नए लेबर कानूनों का क्या पड़ेगा असर, जानें तैयारी

193
24 Jun 2022
min read

News Synopsis

सरकार चार नए लेबर कोड Four new labour codes को लागू करने की तैयारी में जुट गई है। नए लेबर कानूनों new labour laws के लागू होने के बाद से जहां पीएफ में कर्मियों का योगदान contribution of personnel to PF बढ़ेगा तो, वहीं उनके  हाथ में आने वाली तनख्वाह salary घट जाएगी। भारत में लेबर कानूनों में सामाजिक सुरक्षा social security, कामकाजी लोगों की बेहतरी betterment of working people, सुरक्षा और काम के बेहतर हालात  security and better working conditions को सुरक्षित करने के लिए सरकार नए लेबर कोड के तहत सुधार करने की तैयारी कर रही है ।

सरकारी सूत्रों की माने तो, केन्द्र सरकार central government जुलाई महीने की एक तारीख से नए लेबर कानूनों को लागू कर सकता है। अगर नए लेबर कोड के तहत लेबर कानूनों में सुधार का यह कदम उठाया जाता है, तो इससे कर्मियों के काम के घंटे, ईपीफ में उनके योगदान और इन हैंड सैलरी in hand salary में कई बदलाव देखने को मिल सकते हैं।

नए लेबर कानूनों के लागू होने के बाद से जहां पीएफ में कर्मियों का योगदान बढ़ जाएगा, वहीं उनकी हाथ में आने वाली सैलरी कम हो जाएगी। सरकार का मानना है कि नए लेबर कानूनों को अपनाने से जहां देश में निवेश investment बढ़ेगा वहीं रोजगार की संभावनाएं employment prospects भी बढेंगीं।

सरकार से जुड़े सुत्रों के अनुसार नए लेबर कानून लागू करने का उद्देश्य कामगारों की सामाजिक सुरक्षा जिसमें पेंशन और ग्रेच्यूटी pension and gratuity, श्रमिक कल्याण workers welfare, स्वास्थ्य, सुरक्षा और काम के हालातों में सुधार करना है। महिलाओं के लिए वर्कप्लेस पर सुरक्षा सुनिश्चित रहे इस पर भी नए लेबर कोड में प्रावधान किए जाएंगे। 

Podcast

TWN In-Focus