फाइनेंस बुक: "रिच डैड, पुअर डैड" क्यों पढ़नी चाहिए?

6002
15 Feb 2023
8 min read

Post Highlight

अगर आपको भी अमीर बनना है तो आप इसकी शुरुआत रॉबर्ट टी कियोसाकी Robert Kiyosaki द्वारा लिखित बुक 'रिच डैड पूअर डैड' Rich dad poor dad को पढ़कर कर सकते हैं। इस किताब में उन्होंने रियल इस्टेट और इन्वेस्टमेंट real estate and investment के बारे में बताया है और इस किताब को बेहद दिलचस्प ढंग से पेश किया है।

यह नॉन-फिक्शन किताब रॉबर्ट कियोसाकी के जीवन पर आधारित है, जिसमें वह अपने दो पिता के बारे में बात करते हैं। जो पहले पिता हैं, वह उनके खुद के पिता हैं जिन्हें वह पूअर डैड कहते हैं और वहीं दूसरे उसके दोस्त के पिता हैं, जिन्हें वह रिच डैड कहते हैं। जो उनके दोस्त के पिता है यानी कि रिच डैड वह उन्हें पैसे और निवेश के बारे बताते हैं। आप पाएंगे कि इस किताब में कियोसाकी ने दो बहुत ही विपरीत दृष्टिकोणों को हमारे साथ साझा किया है, और उन्होंने यह पूरी तरह से हम पर छोड़ दिया है कि हम किसे चुनना चाहते हैं।

Podcast

Continue Reading..

अगर हम आपसे पूछें कि क्या आप अमीर बनना चाहते हैं तो क्या आपका जवाब ना होगा? शायद ही कोई ऐसा होगा जो इस सवाल का जवाब 'ना' में देगा। अमीर बनने की रेस में तो सब लगे हैं लेकिन क्या आपने कभी खुद से पूछा है कि आप अमीर बनेंगे कैसे? अगर सब अपनी राय भी बताने लगे कि मुझे कैसे अमीर बनना है, तो सबकी राय और आइडियाज भी अलग होंगे।

अगर आपको भी अमीर बनना है तो आप इसकी शुरुआत रॉबर्ट टी कियोसाकी Robert Kiyosaki द्वारा लिखित बुक 'रिच डैड पूअर डैड' Rich dad poor dad को पढ़कर कर सकते हैं। इस किताब में उन्होंने रियल इस्टेट और इन्वेस्टमेंट real estate and investment के बारे में बताया है और इस किताब को बेहद दिलचस्प ढंग से पेश किया है।

यह एक सेल्फ हेल्प और पर्सनल फाइनेंस किताब self help and personal finance book है और ज्यादातर लोग सेल्फ हेल्प बुक पढ़ते वक्त थोड़ा बोरिंग महसूस करते हैं लेकिन इस किताब को रॉबर्ट टी कियोसाकी ने इतने अद्भुत तरीके से लिखा है कि आपको लगेगा कि आप कोई फिक्शन बुक पढ़ रहे हैं। विचार तो सभी के पास होते हैं लेकिन अपने विचारों को सही ढंग से पेश करना सभी को नहीं आता लेकिन एक लेखक के तौर पर उन्होंने बेहद अच्छा काम किया है। 

सेविंग्स, इन्वेस्टमेंट और स्टॉक्स savings investment and stocks के फायदों के बारे में तो ज्यादातर लोग जानते हैं लेकिन ज्यादातर लोगों को अपने पैसों को मैनेज करना नहीं आता है।

मार्केट में आज कई पर्सनल फाइनेंस किताबें personal finance books उपलब्ध हैं लेकिन आपकी फाइनेंशियल नॉलेज financial knowledge को बढ़ाने में रॉबर्ट टी कियोसाकी की रिच डैड पूअर डैड आपकी काफी मदद करेगी। ये एक ऐसी किताब है जिसे कोई भी पढ़ सकता है। खासकर छात्रों को तो ये किताब अवश्य ही पढ़नी चाहिए। 

फाइनेंस बुक: "रिच डैड, पुअर डैड" क्यों पढ़नी चाहिए? Finance Book: Why You Should Read "Rich Dad, Poor Dad"?

अगर अभी भी आपको लगता है कि मुझे ये किताब क्यों पढ़नी चाहिए और मुझे इससे क्या फायदा होगा, तो रुकिए। हम आपको 4 ऐसे कारण बताएंगे जिससे आप कन्विंस हो जाएंगे और इस किताब को ज़रूर पढ़ेंगे।

1. यह किताब आपको सिखाती है कि अपनी जिंदगी को आप अपने तरीके से जिएं

ज़िंदगी में हमें क्या करना है, अपनी ज़िंदगी को कैसे जीना है, पैसे कैसे कमाने हैं और उन्हें कहां खर्च करना है, आदि चीज़ों का फैसला हमें खुद लेना चाहिए। इस किताब में बताया गया है कि जिस जॉब को हम बिलकुल भी पसंद नहीं करते, उसे भी हम करना इसीलिए नहीं छोड़ते हैं क्योंकि हमें बिल्स का टेंशन रहता है।

रॉबर्ट टी कियोसाकी कहते हैं कि पैसे कमाने के अनेक तरीके हैं इसीलिए रैट रेस rat race का हिस्सा बनने से अच्छा है कि हम यह सीखें कि पैसा कैसे बनाया जाता how to make money है। 

इस किताब में 350 पेज हैं और 9 चैप्टर्स हैं। शुरुआत के 6 चैप्टर्स में वह उन लर्निंग्स की बात करते हैं, जो उन्हें अपने रिच और पूअर दोनों पिताओं से मिली है। इन चैप्टर्स में वह इनकम, कैश फ्लो, टैक्सेशन, रियल स्टेट, इन्वेस्टमेंट्स, एसेट्स और लायबिलीटीज के बारे में बात करते हैं।

अब चुकीं इन 6 चैप्टर्स में इन्होंने आपको पैसों के बारे में लगभग सब कुछ बता दिया है इसीलिए आखिरी के 3 चैप्टर्स में रॉबर्ट ये बताते हैं कि आपको पैसे कैसे बनाने हैं।

Also Read: इसको जानो, शिक्षा नीतियाँ

2. यह किताब आपको सिखाती है कि स्कूल और कॉलेज खत्म होने पर हमें सीखना नहीं छोड़ना चाहिए

एजुकेशन और लर्निंग education and learning दो अलग-अलग चीज़ें हैं। हमें लगता है कि एक बार स्कूल और कॉलेज खत्म हो गया तो हमें सीखना भी बंद कर देना चाहिए लेकिन अगर आप चाहते हो कि पैसा आपके लिए काम करे तो आपको ज्यादा से ज्यादा फाइनेंशियल नॉलेज लेनी होगी। फाइनेंशियल नॉलेज के बिना आपका पैसा जितनी जल्दी आपके पास आता है, उतने ही जल्दी चला भी जाता है। 

Money without financial intelligence is money soon gone.

पैसा बनाने में समय लगता है इसीलिए सीखने पर जोर दें। आपके पास इतनी फाइनेंशियल नॉलेज financial knowledge होनी चाहिए कि आप पैसे के लिए काम ना करें, बल्कि पैसा आपके लिए काम करे।

3. यह किताब आपको पैसे और इमोशन से डील करना सिखाती है

डर और डिजायर, ये दोनों इमोशन हमें कुछ नया करने से रोकते हैं। यह किताब हमें सिखाती है कि कैसे हम अपने इमोशन पर काबू पा सकते हैं। अपने इमोशंस पर काबू पाना आसान नहीं है लेकिन नामुमकिन भी नहीं है। 

Learn to use your emotions to think, not think with your emotions.

4. हारने से मत डरो

रॉबर्ट कियोसाकी बताते हैं कि विनर्स हारने से नहीं डरते हैं। हारने का डर तो लूजर्स को रहता है। जिसे हारने को अवॉइड करता है, वह सफल होने को भी अवॉइड करता है। फेल्योर तो सफलता के प्रोसेस का एक अहम हिस्सा है। 

Winners are not afraid of losing but losers are. Failure is part of the process of success. People who avoid failure also avoid success. So, go fail and eventually you will succeed!

इस किताब में 350 पेज हैं और 9 चैप्टर्स हैं। शुरुआत के 6 चैप्टर्स में वह उन लर्निंग्स की बात करते हैं, जो उन्हें अपने रिच और पूअर दोनों पिताओं से मिली है। इन चैप्टर्स में वह इनकम, कैश फ्लो, टैक्सेशन, रियल स्टेट, इन्वेस्टमेंट्स, एसेट्स और लायबिलीटीज के बारे में बात करते हैं।

अब चुकीं इन 6 चैप्टर्स में इन्होंने आपको पैसों के बारे में लगभग सब कुछ बता दिया है इसीलिए आखिरी के 3 चैप्टर्स में रॉबर्ट ये बताते हैं कि आपको पैसे कैसे बनाने हैं। 

ये फाइनेंस की किताब तो है पर उससे भी ज्यादा यह एक बदलाव की किताब है। यह किताब आपके जीवन में एक बड़ा बदलाव लाएगी। इन 350 पेज को पढ़ने के बाद आप अपने नजरिए को बदला हुआ पाएंगे। 

TWN In-Focus