मेथनॉल बन सकता है ईंधन का नया विकल्प

796
08 Sep 2021
2 min read

News Synopsis

दुनिया में पेट्रोल-डीजल के कारण होने वाला प्रदूषण एक चिंता का विषय है। प्रदूषण कम करने के लिए कई तरह के प्रयोग किये जा रहे हैं। चूँकि मेथनॉल का उत्पादन कोयले के माध्यम से किया जाता है और भारत में कोयले का अच्छा भण्डारण है, तो भारत में कोयले के गैसीफिकेशन से मेथनॉल का उत्पादन किया जा सकता है। वर्तमान समय में मेथेनॉल को बाहरी देशों से आयात किया जाता है। चूंकि यह देश में ही बनाया जायेगा तो इसके पर लगने वाले दूसरे शुल्क माफ़ होंगे और यह सस्ते दाम पर बिकेगा। पेट्रोल और एथनॉल की तुलना में मेथनॉल का उत्पादन आसानी से किया जा सकता है और इसके इस्तेमाल से वातावरण कम प्रदूषित होगा। ईंधन के रूप में प्रयोग में लिये जाने वाले एथनॉल की एक खासियत यह है कि प्राकृतिक गैसों के अलावा यह गन्ने से भी तैयार किया जाता है। हालाँकि ऐसा करने से देश में गन्ने से उत्पादित किये जाने वाले चीनी व्यवसाय पर बुरा असर प्रभाव पड़ता है।         

Podcast