एथलेटिक्स में ओलंपिक मेडल आने में लगे 100 साल

417
08 Aug 2021
9 min read

News Synopsis

टोक्यो ओलंपिक 2020 में हमने भले ही सिल्वर और ब्रॉन्ज़ मेडल की बहुत सारी खुशियां मनाई पर हम सभी को इस बार एक गोल्ड चाहिए था। भारत को आखिरी गोल्ड बीजिंग ओलंपिक में शूटिंग में अभिनव बिंद्रा ने 2008 में दिलाया था।13 साल बाद नीरज चोपड़ा दूसरे ऐसे खिलाड़ी बने हैं जो ओलंपिक में व्यक्तिगत कैटेगरी में भारत के लिए गोल्ड मेडल लेकर आए हैं।

नीरज चोपड़ा की ये जीत एक अधूरे सपने को पूरे करने जैसा है। भारत को आज तक ओलंपिक्स में एथलेटिक्स प्रतियोगिता में एक भी गोल्ड नहीं मिला था। खैर 'भारत की उड़न परी' कही जानी वाली पीटी ऊषा और 'Flying सिख' के नाम से मशहूर मिल्खा सिंह ओलंपिक्स में जरा से अंतर की वजह से मेडल से चूक गए थे।

नीरज चोपड़ा आज हम सब के लिए एक प्रेरणा हैं। उन्होंने हाल में ही दिए गए एक इंटरव्यू में कहा कि- मुझे वह सब कुछ मिला जिसकी मुझे जरूरत थी, इसलिए मैंने कड़ी मेहनत की और अब मैं यहां हूं।

 

Podcast

TWN In-Focus