कैप्टन कूल महेंद्र सिंह धोनी भारतीय क्रिकेट टीम के सबसे सफल कप्तान

635
07 Jul 2022
6 min read

Post Highlight

एमएस धोनी (MS Dhoni) ने भले ही इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले लिया है लेकिन आज भी वे भारत और दुनिया के सफल कप्तानों में से एक हैं। महेंद्र सिंह धोनी का आज जन्मदिन Mahendra Singh Dhoni Birthday है। भारतीय टीम को अपनी कप्तानी में दो वर्ल्ड कप जिताने वाले महेंद्र सिंह धोनी आज 41 साल के हो गए हैं। उन्होंने भारत को तीन बार आईसीसी टूर्नामेंट में चैंपियन बनाया। वहीं, आईपीएल में भी धोनी ने चेन्नई को चार खिताब जिताए हैं। महेंद्र सिंह धोनी अब अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सक्रिय नहीं हैं। उन्होंने साल 2020 में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कह दिया था और अब सिर्फ आईपीएल में नजर आते हैं। धोनी ने क्रिकेट की दुनिया world of cricket में जो कुछ हासिल किया है वह उनकी क्रिकेट के प्रति दिवानगी और कठिन मेहनत का ही नतीजा है। इस सफलता का सपना देखते तो सभी हैं लेकिन सभी इस सपने को पूरा नहीं कर पाते हैं।

#MahendraSinghDhoni Birthday
#TeamIndia

#worldofcricket
#ChennaiSuperKings

Podcast

Continue Reading..

भारत में क्रिकेट Cricket in India एक ऐसा खेल है जिसका हर कोई दिवाना है और इस खेल को भगवान की तरह पूजा जाता है। क्रिकेट के दिवाने इसके खिलाड़ियों को अपना भगवान मानते हैं। एक ऐसे ही खिलाड़ी हैं महेंद्र सिंह धोनी Mahendra Singh Dhoni जिन्हें क्रिकेट को पसंद करने वाले अपना आदर्श Ideal मानते हैं। महेंद्र सिंह धोनी को कैप्टन कूल Captain Cool के नाम से भी जाना जाता है। भारतीय टीम को अपनी कप्तानी में दो वर्ल्ड कप ,world cup जिताने वाले महेंद्र सिंह धोनी का आज जन्मदिन Birthday है और वह 41 साल के हो गए हैं। दरअसल धोनी और साक्षी की शादी की सालगिरह 4 जुलाई को ही थी इसलिए यह कपल छुट्टियों पर इंग्लैंड England पहुंचा था। इसलिए इस बर्थडे का जश्न धोनी ने इंग्लैंड में कुछ खास अंदाज में मनाया और धोनी ने मंद मुस्कान के साथ केक काटा। उनके जन्मदिन पर पूरे क्रिकेट जगत में हलचल मची हुई है और दुनियाभर के क्रिकेटर और लोग उन्हें जन्मदिन की शुभकामनाएं Best wishes दे रहे हैं। धोनी ने क्रिकेट की दुनिया में जो कुछ हासिल किया है वो उनकी मेहनत का ही नतीजा है। चलिए आज इस ख़ास दिन पर कुछ उनके बारे में जानते हैं।

महेंद्र सिंह धोनी का जीवन परिचय Biography of Mahendra Singh Dhoni

भारतीय टीम के पूर्व कप्तान Former captain of Indian team और कैप्टन कूल कहे जाने वाले महेंद्र सिंह धोनी का जन्म 7 जुलाई 1981 को रांची में हुआ था। भारतीय क्रिकेट में धोनी को सर्वश्रेष्ठ कप्तान के रूप में भी जाना जाता है। धोनी की कप्तानी में भारत ने आईसीसी की हर एक अहम ट्रॅाफी का खिताब अपने नाम किया है। धोनी बचपन से ही क्रिकेट के लिए दिवाने थे। वह बचपन से बेहतरीन क्रिकेट खेलते थे। धोनी एक दाहिने हाथ के बल्लेबाज हैं जिन्हें लोग मैच फिनिशर Match Finisher के रूप में भी जानते हैं। धोनी की जिंदगी में उस समय बदलाव आया, जब उन्होंने 1999-2000 कूच बिहार ट्रॅाफी के दौरान 84 रनों की धुआंधार पारी खेली थी। भारतीय टीम में खेलने की लगन ने उन्हें खड़गपुर स्टेशन में रेलवे कलेक्टर Railway Collector at Kharagpur Station की नौकरी दिला दी। छोटे से शहर के इस लड़के ने धीरे-धीरे भारतीय क्रिकेट में अपना हिस्सा जमा लिया और कई नए इतिहास रच कर भारत का नाम भी रोशन किया। 

Related: कल का चौकीदार, आज बन गया सुपरस्टार

अंतराष्ट्रीय करियर की शुरूआत 

दरअसल महेंद्र सिंह धोनी को 2004 में बांग्लादेश Bangladesh के खिलाफ पहली बार खेलने का मौका मिला, लेकिन सीरीज के पहले मुकाबले में धोनी को शून्य पर ही पवैलियन लौटना पड़ा। लेकिन उस समय के भारतीय टीम के कप्तान सौरव गांगुली Captain Sourav Ganguly लगातार उन पर भरोसा करते थे और उसका रिजल्ट सबके सामने है कि धोनी आज इतने बड़े खिलाड़ी बनकर उभरे हैं। फिर इसके बाद 2005 में चेन्नई के मैदान में धोनी को भारत के लिए श्रीलंका Sri Lanka के खिलाफ टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू करना का मौका मिला और धोनी ने पहली इनिंग्स में 30 रन अपने खाते में जोड़े। इसी सीरीज का दूसरा टेस्ट दिल्ली में खेला गया था और धोनी ने 51 रनों की नाबाद पारी खेली। जिसके कारण भारत ने इस मुकाबले में जीत दर्ज की।

धोनी के लिए अंतराष्ट्रीय करियर की शुरूआत कुछ खास नहीं रही इसलिए अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में अच्छी शुरूआत ना होने की वजह से गांगुली ने पाकिस्तान के खिलाफ धोनी को तीसरे स्थान पर बल्लेबाजी करने को भेजा और जिसका ही नतीजा था कि धोनी ने इस मैच में 123 गेंदों का सामना करते हुए 148 रनों की अहम पारी खेल डाली। धोनी ने टी-20 क्रिकेट में 2006 में साउथ अफ्रीका South Africa के खिलाफ डेब्यू किया था। लेकिन धोनी अपने करियर के पहले टी--20 में 0 पर आउट हो गए।

फिर श्रीलंका के खिलाफ धोनी ने 143 गेंदों का सामना करते हुए 183 रन बना डाले और इनके शतकीय पारी की बदौलत भारत ने श्रीलंका को इस वनडे में हरा दिया था। बस अब तो धोनी जिस भी मैच को खेलते वो वहां पर अपना नाम जरूर ऊपर कर जाते। 

 विश्वकप जीतकर बिखेरा जलवा 

2007 टी-20 विश्वकप में जहां दिग्गज क्रिकेटर ने इस फॅार्मेट में खेलने से मना कर दिया था, वहां पर धोनी की कप्तानी में टीम ने ना सिर्फ विश्वकप जीता बल्कि विश्व क्रिकेट में एक नाम भी कमाया और ऐसी वाहवाही बटोरी कि हर जगह उनके चर्चे होने लगे। भारत में आयोजित 2011 विश्व कप में धोनी की कप्तानी में टीम ने 28 साल बाद 50-50 क्रिकेट में एक बार फिर विश्वकप World Cup अपने नाम किया। ये महेंद्र सिंह धोनी के खेल के प्रति समर्पण devotion to sport और रोमांच से भरपूर होने की कहानी बयां करती है। महेंद्र सिंह धोनी भारतीय टीम के सबसे सफल कप्तान Most successful captain of Indian team रहे, उन्होंने अपनी लीडरशिप में देश को तीन ICC Tournament टूर्मामेंट जिताए हैं। यानि धोनी की कप्तानी में सबसे पहले 2007 टी20 वर्ल्ड कप, 2011 में वनडे वर्ल्ड कप और उसके बाद 2013 में चैम्पियंस ट्रॉफी जीती थी। वर्ल्ड में धोनी अकेले कप्तान हैं, जिन्होंने यह तीनों टूर्नामेंट जीते हैं। 

चेन्नई सुपरकिंग्स के लिए खेलते हैं 

धोनी ने 15 अगस्त 2020 को इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास Retirement from International Cricket ले लिया। धोनी ने टीम इंडिया के लिए 2019 वर्ल्ड कप का सेमीफाइनल खेला था। हालांकि माही अब भी IPL में खेल रहे हैं। आईपीएल में महेंद्र सिंह धोनी चेन्नई सुपरकिंग्स Chennai Super Kings के लिए खेलते हैं और टीम को कई बार खिताब जिता चुके हैं। वो अभी चेन्नई टीम के कप्तान भी हैं। धोनी ने आखिरी मैच आईपीएल में ही इसी सीजन में खेला था राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ पिछले मैच में धोनी ने 26 रन बनाए थे। 

धोनी फैंस के दिलों पर करते हैं राज 

महेंद्र सिंह धोनी MS Dhoni की फैन फॉलोइंग fan following बहुत ही बड़ी है। वह आज भले ही क्रिकेट के शिखर पर पहुंचे हों लेकिन उनकी सादगी फैंस को बहुत पसंद आती है। उनकी सादगी Simplicity ऐसी है कि हर किसी को बरबस ही अपनी ओर आकर्षित कर लेती है। क्रिकेट के मैदान पर धोनी हमेशा से ही अपने शांत स्वभाव के लिए जाने जाते हैं। उन्होंने अपने दम पर टीम इंडिया को कई मैच जिताए हैं। यदि आखिरी ओवर में भारत को जीतने के लिए 15 रन चाहिए और क्रीज पर धोनी हैं, तो माना जाता है कि दबाव धोनी पर नहीं, बल्कि गेंदबाज पर होता है। 

धोनी ने भारत के लिए खेले तीनों ही फॉर्मेट

Also Read : राकेश झुनझुनवाला- शेयर बाजार के बिगबुल

महेंद्र सिंह धोनी क्रिकेट के सबसे बड़े सुपरस्टार हैं। धोनी ने टीम इंडिया (Team India) के लिए तीनों ही फॉर्मेट खेले हैं। धोनी ने भारत के लिए 90 टेस्ट मैचों में 4876 रन और 350 वनडे मैचों में 10773 रन और 98 टी20 मैचों में 1617 रन बनाए हैं। हमेशा ही ऐसा होता है जब तक वह क्रीज पर मौजूद होते भारतीय फैंस को जीत की उम्मीद बनी रहती।

महेंद्र सिंह धोनी को मिले पुरस्कार

धोनी ने अपने क्रिकेट करियर के दौरान बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए क्रिकेट जगत में ढेरों रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं। धोनी की उपलब्धियों की तरह उन्हें मिले सम्मान और पुरस्कारों की सूची भी लंबी है। उन्हें अतुलनीय कप्तानी के साथ साथ अद्भुत प्रदर्शन के लिए भी खूब सराहा जाता है। क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद धोनी इंडियन आर्मी में अफसर Officer in Indian Army के तौर पर देश सेवा कर रहे हैं। महेंद्र सिंह धोनी या मानद लेफ्टिनेंट कर्नल महेंद्र सिंह धोनी की उपलब्धियों को गिनना बहुत कठिन है लेकिन यहाँ पर कुछ उन पुरस्कारों के नाम हैं जिन्हें महेंद्र सिंह धोनी ने हासिल किया है।

आईसीसी एकदिवसीय प्लेयर ऑफ द ईयर -2008, 2009

राजीव गांधी खेल रत्न Rajiv Gandhi Khel Ratna,खेल में उपलब्धि के लिए भारत का सर्वोच्च सम्मान -2007, 2008

पद्माश्री सम्मान Padma Shri Award, भारत का चौथा सबसे बड़ा नागरिक पुरस्कार - 2009

पद्मभूषण सम्मान Padma Bhushan Award, भारत का तीसरा सबसे बड़ा नागरिक पुरस्कार -2018

आईसीसी स्पिरिट ऑफ क्रिकेट अवॉर्ड -2011

मेजर ध्यान चंद खेल रत्न पुरस्कार Major Dhyan Chand Khel Ratna Award

आईसीसी टीम ऑफ द ईयर अवार्ड ICC Team of the Year Award -2012,13,14

TWN Exclusive