटपट खाना भी मंगवा सकते हैं। कोई आश्चर्य नहीं कि स्विगी 100 शहरों में काम कर रही है और 2022 में 700 मिलियन डॉलर का डेकाकॉर्न Decacorn बन गया है। ऐसी है Swiggy success story जिसने इस फूड डिलीवरी ऐप को एक एंथम में बदल दिया है - “Swiggy Karo”!

Swiggy launch date in India

स्विगी एक भारतीय ऑनलाइन फूड ऑर्डरिंग और डिलीवरी प्लेटफॉर्म है। जुलाई 2014 में स्थापित, स्विगी कंपनी बैंगलोर में स्थित है, और सितंबर 2021 तक 100 भारतीय शहरों में काम करती है।

Swiggy – The Food Delivering Brand!

यह शहर के लगभग सभी बड़े और छोटे रेस्टोरेंट के साथ साझेदारी करता है और सिर्फ एक क्लिक के साथ आपकी इच्छाओं को पूरा करता है! डिलीवरी एजेंट आपके दरवाजे पर जल्द से जल्द खाना पहुंचाते हैं! स्विगी आपको विभिन्न प्रकार के फ़ूड के लिए रेटिंग और फीडबैक देने में भी सक्षम है। यह ग्राहकों को निर्णय लेने में मदद करता है।

आज ये कंपनी अपनी जबरदस्त सर्विस और Customer Satisfaction की वजह से भारत के 100 से भी अधिक शहरों में अपनी सेवा दे रही हैं. और इन शहरों में 1.4 लाख रेस्टारेंट और 2 लाख से भी अधिक डिलीवरी बॉय Delivery Boy जुड़े हुए हैं. और लगातार आगे बढ़ती जा रही हैं. swiggy ने हर देश के लगभग सभी छोटे-बड़े शहरों में अपनी सेवा प्रदान कर रही है और लगातार आगे बढ़ती जा रही है| इसकी टैगलाइन काफी लोकप्रिय है - "Swiggy Karo, Phir jo chahe Karo!"

Swiggy founder

SWIGGY के तीन संस्थापकों में से पहले हर्ष मजेती आई आई एम इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट कोलकाता के एल्यूमिनी है . वह वर्ष 2014 से SWIGGY के CEO भी हैं. नंदन रेड्डी ने  बिरला इंस्टीट्यूट आफ टेक्नोलॉजी &  साइंस से डिग्री कंप्लीट करने के बाद बहुत सारी कंपनियों जैसे कि GALLA,ZURNA,IDINSIGHT & INTELLECAP में काम किया है . अभी स्विग्गी के ऑपरेशंस को देख रहे हैं ,वह OPERATION DEPARTMENT के हेड हैं. राहुल जैमिनी IIT KHARAGPUR के प्रोडक्ट हैं इससे पहले MYNTRA & NETAPP में काम करने का उनका अनुभव है और अभी SWIGGY के CHIEF TECHNICAL OFFICER(CTO) हैं.

दिलचस्प यह है कि इसके संस्थापक सदस्यों में दो सदस्य श्रीहर्ष मजेटी और नंदन रेड्डी को इस कंपनी की शुरुआत से पहले लॉजिस्टिक क्षेत्र की कंपनी में कामयाबी नहीं मिली थी। उन्होंने अपनी विफलता से निराश होने के बजाय नई कंपनी शुरू करने की योजना बनाई और इसके लिए अच्छी तरह से मार्केट रिसर्च किया। बिट्स पिलानी से ग्रेजुएट श्रीहर्ष और नंदन ने अगस्त 2013 में अपना पहला वेंचर बंडल शुरू किया, लेकिन जल्द ही उन्हें मार्केट में बनी अनिश्चितता के कारण इसे बंद करना पड़ा। फिर दोनों ने फूड डिलीवरी के लिए कंपनी शुरू करने की योजना पर काम करना प्रारंभ किया।  इसी बीच उनकी मुलाकात आईआईटी खडग़पुर से पढ़ाई कर चुके राहुल जैमिनी से हुई। तीनों ने इस योजना पर काम करना शुरू कर दिया। फिर मार्केट रिसर्च Market Research के बाद अगस्त 2014 में बंगलुरु में स्विग्गी की शुरुआत कर दी। शुरुआत में उन्होंने रेस्टोरेंट संचालकों से अपनी इस आनॅलाइन एप्लीकेशन Online Applications और प्लेटफॉर्म का यूज करने को कहा। कस्टमर्स को कुछ ही समय में मनचाहा फूड अपने घर के दरवाजे पर मिलने लगा, जिससे इसकी पॉपुलैरिटी Popularity बढऩे लगी। धीरे-धीरे उनका फूड डिलीवरी Food Delivery  का आइडिया चल निकला तो उन्होंने अपनी कंपनी का नेटवर्क बढ़ाना शुरू कर दिया। अब तक वह देश के सभी प्रमुख शहरों को जोड़ चुके हैं। आज स्विग्गी फूड की होम डिलीवरी के लिए देश में सबसे बड़ा ऑनलाइन प्लेटफॉर्म Online Platforms बन चुका है।

Swiggy Startup Story

ऑनलाइन फूड डिलीवरी ऐप बनाने का सपना अगस्त 2014 में श्रीहर्षा मजेटी, नंदन रेड्डी और राहुल जैमिनी के लिए शुरू हुआ। अपने पिछले उपक्रमों में असफल होने के बाद, इस बार उन्होंने एक ऑनलाइन फूड डिलीवरी कंपनी Online Food Delivery Company स्विगी  के साथ अपनी किस्मत आजमाई। स्विगी के लिए शुरुआत आसान नहीं थी, पर फिर भी मेहनत के जरिये इन्होने सफलता पाई। स्विगी ने भारत में काम करने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली खाद्य डिलीवरी सेवाओं को बदल दिया। उद्योग बदलने के दौरान, यह भारत का सबसे तेजी से बढ़ता स्टार्टअप भी बन गया। 

आज कल ये लोगो का काफी मनपसंद सॉफ्टवेयर बन चुका है। लोग घर बैठे इस सॉफ्टवेयर के जरिये अपना मनपसंद खाना मंगवाते है। और इसके 5000000 से भी अधिक उपभोक्ता है और इससे ये हर घर- घर में जाना जाता है। हम यह भी नहीं भूल सकते की स्विगी ने ना तो केवल हमे सहूलियत  दी बल्कि कई बेरोजगारों को रोजगार भी दिया और अब भारत में कुल 13 राज्यों में इसका काम चल रहा है और ख़ास बात तो जानने वाली ये है की इतनी सफलता स्विग्गी को जल्द नहीं मिली बल्कि उन्होंने काफी मेहनत की और काफी मुश्किलें उनके सामने आयी और उन सबको पार करके ये सफलता का मार्ग मिला। तो जाहिर सी बात है कि अगर सफलता पानी हो तो अपनी गलतियों से सीखे और उनको बार- बार ना दोहराकर उन पर ध्यान दे और देखना आपके सामने सफलता के दरवाजे अपने आप खुल जायेगे। 

ये भी पढ़ें: Coke और Pepsi की प्रतिद्वंद्विता ने कैसे मार्केटिंग को दिया नया आयाम

Conclusion

इस कहानी को पढ़ने के बाद आप को यही बात सीखने को मिली होगी कि ज़िन्दगी में कभी भी हार मत मानना ऐसा मैं नहीं बोल रही बल्कि स्विग्गी फॉउंडर Swiggy founder का कहना है वो बताते है कि आज के समय में जो हम सक्सेस मिली है वो हमारी बार -बार नाकमियाबी की वजह से मिली है , हम जो बार -बार  फेल  हो रहे थे और फिर से उसी काम में जान लगा देते थे आज उसी का नतीजा है कि हम इतना सक्सेसफुल है अपनी लाइफ में | 

TWN In-Focus