फास्ट फैशन पर्यावरण के लिए क्यों बुरा है?

767
13 Mar 2022
7 min read

Post Highlight

फास्ट फैशन fast fashion की इस दुनिया में लोग धीरे-धीरे ये भूल रहे हैं कि रोजाना बदलने वाला यह ट्रेंड प्लेनेट planet को बहुत नुकसान पहुंचा रहा है। पर्यावरण संबंधी मुद्दों के बारे में लोग जागरुक तो हो रहे हैं लेकिन कम ही लोग ऐसे हैं जो अपनी जीवनशैली में बदलाव ला रहे हैं ताकि पृथ्वी फिर से एक प्रभावशाली ग्रह बन पाए।

Podcast

Continue Reading..

फैशन हम सबकी जिंदगी का एक अहम हिस्सा है। सभी को अच्छे कपड़े पहनना पसंद होता है और आए दिन कपड़ो के नए-नए ट्रेंड trends आते रहते हैं। हां, वो अलग बात है कि फास्ट फैशन fast fashion की इस दुनिया में लोग धीरे-धीरे ये भूल रहे हैं कि रोजाना बदलने वाला यह ट्रेंड प्लेनेट planet को बहुत नुकसान पहुंचा रहा है। 

आपको यह जानके आश्चर्य होगा कि ऑयल इंडस्ट्रीज से दुनिया भर में सबसे ज्यादा प्रदूषण होता है और दूसरे नंबर पर फैशन इंडस्ट्री fashion industry है जिसकी वजह से पर्यावरण को सबसे ज्यादा नुकसान पहुंचता है। 

पर्यावरण संबंधी मुद्दों के बारे में लोग जागरुक तो हो रहे हैं लेकिन कम ही लोग ऐसे हैं जो अपनी जीवनशैली में बदलाव ला रहे हैं ताकि पृथ्वी फिर से एक प्रभावशाली ग्रह बन पाए।

आपने एच एंड एम, ज़ारा, प्रीमार्क और फॉरएवर 21 जैसे ब्रांड्स का नाम तो ज़रूर सुना होगा और आप ये भी जानते ही होंगे कि ये ब्रांड्स फास्ट फैशन को बढ़ावा दे रहे हैं। 

जैसा कि नाम से ही समझ में आता है कि इसमें कम समय के लिए किसी कपड़े को लोग पहनते हैं, ये कम दाम में बिकते हैं और इनका उत्पादन production बहुत तेज़ी से होता है। इन कपड़ो को बनाने में बहुत वेस्ट प्रॉड्यूस waste produce होता है और ये वेस्ट पर्यावरण को दूषित करता है। कभी-कभी तो उत्पाद की क्वालिटी भी अच्छी नहीं होती है लेकिन उसे बनाने में ज्यादा पैसे खर्च होते हैं। अब रोज़ ट्रेंड बदल रहा है तो लोगों को भी ना चाहते हुए अपनी अल्मारी से उन कपड़ो को अलग करना पड़ता है, जो ट्रेंड में नहीं हैं। ये बात लोगों को धीरे-धीरे समझ में आ रही है कि फास्ट फैशन की वजह से पर्यावरण पर कई नकारात्मक प्रभाव पड़ रहे हैं इसीलिए अब कई डिजाइनर्स और ग्राहक सस्टेंबल क्लॉथिंग sustainable clothing को अपना रहे हैं क्योंकि भले ही ये फास्ट फैशन है लेकिन धीरे-धीरे ये प्लेनेट की लाइफ को स्लो कर रहा है।

सस्टेनेबल फैशन sustainable fashion में ऐसे कपड़ों का निर्माण किया जाता है जिसे बनाने में पर्यावरण को कम नुकसान पहुंचता है। ये पर्यावरण के अनुकूल होता है और इसे बनाने में कम केमिकल और कीटनाशक का इस्तेमाल होता है। ये पर्यावरण के अनुकूल होने के साथ-साथ अच्छी क्वालिटी के भी होते हैं और लंबे समय तक चलते हैं।

सस्टेनेबल क्लॉथिंग में इस चीज़ का भी ध्यान दिया जाता है कि कपड़े को ट्रेंड के हिसाब से बदलने की बजाय मौसम के हिसाब से बदला जाए और आप एक ही कपड़े को अलग-अलग तरीकों से स्टाइल कर पाएं। कपड़े की क्वालिटी भी अच्छी होती है और आप इसे कई तरीकों से भी पहन सकते हैं और पर्यावरण को बचाने में अपना योगदान भी दे सकते हैं।

सस्टेनेबल क्लॉथिंग क्यों ज़रूरी है-

1. सस्टेनेबल फैशन की मदद से नेचुरल रिसोर्सेस natural resources की बचत होती है।

2. सस्टेनेबल फैशन से कार्बन फुटप्रिंट carbon footprint को कम करने में मदद मिलती है।

3. सस्टेनेबल फैशन प्लेनेट और हमारे लिए अच्छा है।

4. हमारे भविष्य के लिए अच्छा है।

5. सस्टेनेबल फैशन वर्कर्स के लिए भी अच्छा है क्योंकि उन्हें डिसेंट लिविंग वेजेस decent living wages दिया जाता है और वर्किंग कंडीशन भी ज्यादा सेफ होती है।

सस्टेनेबल क्लॉथिंग को लोग अपना तो रहे हैं लेकिन कपड़ो की ज्यादा कीमत होने की वजह से अभी भी लोगों का झुकाव फास्ट फैशन की तरफ ही है क्योंकि ये कपड़े लोगों को कम पैसों में मिल जाते हैं। लोगों के मन में ये भी रहता है कि अगर ट्रेंड के साथ चलना है तो फास्ट फैशन को अपनाना ही होगा।

फैशन इंडस्ट्री को पूरी तरह से सस्टेनेबल बनाना बहुत मुश्किल है लेकिन सभी के प्रयास से ये मुमकिन भी हो सकता है। 

आज कई ऐसे लोग हैं जो दुनिया भर में लोगों को सस्टेनेबल लाइफस्टाइल अपनाने के लिए जागरूक कर रहे हैं। हम जितना ज्यादा ऑर्गेनिक और रीसाइकल्ड सामानों Organic and recycled goods का उपयोग करेंगे, उतना ही अच्छा ये हमारे प्लेनेट के लिए होगा। याद रखें कि सस्टेनेबल चीज़ों को खरीद कर और लोगों को जागरूक करके आप प्लेनेट को बचाने में अपना बहुत बड़ा योगदान दे रहे हैं।

#fastfashion#sustainablelifestyle#sustainableclothing#sustainability#ootd #sustainablefashion

Think with Niche पर आपके लिए और रोचक विषयों पर लेख उपलब्ध हैं । एक अन्य लेख को पढ़ने के लिए कृपया नीचे  दिए लिंक पर क्लिक करे-

https://www.thinkwithniche.in/blogs/details/major-eco-friendly-cities-in-the-world


 

TWN Special